Search

शैक्षणिक गुणवत्ता के आधार पर एडमिशन के लिए उपयुक्त भारत के प्रमुख 6 विश्वविद्यालय

स्कूल की पढ़ाई पूरी कर लेने के बाद छात्रों को एक ऐसे शैक्षणिक विकल्प की आवश्यक्ता होती है जो उन्हें भविष्य में सफल व्यक्ति बनने की संभावना को और अधिक बढ़ा देती है.

May 31, 2017 14:15 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

स्कूल की पढ़ाई पूरी कर लेने के बाद छात्रों को एक ऐसे शैक्षणिक विकल्प की आवश्यक्ता होती है जो उन्हें भविष्य में सफल व्यक्ति बनने की संभावना को और अधिक बढ़ा देती है. इस क्रम में स्कूली शिक्षा के बाद सर्वश्रेष्ठ कॉलेज का चयन करना भी जीवन का एक अहम् फैसला होता है. गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, कम ट्यूशन फीस और कम समग्र शिक्षा लागत तथा विश्वस्तरीय सुविधाओं जैसे कारणों से सरकारी विश्वविद्यालयों को प्राथमिकता दी जाती है. इन विश्वविद्यालयों में छात्रों के सम्पूर्ण व्यक्तित्व विकास पर जोर दिया जाता है.

आगे भारत के 6 सर्वश्रेष्ठ सरकारी कॉलेजों की सूची प्रस्तुत की गयी है -

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू)

संसद के एक अधिनियम द्वारा 1969 में जेएनयू  की स्थापना की गयी थी. इसका नाम जवाहरलाल नेहरू के नाम पर रखा गया था. नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) में विश्वविद्यालय को दूसरे स्थान पर रखा गया था. जेएनयू परिसर को राजनीतिक गतिविधियों की सक्रियता के एक केंद्र के रूप में जाना जाता है. सामाजिक मुद्दों जैसे नारीवाद, अल्पसंख्यक अधिकार, सामाजिक और आर्थिक न्याय पर चर्चा, जेएनयू में दैनिक जीवन का एक हिस्सा है.इस तरह के सभी मुद्दों पर औपचारिक और अनौपचारिक सम्मेलनों में जमकर बहस की जाती है. जेएनयू उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए सबसे अच्छी जगह है और मास्टर और पीएचडी करने वाले छात्रों के लिए पहला विकल्प है.

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू)

स्वतंत्रता सेनानी मदन मोहन मालवीय द्वारा 1916 में स्थापित  इस विश्वविद्यालय को पहले सेन्ट्रल  हिंदू कॉलेज कहा जाता था. बीएचयू एशिया में 20,000 से अधिक छात्रों वाले कैम्पस के साथ सबसे बड़े आवासीय विश्वविद्यालयों में से एक है. बीएचयू में 6 संस्थान, 14 संकाय और लगभग 140 विभाग है. विश्वविद्यालय में प्रति वर्ष कुल छात्र नामांकन 30000 से अधिक है और इसमें 34 से अधिक देशों के छात्र शामिल हैं. इसमें निवासी छात्रों के लिए 75 से अधिक हॉस्टल्स हैं. इस विश्वविद्यालय में इंजीनियरिंग, चिकित्सा विज्ञान, पत्रकारिता, कला और व्यावहारिक विज्ञान जैसे सभी प्रमुख धाराओं में शिक्षा प्रदान किया जाता है. 2012 में  भारत की प्रमुख इंजीनियरिंग संस्थान आईआईटी ने भी बीएचयू से संबद्ध अपनी शाखा खोली है.

जादवपुर विश्वविद्यालय (जेयू)

इस विश्वविद्यालय को 1861 में ब्रिटिशों द्वारा अपने विचारों, विश्वासों और जीवन शैली के प्रचार प्रसार के लिए स्थापित किया गया था. जादवपुर विश्वविद्यालय अर्ध-आवासीय है, जो वर्तमान में दो शहरी परिसरों में हैं: एक जादवपुर में और दूसरा साल्ट लेक में. यह विश्वविद्यालय डिप्लोमा, स्नातक, स्नातकोत्तर और शोध स्तर के पाठ्यक्रम का प्रमाण पत्र प्रदान करता है. जादवपुर विश्वविद्यालय के तहत काम करने वाले कई स्कूल और सेंटर हैं. इन स्कूलों द्वारा किए गए कुछ प्रमुख शोधों में भारत और बांग्लादेश जैसे देशों में भूजल में आर्सेनिक की उपस्थिति पर प्रकाश डालने और ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग छात्रों द्वारा पहली शराब आधारित कार के विकास पर शोध कार्य शामिल है.

अन्ना विश्वविद्यालय

भारत के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के अल्मा मेटर, अन्ना विश्वविद्यालय की स्थापना 19 78 में तमिलनाडु अधिनियम 30 के माध्यम से हुई थी. अन्ना विश्वविद्यालय संशोधन अधिनियम 2001 के अंतर्गत, अन्ना विश्वविद्यालय एक संबद्ध विश्वविद्यालय बन गया, जिसके अंतर्गत तमिलनाडु के सभी इंजीनियरिंग कॉलेज शामिल हैं. इसमें छह सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज, तीन सरकारी सहायता प्राप्त निजी संस्थान और 426 स्व-वित्तपोषण कॉलेज शामिल हैं. 2006 तक, छात्रों को प्रवेश परीक्षा में प्रवेश के लिए सामान्य प्रवेश परीक्षा अर्थात् तमिलनाडु व्यावसायिक पाठ्यक्रम प्रवेश परीक्षा (टीएनपीसी ईई) देना पड़ता था  लेकिन 2007 में उनके उच्च माध्यमिक अंकों के आधार पर उन्हें इंजीनियरिंग कॉलेजों में भर्ती कराया गया था.

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू)

डीयू को कला की (आर्ट्स बैकग्राउंड) शिक्षा प्राप्त करने के लिए भारत का सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय माना जाता है.  लेकिन नवीनतम रैंकिंग में इसका स्थान कुछ अलग है. रैंकिंग को एक तरफ रखते हुए, दिल्ली विश्वविद्यालय एक ऐसा संस्थान है जहाँ एडमिशन पाने का सपना हर छात्र देखता है.

शिक्षाविदों की अतिरिक्त गतिविधियों के साथ साथ दिल्ली विश्वविद्यालय सभी के लिए उपयुक्त है. इस विश्वविद्यालय को  1922 में स्थापित किया गया था. इस विश्वविद्यालय में अंडर ग्रेजुएशन (87) और पोस्ट ग्रेजुएशन (153) के लिए कुल 240 कोर्स उपलब्ध हैं. विश्वविद्यालय के मुख्य परिसर नॉर्थ कैम्पस और साउथ कैम्पस है. नॉर्थ कैम्पस में मुख्य कॉलेज किरोरी मल कॉलेज दौलत राम कॉलेज, हंसराज कॉलेज, हिंदू कॉलेज, इंद्रप्रस्थ कॉलेज फॉर विमेन, मिरांडा हाउस, एसजीटीबी खालसा कॉलेज हैं. रामजस कॉलेज, सेंट स्टीफंस कॉलेज और श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स आत्मा राम सनातन धारमा कॉलेज, पीजीडीएवी कॉलेज, देशबंधु कॉलेज, आर्यभट्ट कॉलेज, जीसस और मैरी कॉलेज, मैत्रेयी कॉलेज, मोती लाल नेहरू कॉलेज, राम लाल आनंद कॉलेज और श्री वेंकटेश्वर कॉलेज आदि साउथ कैम्पस के मुख्य कॉलेज है.

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एयू)

मुहम्मडन एंग्लो ओरिएंटल कॉलेज के रूप में इस विश्वविद्यालय की स्थापना 1875 में एंग्लो इंडियन राजनेता सैयद अहमद खान ने की थी. 1906 में इस  विश्वविद्यालय ने महिलाओं को शिक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से एक स्कूल की स्थापना की. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय एक पूर्णतः आवासीय विश्वविद्यालय है. इसमें 13 संकायों, सात घटक महाविद्यालय, 15 सेंटर, 3 संस्थान तथा 10 स्कूल हैं. हाल ही में विश्वविद्यालय ने इंटरनेशनल स्टडीज संकाय भी खोला है.

467.6 हेक्टेयर में फैला यह विश्वविद्यालय पारंपरिक और आधुनिक शाखाओं के 300 से भी अधिक पाठ्यक्रम की सुविधा प्रदान करता है.

इन सरकारी विश्वविद्यालयों में से किसी में भी प्रवेश पाना गर्व की बात है लेकिन आपकी शैक्षणिक सफलता को किसी स्कूल, पाठ्यक्रम तथा शहर की सूची से परे रखने का प्रयास सफलता की शिखर तक ले जाने में मददगार साबित होगा.

Related Stories