Positive India: इस गणतंत्र दिवस भावना कंठ रचेंगी इतिहास, परेड में शामिल होने वाली पहली महिला फाइटर पायलट होंगी भावना

28 वर्षीय कंठ वर्तमान में राजस्थान के एक एयरबेस में तैनात हैं जहां वह मिग -21 बाइसन विमान उड़ाती है। वह 2016 में अवनी चतुर्वेदी और मोहना सिंह के साथ भारतीय वायु सेना में शामिल होने वाली पहली भारतीय महिला फाइटर पायलट थीं।

Created On: Jan 21, 2021 14:10 IST
Bhawana Kanth first female fighter pilot to participate in Republic Day Parade in Hindi
Bhawana Kanth first female fighter pilot to participate in Republic Day Parade in Hindi

"आप किसी भी राष्ट्र की स्थिति उस देश की महिलाओं की स्थिति को देखकर बता सकते हैं" इस कथन की सच्चाई का जीता जागता उदाहरण हम इस वर्ष के गणतंत्र दिवस पर अनुभव कर सकेंगे। भारत के 73वें गणतंत्र दिवस पर वायुसेना की पहली महिला लड़ाकू पायलट भावना कंठ राजपथ पर दिखाई देंगी। भावना कंठ भारतीय वायुसेना की तरफ से निकाली जाने वाली झांकी का हिस्सा होंगी जिसकी इस वर्ष की थीम मेक इन इंडिया (Make in india) रखी गई है। वह भारतीय वायुसेना के फायटर पायलट दल में शामिल की गई पहली महिला हैं। आइये जानते हैं इन जाबाज़ महिला पायलट के बारे में:

चाय बेचने वाले की बेटी उड़ाएगी फाइटर प्लेन, IAF अकेडमी ट्रेनिंग में किया टॉप- जानें आँचल गंगवाल की कहानी

पिता का एयरफोर्स में जाने का सपना भावना ने किया पूरा 

भावना के पिता तेज नारायण कंठ इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के साथ काम करते हैं और वर्तमान में उत्तर प्रदेश के मथुरा में तैनात हैं।  रक्षा सेवाओं के लिए उनका प्यार उनके स्कूल के दिनों में एनसीसी में शामिल होने के बाद शुरू हुआ था और इंटरमीडिएट के बाद उन्हें भारतीय वायु सेना में चुना गया था। लेकिन उनके पिता द्वारा अनुमति नहीं दी गई थी।अब वह अपने सपने को भावना में साकार होते देख रहे हैं।

भारतीय वायुसेना में शामिल होने वाली पहली महिला फाइटर पायलट में से एक हैं भावना 

28 वर्षीय कंठ बिहार के दरभंगा जिले से हैं। उनका जन्म और परवरिश रिफाइनरी टाउनशिप, बेगूसराय में हुई थी। उन्होंने बेंगलुरु के BMS कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से मेडिकल इलेक्ट्रॉनिक्स में बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। भावना को आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) में कैंपस प्लेसमेंट के माध्यम से सेलेक्ट किया गया था। लेकिन नियति ने उनके लिए कुछ बड़ा निर्धारित किया था। उन्होंने शॉर्ट सर्विस कमीशन परीक्षा पास की जिसके बाद उन्हें भारतीय वायु सेना में शामिल होने का मौका मिला। वह 2016 में अवनी चतुर्वेदी और मोहना सिंह के साथ भारतीय वायु सेना में शामिल होने वाली पहली भारतीय महिला फाइटर पायलट थीं।

भविष्य में राफेल और सुखोई फाइटर प्लेन उड़ाना चाहती हैं 

गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल होने की खबर पर भावना कंठ कहती हैं कि यह उनके लिए गर्व का पल होगा। पायलट भावना ने कहा कि वे बचपन से ही टीवी पर गणतंत्र दिवस की परेड देखती आई हैं, और इस वर्ष इस परेड में शामिल होने उनके लिए गर्व और सम्मान की बात होगी। भावना ने कहा कि वे राफेल और सुखाई के साथ- साथ अन्य लड़ाकू विमान भी उड़ाना पसंद करेंगी। 

वहीँ भावना के माता-पिता भी उनकी बेटी की इस उपलब्धि से बेहद हर्षित हैं। उनके पिता कहते हैं कि "माता-पिता को अपने बच्चे को किसी विशेष धारा को आगे बढ़ाने के लिए मजबूर नहीं करना चाहिए, उन्हें हमेशा बच्चों को प्रोत्साहित करना चाहिए।" 

Positive India: न्यूयॉर्क की नौकरी छोड़ कर देश की सेवा के लिए किया UPSC क्लियर - जानें IPS इल्मा अफ़रोज़ के संघर्ष की कहानी





Related Categories

Related Stories