Search

आईबीपीएस द्वारा विशेषज्ञ अधिकारी परीक्षा 2013 में सफल अभ्यर्थियों को सीटों का आवंटन

Jagranjosh.com आईबीपीएस ने विशेषज्ञ अधिकारी परीक्षा 2013 में सफल हुए अभ्यर्थियों हुए सीटों की आवंटन प्रक्रिया का विश्लेषण प्रस्तुत कर रहा है.

Jan 17, 2014 14:54 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान (आईबीपीएस) ने विशेषज्ञ अधिकारी परीक्षा 2013 (सीडब्ल्यूई एसपीएल-II) में सफल हुए अभ्यर्थियों को सहभागी संगठनों में सीटों के आबंटन की प्रक्रिया पूरी कर ली है. सीटों का आबंटन 01 जनवरी 2014 को इन संगठनों में उपलब्ध रिक्तियों के आधार पर किया गया, जिसे आईबीपीएस द्वारा जारी अधिसूचना के अनुबंध 'क' में उपलब्ध करायी गयी थी.

image

इस आवंटन के संबंध में संबंधित अभ्यर्थियों को व्यक्तिगत रूप से, उनके द्वारा सीडब्ल्यूई एसपीएल-II के लिए पंजीकरण करते समय दर्ज करवाए गए ईमेल-पते और मोबाइल नंबर, पर सूचित किया जा रहा है. अत: यदि इस बीच में किसी सफल अभ्यर्थी ने किसी कारणवश अपना ईमेल-पता और/या मोबाइल नंबर बदल लिया है, तो तकनीकी कारणों से उसे सीट के आबंटन की सूचना मिलने में कठिनाई हो सकती है. कहने की आवश्यकता नहीं कि इसके लिए संगठन जिम्मेदार नहीं होगा. अत: अभ्यर्थियों को स्वयं इस संबंध में सावधानी बरतनी होगी.

सहभागी संस्थाओं में अभ्यर्थियों के लिए सीटों का यह आबंटन अनंतिम (प्रोविजनल) है और मेरिट-सह-प्राथमिकता के आधार पर किया गया है. इसमें भारत सरकार और अन्य सरकारी प्राधिकरणों द्वारा इस संबंध में समय-समय पर जारी किए गए दिशानिर्देशों के साथ-साथ प्रशासनिक अपेक्षाओं का भी ध्यान रखा गया है.

इस आबंटन की सबसे महत्त्वपूर्ण बात यह है कि आरक्षित श्रेणी के जिस अभ्यर्थी को सामान्य श्रेणी पर लागू मानदंडों के आधार पर चुना गया है, उसे मेरिट बनाने के लिए सामान्य श्रेणी के अभ्यर्थी के समान समझा गया है और उसी के अनुसार उसे मेरिट में स्थान दिया गया है. दुसरे शब्दों में, उस अभ्यर्थी को आरक्षित सीट पर समायोजित नहीं किया गया है. किंतु उसे आरक्षण का लाभ देने के लिए संबंधित संगठन को उसका आबंटन इसी प्रकार किया गया है, मानो उसने आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थी के रूप में ही क्वालिफाई किया हो.

दूसरे, दो या अधिक अभ्यर्थियों द्वारा समान स्कोर प्राप्त करने की स्थिति में मेरिट के क्रम का निर्धारण उनकी जन्मतिथि के अनुसार किया गया है और आयु में वरिष्ठ अभ्यर्थी को आयु में कनिष्ठ से ऊपर रखा गया है.
सीटों के आबंटन के संबंध में निम्नलिखित बातें ध्यान देने योग्य हैं:

1)    सीटों के आबंटन के प्रयोजन से अभ्यर्थियों द्वारा ऑनलाइन आवेदन-पत्र में पहले से पंजीकृत करवाए गए डाटा में कोई परिवर्तन संभव नहीं है. 

2)    सहभागी संगठनों में अभ्यर्थियों के आबंटन के संबंध में आईबीपीएस का निर्णय अंतिम और सफल अभ्यर्थियों के लिए बाध्यकारी है. किंतु आईबीपीएस के पास आकस्मिकता के अनुसार या अन्यथा सीटों के इस आबंटन को रद्द करने और संगठनवार पुन: आबंटन करने का अधिकार सुरक्षित है.

3)    अनंतिम आबंटन अभ्यर्थी द्वारा सहभागी संगठन के मानदंड पूरे करने और उसकी संतुष्टि के अनुसार पहचान का सत्यापन करवाने पर निर्भर है. इस प्रकार, सीटों का यह आबंटन कोई नियोजन का प्रस्ताव नहीं है. भर्ती-प्रक्रिया के किसी भी चरण में यह पाए जाने पर कि अभ्यर्थी पात्रता-मानदंड पूरे नहीं करता, उसकी उम्मीदवारी/प्रक्रिया में उसका अवसर समाप्त हो जाएगा.

4)    सेवा-शर्तों, सत्यापन की औपचारिकताओं, कार्यग्रहण (जॉइनिंग) आदि सहित नियुक्ति का प्रस्ताव यथासमय आबंटित सहभागी संगठन द्वारा जारी किया जाएगा. अभ्यर्थियों को संबंधित संगठन से बुलावा मिलने के बाद ही उस संगठन से संपर्क करना चाहिए. नियुक्ति-प्रस्ताव पूर्णत: सहभागी संगठनों का अपना निर्णय होगा और वह अंतिम तथा बाध्यकारी होगा. आईबीपीएस की इसमें कोई भूमिका नहीं है.

5)    यदि अभ्यर्थी आबंटित सहभागी संगठन से मिलने वाले प्रस्ताव/नियुक्ति का लाभ नहीं उठाता, तो उसकी उम्मीदवारी/प्रक्रिया में उसका अवसर समाप्त हो जाएगा.

6)    आबंटन के इस दौर के लिए पदवार और श्रेणीवार न्यूनतम स्कोर (सीडब्ल्यूई और साक्षात्कार में 100 में से संयुक्त स्कोर) आईबीपीएस द्वारा जारी सूचना (नोटिस)  के अनुबंध 'ख' में दिया गया है.

7)    आबंटन के स्टेटस/प्रक्रिया के बारे में अभ्यर्थी द्वारा किए जाने वाले किसी पत्र-व्यवहार पर आईबीपीएस ध्यान नहीं देगा.

8)    सीडब्ल्यूई एसपीएल-II की वैधता 31मार्च 2014 को समाप्त हो जाएगी.

उपर्युक्त बातों को दृष्टिगत रखते हुए सफल अभ्यर्थी अपनी आगे की तैयारी कर सकते हैं.

Related Stories