Search

एसबीआई पीओ परीक्षा 2015: टिप्स और रणनीति – संख्यात्मक योग्यता

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने देश के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में प्रोबेशनरी ऑफिसर के पद पर भर्ती के लिए संयुक्त लिखित परीक्षा (सीडब्ल्यूई) आयोजित करता है.

Apr 18, 2015 17:38 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने देश के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में प्रोबेशनरी ऑफिसर के पद पर भर्ती के लिए संयुक्त लिखित परीक्षा (सीडब्ल्यूई) आयोजित करता है. सीडब्ल्यूई पीओ परीक्षा के प्रश्नपत्र के 5 सेक्शन हैं, जिनमें संख्यात्मक योग्यता, बैंकिंग उद्योग के विशेष संदर्भ सहित सामान्य जागरूकता, तर्क-क्षमता, अंग्रेजी भाषा और कंप्यूटर-ज्ञान शामिल हैं. हर सेक्शन में 5 विकल्पों वाले 40 वस्तुनिष्ठ किस्म के प्रश्न हैं.

छवि

जागरणजोश डॉट कॉम की विशेषज्ञ टीम के पास अभ्यर्थियों की तैयारी के लिए श्रेष्ठ संघटकों का सम्मिश्रण है. हमारे पास अभ्यर्थियों को परीक्षा के लिए सक्षम बनाने हेतु सेक्शनवाइज टिप्स और रणनीतियाँ हैं. तर्क-क्षमता वाले सेक्शन के लिए कुछ टिप्स और रणनीतियाँ नीचे प्रस्तुत हैं.

मानसिक सजगता

आईबीपीएस लिपिक परीक्षा के तर्क-क्षमता वाले सेक्शन को हल करने के लिए मानसिक सजगता और तार्किक कौशल अपेक्षित है, क्योंकि तर्क-क्षमता के प्रश्न हल करने के लिए ये अनिवार्य अपेक्षाएँ हैं. अभ्यर्थी को प्रश्न तार्किक रूप से हल करने की कोशिश करनी चाहिए। मानसिक सजगता बढ़ाने के लिए अभ्यर्थियों को प्रश्नों का अधिक अभ्यास करना चाहिए. ऑनलाइन टेस्टों का अधिकाधिक अभ्यास तथा मित्रों के साथ टॉपिक्स पर सामूहिक चर्चा करनी चाहिए और बड़ी संख्या में गणित की समस्याएँ तथा पहेलियाँ हल करने की कोशिश करनी चाहिए.

संकल्पनाएँ समझना

लिपिक की संयुक्त लिखित परीक्षा की तैयारी करने के लिए अभ्यर्थियों को तर्क-क्षमता की हरेक संकल्पना की उचित समझ रखना आवश्यक है. साथ ही, पिछले वर्षों के प्रश्नपत्रों से प्रश्नों का स्वरूप जानने की भी आवश्यकता है. इसके लिए अभ्यर्थियों को आईबीपीएस लिखित परीक्षा के लिए आदर्श रूप से तैयार की गई अच्छी अध्ययन-सामग्री का अध्ययन करना चाहिए.

समय-प्रबंधन कौशल

स्वयं को प्रश्न तेजी से हल करने के लिए तैयार करने हेतु अभ्यर्थी को समय-प्रबंधन के कौशल विकसित करने चाहिए। उसे न्यूनतम संभव समय में अधिकतम प्रश्न हल करने के हिसाब से समय समर्पित करना चाहिए. समय टॉपिक्स की तैयारी और अभ्यास के अनुसार दिया जाना चाहिए.

अभ्यास

गति बढ़ाने के लिए अभ्यर्थियों को पिछले वर्षों के प्रश्नपत्रों और मॉडल प्रश्नपत्रों का अधिकाधिक अभ्यास करना चाहिए, जो लिपिक परीक्षा में उन्हें अच्छे अंक दिलवाने में सहायक होगा. साथ ही, ऑनलाइन टेस्ट संख्यात्मक योग्यता वाले सेक्शन को हल करने में अपनी स्पीड परखने का अच्छा विकल्प होगा.

Related Stories