Jagran Josh Logo

आईएएस एक्जाम जॉब्स vs एसएससी एक्जाम जॉब्स – एक तुलनात्मक विश्लेषण

Oct 25, 2016 17:30 IST
  • Read in English
IAS Exam Jobs Vs SSC Exam Jobs
IAS Exam Jobs Vs SSC Exam Jobs

अधिकांश भारतीय युवा सरकारी नौकरियों को सबसे पसंदीदा कैरियर विकल्प के रूप में चुनते हैं। सरकारी नौकरी में मिलने वाली कैरियर स्थिरता, नौकरी की सुरक्षा, उत्कृष्ट वेतन, नियमित प्रोन्नति और प्रतिष्ठा तथा स्टेट्स के साथ साथ मिलने वाले कई भत्ते हैं जो युवाओं के आकर्षण का कारण बनते हैं। इन लाभों के अलावा, उम्मीदवार इसमें भाग लेकर देश सेवा करने की अपनी भावना की पूर्ति के साथ साथ प्रशासनिक बुनियादी ढांचा में अपना योगदान देने की इच्छा भी पूरी कर पाते हैं । ये वो कारण हैं जिन वजहों से उम्मीदवार निजी क्षेत्रों की तुलना में सरकारी नौकरियों के लिए अधिक आकर्षित होते हैं। सरकारी नौकरी पाने के कई अलग- अलग अलग परीक्षा माध्यम हैं, जिनके जरिये आप इन्हें आसानी से हासिल कर सकते हैं लेकिन इनमें से दो परीक्षा सबसे लोकप्रिय हैं और वे  हैं- आईएएस / सिविल सेवा परीक्षा माध्यम या एसएससी परीक्षा का माध्यम।

सिविल सेवा परीक्षा क्या है?

सिविल सेवा परीक्षा में सरकार द्वारा सार्वजनिक सेवाओं के लिए उम्मीदवारों को नौकरी की पेशकश की जाती है। इस भर्ती परीक्षा को संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा आयोजित किया जाता है। यह एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है। आमतौर पर इसे आईएएस परीक्षा के रूप में जाना जाता है।  सिविल सेवा परीक्षा के जरिए भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) और भारतीय वन सेवा (आईएफएस) जैसी अलग-अलग सेवाओं के तहत उम्मीदवारों को सरकारी मशीनरी के शीर्ष स्तर के पदों पर तैनात किया जाता है। यूपीएससी इस परीक्षा के माध्यम से उम्मीदवारों की नियुक्ति विभिन्न मंत्रालयों और सरकारी विभागों में क्लास वन ऑफिसर, क्लास टू ऑफिसर जैसे पदों पर करती है।

एसएससी (कर्मचारी चयन आयोग) की परीक्षा क्या है?

कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) सरकार द्वारा संचालित होने वाली एक एजेंसी हैं, जो विभिन्न सरकारी विभागों में नियुक्ति करने के लिए भर्ती परीक्षा आयोजित करती है। एसएससी भर्ती परीक्षा के माध्यम से भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों में ग्रुप बी के पदों के और सभी गैर-तकनीकी पदों पर तैनाती करती है। एसएससी परीक्षा विशेष विभाग या सरकारी एजेंसी की जरूरत के अनुसार साल भर आय़ोजित की जाती है। अखिल भारतीय स्तर की दो सबसे महत्वपूर्ण वार्षिक एसएससी परीक्षाएं इस प्रकार हैं-

  • एसएससी संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तर (10+2) परीक्षा
  • एसएससी संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा

क्या एसएससी आईएएस परीक्षा की क्षतिपूर्ति कर सकती है?

इस प्रश्न का कोई सीधा उत्तर नहीं हैं। यह उम्मीदवार के परिप्रेक्ष्य और दृष्टि पर निर्भर करता है कि उसका करियर सरकारी मशीनरी के भीतर किस तरह ऊपर जा सकता है। एक बात जरूर है कि इन दोनों परीक्षाओं में सफलता हासिल करके उम्मीदवार सरकारी नौकरी जरूर पा सकते हैं। इन दोनों नौकरियों में भूमिका, जिम्मेदारी और उनसे जुड़ी शक्तियां पूरी तरह से अलग हैं। इनमें से कुछ अंतरों का हम नीचे वर्णन कर रहें हैं-

नौकरी की जिम्मेदारियां

आईएएस या सिविल सेवा परीक्षाओं का लक्ष्य देश की सरकारी नौकरशाही में उच्चतम पदों के लिए सर्वश्रेष्ठ उम्मीदवार को खोजना है। क्योंकि परीक्षा में सफल होने के बाद ये वहीं लोग होते हैं जो राष्ट्र के विकास के लिए सरकारी नीतियों के कार्यान्वयन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

एसएससी परीक्षा का लक्ष्य देश की सरकारी व्यवस्था में उम्मीदवारों की भर्ती करना है। इसके अलावा विभागों या मंत्रालयों में प्रतिदिन के कार्य में मदद करना एवं सामान्य प्रशासनिक व्यवस्था में सहायता कर देश की सेवा करना है।

स्क्रीनिंग प्रक्रिया

दोनों परीक्षाओं के लिए स्क्रीनिंग की प्रक्रिया भी अलग-अलग है। कम्पीटीशन के लिहाज से  देखा जाए तो एसएससी की तुलना में आईएएस परीक्षा एक बेहद मुश्किल परीक्षा होने के साथ साथ व्यापक परीक्षा भी है।

पे स्केल और पद

परीक्षा  और संबंधित जॉब के नजरिये से देखा जाए तो दोनों में सबसे बड़ा अंतर पे स्केल और पद का ही होता है। सिविल सेवा परीक्षा के माध्यम से ग्रुप ए और ग्रुप बी श्रेणियों के लिए उम्मीदवारों का चयन किया जाता है इसलिए उन्हें उच्च पदों पर नियुक्ति मिलने के साथ- साथ आकर्षित पे स्केल का वेतन मिलता है। जबकि एसएससी ग्रुप बी और सभी गैर-तकनीकी समूह सी के पदों के लिए उम्मीदवारों का चयन करता है। इसलिए सिविल की तुलना में इन उम्मीदवारों के पद और वेतन में अंतर आ जाता है।

इन प्रमुख अंतरों के बावजूद कुछ आईएएस उम्मीदवार  जो अपने अधिकतम प्रयासों के समाप्त होने के बाद सफलता प्राप्त नहीं कर पाते हैं, तो ऐसी स्थिति में उनके पास एसएससी परीक्षा का विकल्प रहता है जिससे वो प्रशासनिक बुनियादी ढांचे का हिस्सा बन सकते हैं। लेकिन फिर भी यहां उनके लिए वो स्थिति नहीं होती जो वो सिविल परीक्षा के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं।

Commented

    Latest Videos

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • By clicking on Submit button, you agree to our terms of use
      ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Newsletter Signup
    Follow us on
    X

    Register to view Complete PDF