Jagran Josh Logo

उच्च शिक्षा के लिए चाहते हैं एजुकेशन लोन? तो सही दिशा निर्देश के लिए ज़रूर जानें ये महत्वपूर्ण बातें

Sep 18, 2017 10:16 IST
Procedure to take education loan
Procedure to take education loan

आज उच्च शिक्षा का महत्त्व जितना ज़्यादा बढ़ गया है उतना ही ज़्यादा बढ़ गया है उस शिक्षा को पाने का दामl हर माँ-बाप की इच्छा होती है कि उनका बच्चा अच्छे से अच्छे शिक्षा संसथान में ज़्यादा से ज़्यादा बड़ी डिग्री हासिल करे और ख़ूब पढ़ लिख कर उनका नाम रौशन करेl लेकिन ज़्यादातर माँ-बाप की यह इच्छा शिक्षा के ऊँचे दामों को देख कर दबी की दबी रह जाती हैl बहुत से ऐसे विद्यार्थी होते हैं जो मंदी आर्थिक स्थिति के चलते उच्च शिक्षा हासिल करने से वंचित रह जाते हैंl   

पढ़ते समय आने वाली नींद को कैसे भगाएं दूर: यह 8 उपाए करेंगे आपकी मदद

इस समस्या का हल आज के समय में एजुकेशन लोन के रूप में सामने आ चुका हैl उच्च शिक्षा पाने के लिए चाहे आप भारत में ही किसी सम्मानित संसथान में दाखिला लेने को सोच रहे हों या विदेश की किसी सुप्रसिद्ध यूनिवर्सिटी में, एजुकेशन लोन आप की हर इच्छा पूरी करेगाl

लेकिन किसी भी बैंक से एजुकेशन लोन लेने से पहले आप को कुछ मुख्य व ज़रुरी बातों का ध्यान रखना होगा जिससे लोन पाने की प्रक्रिया में आपको आसानी होl

यहाँ इस लेख के द्वारा हम आपको ऐसी ही कुछ ज़रूरी बातों की जानकारी देंगे जो आपको लोन के लिए apply करते हुए व लोन लेने के बाद की सभी शर्तों व नियमों से परिचित करवाएंगीl

एजुकेशन लोन लेने के लिए योग्यता:

  • भारतीय नागरिक जिनकी उम्र 16 से 35 वर्ष के बीच होl
  • भारत या विदेश में किसी वैध संस्था से मान्यताप्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी में विद्यार्थी का एडमिशन तय हो चुका होl

एजुकेशन लोन की रकम सीमा:

  • भारत में उच्च शिक्षा के लिए अधिकतम 10 लाख तक का लोन
  • विदेश में पढ़ाई के लिए अधिकतम 20 लाख तक का लोन

नोट: निजी बैंकों में लोन की अधिक्तम व न्यूनतम सीमा बदल भी सकती हैl

लोन की रकम पे लागू होने वाली शर्तें:

  • 4 लाख तक की रकम का लोन माता-पिता के साथ सयुंक्त रूप से लेना होगा
  • 4 लाख से ज़्यादा लोन की रक़म के लिए इन्कम प्रूफ जमा करना है ज़रूरीl
  • 7.5 लाख से ज़्यादा लोन की रकम के लिए इन्कम प्रूफ के साथ-साथ संपत्ति बंधक (collateral security) भी ज़रूरी होगीl

कोलैटरल सिक्योरिटी में कोई प्रॉपर्टी, फिक्स डिपॉज़िट, लाइफ पॉलिसी, शेयर्स या थर्ड पार्टी गारंटी शामिल हो सकते हैंl

कोर्सेस जिनके लिए एजुकेशन लोन मिलता सकता है:

एजुकेशन लोन देने से पहले हर कोई बैंक यह देखता है कि लोन किस कोर्स के लिए मांगा जा रहा हैl भारत में सभी कोर्सेस के लिए एजुकेशन लोन नहीं मिलता हैl कुछ ख़ास कोर्सेज जिन लिए एजुकेशन लोन पाया जा सकता है, नीचे दिए गये हैं:

  • इंजीनियरिंग, मेडिकल, चार्टेड अकाउंटेंट (सीए), कंपनी सेक्रेटरी (सीएस), आदि प्रोफेशनल और वोकेशनल कोर्सेस
  • सरकार व यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) द्वारा मान्यता प्राप्त ग्रैजुएशन व पोस्ट ग्रैजुएशन कोर्सेस
  • आईआईटी व आईआईएम द्वारा चलाए जानेवाले कोर्सेस के लिए

एजुकेशन लोन अप्लाई करने के लिए ज़रूरी कागज़ात:

  •  पिछले कोर्स की मार्कशीट की एक कॉपी और उसी से जुड़े ज़रूरी काग़ज़ात
  • जिस कोर्स व कॉलेज में एडमिशन लेने जा रहे हैं, उस कोर्स का एडमिशन लेटर व कॉलेज की पूरी जानकारी
  • कोर्स के फीस की विस्तृत जानकारी
  • उम्र व पहचान पत्र और उस बैंक में अकाउंट न होने पर रेसिडेंस प्रूफ की एक कॉपी
  • पेरेंट्स की इन्कम का प्रूफ
  • दो लेटेस्ट पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ्स
  • विदेश में पढ़ाई के लिए जा रहे हैं, तो पासपोर्ट व वीज़ा की 1-1 कॉपी

किताबी ज्ञान के आलावा भी आप बन सकते हैं knowledge गुरु, जानें ये ख़ास बातें

लोन की रकम पर लगने वाले व्याज की दर:

  • विभिन्न बैंकों में व्याज की डरें भी विभिन्न हैंl आमतौर पर बैंक 9.70 से 12.60 फीसदी की दर पर एजुकेशन लोन मुहैया करवा रहे हैंl

लोन वापसी की समय अवधि:

  • लोन की पूरी रकम का भुगतान 15 साल की अवधि में करना होगाl
  • लोन की रीपेमेंट कोर्स खत्म करने के एक साल बाद या फिर नौकरी लगने के छह महीने के बाद शुरू होगी।

इनकम टेक्स में छूट:

  • आयकर कानून की धारा 80ई के तहत लोन के ब्याज के रूप में चुकाई गयी रकम पर छूट मिलती है।
  • लोन के कुल ब्याज को आप अपनी कर योग्य आय में से घटा सकते हैं। यह छूट किसी व्यक्ति को खुद, बच्चों या कानूनी माता-पिता द्वारा बच्चे की शिक्षा के लिए लिए गए लोन के चुकाए गए ब्याज पर मिलती है।
  • यह छूट अधिकतम आठ सालों तक ली जा सकती है। 

लोन अप्लाई करने से पहले इन बातों का ज़रूर रखें ध्यान:

  • एजुकेशन लोन लेने से पहले पहले कुछ राष्ट्रीय बैंकों के ब्याज दरों को टैली कर लें ताकि बाद में आपको किसी बैंक द्वारा लगायी गई मनमानी दरों की भरपाई न करनी पड़े।
  • लोन लेने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि बैंक फिक्स्ड रेट पर लोन दे रहे हैं या फ्लोटिंग रेट पर। फ्लोटिंग रेट में व्याज की दरें बाज़ार में ए उतर चढ़ाव के साथ घटती बढ़ती रहती हैं। कुछ बैंक फिक्स रेट में भी बढ़ोतरी कर देते हैं। तो पहले से ही पूरी जाँच पड़ताल कर लें।
  • बैंक से लोन लेने से पहले उसकी रीपेमेंट के लिए निर्धारित समय अवधि के बारे में ज़रूर जान लें और सुनिश्चित कर लें कि यह समय आपके लिए पर्याप्त होगा।
  • एजुकेशन लोन पर लगनेवाली प्रोसेसिंग फीस, एडमिनिस्ट्रेटिव फीस और डॉक्यूमेंटेशन कॉस्ट बहुत कम होनी चाहिए। लोन के लिए अप्लाई करने से पहले 2-3 बैंकों के फीस स्ट्रक्चर के बारे में पता लगाएं।
  • जिस बैंक से लोन ले रहे हैं उसकी विश्‍वसनीयता की पूरी जांच पड़ताल कर लें।
  • बैंक द्वरा लागू लोन से जुड़े सभी नियम व शर्तों को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

अब विद्या हासिल करने की आपकी इच्छा महज़ आर्थिक सीमाओं के बीच घिर कर नहीं रह जाएगी। ज़रूरत है थोड़ी जागरूकता व हिम्मत की। सही दिशा में प्रयास करें, आगे बढ़ें और अपनी मंजिल की ओर अपना रास्ता स्वयं तैयार करें।

आखिर क्यूँ घबराते हैं विद्यार्थी आने वाले इम्तिहान से? जानें ये 5 मुख्य कारण

अगर परीक्षा में करना चाहते हैं टॉप तो इस तरह बनाएं स्टडी नोट्स

दिमागी तीव्रता बढ़ाने वाले ये 8 तरीके हर विद्यार्थी के लिए जानना है बेहद ज़रुरी

Post Comment

Latest Videos

Commented

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • By clicking on Submit button, you agree to our terms of use
      ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Newsletter Signup
    Follow us on
    X

    Register to view Complete PDF