क्या SSC महिलाओं के लिए एक बेहतर करियर विकल्प हैं?

Nov 15, 2018 18:19 IST
  • Read in English
SSC Jobs
SSC Jobs

भारतीय महिलाओं ने समाज में खुद की भूमिकाओं में बदलाव का काफी लंबा सफर तय किया है, पहले मुख्य रूप से गृहणी मानी जाने वाली महिलाएं, अब अग्रणी बहुराष्ट्रीय निगमों एवं सरकारी संगठनों का नेतृत्व कर रही हैं। हालांकि, सरकार के कई प्रयासों के बावजूद भी अभी भी ऐसी कई महिलाएं हैं जो अभी भी सरकारी नौकरी का विकल्प नहीं चुनतीं हैं । सरकारी नौकरियों में महिलाओं की कम उपस्थिति, SSC जैसी भर्ती एजेंसियों द्वारा किए अवलोकनों में सबसे बड़े मुद्दों में से एक है। लेकिन हालिया रूझानों से महिलाओं के सरकरी विभागों में अधिक से अधिक संख्या में नियुक्ति की उम्मीद की जा सकती है और यह पाया भी गया हैं कि कर्मचारी चयन आयोग द्वारा सरकारी नौकरियों के लिए होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं में महिलाओं की भागीदारी बढ़ी है। लेकिन इसके बावजूद भी अभी भी कई महिला उम्मीदवारो का यही प्रश्न होता हैं, कि 'क्या SSC से मिलने वाली नौकरी महिलाओँ के लिए अच्छा करिअर विकल्प हैं?'

इस प्रश्न का जवाब देने के लिए, हमने SSC CGL परीक्षा द्वारा प्रदत्त पदों में दिए जाने वाले अवसरों के प्रकार और अलग– अलग पहलूओं के बारे में समझना होगा और यह देखना होगा कि क्या ये महिलाओं के लिए उपयुक्त जॉब है या नहीं?

महिला उम्मीदवारों के लिए SSC CGL में कौन सा पद सर्वश्रेष्ठ है?

SSC के जरिए मिलने वाली नौकरियों के प्रकार

कर्मचारी चयन आयोग एक सरकारी भर्ती एजेंसी है जो समूह B और समूह C गैर– तकनीकी के पदों के लिए उम्मीदवारों के चयन हेतु सालाना परीक्षाओं को आयोजित करता है। SSC जितनी भी नौकरियों की पेशकश करता है वह अलग–अलग सरकारी विभागों और मंत्रालयों के प्रशासनिक कार्यों में कनिष्ठ से मध्यम स्तर के पदों के लिए होती है। सभी पदों पर भर्ती, पुरुषों और महिलाओं दोनों को नौकरी में समान अवसर के सिद्धांत पर की जाती है और संबंधित श्रेणी में महिला उम्मीदवारों को आरक्षण भी दिया जाता है। SSC परीक्षा के माध्यम से मिलने वाली नौकरियाँ, महिला उम्मीदवारों के लिए भारतीय सरकारी तंत्र का हिस्सा बनने और देश के समग्र विकास में योगदान देने का एक महत्वपूर्ण अवसर है।

SSC के माध्यम से मिलने वाली नौकरियों के लाभ

सरकारी नौकरी को हमेशा से सुरक्षित और स्थायी नौकरी माना गया है।नौकरी के स्थायित्व के साथ कामस्थल पर कार्य-संस्कृति और बाद में पद से संबंधित लाभ जैसे नियमित पदोन्नति, भत्ते और नौकरी से सम्बंधित प्रतिष्ठा, इन सरकारी नौकरियों में सर्वोत्तम है। हालांकि सरकारी क्षेत्र में अभी भी पुरुषों का ही वर्चस्व है, जो महिला उम्मीदवारों को सरकारी क्षेत्र की नौकरी का विकल्प चुनने की दिशा में कहीं न कहीं बाधा उत्पन्न करता हैं. परन्तु अब यह ट्रेंड बदल रहा है और इसका प्रमाण महिलाओं का SSC में बढ़ता सिलेक्शन रेट हैl

महिलाओं के लिए एक बेहतर विकल्प : SSC सीजीएल या फिर बैंक पीओ?

पदोन्नति के अवसर

SSC द्वारा की जाने वाली भर्तियाँ, केंद्र सरकार के विभिन्न विभागों के लिए होती हैं। केंद्र सरकार के हर एक विभाग में पदोन्नति के समान व अच्छे अवसर होते है। इसके अलावा, इन नौकरियों में समयबद्ध सैलरी इन्क्रीमेंट, वेतन आयोग द्वारा लागू सिफारिशे, नए वेतनमान तथा समय समय पर महगाई भत्ते में बढोतरी भी सम्मिलित हैं। SSC से मिलने वाली नौकरियों में करिअर ग्रोथ का पूर्वनियोजित सिस्टम भी होता है। इसका अर्थ है कि कर्मचारी के अनुभव और वरिष्ठता के आधार पर उन्हें संगठन के उच्च पदों पर पदोन्नत किया जा सकता है । ये विकास न सिर्फ पद और वेतन के मामले में, बल्कि जिम्मेदारियों और उससे संबंधित अधिकारों के मामले में भी है। अत: सही मायने में यह नौकरी भारत में सबसे अच्छी नौकरियों में से एक है।

महिला उम्मीदवारों के लिए विशेष प्रावधान

SSC नौकरियों से संबंधित सभी लाभों और भत्तों के बावजूद SSC नौकरियों के लिए महिला उम्मीदवारों की भागीदारी में बहुत अधिक बढ़ोतरी नहीं हुई है। सरकारी नौकरी की परीक्षाओं में हिस्सा लेने हेतु अधिक महिला उम्मीदवारों को प्रेरित करने के लिए SSC ने कई विशेष प्रावधान किए हैं। उनमें से कुछ हैं–

पहले प्रयास में ही SSC सीजीएल की परीक्षा कैसे पास करें?

  • शुल्क में छूटः महिला उम्मीदवारों को SSC संयुक्त स्नातक स्तर परीक्षा (SSC सीजीएल) और SSC संयुक्त उच्च माध्यमिक स्तर (10+2) परीक्षा, जिसे SSC मैट्रिक स्तरीय परीक्षा भी कहा जाता है, के परीक्षा शुल्क का भुगतान करने की कोई आवश्यकता नहीं है।
  • आयु सीमा में छूटः SSC अधिसूचना के आधार पर, महिला उम्मीदवारों को नीचे दी गई तालिका के अनुसार परीक्षाओं में आयु सीमा में छूट भी दी जाती हैः  

श्रेणी का विवरण

आयु सीमा में छूट

विधवा/ तलाकशुदा महिलाएं/ कानूनी तौर पर अलग हुई महिलाएं और जिन्होंने पुनर्विवाह नहीं किया हैं (अनारक्षित/ सामान्य)

35 वर्ष की आयु तक

विधवा/ तलाकशुदा महिलाएं/ कानूनी तौर पर अलग हुई महिलाएं और जिन्होंने पुनर्विवाह नहीं किया हैं (ओबीसी)

38 वर्ष की आयु तक

विधवा/ तलाकशुदा महिलाएं/ कानूनी तौर पर अलग हुई महिलाएं और जिन्होंने पुनर्विवाह नहीं किया हैं(एससी/ एसटी)

40 वर्ष की आयु तक

SSC CGL 2016 कटऑफ बनाम SSC CGL 2015 कटऑफ: एक विस्तृत विश्लेषण

Transfer तथा Deputation की सुविधा

भारत में महिलाओं के साथ सबसे बड़ी समस्या है कि शादी के बाद उन्हें नौकरी से त्यागपत्र देना पडता है तथा अपने पति की नौकरी के स्थान पर रहना पडता है। SSC द्वारा प्रदान की गयीं नौकरियों में ट्रान्सफर की सुविधा भी उपलब्ध होती है जिससे कि नौकरी से त्यागपत्र देने की ज़रूरत नहीं पड़ती हैं और महिलाएं आराम से अपनी नौकरी कर सकती हैं। केंद्र सरकार के विभाग पूरे भारत में मौजूद हैं इसलिए कही पर भी नौकरी बदली जा सकती है। कुछ नौकरियों के ट्रान्सफर आसानी से नहीं हो पाते लेकिन ऐसी नौकरियों कम ही हैं।

मातृत्व अवकाश

केंद्र सरकार की नौकरियों में मातृत्व अवकाश की सुविधा भी होती है। महिलायें दो बच्चों के लिए दो-दो साल का अवकाश कभी भी ले सकती है। इसमें सबसे अच्छी बात ये है कि इसे एकसाथ लेना ज़रूरी नही है, इसे टुकडो में भी लिया जा सकता है। इतनी सुविधा सिर्फ सरकारी विभागों में ही उपलब्ध है और SSC द्वारा इसी प्रकार की नौकरियां प्रदान की जाती है।

वस्तुतः यह महिलायों की व्यक्तिगत पसंद बना हुआ है क्योंकि SSC की नौकरियां इन लाभों की वजह से महिलाओं के लिए करिअर का एक अच्छा विकल्प साबित हुआ है। इसलिए इसमें कोई संदेह नहीं है कि SSC की नौकरियां न सिर्फ अच्छी होती हैं बल्कि यह महिलाओं के लिए स्थिर और प्रगतिशील करिअर भी प्रदान करती हैं।

SSC के लिए 15 महत्वपूर्ण websites

Commented

    Latest Videos

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK
    X

    Register to view Complete PDF