Search

आईबीपीएस क्लर्क 2016 : नए पैटर्न के लिए खुद को रखें तैयार

आईबीपीएस ने बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, बैंक ऑफ महाराष्ट्र आदि जैसे भागीदार संगठनों में लिपिक संवर्ग के कर्मचारियों की भर्ती संबंधी एक अधिसूचना प्रकाशित की है। इसके लिए प्रारंभिक परीक्षा नवंबर/ दिसंबर 2016 में आयोजित की जाएगी और मुख्य परीक्षा जनवरी 2017 में होगी।

Sep 5, 2016 16:30 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

आईबीपीएस ने बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, बैंक ऑफ महाराष्ट्र आदि जैसे भागीदार संगठनों में लिपिक संवर्ग के कर्मचारियों की भर्ती संबंधी एक अधिसूचना प्रकाशित की है। इसके लिए प्रारंभिक परीक्षा नवंबर/ दिसंबर 2016 में आयोजित की जाएगी और मुख्य परीक्षा जनवरी 2017 में होगी। अंतिम नतीजे अप्रैल 2017 में घोषित किए जाएंगे। विज्ञापन में कुछ बदलावों की घोषणा की गई है जिनके बारे में विस्तार से व्याख्या करने की आवश्यकता है। इस लेख में 22 अगस्त 2016 से शुरु हुई पंजीकरण प्रक्रिया के तहत हम आपके संदेहों और सवालों का जवाब देने की कोशिश करेंगे।

आईबीपीएस लिपिक परीक्षा 2016 : पैटर्न

आईबीपीएस लिपिक परीक्षा 2016 दो चरणों में आयोजित की जाने वाली है– प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा। इस वर्ष भी चयन प्रक्रिया में साक्षात्कार/ इंटरव्यू नहीं होगा और वित्त वर्ष 2017-18 के लिए बैंकों में अंतिम चयन हेतु मुख्य परीक्षा के अंक ही मान्य होंगे।

  • प्रारंभिक परीक्षाः प्रारंभिक परीक्षा का पैटर्न पिछले वर्ष के पैटर्न के जैसा ही होगा। इसमें उम्मीदवारों को 60 मिनटों में 100 प्रश्नों का उत्तर देना होगा। आपको अंग्रेजी में 30 प्रश्न और तर्कशास्त्र एवं मात्रात्मक योग्यता, दोनों ही खंडों से 35 प्रश्नों का उत्तर देना होगा। इस परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर ही उम्मीदवारों का चयन मुख्य परीक्षा के लिए किया जाएगा।
  • मुख्य परीक्षाः मुख्य परीक्षा में पिछले वर्ष वाले विषय ही होंगे यानि क्वांट, तर्कशास्त्र, अंग्रेजी, कंप्यूटर योग्यता और सामान्य जागरूकता। प्रत्येक खंड में 40 प्रश्न होंगे। क्वांट और तर्कशास्त्र खंड के लिए 50– 50  अंक जबकि कंप्यूटर का वेटेज बढ़ाकर 20 अंक कर दिया गया है। अन्य खंडों के लिए अंक नहीं बदले गए हैं और उनके कुल अंक 40 ही रहेंगे। इस परीक्षा में  सबसे अप्रत्याशित है परीक्षा में खंडवार समय निर्धारित कर दिया जानाः क्वांट (30 मिनट), सामान्य जागरूकता (25 मिनट), तर्कशास्त्र (30 मिनट), अंग्रेजी (30 मिनट)  और कंप्यूटर (20 मिनट)। इस प्रकार परीक्षा की कुल अवधि पहले के 120 मिनटों की तुलना में अब 135 मिनट हो गई है।

आईबीपीएस लिपिक परीक्षा अब आने वाली है और जब आप पीओ की परीक्षा से निपट जाएं तो खुद को आईबीपीएस लिपिक परीक्षा 2016 के नए पैटर्न के अनुसार तैयार करने में जुट जाएं।

इस लेख में पैटर्न को समझर हम कम समय में परीक्षा की तैयारी कैसे करें, इस प्रश्न का जवाब तलाशने की कोशिश करेंगे

  • प्रारंभिक परीक्षा में कोई बदलाव नहीं : किसी भी भागीदार बैंक में नौकरी प्राप्त करने के लिए आपको सबसे पहले यह बाद स्पष्ट करने की आवश्यकता है और यह उम्मीदवारों के लिए अच्छी खबर है कि पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष प्रारंभिक परीक्षा के पैटर्न में कोई बदलाव नहीं किया गया है। इसलिए पिछले वर्ष या हाल ही में हुए एसबीआई लिपिक परीक्षा के लिए जैसी रणनीति आपने अपनाई थी उसका ही पालन करें।
  • तर्कशास्त्र और क्वांट का अधिक महत्वः हां, इस वर्ष से इन दो खंडों के पाठ्यक्रम की अधिक गहन तैयारी करें क्योंकि इन दो खंडों को दिए गए अंक अन्य खंडों को दिए गए अंक की तुलना में अधिक हैं।
  • प्रत्येक खंड में दिए गए समय के बारे में न सोचें: ऐसा इसलिए क्योंकि आईबीपीएस ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि प्रत्येक खंड के लिए अलग समय दिया जाएगा और आपको उसी समय के भीतर उस खंड को पूरा करना है। एक बार आपने खंड विशेष के लिए निर्धारित समय को खर्च कर दिया तो फिर आपके पास उस खंड में वापस जाने का विकल्प नहीं होगा। यह पैटर्न जून 2016 में एसबीआई की लिपिक परीक्षा के पैटर्न जैसा है।
  • दिया गया कुल समय पिछले वर्ष से अधिक हैः परीक्षा के लिए दिया गया कुल समय पिछले वर्ष दिए गए कुल 120 मिनटों से बढ़ाकर 135 मिनट कर दिया गया है। इसलिए आपको अधिक समय मिलेगा l  यह सही है लेकिन आपको आईबीपीएस द्वारा आवंटित समय के अनुसार इसका उपयोग करना होगा।
  • अलग– अलग राज्यों के लिए अलग– अलग रिक्तियों की घोषणा :  आईबीपीएस के विज्ञापन में यह नई चीज है क्योंकि इसने विज्ञापन में प्रत्येक राज्य के लिए रिक्तियों की संख्या की घोषणा की है। इससे आपको मुख्य परीक्षा में आपके प्रदर्शन के आधार पर आपके नौकरी मिलने की संभावना को समझने में मदद मिलेगी।
  • कंप्यूटर का महत्व कम हो गया है : इसका वेटेज कम कर सिर्फ 20 कर दिया गया है और इस खंड के लिए 20 मिनट ही दिए जाएंगे। हालांकि इस खंड के 40 प्रश्नों का उत्तर देने के लिए 10 मिनटों का समय ही पर्याप्त होगा। इस खंड में आपके पास अतिरिक्त समय है, इसलिए, तैयारी के समय कंप्यूटर की तुलना में क्वांट और तर्कशास्त्र पर अधिक समय दें।

परीक्षाओं का मौसम आ चुका है और आप सभी अगले वर्ष तक देश के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में से किसी एक में अपनी नौकरी, चाहे वह पीओ की हो या लिपिक की, पक्की करने के लिए अपने सर्वश्रेष्ठ प्रयासों के साथ तैयारी कर रहे होंगे। कड़ी प्रतिस्पर्धा के इस दौर में खुद के लिए एक नौकरी प्राप्त करने हेतु आपको परीक्षा की आवश्यकताओं के अनुसार ध्यान लगाने की आवश्यकता होगी और उसी अनुसार आपको तैयारी करनी होगी। आईबीपीएस की लिपिक परीक्षा एसबीआई की लिपिक परीक्षा के जैसी ही है लेकिन इसमें कुछ मामूली बदलाव किए गए हैं। इसलिए तैयारी के दौरान परीक्षा का ध्यान रखें और ठीक से तैयारी करें।

Related Stories