Jagran Josh Logo

केरल की हरिता वी कुमार ने आईएएस परीक्षा-2012 में प्रथम स्थान पर चयनित

May 4, 2013 11:14 IST

    संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा मुख्य परीक्षा 2012 (आईएएस 2012) का अंतिम परिणाम 3 मई 2013 को घोषित किया गया. इस परीक्षा में पहला स्थान केरल की हरिता वी. कुमार ने हासिल किया. इनका यह चौथा प्रयास था.  केरल के ही वी श्रीराम को दूसरा और दिल्ली की स्तुति चरण को तीसरा स्थान प्राप्त हुआ. हरिता वर्ष 2011 बैच की भारतीय राजस्व सेवा (सीमा शुल्क एवं केंद्रीय उत्पाद) की प्रशिक्षु अधिकारी हैं. इस बार घोषित नतीजों में लगातार तीसरे वर्ष सिविल सेवा परीक्षा में किसी महिला उम्मीदवार ने पहला स्थान हासिल किया है. राष्ट्रीय सीमा-शुल्क, उत्पाद एवं नारकोटिक्स अकादमी (एनएसीईएन) में प्रशिक्षणरत हरिता ने केरल विश्वविद्यालय से बीटेक (इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन) की डिग्री हासिल की है. केरल विश्वविद्यालय से एमबीबीएस डिग्रीधारक श्रीराम ने अपने दूसरे प्रयास में यह सफलता हासिल की. स्तुति ने जोधपुर विश्वविद्यालय से बीएससी और दिल्ली स्थित इंडियन इंस्टीटयूट ऑफ प्लानिंग एंड मैनेजमेंट (आईआईपीएम) से कार्मिक एवं विपणन प्रबंधन में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा हासिल किया है. स्तुति का यह  तीसरा प्रयास था.

    इनके अलावा आईएएस परीक्षा 2012 में सामान्य, अनुसूचित जनजाति (एसटी) एवं अनुसूचित जाति (एससी) श्रेणियों में भी महिला उम्मीदवारों ने पहला स्थान हासिल किया है. सिविल सर्विस परीक्षा 2012 के लिए 536506 उम्मीदवारों ने आवेदन किया था. प्रारंभिक परीक्षा में 271422 उम्मीदवार बैठे थे. इसमें से मुख्य परीक्षा के लिए 13092 और फिर पर्सनल टेस्ट के लिए 2674 उम्मीदवारों को शॉर्ट लिस्ट किया गया था. केंद्रीय कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) की ओर से जारी बयान में कहा गया कि इस बार लगभग 998 प्रतिभागियों का चयन किया गया है जिसमें 753 पुरुष एवं 245 महिलाएं भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) और भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) सहित कई अन्य केंद्रीय सेवाओं में नियुक्ति के लिए चुने गए हैं.

    बयान के मुताबिक, 998 सफल उम्मीदवारों में 457 सामान्य (जिसमें 23 शारीरिक रूप से अशक्त) श्रेणी, 295 अन्य पिछड़ा वर्ग (जिसमें 9 शारीरिक तौर पर अशक्त) श्रेणी, 169 अनुसूचित जाति (जिसमें दो शारीरिक रूप से अशक्त) श्रेणी और 76 अनुसूचित जनजाति श्रेणी से हैं. यूपीएससी ने जब सिविल सेवा परीक्षा - 2012 की अधिसूचना जारी की थी तो उसमें 1,091 पदों का विज्ञापन दिया गया था. उन 1091 पदों में 550 सामान्य, 295 अन्य पिछड़ा वर्ग, 169 अनुसूचित जाति एवं 76 अनुसूचित जनजाति के लिए थे। बयान में कहा गया कि शीर्ष 25 उम्मीदवारों में 12 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के निवासी हैं. इनमें आंध्र प्रदेश, बिहार, चंडीगढ़, दिल्ली, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक, केरल,महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश के उम्मीदवार हैं. इनमें छह ने पहले प्रयास, नौ ने दूसरे प्रयास, आठ ने तीसरे, और एक-एक ने चौथे और छठे प्रयास में सफलता प्राप्त की है.

    Commented

      Latest Videos

      Register to get FREE updates

        All Fields Mandatory
      • (Ex:9123456789)
      • Please Select Your Interest
      • Please specify

      • By clicking on Submit button, you agree to our terms of use
        ajax-loader
      • A verifcation code has been sent to
        your mobile number

        Please enter the verification code below

      Newsletter Signup
      Follow us on
      X

      Register to view Complete PDF