Search

एसबीआई विशेषज्ञ अधिकारी परीक्षा 2014: टिप्स और रणनीतियाँ

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) विशेषज्ञ अधिकारियों के पदों पर भर्ती के लिए लिखित परीक्षा आयोजित करेगा.

Mar 7, 2014 11:44 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) विशेषज्ञ अधिकारियों के पदों पर भर्ती के लिए लिखित परीक्षा आयोजित करेगा. लिखित परीक्षा 19 अप्रैल 2014 को आयोजित की जाएगी. परीक्षा देशभर में विभिन्न केंद्रों पर ऑनलाइन फॉर्मेट के माध्यम से आयोजित की जाएगी.  

• अभ्यर्थियों का चयन (i) परीक्षा (टेस्ट) और साक्षात्कार या (ii) शॉर्टलिस्टिंग और साक्षात्कार के आधार पर की जाएगी.

• ऑनलाइन टेस्ट में पेशागत ज्ञान के अतिरिक्त अंग्रेजी भाषा, तर्कशक्ति और/या मात्रात्मक अभिवृत्ति के खंड शामिल हैं.

• पेशागत ज्ञान (पीके) के प्रश्नपत्र को छोड़कर अन्य प्रश्नपत्र क्वालिफाइंग स्वरूप के होंगे. अभ्यर्थियों को इन प्रश्नपत्रों में न्यूनतम क्वालिफाइंग अंक प्राप्त करने होंगे. न्यूनतम क्वालिफाइंग अंक बैंक द्वारा निश्चित किए जाएँगे. प्रश्न द्विभाषी अर्थात हिंदी और अंग्रेजी में होंगे. अभ्यर्थियों के पास उत्तर हिंदी या अंग्रेजी में देने का विकल्प होगा (अंग्रेजी भाषा के टेस्ट को छोड़कर).

परीक्षा क्वालिफाई करना कोई भारी काम नहीं होगा, यदि आप सुस्पष्ट रणनीतियों के साथ उसकी तैयारी करें. एसबीआई विशेषज्ञ अधिकारी परीक्षा 2014 की रणनीतिक ढंग से तैयारी करने में आपकी सहायता करने के लिए जागरण जोश की टीम ने में कुछ अत्यधिक उपयोगी उपयोगी टिप्स के साथ एक फेल-प्रूफ तैयारी-रणनीति परिभाषित और समेकित की है. उन्होंने यहाँ अभ्यर्थियों के लिए खंड-वार टिप्स और रणनीतियाँ प्रस्तुत की हैं.  

हम अभ्यर्थियों के लिए एक परिपूर्ण गंतव्य हैं, जहाँ अभ्यर्थी समस्त बैंकिंग-परीक्षाओं के लिए पूरी जानकारी प्राप्त करते हैं, जैसे कि अधिसूचनाएँ, पिछले वर्षों के प्रश्नपत्र, मॉडल अभ्यास सेट, ऑनलाइन टेस्ट, ई-बुक्स आदि. हमारी बैंकिंग टीम परीक्षाओं की अपेक्षाओं को उपयुक्त रूप से समझने के बाद उचित संघटक शामिल कर प्रत्येक उत्पाद विकसित करती है.   

अंग्रेजी भाषा: टिप्स 

अंग्रेजी भाषा एसबीआई विशेषज्ञ अधिकारी परीक्षा 2014 के सर्वाधिक अंक दिलाने वाले खंडों में से एक समझी जाती है, जिसके लिए अंग्रेजी व्याकरण और भाषा पर अच्छी पकड़ आवश्यक है. इस खंड में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थियों को अपना शब्द-भंडार मजबूत करना चाहिए, साथ ही उन्हें व्याकरणिक संकल्पनाओं की भी बहुत स्पष्ट और सटीक जानकारी होनी चाहिए. इस खंड में आम तौर पर लेखांश-आधारित प्रश्न, वाक्यों में आम गलतियाँ, रैपिड फिलर्स, क्लोज टेस्ट, विपरीतार्थक और समानार्थक शब्द आदि शामिल होते हैं.     

मात्रात्मक अभिवृत्ति: टिप्स 

मात्रात्मक अभिवृत्ति के प्रश्न हल करने के लिए अभ्यर्थी को परीक्षा में शामिल टॉपिक्स के लिए जरूरी सभी आवश्यक आधारभूत संकल्पनाओं का ज्ञान होना चाहिए. आधारभूत संकल्पनाओं की स्पष्टता अभ्यर्थियों को सीधे सही विकल्प पर ले जाएगी. इसके अतिरिक्त, गति इस खंड के लिए सर्वोपरि आवश्यकता है. और सबसे महत्त्वपूर्ण, किसी भी प्रकार के प्रश्न की अनदेखी न करें, न प्रश्नों के किसी प्रकार को महत्त्वहीन ही समझें, क्योंकि कोई नहीं जानता कि प्रश्नों का कौन-सा प्रकार इस खंड में हाइलाइट हो जाएगा. इस खंड में आने वाले प्रश्न आम तौर पर अंक-प्रणाली, अनुपात, लाभ-हानि और बट्टा, प्रतिशत, औसत, आँकड़ा-निर्वचन, समय और कार्य आदि से संबंध रखते हैं. भारतीय स्टेट बैंक आँकड़ा-निर्वचन संबंधी प्रश्नों पर बल देता है.   अत: अभ्यर्थियों को आँकड़ा-निर्वचन संबंधी प्रश्नों पर फोकस करना चाहिए.   

तार्किक अभिवृत्ति: टिप्स

तर्कक्षमता वाले खंड की तैयारी के लिए अभ्यर्थी में मानसिक सजगता और तार्किक कौशल होने आवश्यक हैं. इस खंड में दक्षता प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थियों को प्रश्नों के स्वरूप को समझना चाहिए और इसके लिए उन्हें मॉडल प्रश्नपत्रों और पिछले वर्षों के प्रश्नपत्रों का अभ्यास करना चाहिए. इस खंड में मौखिक और गैर-मौखिक तर्कक्षमता से  संबंधित प्रश्न आते हैं, जिनमें सादृश्य (एनालॉजी), इनपुट-आउटपुट, वर्गीकरण, निगमनिक तर्क (सिलोजिज्म), अध्याहार (इनफेरेंसेज) आदि शामिल हैं.

पेशागत ज्ञान: टिप्स

पेशागत ज्ञान आपका सुविधा-क्षेत्र होना चाहिए. इस खंड में आपके विषय या विशेषज्ञता से संबंधित प्रश्न पूछे जाएँगे. अत: यदि आप इस खंड में अच्छा निष्पादन करना चाहते हैं, तो आपको अपने विषय की आधारभूत संकल्पनाएँ स्पष्ट होनी चाहिए. तदनुसार तैयारी शुरू करें.

Related Stories