Search

मधुमेह रोगियों के लिए हानिकारक 8 फल

अगर आप अपनी सुस्त जीवनचर्या की वजह से मधुमेह से ग्रसित हो गए हैं तो यहाँ हमने उन 8 फलो के बारे में बताया है जिनके बारे में आपको सतर्क रहना चाहिए.

Dec 6, 2017 12:07 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
8 fruits that diabetics must avoid for healthy living
8 fruits that diabetics must avoid for healthy living

अगर आप भी अपनी गतिविहीन जीवनशैली की वजह से मधुमेह से पीड़ित हैं तो अब अपना हाथ उठाइये !  क्या शारीरिक व्यायाम कर पाना आपके लिए एक चुनौती बन गई है? क्या आपको ऐसे फलों का चुनाव करना मुश्किल लगता है जिससे आपकी सेहत अच्छी रह सकती है.

मधुमेह के बाद, इस तरह के सभी फलों के बारे में पता करना जिनमे मिठास भी हो और थोडा मुश्किल हो जाता है. इसके लिए उन फलो के बारे में जानना भी बहुत जरूरी है जिनसे आपको सावधान रहना चाहिए. हमने यहां फलों की एक पूरी सूची दे रखी है, जिससे आपको सावधान रहना चाहिए. ये फल रक्त में शर्करा को बढ़ा सकते हैं. इससे मधुमेह की जटिलताओं का खतरा बढ़ सकता है. इसीलिए सबसे पहले हमने ग्लाईसेमिक सूची के बारे में बताया है जो आपको ये स्पष्ट करेगा कि आप को निम्नलिखित फलों से क्यों दूर रहना चाहिए ?

ग्लाइसेमिक सूचकांक  क्या है?

ग्लाइसेमिक सूचकांक (जीआई), यह बताता है कि शर्करा से युक्त विभिन्न खाद्य पदार्थ आपके शरीर को कैसे प्रतिक्रिया दे सकते हैं. कुछ खाद्य पदार्थों में ग्लाइसेमिक सूचकांक कम होता है, जिसका अर्थ है कि वे रक्त शर्करा के स्तरों में तेजी से बढ़ोतरी नहीं करते हैं. विभिन्न खाद्य- पदार्थो का जीआई सूचकांक निम्न-लिखित है.

कम जीआई (55 से कम) - खाद्य पदार्थ जो रक्त शर्करा में अपेक्षाकृत धीमी वृद्धि करते हैं

मध्यम जीआई (55 से 70) - खाद्य पदार्थ जो रक्त शर्करा में औसत वृद्धि करते हैं.

उच्च जीआई (70 से अधिक) - खाद्य पदार्थ जो रक्त में शर्करा के स्तर को तेज़ी से बढाते हैं

मधुमेह रोगियों को अपने कार्बोहाइड्रेट वाले खाद्य पदार्थो के सेवन को कम ही रखना चाहिए जिनका जीआई निम्न स्तर का हो.

तो, यहां 8 फलों की सूची दी गयी है,  जिनसे आपको जीआई के उच्च स्तर के कारण मधुमेह से दूर रहने से बचने की जरूरत है:

1. केला

केला कार्बोहाइड्रेट में बहुत समृद्ध है, लेकिन मधुमेह से ग्रसित व्यक्ति के स्वास्थ्य के लिए एक हमलावर की तरह है. कच्चे केले का जीआई सूचकांक 42 है. जबकि पके हुए केले का सूचकांक लगभग 48 से 51 के आस-पास हैं. यदि आपके लिए केला एक अनूठा स्वाद रखता है  तो अपने रक्त शर्करा पर इसके प्रभाव को कम करने के लिए केले का आकार का ध्यान रखें. तब आपके लिए केले का स्वाद लेने के लिए सबसे अच्छा तरीका है इसे अन्य खाद्य पदार्थों के साथ लेना जैसे अखरोट या दही. 

2. आम

चाहे वो जूस हो, फलों का सलाद हो,  कृत्रिम मिठास हो, चाय के स्वाद हों या कोई शीतल पेय हो,आम की मौजूदगी लगभग हर  जगह पायी जाती है और इन सभी खानों में से, कच्चा आम मधुमेह के रोगी के स्वास्थ्य को सबसे अधिक नुकसान पहुंचाता है. विशेषज्ञों का कहना है कि मधुमेह रोगियों को आम के सेवन से बचना चाहिए. एक मधुमेह से ग्रसित व्यक्ति के आहार में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बहुत कम होना चाहिए. शरीर में हर 5 ग्राम कार्बोहाइड्रेट रक्त शर्करा की मात्रा को 100 यूनिट बढ़ाता है. यदि आपके रक्त में पहले से ही उच्च शर्करा है, तो आप अपने आहार में आम का परहेज रखें.

3. स्ट्रॉबेरी

स्ट्राबेरी एक संतुष्टिदायक फल है, खासकर जब यह चॉकलेट में डूबा हुआ हो. यदि आपको मधुमेह है, तो इसके सेवन से सावधान रहें क्योकि बहुत सारे स्ट्रॉबेरी खाकर, आप अपने शरीर में ग्लूकोज की मात्रा बहुत बढ़ा सकते हैं. हालांकि स्ट्रॉबेरी का ग्लाइसेमिक सूचकांक 40 है  लेकिन अपने दैनिक आहार में इसे शामिल करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श अवश्य लें .

4. अंगूर

अंगूर, खनिज, विटामिन, फाइबर और अन्य पोषक तत्वों से समृद्ध होते हैं,  इसके बावजूद इसका दूसरा पहलू यह है कि इसमें  ग्लूकोज और फ्रक्टोस काफी उच्च मात्रा में होता है. इसमें कार्बोहाइड्रेट भी होते हैं, वे मधुमेह के जोखिम को और बढ़ा सकते हैं. लेकिन अंगूर प्रेमियों को निराश नहीं करने के लिए  मधुमेह के विशेषज्ञों ने मधुमेह रोगियों को हरे अंगूर खाने की सलाह दी है. इसमें एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो मधुमेह रोगियों के लिए स्वास्थ्यवर्धक सिद्ध होंगे.

5. डेट्स

यदि आप यह पता लगाने के लिए उत्सुक हैं कि क्या डेट्स रक्त शर्करा के स्तर बढ़ाते हैं तो इसका बड़ा हाँ होगा. सर्दियों में आपकी मीठा  खाने की इच्छा को पूरा करने के लिए डेट्स सर्वोत्तम फल नहीं हो सकता है. डेट्स का ग्लाइसेमिक इंडेक्स आपके द्वारा उपयोग की जाने वाली डेट्स के आधार पर भिन्न भिन्न हो सकता है. आमतौर पर यह 35.5 से 49.7 के बीच होता है. इसीलिए डेट्स का सीमित उपयोग आपके लिए अच्छा रहेगा. 

6. अनानास

कच्चे अनानास का जीआई स्कोर 59 है. इस फल की सबसे प्रमुख विशेषता यह है कि यह आपकी रक्त शर्करा को धीरे-धीरे बढ़ाएगा ताकि शर्करा की मात्रा तेजी से न बढे. लेकिन इसका दीर्घकालिक प्रभाव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है.  यदि अनानास खाने की आपकी तीव्र इच्छा है तो इसको उन खाद्य पदार्थों के जिनका जीआई कम या मध्यम स्कोर है साथ मिलाकर के खाएं. अनानास विटामिन, खनिज और पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थ है.

7. कद्दू

कद्दू  का ग्लाइसेमिक सूचकांक 75 है जो काफी ज्यादा माना जाता है. यदि आप कद्दू के शौकीन हैं, तो आपको यह सलाह दी जाती है कि आपको कच्चे कद्दू का सेवन नहीं करना चाहिए. एक ठीक से पकाया हुए कद्दू में आपके स्वास्थ्य के लिए लाभदायक कम कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट और पोषक तत्व होंगे. उच्च जीआई के अलावा  कद्दू में लोहा, मैग्नीशियम, जिंक और फास्फोरस शामिल होते हैं जो स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते हैं.

8. किशमिश

किशमिश मधुमेह रोगी के स्वास्थ्य के लिए घातक साबित हो सकता है. इसका ग्लिसेमिक लोड 28 है तथा यह रक्त में शर्करा को हानिकारक स्तर तक बढ़ा सकता है. इसके अलावा  यह टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों के लिए पूर्णतय वर्जित होता है.क्योंकि बढ़ा हुआ ग्लूकोज का सेवन उनकी स्वास्थ्य स्थिति को खराब कर सकता है.  

सारांश

फलों के सेवन पर पूर्णतया प्रतिबन्ध लगा देना कोई अच्छी बात नहीं है. फल फाइबर और अन्य पोषक तत्वों से समृद्ध होते हैं. इसीलिए यह सिफारिश की जाती है कि आप खुद में, मधुमेह की बीमारी  के गंभीरता के स्तर को देखते हुए अपने लिए फलों के प्रकार और मात्रा सुनिश्चित करें.

Related Stories