Jagran Josh Logo
  1. Home
  2.  |  
  3. अर्थव्यवस्था
  4.  |  
  5. भारतीय अर्थव्यवस्था

भारतीय अर्थव्यवस्था

General Knowledge for Competitive Exams

Read: General Knowledge | General Knowledge Lists | Overview of India | Countries of World

भारत बनाम चीन: तुलनात्मक अध्ययन

Feb 21, 2017

भारत की अर्थव्यवस्था ने 7.6% की आर्थिक विकास दर हासिल करने के साथ ही पूरी दुनिया में सबसे तेजी बढती हुई अर्थव्यवस्था का ख़िताब अपने नाम कर लिया है| इस समय भारतीय अर्थव्यवस्था का आकार $ 4.99 खरब और चीन की अर्थव्यवस्था का आकार $13.39 खरब है| इस लेख में भारत और चीन की अर्थव्यवस्था को बढ़ने में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले क्षेत्रों का तथ्यात्मक अध्ययन किया गया है|

सिबिल स्कोर क्या है और यह आपके लोन लेने की क्षमता को कैसे प्रभावित करता है|

Feb 15, 2017

ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड भारत की पहली क्रेडिट इन्फॉर्मेशन कंपनी है जिसे सामान्य रूप से क्रेडिट ब्यूरो भी कहा जाता है| यह कम्पनी लोगों के व्यक्तिगत लोन, वाहन लोन और क्रेडिट कार्ड इत्यादि के आधार पर लोगों का सिबिल स्कोर (CIBIL Score) बनाती है जिसके आधार पर बैंक और अन्य वित्तीय संस्थाएं यह पता लगा लेतीं है कि अमुख व्यक्ति लोन देने के लायक है कि नही |

भारत में विभिन्न उत्पादों के लिए दिए जाने वाले प्रमाण-पत्रों का विवरण

Feb 14, 2017

भारत सरकार ने सभी नागरिकों के आर्थिक हितों की रक्षा के लिए लगभग हर उत्पाद के लिए कुछ मानकों को बनाया है जैसे कृषि क्षेत्र के उत्पादों के लिए “एगमार्क”, बिजली के उत्पादों के लिए ISI मार्क, सोने चांदी के आभूषणों के लिए BIS मार्क होना निश्चित किया गया है और सभी “प्रसंस्कृत फल उत्पादों” के लिए “FPO मार्क” प्राप्त करना अनिवार्य है| इस लेख में ऐसे ही सुरक्षा मानकों के बारे में बताया गया है|

जाने बारकोड क्या होता है और यह क्या बताता है?

Feb 7, 2017

बारकोड (barcode) किसी उत्पाद के बारे में आंकड़े या सूचना को लिखने का एक तरीका है। यह बारकोड किसी उत्पाद के बारे में पूरी जानकारी जैसे उसका मूल्य, उसकी मात्रा, किस देश में बना, किस कंपनी ने बनाया आदि दिया गया होता है| बारकोड को प्रकाशीय पाठकों (optical scanners) की सहायता से पढ़ा जा सकता है जिन्हें बारकोड पाठक (barcode readers) भी कहते हैं।

नया H1-B वीजा विधेयक: भारत को होने वाले 5 नुकसान

Feb 2, 2017

H1-B वीजा एक गैर-अप्रवासी वीजा है जो संयुक्त राज्य अमेरिका में आव्रजन और राष्ट्रीयता अधिनियम की धारा 101 (15) के तहत दिया जाता है। यह वीजा अमेरिकी कम्पनियों को विभिन्न व्यवसायों में विदेशी कामगारों को अस्थायी रूप से रोजगार देने की अनुमति देता है। नये वीज़ा बिल एक अनुसार अमेरिका आने वाले कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 60,000 से 1 लाख डॉलर करने का प्रस्ताव है |

जानें सरकार हर वर्ष बजट क्यों पेश करती है?

Feb 1, 2017

बजट सरकार की आय और व्यय का लेखा जोखा होता है अर्थात बजट में यह बताया जाता है कि सरकार के पास रुपया कहां से आया और कहां गया| सरकार द्वारा हर साल बजट पेश करने का सीधा मतलब यह है कि सरकार लोगों को यह बताना चाहती है कि लोगों द्वारा हर साल दिए गए पूरे टैक्स का लेखा जोखा सरकार के पास मौजूद है और इसमें किसी भी तरह की कोई गड़बड़ी नही हुई है|

न्यूनतम समर्थन मूल्य (2015-16): अर्थ और भारतीय अर्थव्यवस्था में योगदान

Jan 25, 2017

न्यूनतम समर्थन मूल्य, वह मूल्य है जिस पर सरकार किसानों द्वारा बेचीं जाने वाली अनाज की पूरी मात्रा खरीदने के लिए तैयार रहती है | इन न्यूनतम मूल्यों का सुझाव सरकार द्वारा स्थापित  कृषि और लागत मूल्य आयोग (CACP) करता है और मूल्यों की घोषणा सरकार करती है | यह समर्थन मूल्य साल में दो बार रबी और खरीफ की खेती के लिए कुल 24 फसलों के लिए घोषित किया जाता है|

केन्द्रीय बजट क्या है: परिभाषा एवं उनका वर्गीकरण

Jan 24, 2017

जब कभी हम “बजट” शब्द सुनते हैं तो हमें तुरन्त सरकार द्वारा प्रतिवर्ष पेश किए जाने वाले बजट की याद आती है| लेकिन क्या आपको पता है कि बजट का अर्थ क्या होता है और यह कितने तरह का होता है? इस लेख में हम बजट की परिभाषा और उसके वर्गीकरण का विवरण दे रहे हैं, जिससे बजट के संबंध में आपकी समझ और भी विकसित होगी|

भारत में नीली क्रांति

Jan 24, 2017

भारत में मत्य्य उत्पादन में बृद्धि के लिए चलाई गई एक विशेष योजना को ‘नीली क्रांति’ का नाम दिया गया है| आर्थिक समीक्षा 2014-15 के अनुसार वर्ष 2013-14 में 95.8 लाख टन मछली का उत्पादन कर आज भारत विश्व का दूसरा सबसे बड़ा मछली उत्पादक राष्ट्र बन गया है |

भारत में कृषि से सम्बंधित क्रांतियाँ

Jan 23, 2017

भारत में सबसे पहली क्रांति की शुरुआत 1966-67 में हुई हरित क्रांति से मानी जाती है | इस क्रांति के कारण भारत खाद्य उत्पादन में आत्म निर्भर हो गया| हरित क्रांति में मुख्य योगदान उन्नत किस्म के बीजों का रहा है | इसी क्रांति के बाद भारत में दुग्ध क्रांति, पीली क्रांति, गोल क्रांति नीली क्रांति आदि की शुरुआत हुई और भारत दूध, सरसों, आलू और मत्स्य उत्पादन में आत्म निर्भर हो गया |

भारत में पीली क्रांति और गोल क्रांति

Jan 23, 2017

खाद्य तेलों तथा तिलहन फसलों के उत्पादन हेतु अनुसन्धान एवं विकास की रणनीति को पीली क्रांति के नाम से जाना जाता है | तिलहन उत्पादन में आत्म निर्भरता प्राप्त करने की दृष्टि से उत्पादन, प्रसंस्करण और प्रबंध प्रौद्योगिकी का सर्वोत्तम उपयोग करने के उद्येश्य से तिलहन प्रौद्योगिकी मिशन 1986 से आरंभ किया गया था|

भारतीय बजट से जुडी शब्दावली

Jan 18, 2017

भारत के वित्तमंत्री द्वारा फरवरी माह में पेश किया जाने वाला बजट किस प्रकार का होगा और वह देश के नागरिकों की जिंदगी को किस प्रकार प्रभावित करेगा, इस प्रश्न का उत्तर हर भारतीय जानना चाहता है | लेकिन बजट में इस्तेमाल किये जाने वाले कुछ शब्दों की वजह से वे बजट को ठीक से समझ नही पाते हैं | इसीलिए इस लेख में हमने राजस्व प्राप्तियां, योजनागत व्यय, राजकोषीय घाटा जैसे कुछ शब्दों के बारे में बताया है |

जानें भारत में एक नोट और सिक्के को छापने में कितनी लागत आती है?

Jan 16, 2017

भारत में नोट छापने का एकाधिकार यहाँ के केन्द्रीय बैंक अर्थात भारतीय रिज़र्व बैंक के पास है|  भारतीय रिज़र्व बैंक पूरे देश में एक रुपये के नोट को छोड़कर सभी मूल्यवर्गों (denominations) के नोट छापता है| छोटे मूल्यवर्ग के नोट को छापने की लागत कम (जैसे 5 रु. के नोट की लागत 48 पैसे) और बड़े मूल्य के नोट (1000 रु. के नोट की लागत 3.17 रुपये) की लागत अधिक आती है |

बैंक मित्र और कियॉस्क बैंकिंग किसे कहते हैं?

Jan 13, 2017

आज के महंगाई वाले दौर में हर कोई कुछ अतिरिक्त रुपये कमाने की बात सोचता रहता है | इस लेख में हमने बताया है कि आप कैसे ‘बैंक मित्र’ बनकर और ‘मिनी बैंक‘खोलकर अपनी आय के अतिरिक्त एक अच्छी कमाई कर सकते हैं|

भारतीय बजट के बारे में 6 ऐसे प्रश्न जो आप नही जानते हैं

Jan 13, 2017

भारत के केंद्रीय बजट है को 'वार्षिक वित्तीय विवरण' के रूप में भी जाना जाता है| भारत में बजट का प्रावधान भारतीय संविधान के अनुच्छेद 112 में किया गया है| स्वतंत्र भारत के पहले केंद्रीय बजट को आर के शणमुखम चेट्टी द्वारा 26,1947 को पेश किया गया था| पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा ही ऐसे दो वित्तमंत्री रहे हैं जिन्होंने लगातार 5-5 बार बजट पेश किया है |

रेल बजट को आम बजट में जोड़ने से क्या फायदा होगा?

Jan 12, 2017

अभी हाल ही में मोदी कैबिनेट ने साल 1924 से अलग से पेश किए जा रहे रेल बजट को आम बजट के साथ पेश करने की मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही पिछले 92 साल से चली आ रही 'अलग से रेल बजट' पेश करने की पंरपरा समाप्ती हो जाएगी। अब जब 1 फ़रवरी को वित्त  वर्ष 2017-18 का बजट वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा पेश किया जायेगा तो उसमे रेल बजट की चर्चा भी होगी | आइये इस लेख में यह जानने का प्रयास करते हैं कि इस कदम से भारतीय रेल को क्या फायदा होगा |

जानें बजट के बारे में 11 रोचक तथ्य

Jan 11, 2017

भारत में हर वर्ष फरवरी महीने में केन्द्रीय वित्‍तमंत्री द्वारा आम बजट पेश किया जाता है| लेकिन क्या आपको पता है कि पहली बार बजट कब पेश किया गया था या बजट डॉक्युमेंट की प्रिंटिंग कहां होती है? यदि आपका उत्तर नहीं है तो आइए इस लेख में हम उपरोक्त प्रश्नों के अलावा बजट से संबंधित 11 रोचक तथ्यों का विवरण दे रहें हैं जिससे बजट के संदर्भ में आपकी समझ और भी विकसित होगी|

भारत में बजट बनाने में किस तरह की गोपनीयता बरती जाती है

Jan 10, 2017

भारतीय संविधान का ‘अनुच्छेद 112’ कहता है कि भारत के वित्त मंत्री द्वारा प्रति वर्ष संसद में बजट पेश किया जाना चाहिए| भारत में बजट बनाने के लिए लगभग 100 कर्मचारियों को 7 दिन तक अपने परिवार से दूर, बिना फ़ोन, इन्टरनेट के ख़ुफ़िया विभाग की नजर में एक कमरे में बंद रहना पड़ता है |

भारत में बजट पेश करने की प्रक्रिया क्या है?

Jan 10, 2017

भारतीय संविधान का ‘अनुच्छेद 112’ कहता है कि भारत के वित्त मंत्री द्वारा प्रति वर्ष संसद में बजट पेश किया जाना चाहिए | बजट को ‘वार्षिक वित्तीय विवरण‘ के नाम से भी जाना जाता है| NDA सरकार का चौथा आम बजट वित्‍तमंत्री अरुण जेटली 1 फरवरी 2017 को संसद में पेश करेंगे। इस लेख में बजट तैयार करने की प्रक्रिया के बारे में बताया गया है|

भारत में श्वेत क्रांति

Jan 10, 2017

श्वेत क्रांति दूध-उत्पादकता में तीव्र वृद्धि से संबंधित है। भारत में श्वेत क्रांति को ऑपरेशन फ्लड के नाम से भी जाना जाता है| भारत को दुग्ध-उत्पादन में आत्मनिर्भर बनाने के लिए 1970 के दशक में इसकी शुरूआत की गई थी| डॉ. वर्गीज कुरियन को भारत में श्वेत क्रांति का जनक कहा जाता है। वर्तमान में भारत दुनिया का सबसे बड़ा दूध उत्पादक देश है|

सर्विस टैक्स और सर्विस चार्ज के बीच क्या अंतर है?

Jan 9, 2017

"सर्विस चार्ज" होटल और रेस्टोरेंट द्वारा ग्राहक को सेवा देने के लिए लिया जाने वाला चार्ज है | यह एक कर नहीं है और सरकार द्वारा नहीं लगाया जाता है, बल्कि विशुद्ध रूप से रेस्तरां द्वारा लगाया जाता है| जबकि ‘सेवा कर’ भारत सरकार द्वारा लगाया जाता है और इसे हर नागरिक को देना ही पड़ता है | वर्तमान में भारत के सकल घरेलु उत्पाद (GDP) का लगभग 60% सेवा कर से आता है |

महिला सशक्तिकरण के लिए भारत सरकार की योजनाएं

Dec 19, 2016

किसी भी समाज के विकास का सीधा सम्बन्ध उस समाज की महिलाओं के विकास से जुड़ा होता है | महिलाओं के विकास के बिना व्यक्ति, परिवार और समाज के विकास की कल्पना भी नही की जा सकती है | महिलाओं के विकास के लिए सरकार ने कुछ योजनाओं जैसे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, उज्ज्वला योजना, सुकन्या समृद्धि योजना और कस्तूरबा गाँधी बालिका विद्यालय योजना आदि की शुरुआत की है |

भारतीय कृषि के बारे में 10 महत्वपूर्ण तथ्य

Dec 9, 2016

कृषि अनादि कल से भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ रही है, आज भी है और उम्मीद है आगे भी रहेगी | सरकार का मुख्य ध्यान अब अर्थव्यवस्था में विनिर्माण क्षेत्र के हिस्से को वर्तमान के16% से बढाकर 25% करना है | यह बात सर्वविदित है कि विनिर्माण क्षेत्र का विकास कृषि के बिना नही होगा | इस लेख में आप भारतीय अर्थव्यवस्था से जुड़े 10 जरूरी तथ्यों के बारे में पढेंगे|

समाज के विभिन्न वर्गों के लिए प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गयी कल्याणकारी योजनायें

Dec 9, 2016

भारत विविधता में एकता के लिए प्रसिद्ध है, यही वजह है कि देश के नीति निर्माताओं को देश के हर नागरिक की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए योजना बनाने की जरूरत होती है| इस बात की पुष्टि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना, सबला, कौशल विकास योजना, मनरेगा और सर्व शिक्षा अभियान आदि जैसे कार्यक्रमों के शुभारंभ से होती है|

भारत में विभिन्न ग्रामीण विकास योजनाओं की सूची

Dec 9, 2016

भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालय लाभ प्राप्त करने के लिए नहीं बल्कि लोगों के अधिकतम कल्याण के लिए विभिन्न विकास योजनाएं बनाते है| कुछ योजनाएं जैसे राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, मनरेगा, भारत निर्माण आदि ग्रामीण भारत के विकास के लिए सरकार द्वारा शुरू किए गए हैं|

कीट विज्ञान क्या होता है?

Nov 28, 2016

यह विज्ञान, जंतु विज्ञान या प्राणिविज्ञान का वह अंग है जिसके अंतर्गत कीटों अथवा षट्पादों का अध्ययन आता है। षट्पाद (षट्=छह, पाद=पैर) श्रेणी को ही कभी-कभी कीट की संज्ञा दी जाती हैं। जंतु जगत में 20 संघ है जिनमे आर्थोपोडा सबसे बड़ा है जिनका शरीर सिर, वृक्ष और उदर में विभक्त होता है | सामान्य तौर पर इस संघ के कीटों में तीन जोड़ा पैर और पंख पाये जाते हैं|

सेरीकल्चर (रेशम कीट पालन)

Nov 25, 2016

कच्चा रेशम बनाने के लिये रेशम के कीटों का पालन रेशम उत्पादन (Sericulture) या 'रेशमकीट पालन' कहलाता है। विश्व में रेशम का प्रचलन सर्वप्रथम चीन में हुआ था | चीन प्राकृतिक रेशम उत्पादन में विश्व में पहले नम्बर पर है इसके बाद भारत का नंबर आता है| भारत में हर प्रजाति का रेशम पैदा किया जाता है |

भारत में पायी जाने वाली मृदाएं

Nov 23, 2016

मृदा शब्द की उत्पत्ति लैटिन भाषा के शब्द सोलम (Solum) से हुई है | जिसका अर्थ है फर्श (floor) | मृदा, पृथ्वी को एक पतले आवरण के रूप में ढके रहती है | भारत में सबसे अधिक (43.4%) भूभाग पर जलोढ़ मिट्टी पायी जाती है और अन्य मिट्टियों में काली मिट्टी, लाल मिट्टी और लैटराइट मिट्टी पायी जाती है |

खेती के कौन-कौन से प्रकार होते हैं?

Nov 23, 2016

भारत में खेती के प्रकार से अभिप्राय, भूमि के उपयोग, फसलों एवं पशुधन के आकार और कृषि क्रियाओं व रीतियों से लगाया जाता है| भारत की लगभग 50% प्रतिशत जनसंख्या खेती पर निर्भर करती है| भारत के सभी हिस्सों में अलग-अलग प्रकार की खेती की जाती है क्योंकि यहाँ देश के विभिन्न भागों की जलवायु, भूमि की उर्वरक क्षमता और भूमि का आकार भिन्न भिन्न है |

कौन कौन सी नीतिगत खामियों की वजह से काला धन सफ़ेद बन जाता है: एक विश्लेषण

Nov 17, 2016

काला धन या गुप्त धन उस धन को कहते हैं जिसकी सरकार के पास कोई गणना नही होती है और न ही सरकार को इस राशि पर कोई टैक्स मिलता है | ट्रस्टों की स्थापना, काला धन को कृषि आय बताना, सोने या सोने के आभूषणों की बिक्री या खरीद करना आदि काले धन को सफ़ेद करने के तरीके हैं |

Latest Videos

Register to get FREE updates

    All Fields Mandatory
  • (Ex:9123456789)
  • Please Select Your Interest
  • Please specify

  • By clicking on Submit button, you agree to our terms of use
    ajax-loader
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

Newsletter Signup
Follow us on