Jagran Josh Logo
  1. Home
  2. |  
  3. Board Exams|  

UP Board Class 10 Science Solved Practice Paper Set 10

Mar 10, 2017 13:21 IST

After the analysis of UP Board previous year question papers, it has been observed that certain questions are repeated frequently in board examination. After deep analysis, jagranjosh has identified such conceptual questions and provided in this solved practice paper.

Importance of UP Board Class 10th Science Solved Practice Paper:

After going through this paper you will:


•    understand the latest examination pattern

•    know important question likely to be asked in UP Board Class 10th Science exam 2016 – 17

•    learn to give proper explanations to the question in order to score maximum marks

•    able to manage the time by practicing the questions

Some sample question from the solved paper:

प्रश्न : किलोवाट- घंटा (kWh) मात्रक है

(i)   उर्जा का                   

(ii)   शक्ति का

(iii)  बल आघूर्ण का

(iv)  बल का

उत्तर: (ii) उर्जा का

प्रश्न : -10 D क्षमता वाले लेन्स की फोकस दूरी होगी-

(i) 10 सेमी                   

(ii) 10 मीटर

(iii) -10 सेमी                   

(iv) -10 मीटर

उत्तर: (i) 10 सेमी

प्रश्न : किसी चालक तार मे विधुत धारा का प्रवाह होता है -

(i)  मुक्त इलेक्ट्रोनो द्वारा         

(ii)   प्रोटोनो द्वारा

(iii)  आयनों द्वारा               

(iv)  ‍न्यूट्राँनों द्वारा

उत्तर: (i)  मुक्त इलेक्ट्राँनों द्वारा

प्रश्न : जल को जीवाणु रहित बनाने के लिए उपयोगी पदार्थ है,

(i) धवन सोडा         

(ii) बेकिंग सोडा

(iii) फिटकरी

(iv) विरंजक चूर्ण

उत्तर: जल को जीवाणु रहित बनाने के लिए विरंजक चूर्ण (ब्लीचिंग पाउडर) का उपयोग करते हैं। क्योंकि इसमे से क्लोरिन की विशेष गंध आती है। अत: विकल्प (iv) सही हैं |

प्रश्न : धातु जो सरलता से ऑक्सीकृत हो जाती है-

(i) cu

(ii) Ag

(iii) Al

(iv) Pt

उत्तर: ऐलुमिनियम (Al)सरलता से ऑक्सीकृत हो जाती है। अत: विकल्प (iii) सही हैं

प्रश्न : आँख की समंजन क्षमता से क्या तात्पर्य है?

उत्तर: जब आँख किसी अनंत बिन्दु पर स्थित किसी वस्तु को देखता है तो आँख पर गिरने वाली समांतर किरणे नेत्र-लेंस द्वारा रेटिना R पर फोकस हो जाती हैं और आँख को स्पष्ट दिखाई देती हैं। उस समय मांसपेशियाँ ढीली पड़ी रहती हैं तथा नेत्र-लेंस की फोकस दूरी सबसे अधिक होती है।

जब आँख किसी समीप बिन्दु को देखता है तो मांसपेशियाँ सिकुड़ कर लेंस के तलों की वक्रता त्रिज्याओं को छोटा कर देती है। इससे नेत्र-लेंस की फोकस दूरी कम हो जाती और वस्तु का स्पष्ट प्रतिविम्ब पुन: रेटिना पर बन जाती है। आँख की इस प्रकार फोकस दूरी परिवर्तित करने की क्षमता को समंजन क्षमता कहते हैं।

प्रश्न : श्वेत प्रकाश प्रिज्म में से गुजरता है, तो निर्गत प्रकाश में प्रिज्म के आधार से दूरस्थ प्रकाश का रंग क्या होता है?

उत्तर: जब श्वेत प्रकाश की किरणे प्रिज्म से होकर गुजरती हैं तो वह अपने मार्ग से विचलित होकर प्रिज्म के आधार की ओर झुककर विभिन्न रंगों की किरणों में विभाजित हो जाती हैं। जिसे स्पेक्ट्रम कहा जाता है, जिसका अर्थ होता है रंगो का मिश्रण। इन रंगों में एक सिरा लाल और दूसरा बैंगनी होता है। इन दोनों के बीच नारंगी, पीला, हरा, नीला, जामुनी होता है। इन रंगो के क्रम को याद रखने के लिए ‘VIBGYOR’ को याद रखना चाहिए।

इनमें लाल प्रकाश का अपवर्तनांक सबसे कम होता है और बैंगनी का अपवर्तनांक सबसे अधिक।

Download the complete question paper from here.

Post Comment

Latest Videos

Register to get FREE updates

    All Fields Mandatory
  • (Ex:9123456789)
  • Please Select Your Interest
  • Please specify

  • By clicking on Submit button, you agree to our terms of use
    ajax-loader
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

Newsletter Signup
Follow us on
X

Register to view Complete PDF