जानें IAS परीक्षा की तैयारी के लिए सर्वश्रेष्ठ पत्रिकाएं

Sep 3, 2018 11:30 IST
  • Read in English
Best Magazines for IAS Exam Preparation
Best Magazines for IAS Exam Preparation

पत्रिका की उपयोगिता उसकी विश्वसनीय जानकारी तथा प्रकाशित लेखों की गुणवत्ता से ही बनती है। सटीक और सही समय पर मिली जानकारी का कोई मोल नहीं होता है। इसलिए पत्रिकाएँ हमारे विद्यार्थी जीवन की सबसे विश्वसनीय साथी साबित हो सकती हैं। सिविल सेवा (IAS) परीक्षा की  तैयारी में पत्रिकाएं बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। चूंकि, मुख्य परीक्षा में कर्रेंट अफेयर्स से संबंधित प्रश्नों की बहुतायत होती है तथा सभी प्रश्न विश्लेषणात्मक परवर्ती के होते हैं, इसलिए केवल अखबार पढ़ने से परीक्षा में पास होना संभव नहीं जान पड़ता एवं अखबार एक सामान्य दृष्टिकोण प्रस्तुतु करते हैं परन्तु IAS परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए यह पर्याप्त नहीं है।

अध्ययन सामग्री के अलावा, पत्रिकाएं IAS परीक्षा में टॉप करने वाले अभ्यर्थियों का इंटरव्यू , उनके द्वारा दिए गए सुझाव तथा परीक्षा से जुडी हुई अन्य जानकारियाँ देती हैं जो की अखबार में मिलना मुश्किल होता है। पत्रिकाएं IAS परीक्षा से जुड़े हुए बदलाव तथा उनका सामना करने के लोए युक्तियां तथा सुझाव प्रदान करती हैं तथा IAS परीक्षा को पास करने के लिए रणनीतियां भी प्रकाशित करती हैं।

जानिए IFS अधिकारियो को मिलने वाली सुविधाएं तथा लाभ

IAS उम्मीदवारों के लाभ के लिए, हम IAS परीक्षा की तैयारी के लिए सर्वश्रेष्ठ पत्रिकाओं की एक सूची उपलब्ध करा रहे हैं जो की इस प्रकार है ।

योजना

योजना, केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के प्रकाशन विभाग द्वारा प्रकाशित एक मासिक पत्रिका है। यह सामाजिक-आर्थिक मुद्दों पर हर महीने एक समर्पित अंक प्रकाशित करती है।  पत्रिका में एक महत्वपूर्ण विषय है जैसे कि Skill India, Make in India, कृषि, उद्योग, आदि  पर संपूर्ण कवरेज होता है। इसमें, उस विषय से जुड़े, सभी सरकारी कार्यक्रमों, कानूनों और चुने हुए विषय से संबंधित अन्य पहलुओं को शामिल किया जाता है। इसके अलावा, विशेष क्षेत्र से संबंधित विशेषज्ञों की राय दी जाती है। निबंध पेपर और व्यक्तित्व परीक्षण सहित मुख्य परीक्षा के लिए उम्मीदवारों के लिए यह पत्रिका बहुत उपयोगी है। ख़ास बात यह है की योजना पत्रिका में जो लेख प्रकाशित होते है वो सारे उस विषय से सम्बंधित व्यक्तियों द्वारा ही लिखित होते है।

अंग्रेजी और हिंदी के अलावा योजना पत्रिका 11 अन्य भाषाओं में प्रकाशित की जा रही है, अर्थात् अंग्रेजी, हिंदी, उर्दू, पंजाबी, मराठी, गुजराती, बंगाली, असमिया, तेलुगू, तमिल, कन्नड़, मलयालम और उड़ीया इसलिए, क्षेत्रीय भाषाओं में मुख्य परीक्षा लिखने वालों के लिए भी यह बहुत उपयोगी है।
IAS अभ्यर्थी yojana.gov.in वेबसाइट से पिछले पत्रिकाओं (2014 तक) मुफ्त डाउनलोड कर सकते हैं।

कुरुक्षेत्र

योजना की तरह, यह भी प्रकाशन विभाग द्वारा प्रकाशित की जाती है। इस पत्रिका का ध्यान ग्रामीण विकास और ग्रामीण बुनियादी ढांचा, कृषि, जनजातीय आबादी इत्यादि से संबंधित कई मुद्दों पर रहता है। कुरुक्षेत्र मासिक पत्रिका हिंदी और अंग्रेजी में प्रकाशित की जा रही है। यह पत्रिका ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यक्रमों और योजनाओं के क्रियान्वयन के पहलुओं और प्रभावों के विश्लेषण पर केंद्रित है। यह पत्रिका सामान्य अध्ययन, निबंध और व्यक्तित्व परीक्षण के लिए उपयोगी है।

IAS परीक्षा में निबन्ध कैसे लिखें

 

अभ्यर्थी मुफ्त वेबसाइट पर yojana.gov.in वेबसाइट से पिछले पत्रिकाओं (2013 तक) डाउनलोड कर सकते हैं।

EPW( आर्थिक और राजनीतिक साप्ताहिक)

EPW, जैसा कि पत्रिका को लोकप्रिय रूप से जाना जाता है, बहस के लिए शिक्षाविदों, शोधकर्ताओं, नीति निर्माताओं, स्वतंत्र विचारकों, गैर-सरकारी संगठनों के सदस्यों और राजनीतिक कार्यकर्ताओं को एक साथ लाती है। पत्रिका में अर्थशास्त्र, राजनीति, समाजशास्त्र, संस्कृति और पर्यावरण जैसे क्षेत्रों की एक विस्तृत श्रृंखला को शामिल किया जाता है।
यह पत्रिका मुख्य परीक्षा में विश्लेषणात्मक प्रश्नों के उत्तर देने के लिए बहुत उपयोगी है, जो आपको किसी दिए गए स्टेटमेंट के बारे में टिप्पणी या चर्चा या विश्लेषण या आलोचनात्मक विश्लेषण करने के लिए कहता है। इस पत्रिका में दिए गए आंकड़े लिखित परीक्षा के साथ-साथ व्यक्तित्व परीक्षण के लिए सहायक भी हैं।

IPS अधिकारी की अप्रेज़ल प्रक्रिया

Down to Earth

इसमें ऐसे महत्वपूर्ण मुद्दों को शामिल किया जाता है जो पर्यावरण, स्वास्थ्य, आजीविका और आर्थिक सुरक्षा के लिए बड़ी चिंता का विषय हैं। यह भारतीय समाज के सामने आने वाली प्रमुख चुनौतियों से संबंधित समाचार, दृष्टिकोण और ज्ञान को एक साथ प्रकाशित करती है। चूंकि प्रारंभिक परीक्षा में पर्यावरण का महत्व बढ़ रहा है, यह पत्रिका परीक्षा के सभी तीन चरणों के लिए सहायक है।

प्रतियोगिता दर्पण

हिंदी और अंग्रेजी दोनों में उपलब्ध है, यह पत्रिका सरकारी नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए बहुत उपयोगी है। वर्तमान मामलों, रोजगार संबंधी समाचार, टॉपर्स के साक्षात्कार, सार्वभौमिक विषयों पर गुणवत्ता वाले लेखों पर ध्यान देने के साथ ही, प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के प्रश्न पत्र का हल प्रदान किया जाता हैं, पत्रिका अपने पाठकों के लिए एक तैयारी का बहुत उपयोगी साधन साबित हुई है।

Civil Services Times(CST)

यह पत्रिका IAS की तैयारी के किये बहुत ही उपयोगी है।यह पत्रिका अध्ययन सामग्री को सरकारी विभागों, मंत्रालयों, प्रेस सूचना ब्यूरो (पीआईबी) आदि की वेबसाइटों जैसे विश्वसनीय स्रोतों से लेकर तथा उस पर अनुसंधान करके तैयार की जाती है। पिछली परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों को ध्यान में रखते हुए विभिन्न विषयों पर गहन लेख तैयार किए जाते हैं। यह IAS परीक्षा केंद्रित पत्रिका, परीक्षा के सभी संबंधित क्षेत्रों जैसे राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय, विदेश नीति, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और अर्थव्यवस्था को कवर करती है।

The Hindu in Hindi: भारत में ग्रामीण स्वास्थ्य प्रणाली

भूगोल और आप

Geography and You(अंग्रेजी) और इसके प्रतिरूप भूगोल और आप (हिंदी) दो महीने में एक बार प्रकाशित होती है जो दुनिया भर में विज्ञान, प्रौद्योगिकी और समाजशास्त्र के विभिन्न शैलियों को कवर करती हैं। यह पत्रिका पर्यावरण और भौगोलिक मुद्दों से संबंधित IAS प्रीलिम्स और मेन के प्रश्नों के उत्तर देने में सहायता करती है। यह पत्रिका, भूगोल वैकल्पिक विषय वाले IAS उम्मीदवारों के बीच सबसे अधिक मांग में रहती है।

Competition Success Review(CSR)

यह पत्रिका अक्सर CSR के संक्षिप्त नाम से जानी जाती है।  यह विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयारी करने वाले छात्रों के बीच में बेहद लोकप्रिय पत्रिका है। अधिकांश सिविल सेवाओं के उम्मीदवार, इस पत्रिका में वो सब कुछ पाते हैं जो की IAS परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण है । साथ ही इसकी विशेषता IAS मुख्या परीक्षा में आने वाले निबंध के प्रश्न पत्र से है। हर मुद्दे पर, यह विश्व स्तर पर और स्वदेश में होने वाली घटनाओं का सारांश देती है। सिविल सेवा के उम्मीदवारों के लिए आयोजित साक्षात्कार पर इसमें हर अंक में लेख छाते हैं।यह पत्रिका, IAS टॉपर्स की सफलता की कहानियों को भी प्रकाशित करती है, जो उम्मीदवारों के लिए उपयोगी साबित होते हैं।

IAS की परीक्षा के लिए इंडिया ईयर बुक कैसे पढ़ें?

वर्ल्ड फोकस

1980 से यह एक प्रमुख भारत-केंद्रित विदेशी मामलों का जर्नल है। यह एक भारतीय परिप्रेक्ष्य के साथ अंतरराष्ट्रीय मुद्दों का विश्लेषण करती है। नीति विश्लेषक, नीति निर्माताओं, विशेषज्ञों, राजनयिकों, प्रतिष्ठित विद्वानों, निर्णय निर्माताओं और श्रेष्ठता के लोग व्यापक रूप से इस पत्रिका में लिखते हैं और हर महीने विश्व फोकस में योगदान करते हैं। वर्ल्ड फोकस वर्तमान मामलों, अंतर्राष्ट्रीय मामलों, आर्थिक कूटनीति, विदेश नीति और राष्ट्रीय सुरक्षा मुद्दों पर केंद्रित है।

IAS परीक्षा के लिए किसी भी मुद्दे पर 360O दृष्टिकोण रखने के लिए पृष्ठभूमि की जानकारी, अतिरिक्त डेटा और विभिन्न हितधारकों के विचारों को एकत्र करना होता है । अखबार के माध्यम से यह एक दिन में नहीं हो सकता परन्तु पत्रिकाओं को पढ़ने से, उम्मीदवार एक ही स्थान पर यह सब जानकारी प्राप्त हो जाती है।

गरीबी के बावजूद भी ये लोग बने IAS

DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.

Commented

    Latest Videos

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK
    X

    Register to view Complete PDF