सही रणनीति बनाएं, सफलता पायें|

प्रतियोगी परीक्षाएं देने वाले अधिकांश अभ्यर्थी इस कारण से परेशान रहते हैं कि वे जो कुछ भी पढते हैं, उसे भूल जाते हैं। इस कारण उनमें अन्य स्टूडेंट की अपेक्षा हीन भावना आ जाती है और एग्जाम में बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं...

Created On: Mar 7, 2013 14:42 IST

प्रतियोगी परीक्षाएं देने वाले अधिकांश अभ्यर्थी इस कारण से परेशान रहते हैं कि वे जो कुछ भी पढते हैं, उसे भूल जाते हैं। इस कारण उनमें अन्य स्टूडेंट की अपेक्षा हीन भावना आ जाती है और एग्जाम में बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार भूलना मानवीय स्वभाव है। यह किसी के साथ भी हो सकती है। इसके लिए सबसे बेहतर विकल्प यह है कि आप किसी भी विषय को मन लगाकर पढें और कम से कम तीन से चार बार याद करके अवश्य लिखें। इस तरह की पढाई करने से लाभ यह मिलेगा कि कुछ दिनों के बाद आपके पास इस तरह की समस्याएं नहीं होंगी और आप परीक्षा में अपनी इच्छा के अनुरूप प्रदर्शन करने में सफल होंगे। इन दिनों कंपटीशन काफी टफ हो गया है। इसका कारण है कि स्टूडेंट्स समय से पहले तैयारी शुरू कर देते हैं। इस तरह की परीक्षा में सफलता उन्हीं स्टूडेंट्स को मिलती है, जो औरों से अलग और संपूर्ण सिलेबस पढते हैं।

एसक्यूथ्रीआर

सफलता प्राप्त करने वाले स्टूडेंट्स लीक पर नहीं चलते हैं बल्कि खुद अपनी क्षमता और कमजोरियों को देखते हुए स्टडी प्लान करते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार अगर आप एसक्यूथ्रीआर के अनुसार स्टडी करते हैं तो एकेडेमिक कॅरियर से लेकर प्रतियोगिता परीक्षा में भी सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

एस- सर्वे बिफोर यू रीड

क्यू- कीप द क्वैश्चन इन माइंड

आर- रीडिंग मीनिंगफुल

आर- रिकॉल बेसिक डिटेल्स

आर- रिव्यू फाइनली

सर्वे बिफोर यू रीड

पढाई तो सभी करते हैं लेकिन सौ प्रतिशत मा‌र्क्स सभी के नहीं आते हैं। अगर आप अच्छी पढाई करना चाहते हैं तो सबसे पहले आप रीडिंग मैटेरियल्स एकत्रित करें। अक्सर देखा जाता है कि स्टूडेंट्स बेहतर पढाई करने के चक्कर में बहुत सारी बुक्स पढने लगते हैं और परिणाम होता यह है कि क्वालिटी स्टडी नहीं हो पाती है। सफल स्टूडेंट्स का कहना है कि अगर आप क्वालिटी बुक से स्टडी करते हैं तो बेहतर परफॉरमेंस कर सकते हैं।

कीप द क्वैश्चन इन माइंड

कोई भी चैप्टर पढने से पहले आप यह देख लें कि इस चैप्टर से किस तरह के प्रश्न पूछे जा सकते हैं। इस तरह के प्रश्न पहले से माइंड में रहने से आपकी पढाई अच्छी हो सकती है और परीक्षा में पूछे जानेवाले किसी भी तरह के प्रश्नों के उत्तर सहजता से दे सकते हैं। लेकिन यह तभी संभव हो सकेगा, जब आपके पास संबंधित परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों की एक संपूर्ण सूची होगी। इसके लिए आपको पहले से अलग तैयारी करनी होगी।

रीडिंग मीनिंगफुल

क्वालिटी स्टडी तभी हो सकती है, जब आप पढते वक्त महत्वपूर्ण वाक्यों या शब्दों अथवा पैराग्राफ को अंडरलाइन करते चलें और महत्वपूर्ण शब्दों या पैराग्राफ को समझकर स्टडी करें। सिर्फ पढने के लिए स्टडी नहीं करें बल्कि आप समझकर आगे बढें।

रिकॉल बेसिक डिटेल्स

चैप्टर समाप्त करने के बाद कम से कम दस मिनट रिकॉल के लिए रखें। जो पढा है, उसके महत्वपूर्ण बिंदुओं को याद करने की कोशिश करें। अगर आप कुछ देर रिकॉल के लिए रखेंगे तो आप उस चैप्टर का काफी भाग कवर करने में सफल हो सकते हैं।

रिव्यू फाइनली

अंत में जब परीक्षा नजदीक हो तो सिर्फ रिव्यू करें। इसके अंतर्गत आप अंडरलाइन किए गए वाक्यों या शब्दों, पैराग्राफ, बनाए गए नोट्स आदि का अध्ययन करें और उसे बार-बार लिखने का अभ्यास करें। इस तरह की स्टडी से आप समय रहते किसी भी परीक्षा में अच्छी तैयारी करने में सफल हो सकते हैं। पिछले वर्ष पूछे गए प्रश्नों को लेकर आप अभ्यास कर सकते हैं और अगर कोई कमजोरी है तो उसे समय रहते दूर करके फिर से पढाई कर सकते हैं। लेकिन इस स्टेज में हमेशा सेलेक्टिव अप्रोच ही अपनाएं, यह आपके लिए बेहतर साबित होगा।

विजय झा