भारत में बनें एक मौसम विशेषज्ञ और दें मौसम की सटीक पूर्व-सूचना

अगर आप मौसम की खतरनाक स्थिति के बारे में सटीक पूर्व-सूचना जारी कर सकते हैं तो आप कई लोगों के जीवन और संपत्ति को असमय होने वाली मौत और विनाश से बचाने में मदद करते हैं. इसलिए, इस आर्टिकल में हम आपके लिए भारत में मौसम विशेषज्ञ बनने के लिए जरुरी जानकारी प्रस्तुत कर रहे हैं.

Created On: Jul 27, 2021 21:31 IST
Become A Weather Expert in India and Predict Weather Accurately
Become A Weather Expert in India and Predict Weather Accurately

मिनिस्ट्री ऑफ़ अर्थ साइंसेज, भारत सरकार का भारत मौसम विज्ञान विभाग नेशनल और इंटरनेशनल लेवल पर भारत सहित दुनिया के मौसम और जलवायु की सभी गतिविधियों की निगरानी करके मौसम और जलवायु में आने वाले विभिन्न बदलावों के बारे में सटीक पूर्व-सूचना और चेतावनी जारी करता है. मौसम विज्ञान या मेटीरिओलॉजी भारत सहित पृथ्वी के वायुमंडलीय तत्त्व की साइंटिफिक स्टडी है जिसमें किसी स्थान, देश या विश्व के मौसम और जलवायु का विशेष तौर पर अध्ययन किया जाता है ताकि आने वाले दिनों में मौसम की स्थिति के बारे में पहले ही सटीक सूचना जारी की जा सके. मौसम का हमारे जीवन के हरेक क्षेत्र पर सीधा असर पड़ता है जैसे, आंधी और तूफान आने पर किसान अपने खेतों में बीज नहीं बो सकते हैं. इसी तरह, तूफान के समय मछुआरे समुद्र में जाल डालकर मछली नहीं पकड़ सकते हैं. ये दोनों ऐसे उदाहरण हैं जिनसे हमें अपने रोजमर्रा के जीवन पर मौसम का सीधा असर साफ़ दिखाई देता है. आजकल ग्लोबल वार्मिंग, सुनामी, ओजोन लेयर जैसे ग्लोबल इश्यूज़ पर हमारी जलवायु और मौसम का सीधा असर देखा जा सकता है. भारत सहित दुनिया के अनेक देशों ने मौसम का सटीक पूर्वानुमान लगाने के लिए अपने सैटेलाइट्स लॉन्च किये हैं. आप इस फैक्ट से भी मानव जीवन पर  मौसम का असर अच्छी तरह समझ सकते हैं. इसलिए, इस आर्टिकल में आपके लिए मौसम विशेषज्ञ के पेशे के बारे में महत्त्वपूर्ण जानकारी प्रस्तुत है.

भारत में मौसम विशेषज्ञ अर्थात मेटीरिओलॉजिस्ट का पेशा

जो पेशेवर मौसम विज्ञान के विशेषज्ञ या एक्सपर्ट्स होते हैं उन्हें मेटीरिओलॉजिस्ट, एटमोस्फियरिक साइंटिस्ट, मौसम वैज्ञानिक या मौसम विशेषज्ञ के नाम से जाना जाता है. ये पेशेवर प्रमुख रूप से अपने देश या दुनिया के अन्य देशों के क्लाइमेट और मौसम के बारे में रिसर्च, स्टडी और एनालिसिस करके मौसम की सटीक पूर्व-सूचना जारी करते हैं ताकि मौसम और क्लाइमेट में आये किसी खतरनाक बदलाव की वजह से आने वाले आंधी, तूफान, बर्फबारी, ओलावृष्टि (हेलस्ट्रौम), साइक्लोन, बाढ़ों और गर्म लू आदि से लोगों के जीवन और उनकी धन-संपत्ति (मकान-दुकान), फसलों आदि की रक्षा की जा सके.

भारत में मौसम विज्ञान का अंडरग्रेजुएट कोर्स करने के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया

स्टूडेंट ने किसी एजुकेशनल बोर्ड से साइंस स्ट्रीम में कम से कम 50% मार्क्स के साथ अपनी 12वीं क्लास पास की हो. इसी तरह, पोस्टग्रेजुएट लेवल के कोर्स में एडमिशन लेने के लिए ग्रेजुएशन की डिग्री अनिवार्य है और अपनी पोस्टग्रेजुएशन सफलतापूर्वक पूरी करने के बाद स्टूडेंट्स हायर एजुकेशनल क्वालिफिकेशन्स जैसेकि, एमफिल और पीएचडी की डिग्री हासिल करने के लिए अपनी पढ़ाई जारी रख सकते हैं.

भारत में उपलब्ध हैं मौसम विज्ञान के ये कोर्स स्पेशलाइजेशन्स

अन्य सभी एजुकेशनल फील्ड की तरह ही इस फील्ड में भी स्टूडेंट्स अपनी 12वीं क्लास पास करने के बाद अंडरग्रेजुएट, पोस्टग्रेजुएट, डॉक्टोरल लेवल के डिग्री कोर्सेज के साथ डिप्लोमा कोर्स भी कर सकते हैं. स्वाभाविक तौर पर कोई टॉप लेवल करियर ज्वाइन करने के लिए स्टूडेंट्स या कैंडिडेट्स के पास हायर एजुकेशनल क्वालिफिकेशन जैसेकि पोस्टग्रेजुएशन या पीएचडी की डिग्री होनी चाहिए. हमारे देश में  मौसम विज्ञान की फील्ड में स्टूडेंट्स निम्नलिखित विषयों में स्पेशलाइजेशन कर सकते हैं:

  1. एग्रीकल्चरल मेटीरिओलॉजी
  2. एविएशन मेटीरिओलॉजी
  3. क्लाइमेटोलॉजी
  4. एरोलॉजी
  5. एरोनोमी
  6. एप्लाइड मेटीरिओलॉजी
  7. डायनामिक मेटीरिओलॉजी
  8. सिनोप्टिक मेटीरिओलॉजी
  9. एटमोस्फियरिक साइंस एंड एस्ट्रोफिजिक्स
  10. अर्थ एंड एटमोस्फियरिक साइंस
  11. एटमोस्फियरिक साइंस
  12. सैटेलाइट मेटीरिओलॉजी एंड वेदर इन्फॉर्मेटिक्स

भारत में इन प्रमुख इंस्टीट्यूशंस से करें मौसम विज्ञान के कोर्सेज

भारत में आप मौसम विज्ञान से संबंधित विभिन्न अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट कोर्सेज इन प्रमुख एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस से कर सकते हैं:

  1. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, दिल्ली
  2. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर
  3. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ साइंस, बैंगलोर
  4. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ ट्रॉपिकल मेटीरिओलॉजी, पुणे
  5. शिवाजी यूनिवर्सिटी, कोल्हापुर
  6. आंध्र यूनिवर्सिटी, विशाखापट्नम
  7. सावित्रीबाई फुले पुणे यूनिवर्सिटी, पुणे
  8. एविएशन मेटीरिओलॉजी साइंस एंड इंजीनियरिंग रिसर्च काउंसिल, कोयम्बटूर
  9. पंजाब यूनिवर्सिटी, पटियाला
  10. MS यूनिवर्सिटी, बड़ोदा

भारत में मौसम विशेषज्ञ के लिए उपलब्ध प्रमुख करियर्स

हमारे देश में ये पेशेवर विभिन्न क्षेत्रों के मौसम की स्थिति को एनालाइज करके आने वाले दिनों में मौसम की कैसा रहेगा? .....इसकी पूर्वसूचना जारी करते हैं. इन पेशेवरों को एटमोस्फियरिक साइंटिस्ट्स के तौर पर जाना जाता है. आजकल इंटरनेट, डिजिटलीकरण और सैटेलाइट की मदद से ये पेशेवर कुछ दिन पहले ही मौसम में आने वाले खतरनाक बदलावों जैसेकि, आंधी, तूफान, साइक्लोन, लू या तेज़ गर्म हवाएं चलने की सटीक पूर्वसूचना जारी कर देते हैं ताकि लोगों के जान-माल की समय रहते रक्षा की जा सके.  हमारे देश में मेटीरिओलॉजिस्ट्स के काम के मुताबिक निम्नलिखित प्रमुख जॉब प्रोफाइल्स हैं:

  • मेटीरिओलॉजिस्ट्स ये पेशेवर किसी भी क्षेत्र, राज्य या देश के क्लाइमेट और वेदर कंडीशन्स का अध्ययन और समीक्षा करके आने वाले मौसम का सटीक पूर्वानुमान लगाते हैं ताकि किसी तूफान, आंधी, साइक्लोन या बाढ़ आदि आने से पहले ही चेतावनी जारी करके प्रभावित क्षेत्र के लोगों की जान और माल को समय रहते बचाया जा सके.
  • रिसर्च मेटीरिओलॉजिस्ट्स ये पेशेवर क्लाइमेट और वेदर पैटर्न्स का अध्ययन करके क्लाइमेट और वेदर कंडीशन्स से संबंधित डाटा को इन्टरप्रेट करते हैं ताकि किसानों, कारोबारियों, ट्रेवलर्स, फिशरमेन्स, बोटमेन्स, नेविगेटर्स और एविएटर्स आदि को मौसम की मार से बचाया जा सके. ये पेशेवर अपने रिसर्च वर्क में ग्रीन हाउस इफेक्ट्स की भी जांच करते हैं.  
  • फिजिकल मेटीरिओलॉजिस्ट्स – ये पेशेवर एटमोस्फियर के फिजिकल नेचर अर्थात लैंड एरिया स्ट्रक्चर, केमिकल कम्पोज़ीशन ऑफ़ लैंड, एयर और टेम्परेचर आदि के इफेक्ट्स को स्टडी करते हैं तथा एनवायरनमेंट पोल्यूशन के निपटने में अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हैं.
  • इंडस्ट्रियल मेटीरिओलॉजिस्ट्स – जी हां!हमारे देश में ये पेशेवर आजकल इंडस्ट्रीज़ से संबंधित एनवायरनमेंटल पोल्यूशन को रोकने के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं.  

भारत में मौसम विशेषज्ञ इन जॉब प्रोवाइडर्स के पास करें अप्लाई

भारत में मौसम विज्ञान से संबंधित सभी प्रमुख सरकारी विभाग यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) के माध्यम से सूटेबल और हाइली क्वालिफाइड कैंडिडेट्स को रिक्रूट करते हैं. अगर आप भारत में मौसम विज्ञान से संबंधित किसी फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आप निम्नलिखित प्रमुख संस्थानों में अपने लिए किसी सूटेबल जॉब प्रोफाइल के लिए अप्लाई कर सकते हैं:

  1. इंडिया मेटीरिओलॉजी डिपार्टमेंट
  2. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ ट्रॉपिकल मेटीरिओलॉजी
  3. मेटीरिओलॉजिकल रिसर्च सेंटर्स
  4. एग्रीकल्चरल प्लानिंग डिपार्टमेंट
  5. डिपार्टमेंट ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी
  6. इंडियन काउंसिल ऑफ़ एग्रीकल्चरल रिसर्च  
  7. इंडियन एयरफोर्स
  8. इंडियन नेवी
  9. मेटीरिओलॉजिकल टूल्स मैन्युफैक्चरिंग फर्म्स
  10. स्पेस एप्लीकेशन सेंटर
  11. नेशनल रिमोट सेनिंग एजेंसी
  12. डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन
  13. इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन
  14. टीवी चेनल्स/ न्यूज़ चेनल्स/ न्यूज़ एजेंसीज़
  15. स्पोर्ट्स फेडरेशन्स
  16. एयरलाइन कंपनीज़
  17. एनवायरनमेंट और वेदर कंडीशन्स से संबंधित फ़ील्ड्स में काम करने वाले
  18. स्काईमेट वेदर सर्विसेज

भारत में मौसम विशेषज्ञ को मिलती है इतनी सैलरी

हमारे देश में किसी मेटीरिओलॉजिस्ट को शुरू में 40 हजार – 50 हजार रुपये मासिक सैलरी मिलती है और कुछ वर्षों के वर्क एक्सपीरियंस के बाद ये पेशेवर 60 हजार रुपये का आकर्षक सैलरी पैकेज प्राप्त करते हैं. इस फील्ड में प्रोफेशनल्स के सैलरी पैकेज पर उनकी एजुकेशनल क्वालिफिकेशन्स के साथ ही वर्क एक्सपीरियंस और संबंधित संस्थान के सैलरी स्लैब्स का भी सीधा असर पड़ता है.

अगर आप प्रकृति प्रेमी हैं और हरेक मौसम आपको अपनी तरफ आकर्षित करता है.....आप पहले से ही यह जानने में काफी रूचि रखते हैं कि आज बारिश होगी या आंधी आयेगी या फिर, गर्मी के दिनों में दिल्ली या अन्य किसी शहर का अधिकतम तापमान कितना रहेगा? आप आंधी, तूफान, बाढ़ और साइक्लोन से भी लोगों की जान और माल की रक्षा करना चाहते हैं.....तो फिर एक मौसम विशेषज्ञ या मेटीरिओलॉजिस्ट का करियर आपके लिए एक सूटेबल करियर ऑप्शन साबित हो सकता है.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

भारत में मशीन लर्निंग के ये टॉप कोर्सेज करके बनें एक्सपर्ट प्रोफेशनल

क्वांटम कंप्यूटिंग के ये फ्री ऑनलाइन कोर्सेज बढ़ाएंगे आपके प्रोफेशनल स्किल्स

ये टॉप डिजिटल मार्केटिंग कोर्सेज करके बनें कामयाब मार्केटिंग प्रोफेशनल

Related Categories

Related Stories

Comment (0)

Post Comment

7 + 1 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.