Search

बिहार बोर्ड ऑफ़ ओपन स्कूलींग एंड एग्जामिनेशन- Bihar board of open schooling(BBOSE)

बिहार ओपन बोर्ड  एक सरकार द्वारा पंजीकृत सोसाइटी के ‘सोसाइटी अधिनियम’ के तहत ‘ओपन एंड डिस्टेंस लर्निंग इंस्टीट्यूशन’ है इस बोर्ड को स्थापित करने का उद्देश्य बिहार में ‘राष्ट्रीय मुक्त विधालयी शिक्षा संस्थान’ (National Institute of Open Schooling i.e. NIOS) की तरह ओपन व डिस्टेंस लर्निंग प्रदान करना है.

Jun 4, 2018 15:27 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Bihar Board of Open Schooling and Examination
Bihar Board of Open Schooling and Examination

मुक्त विधालयी शिक्षण एवं परीक्षा बोर्ड (BBOSE) को बिहार शिक्षा विभाग के एक स्वायत्त संगठन द्वारा वर्ष 2011 के फरवरी महीने में स्थापित किया गया था. बिहार ओपन बोर्ड  एक सरकार द्वारा पंजीकृत सोसाइटी के ‘सोसाइटी अधिनियम’ के तहत ‘ओपन एंड डिस्टेंस लर्निंग इंस्टीट्यूशन’ है इस बोर्ड को स्थापित करने का उद्देश्य बिहार में ‘राष्ट्रीय मुक्त विधालयी शिक्षा संस्थान’ (National Institute of Open Schooling i.e. NIOS) की तरह ओपन व डिस्टेंस लर्निंग प्रदान करना है. इस बोर्ड द्वारा बिहार के शिक्षा से वंचित रह गए है पिछड़े क्षेत्रो तक सामाजिक-आर्थिक व धार्मिक वर्गों का विशेष ध्यान रखते हुए शिक्षा और कौशल को पहुंचाना है. BBOSE, शिक्षा सामग्री और पुस्तकों को भी विकसित करता है जो की औपचारिक स्कूल व्यवस्था के सभी स्तरों से संबंधित है यानिकी कक्षा 1 से लेकर कक्षा 12 तक.  BBOSE कक्षा 10वी और कक्षा 12वी के लिए C.B.S.E./I.C.S.E. और अन्य माध्यमिक बोर्ड्स की तरह सार्वजनिक परीक्षा भी आयोजित करता है.

BBOSE, क्षेत्र में शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (State Council of Educational Research and Training )और बिहार स्कूल परीक्षा बोर्ड (Bihar School Examination Board) के संयोजन के प्रभाव से स्कूल स्तर पर ओपन एंड डिस्टेंस लर्निंग के लिए स्थापित किया गया है.

BBOSE में कई अनोखी और विशिष्ट विशेषताएं हैं, जो इसे अन्य सभी औपचारिक परीक्षा बोर्डों से अलग करती हैं –

BBOSE की मुख्या विशेषताएं –

  • यह माध्यमिक व उच्च-माध्यमिक कार्यक्रम के अलावा व्यावसायिक और कौशल प्रशिक्षण, (vocational and skills training) भी सीधा कक्षा 5 और आगे की कक्षाओं के लिए (लेकिन डिग्री स्तर से नीचे के वर्ग के लिए) उपलब्ध करवाता है.
  •  यह कक्षा 10वी और कक्षा 12वी के शैक्षिक विषयों साथ-साथ व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के संयोजन की अनुमति भी देता है.
  •  यह मुक्त शिक्षा बोर्ड विभिन्न शैक्षणिक और व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए डिप्लोमा एवं प्रमाणपत्र प्रदान करता है, जो की विभिन्न अवधि और योग्यता स्तरों के लिए उपलब्ध है.
  •  BBOSE के अंतर्गत बिहार राज्य के 38 जिलों में अध्ययन केंद्रों की सुविधा उपलब्ध हैं
  •  यह विभिन्न श्रेणियों में विभिन्न जीवन संवर्धन पाठ्यक्रम भी प्रदान करता है.
  • BBOSE की अन्य अभिनव विशेषताएं में से विशेष कार्यक्रम है अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग, अल्पसंख्यक, नोमैडीक समूह, नदी की आबादी जैसे वंचित समूहों तक पहुंचना है.
  • बिहार की जनसंख्या की जरूरतों का पूरा ध्यान रखते हुए शैक्षणिक और व्यावसायिक स्तर पर करने वाले कार्यकम जो की शुरू होते है पूर्वव्यापी ( Pre-Primary i.e. ECCE), बेसिक शिक्षा, माध्यमिक, वरिष्ठ माध्यमिक, व्यावसायिक शिक्षा, जीवन संपन्नता आदि तक उपलब्ध है.

यह ऐसा प्रथम विद्यालय है जो एक व्यापक नेटवर्क के उपयोग से डिस्टेंस लर्निंग या बिना डिस्टेंस लर्निंग के बिहार राज्य के सभी सरकारी स्कूलों और उनके शिक्षकों के उपयोग करने के लिए 'निर्देशित शिक्षण (guided learning) उपलब्ध करवाता है जो की वो स्कूल शुरू होने के समय से पहले या स्कूल खत्म होने के बाद प्राप्त कर सकते हैं.
बिहार राज्य शिक्षा प्रोत्साहन की अवधारणा हेतु लड़कियों की शिक्षा के लिए और SRCs के बीच लिंग अनुपात में सुधार करने के लिए BBOSE के पाठ्यक्रमों में प्रविष्ट, सभी गरीबी रेखा से नीचे (BPL) की श्रेणी वाली छात्राओं को पूर्ण शुल्क की छूट (रियायत के बजाय) दी जाती है.

 

बिहार ओपन बोर्ड (BBOSE) दाखिला:

प्रवेश आवश्यकताएं:
माध्यमिक शिक्षा – माध्यमिक शिक्षा यानिकी कक्षा 10वी में प्रवेश के लिए विधार्थियों को निम्नलिखित मानदंडों का पूरा होना जरुरी है –आयु – विद्यार्थी को कम से कम 14 वर्ष आयु का होना जरुरी है.
न्यूनतम शैक्षिक योग्यता – विद्यार्थी बिहार विधालय शिक्षा समिति, पटना द्वारा मान्यता प्राप्त माध्यमिक/हाई-स्कूल की कक्षा 9 या उससे पूर्व किसी भी कक्षा की परीक्षा में उत्तीर्ण होना चाहिए.
पाठ्यक्रम: विद्यार्थीयों को माध्यमिक शिक्षा के लिए दिए गए दो वर्गों यानिकी ‘अ’ व ‘ब’ में से 5 विषयों के लिए पंजीकरण करवाना आवश्यक है.
स्थानांतरण का क्रेडिट्स (T.O.C) के तहत विद्यार्थियों को मूल अंकतालिका आवेदन पत्र के साथ संलग्न करनी होगी जिससे वो कम से कम दो विषयों के अंक स्थानांतरण करवा सकेंगे हालाँकि वो इन विषयों में एक ही वर्ष की माध्यमिक परीक्षाओं में उत्तीर्ण हुए हो और साथ ही अंकतालिका 5 वर्ष से पूर्व की न हो.

उच्च-माध्यमिक शिक्षा – माध्यमिक शिक्षा यानिकी कक्षा 10वी में प्रवेश के लिए विधार्थियों को निम्नलिखित मानदंडों का पूरा होना जरुरी है –
आयु: विद्यार्थी को कम से कम 15 वर्ष आयु का होना जरुरी है.
विद्यार्थियों के लिए मूल प्रव्रजन (माइग्रेशन) लेना आवश्यक है.
न्यूनतम शैक्षिक योग्यता – विद्यार्थी बिहार विधालय शिक्षा समिति, पटना द्वारा मान्यता प्राप्त माध्यमिक/हाई-स्कूल की कक्षा 9 तक उत्तीर्ण/अनुत्तीर्ण होना चाहिए. और साथ ही माध्यमिक/कक्षा 10 की परीक्षा में उत्तीर्ण होना चाहिए.

पाठ्यक्रम: विद्यार्थीयों को माध्यमिक शिक्षा के लिए दिए गए दो वर्गों यानिकी ‘अ’ व ‘ब’ में से 5 विषयों (T.O.C सहित) के लिए पंजीकरण करवाना आवश्यक है.
स्थानांतरण का क्रेडिट्स (T.O.C) के तहत विद्यार्थियों को मूल अंकतालिका आवेदन पत्र के साथ संलग्न करनी होगी जिससे वो कम से कम दो विषयों के अंक स्थानांतरण करवा सकेंगे हालाँकि वो इन विषयों में एक ही वर्ष की माध्यमिक परीक्षाओं में उत्तीर्ण हुए हो और साथ ही अंकतालिका 5 वर्ष से पूर्व की न हो.

BBOSE विभाग:

बिहार ओपन बोर्ड शैक्षिक विभाग (Academic)– यह विभाग BBOSE के शिक्षा सम्बंधित सभी चीज़े जैसे की अध्ययन सामग्री, Ebook स्वयं सीखने योग्य सामग्री माध्यमिक व उच्च-माध्यमिक प्रोग्राम के लिए, माध्यमिक व उच्च-माध्यमिक प्रायौगिक कार्यक्रम के साथ-साथ व्यक्तिगत संपर्क कार्यक्रम के लिए स्थापित किया गया है.
बिहार ओपन बोर्ड परीक्षा विभाग (Examination) – यह विभाग माध्यमिक व उच्च-माध्यमिक परीक्षाओं से जुड़े कार्यक्रम जैसेकी परीक्षा आयोजन, परीक्षा आवेदन के साथ-साथ विद्यार्थिओं की उपस्थिति से संबंधित चीजों के लिए स्थापित किया गया है.
बिहार ओपन बोर्ड विद्यार्थी सहायता विभाग (Student Support) – इस विभाग के अंतर्गत सभी विद्यार्थी माध्यमिक व उच्च-माध्यमिक अध्ययन हेतु सभी विषयों के लिए प्रश्न-पत्र और समाधान की e-books प्राप्त कर सकते हैं.

BBOSE शैक्षिक कार्यक्रम:

माध्यमिक शिक्षा – जो विद्यार्थी कक्षा 10/सेकेंडरी में प्रवेश लेना चाहते है वो यहाँ दी गयी विषय सूचि अवश्य देखें. विद्यार्थी इन विषयों में से किन्ही विषयों को माध्यमिक स्तर पर शिक्षा प्राप्त करने के लिए चुन सकतें है.

bihar open board 

BBOSE उच्च-माध्यमिक शिक्षा –

पाठ्यक्रम विषय सूचि – कक्षा 12/सीनियर सेकेंडरी में प्रवेश लेने हेतु विद्यार्थी निम्न तालिका में दिए गए विषयों में से अधिकतम 7 विषयों का चयन कर सकते है.
BBOSE कक्षा 10 पाठ्यक्रम विषय सूचि –

Bihar board

नोट: *(स्टार) द्वारा दर्शाए गए विषयों में सैधांतिक एवं प्रायोगिक दोनों परीक्षाएं है.

 

BBOSE परीक्षा परिणाम:

बिहार ओपन बोर्ड की माध्यमिक व उच्च-माध्यमिक परीक्षाओं के लिए हर वर्ष जून और दिसम्बर में परिणाम घोषित किया जाता है. वो सभी विद्यार्थी जो वार्षिक परीक्षाओं में बैठते है अपना परिणाम नीचे दिए गए निर्देशानुसार देख सकते है –

1. BBOSE की वेबसाइट यानि bbose.org पर जाए और स्टूडेंट सपोर्ट पर click करें
2. इसके पश्चात् रिजल्ट tab पर click करें और एक नया पेज खुलेगा
3. यहाँ पर विद्यार्थी अपने परीक्षा वर्ष और सेशन के हिसाब से लिंक सेलेक्ट करें जैसेकी अगर मई 2017 की परीक्षा में बैठे हो तो मई 2017 परिणाम के लिए दिए गए लिंक पर click करें
4. इस लिंक पर click करें से नयी टैब खुलेगी जहां छात्र अपनी परीक्षा सम्बंधित जानकारी डालकर परीक्षा परिणाम देख सकतें है
5. परीक्षा सम्बंधित जानकारी के लिए छात्रों को अपना परीक्षा सत्र का रोल नंबर या रजिस्टर्ड एनरोलमेंट नंबर, सबमिट बटन पर click करें
इसके बाद छात्र अपना BBOSE परीक्षा परिणाम देख सकतें है और साथ ही अपनी मार्कशीट भी डाउनलोड कर सकते हैं.

Related Stories