Jagran Josh Logo

एक साल की ट्रेनिंग जो आपको दिला सकती है बैंक में परमानेंट नौकरी, जानिए कैसे

Sep 4, 2018 11:37 IST
    PGDBF Course Details in Hindi
    PGDBF Course Details in Hindi

    अभी हाल ही में Bank of Baroda ने बैंक पीओ (Probationary Officers) के 600 पदों के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है. 600 पीओ पदों की भर्ती बड़ौदा मणिपाल स्कूल ऑफ बैंकिंग (Baroda Manipal School of Banking) में प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होगी. Bank of Baroda के अलावा सिंडिकेट बैंक (Syndicate Bank) और केनरा बैंक (Canara Bank) भी कुछ इसी तरह के कोर्स (या ट्रेनिंग) द्वारा बैंक पीओ की भर्ती करते है.

    सिर्फ सरकारी बैंक ही नहीं बल्कि कई निजी क्षेत्र के बैंक (जैसे ICICI Bank, Axis Bank) भी कुछ इसी तरह के कोर्स द्वारा अपने यहाँ असिस्टेंट मैनेजर की भर्ती करते हैं.

    अक्सर उम्मीदवार इस ट्रेनिंग को लेकर कई तरह के सवाल पूछते हैं जैसे- क्या है यह ट्रेनिंग? इसमें कितना खर्चा आता है? इसके लिए कौन अप्लाई कर सकता है? कोर्स या ट्रेनिंग के बाद कहां मिलती है नौकरी और कितनी सैलरी मिल सकती है? इस आर्टिकल के द्वारा आपको इन्ही सवालों के ज़वाब देंगे.

    क्या है यह ट्रेनिंग या कोर्स?

    इस कोर्स को पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन बैंकिंग ऐंड फाइनेंस (पीजीडीबीएफ) या Post Graduate Diploma in Banking and Finance course (PGDBF) नाम से जाना जाता है.

    अभी यह कोर्स Manipal Global School of Banking (मणिपाल ग्लोबल स्कूल ऑफ बैंकिंग), NIIT School of Banking and Finance (एनआईआईटी स्कूल ऑफ बैंकिंग एंड फाइनेंस)  या Amity University (एमिटी यूनिवर्सिटी) जैसे प्राइवेट इंस्टिट्यूट करा रहें हैं.

    Video: Word Power Made Easy को 30 दिन से कम समय में कैसे पढ़ें

    SBI Clerk 2018: क्यों हो सकता है इस बार का Cut-off High? (खास एनालिसिस)

    अलग-अलग सरकारी व निजी क्षेत्र के बैंकों ने अलग-अलग संस्थानों के साथ गठजोड़ कर रखा है. उदाहरण के लिए बैंक ऑफ़ बड़ौदा ने Manipal Global School of Banking (मणिपाल ग्लोबल स्कूल ऑफ बैंकिंग) के साथ, यूनाइटेड बैंक (United Bank) ने एनआईआईटी स्कूल ऑफ बैंकिंग के साथ गठजोड़ कर रखा है.

    कोर्स की अवधि और अन्य जानकारी

    एक साल की अवधि वाले इस कोर्स में 9 महीने का क्लासरूम प्रोग्राम होता है जिसमें विद्यार्थियों को 3 सेमेस्टर्स पढ़ने होते हैं, हर एक सेमेस्टर की अवधि 3 महीने की होती है. विद्यार्थियों को पास होने के लिए हर एक सेमेस्टर में कुछ न्यूनतम प्रतिशत लाना होता है. 9 महीने के क्लासरूम प्रोग्राम के बाद उम्मीदवारों को सम्बंधित बैंक की शाखा से 3 माह की इंटर्नशिप करनी होती है.

    क्लासरूम प्रोग्राम विद्यार्थियों को बैंकिंग क्षेत्र से जुड़ी तरह-तरह की बारीकियां समझाईं जाती हैं. इसके आलावा बैंकिंग से जुड़े तरह-तरह के बैंकिंग से विभिन्न सॉफ्टवेयर की भी ट्रेनिंग यहाँ विद्यार्थियों को मिलती है. इसके साथ-साथ विद्यार्थियों को कुछ सर्टिफिकेट्स एग्जाम भी देने होते हैं. MBA in Banking and Finance से मिलते जुलते 1 वर्ष की अवधि वाले इस कोर्स या ट्रेनिंग को सफलतापूर्वक करने वाले उम्मीदवारों को PGDBF Degree और Bank PO पोस्ट पर नौकरी मिलती है.

    Video: बैंकिंग एग्ज़ाम्स के इंटरव्यू में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

    PGDBF कोर्स: क्या यही है बैंक भर्ती परीक्षाओ का भविष्य?

    कितना खर्चा आता है?

    सामन्यतः इस कोर्स का शुल्क रु 4 लाख रुपये के आस-पास है. इसमे कोर्स फीस के साथ-साथ रहने और खाने का खर्च भी शामिल है. उमीदवारों को पूरी फीस किश्तों में देनी होती है. इस कोर्स के लिए बैंक उम्मीदवारों को रियायती दरों पर लोन की सुविधा भी देते हैं.

    कौन कर सकता है इस कोर्स के लिए अप्लाई?

    इस कोर्स में दाखिले के लिए हर बैंक अपने स्तर पर प्रवेश परीक्षा कराते हैं. परीक्षा में अप्लाई करने वालों की योग्यता के लिए हर बैंक अलग- अलग मापदंड रखता है.

    उदहारण के लिए - Bank of Baroda में अप्लाई करने के लिए उम्मीदवारों उम्मीदवारों की न्यूनतम उम्र 20 साल और अधिकतम उम्र 28 साल होनी चाहिए. (आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को उम्र में छूट मिलती है). इसी के साथ-साथ उम्मीदवारों को मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से न्यूनतम 55% के साथ ग्रेजुएट होनी चाहिए. कुछ बैंक ग्रेजुएशन में न्यूनतम 60% अंकों का मापदंड रखते हैं.

    कहां मिलती है नौकरी?

    उम्मीदवार जिस बैंक की प्रवेश परीक्षा में क्वालीफाई करके प्रवेश लेते हैं उसे उसी बैंक में PO (Probationary Officer) की पोस्ट पर नौकरी मिलती है. उम्मीदवार की पोस्टिंग भारत में कहीं भी हो सकती है. हालांकि बैंक कोशिश करते हैं कि उम्मीदवार को उसी के क्षेत्र में पोस्टिंग मिले. हालाँकि उम्मीदवारों का समय-समय पर ट्रान्सफर होता रहता है.

    कितनी सैलरी मिलती है?

    Bank of Baroda की वेबसाइट में दावा किया गया है कि बैंक में नौकरी ज्वाइन करने के बाद मेट्रोपॉलिटन शहर में एक अधिकारी (PO) का ग्रॉस पैकेज लगभग आठ लाख के आस-पास होता है (एक अधिकारी को मिलने वाले सभी फायदों को मिलाकर). BOB की सैलरी से जुड़ी अन्य जानकारी आप अंग्रेज़ी भाषा में इस लिंक को क्लिक करके प्राप्त कर सकते हैं. अन्य बैंकों का सैलरी स्ट्रक्चर BOB जैसा ही है.

    धीरे-धीरे IBPS बैंक PO के लिए सीट्स कम हो रही है क्योंकि अब कई बैंकों में इसी प्रोग्राम के द्वारा भर्ती हो रही हैं. इस कोर्स के लिए होने वाले रिक्रूटमेंट एग्जाम में प्रतियोगिता की कठिनाई का स्तर IBPS PO और SBI PO जैसे रिक्रूटमेंट एग्जाम की तुलना में कम होता है.

    Video: IBPS PO 2018 के लिए General/Economy/Banking Awareness की तैयारी कैसे करें

    SBI Clerk 2018: क्यों हो सकता है इस बार का Cut-off High?

    DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.

    Commented

      Latest Videos

      Register to get FREE updates

        All Fields Mandatory
      • (Ex:9123456789)
      • Please Select Your Interest
      • Please specify

      • ajax-loader
      • A verifcation code has been sent to
        your mobile number

        Please enter the verification code below

      Newsletter Signup
      Follow us on
      This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK
      X

      Register to view Complete PDF