कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए काफी हानिकारक हैं ये आदतें, जानिये इनसे बचने के टिप्स

कॉलेज स्टूडेंट्स की स्टडी लाइफ उनके जीवन में एक ऐसा स्टेपिंग स्टोन होता है जो उनके भावी करियर का आधार बनता है. लेकिन, कॉलेज स्टूडेंट्स बहुत बार कुछ ऐसी आदतें अपना लेते हैं जो उनके लिए काफी हानिकारक साबित होती हैं. इस आर्टिकल में कुछ ऐसी ही आदतों की जानकारी दी जा रही है ताकि आप इन हानिकारक आदतों से खुद को बचा लें.  

Created On: Sep 17, 2021 22:19 IST
Some Bad Habits of College Students which could be avoided
Some Bad Habits of College Students which could be avoided

देश दुनिया के सभी कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए कॉलेज लाइफ उनके करियर के लिए मील का पत्थर साबित होती है. किसी कॉलेज में एडमिशन लेते ही स्टूडेंट्स स्कूल के स्ट्रिक्ट डिसिप्लिन से आजाद हो जाते हैं और यह आजादी उन्हें कुछ नया करने के लिए प्रेरित करती है. वैसे तो कुछ नया करना और नया  सीखना गलत नहीं होता लेकिन, सभी काम तो कॉलेज स्टूडेंट्स के करने के लायक नहीं होते हैं. विशेष रूप से कॉलेज हॉस्टल या पीजी में रहते हुए कॉलेज स्टूडेंट्स जाने-अनजाने कुछ ऐसी आदतें अपना लेते हैं जो आगे चलकर उनके करियर गोल, स्वास्थ्य और पर्सनैलिटी डेवलपमेंट के लिए काफी हानिकारक साबित होती हैं. ऐसे में अगर कॉलेज स्टूडेंट्स को इन हानिकारक आदतों की पहले से जानकारी हो तो वे इनसे बचने की पूरी कोशिश कर सकते हैं. इस आर्टिकल में आपके लिए कुछ ऐसी ही हानिकारक आदतों की जानकारी प्रस्तुत है, जिनसे बचकर स्टूडेंट्स अपनी कॉलेज लाइफ का भरपूर लुत्फ़ उठाने के साथही  अपना करियर गोल भी हासिल कर सकते हैं.

जरूरत से ज्यादा इंटरनेट सर्फिंग

बेशक जरूरत से ज्यादा इंटरनेट सर्फिंग एक ऐसी बुरी आदत है जिसके शिकार हम सब हैं. इंटरेस्टिंग ऑनलाइन कंटेंट देखते रहने से खुद को रोकना कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए बहुत मुश्किल होता है और वे हर रोज़ इंटरनेट पर अपना काफी समय बरबाद करते हैं. कई बार तो जरूरत से ज्यादा इंटरनेट सर्फिंग करके हम बहुत सारी फ़ालतू की खरीदारी भी कर बैठते हैं. कॉलेज में इस आदत से काफी हानि पहुंचती है क्योंकि कॉलेज में आप अपना समय बचाकर अन्य कई सारे उपयोगी और रचनात्मक कार्य कर सकते हैं. अगर कॉलेज स्टूडेंट्स सही तरीके से इंटरनेट का इस्तेमाल करें तो उनको काफी फायदा हो सकता है. आप इंटरनेट का इस्तेमाल कैसे करते हैं? यह आप पर निर्भर करता है. बेकार की सर्फिंग में अपना समय बरबाद करने से बचें और अपने खाली समय में कुछ ऐसा करें जिससे आपके स्किल्स बढ़ें और आपके रिज्यूम में कुछ उपयोगी प्वाइंट्स जुड़ सकें.

इनएक्टिव लाइफ स्टाइल

असाइनमेंट्स बनाने और टेस्ट्स देने में स्टूडेंट्स का काफी समय और एनर्जी लगता है और क्लासेज खत्म होने के बाद वे कुछ और नहीं करना चाहते हैं. इस परिवेश में इंटरनेट पर टाइम बिताना उन्हें कुछ और काम करने से कहीं अच्छा लगता है और फिर, अपने बेड पर लैपटॉप लेकर मनोरंजन करने से बढ़कर क्या हो सकता है? लेकिन, इनएक्टिव लाइफ स्टाइल वास्तव में आपके शरीर के लिए अच्छा नहीं है. वास्तव में, हमें अपने शरीर की हेल्थ कायम रखने के लिए इसे रोजाना एक्टिव रखना चाहिए. अपने बेड पर लैपटॉप से मनोरंजन करते रहने से आपके शरीर की प्रतिरोधी क्षमता कम हो जाती है और अक्सर कॉलेज के स्टूडेंट्स बार-बार बीमार होने लगते हैं.

स्मोकिंग/ ड्रिंकिंग

इस बात की काफी संभावना रहती है कि आप अपने दोस्तों की संगती में पड़कर सिगरेट और शराब पीने जैसी बुरी आदतों के शिकार बन जायें. अक्सर स्टूडेंट्स यह मानकर चलते हैं कि, ड्रिंक लेने से उनके गम दूर हो जायेंगे. कॉलेज स्टूडेंट्स अपने दोस्तों और कलीग्स को शराब पीते देख कर इस खराब आदत के शिकार बन जाते हैं. हम सब यह बहुत अच्छी तरह जानते हैं कि इन नशों का हमारे स्वास्थ्य पर कितना बुरा असर पड़ता है और लंबा समय बीत जाने पर ये नशे हमारे शरीर को कितना नुकसान पहुंचाते हैं? इन बुरी लतों से गम दूर होने के बजाय स्टूडेंट्स के तनाव का स्तर काफी बढ़ जाता है और नशों से उनकी एकाग्रता और फोकस करने की क्षमता में भी काफी बुरा असर पड़ता है. इतना ही नहीं, स्मोकिंग/ ड्रिंकिंग की आदतें आपके स्वास्थ्य पर भी बहुत बुरा असर डालती हैं. लेकिन, चाहे जो हो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता. असल में लोग तो आपको नशों के खतरनाक प्रभाव बताकर इनसे बचने की केवल सलाह ही दे सकते हैं किंतु असल में यह फैसला तो आपको करना है कि आप इन नशों की आदत अपनाकर अपनी बरबादी चाहते हैं या फिर, ये नशे छोड़कर अपने करियर और जीवन को संवारना चाहते हैं.

अनहेल्दी ईटिंग हैबिट्स

समय और धन की कमी के कारण, कॉलेज स्टूडेंट्स अक्सर फ़ल और सब्जियों जैसे स्वास्थ्यप्रद खाद्य पदार्थों से कहीं ज्यादा जंक फ़ूड खाते रहते हैं. किसी दिन बहुत सुबह सबमिट करने से पहली रात को अपने असाइनमेंट्स और प्रोजेक्ट्स पूरे करने के लिए देर रात तक जागने पर भी स्टूडेंट्स बहुत ज्यादा तेलीय और वसायुक्त फूड्स खा लेते हैं. कॉलेज के स्टूडेंट्स द्वारा बहुत ज्यादा जंक फूड्स खाने से मोटापा बढ़ता है, उनके तनाव के स्तर में वृद्धि होती है और आजकल युवाओं में कई अन्य लाइफस्टाइल रोग भी देखे जा सकते हैं. आपको यह सलाह दी जाती है कि फ्रेश जूस, दूध, बटरमिल्क, स्प्राउट्स आदि स्वास्थ्यप्रद खाद्य पदार्थ खायें और जहां तक हो सके अनहेल्दी ईटिंग हैबिट्स से दूर रहें.

सोने-जागने में समय का ध्यान न रखना

कॉलेज में स्टूडेंट्स को अक्सर दिन और रात का बिलकुल ख्याल नहीं रहता है और इसमें हैरान होने की कोई बात नहीं है. स्टूडेंट्स अक्सर अपने कॉलेज के दिनों में ठीक से अपनी नींद पूरी नहीं कर पाते हैं. लेकिन, इसका स्टूडेंट्स की हेल्थ पर बहुत बुरा असर पड़ता है. दरअसल, हमारे शरीर को रोज़ कम से कम 6-7 घंटे की गहरी नींद चाहिए. हर जगह पहुंचने, हर काम करने और कुछ भी न छोड़ पाने के डर से स्टूडेंट्स अक्सर कई-कई घंटे लगातार जगे रहते हैं और उनका शरीर जरुरी नींद नहीं ले पाता है. इस बात का ध्यान रखें कि अपने शरीर को पूरी नींद से लगातार महरूम रखने से आगे चलकर आपको स्वास्थ्य से जुड़ी कई समस्याएं हो सकती हैं. आप रोजाना अपने सोने और जागने के लिए एक निश्चित समय तय करें और फिर उसे पूरी तरह फ़ॉलो करें. अगर आप नियमित रूप से अपने सोने और जागने के समय का पूरा ध्यान रखेंगे तो आपकी हेल्थ अच्छी रहेगी और आप अपने सारे काम निर्धारित समय के मुताबिक पूरे कर सकेगे.

अब, जब आपको इन कुछ खराब आदतों के बारे में अच्छी-खासी जानकारी मिल गई है तो हमें यह आशा है कि आप इन बुरी आदतों से बचने की पूरी कोशिश करेंगे. आप पहले से ज्यादा चौकस रहेंगे और अपना अच्छी तरह से ख्याल रखेंगे. कॉलेज का फेज आपके जीवन में सिर्फ एक बार ही आता है और आप अवश्य ही अपने इस फेज में अपने जीवन के कुछ जरूरी सबक सीखना चाहेंगे ताकि आपका भविष्य संवर सके.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

ये क्रिएटिव हॉबी आइडियाज़ हैं कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए बहुत खास

कुछ यूं पायें अपने हरेक काम को कल पर टालने की आदत से छुटकारा

बैलेंस्ड लाइफ जीने के लिए कॉलेज स्टूडेंट्स आजमायें ये स्ट्रेस बस्टर्स

Related Categories

Comment (0)

Post Comment

7 + 1 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.