Search

भारत में फ़ूड टेक्नोलॉजिस्ट का करियर: क्वालिफिकेशन और स्कोप

यदि आपकी फ़ूड और बेवरेज में रुचि है तो आप भारत में फ़ूड टेक्नोलॉजिस्ट बन सकते हैं. हमारे देश में फूड टेक्नोलॉजी की फील्ड में काफी गुंजाइश है, इसलिए एक फूड टेक्नोलॉजिस्ट बनकर आप अपनी करियर फील्ड में कामयाबी हासिल कर सकते हैं.

Nov 14, 2019 18:42 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Career and Scope in Food Technologyin India
Career and Scope in Food Technologyin India

सदियों से भारत एक कृषि प्रधान देश और अर्थव्यवस्था रहा है और कृषि का सीधा संबंध खाद्य उत्पादन अर्थात सभी किस्म की फसलों – फल, सब्जी, अनाजों और फ़ूड आइटम्स से है. मिनिस्ट्री ऑफ़ फ़ूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्रीज़, भारत सरकार के अनुमान के मुताबिक अगले वर्ष अर्थात 2020 तक भारत में फ़ूड से संबंधित रिटेल मार्किट का कोरोबार लगभग डॉलर 830 बिलियन तक पहुंच जायेगा और डेरी प्रोडक्ट्स का कारोबार लगभग 140 बिलियन डॉलर तक पहुंच जायेगा. इसी तरह, 2025 तक करीबन 10 मिलियन लोगों को इस फील्ड में रोज़गार मिलने की अच्छी संभावना जताई जा रही है और 2030 तक फ़ूड प्रोसेसिंग की फील्ड में भारत दुनिया का 5वां सबसे बड़ा कंज्यूमर देश बन जाएगा. इस समय भारत के कुल एक्सपोर्ट का करीबन 11 फीसदी शेयर प्रोसेस्ड फ़ूड आइटम्स का है. आपको यह जानकर भी ख़ुशी होगी कि इस समय भारत मसालों का सबसे बड़ा प्रोडूसर, कंज्यूमर और एक्सपोर्टर देश है. इसी तरह, हमारे देश दुनिया भर में दूसरे स्थान पर सबसे ज्यादा फलों, सब्जियों और अनाज का उत्पादन करता है. ऐसे में अगर आप एक फ़ूड टेक्नोलॉजिस्ट का करियर अपनाना चाहते हैं तो आने वाले वर्षों में इस फील्ड में ग्रोथ की काफी आशाजनक संभावनाएं हैं. चलिए इस विषय पर कुछ विस्तार से चर्चा करते हैं......

फ़ूड टेक्नोलॉजी क्या है?

फ़ूड टेक्नोलॉजी शब्द दरअसल दो अलग शब्दों से मिलकर बना है – फ़ूड + टेक्नोलॉजी अर्थात जब हम फ़ूड के विभिन्न आस्पेक्ट्स में टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करते हैं तो फ़ूड टेक्नोलॉजी का कॉन्सेप्ट ही साकार होता है. फ़ूड टेक्नोलॉजी साइंस की ऐसी ब्रांच है जिसके तहत सभी तरह के फ़ूड आइटम्स का प्रोडक्शन, प्रोसेसिंग, प्रिजर्वेशन, पैकेजिंग, क्वालिटी चेक और फ़ूड डिस्ट्रीब्यूशन को शामिल किया जा सकता है. फ़ूड टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल के बाद कच्चे फ़ूड आइटम्स खाने लायक बनने के साथ ही न्यूट्रीशियस भी बन जाते हैं जो हमें खाने में टेस्टी लगने के साथ-साथ हमारी हेल्थ की भी रक्षा करते हैं. इसी तरह, फ़ूड टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से फ़ूड आइटम्स में काफी वैरायटी आ जाती है.  

ऐसे फ़ूड आइटम्स जिनमें फ़ूड टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होता है:

फ़ूड टेक्नोलॉजी को ज्यादा अच्छी तरह समझने में मदद करने के लिए हम यहां रोज़ाना इस्तेमाल किए जाने वाले कुछ फ़ूड आइटम्स की चर्चा कर रहे हैं जो फ़ूड टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल का बेहतरीन उदाहरण हमारे सामने रखते हैं जैसेकि:

  • रेडी टू ईट मील्स
  • बेबी फूड्स
  • चॉकलेट
  • स्नैक्स – चिप्स, भुजिया, पैक्ड नट्स
  • फ्रोजन फूड्स
  • कैंड फूड्स
  • पैकेज्ड फ़ूड आइटम्स – जैम, पिकल, जूस, सूप
  • एरेटेड ड्रिंक्स – लिमका, पेप्सी
  • एनर्जी ड्रिंक्स/ बियर और अन्य बेवरेजेज
  • बोटल्ड मिल्क/ पैकेज्ड मिल्क
  • सीरियल्स
  • कॉफ़ी
  • योगर्ट
  • लो फैट बटर
  • फ़ास्ट फूड्स – बर्गर, पिज़्ज़ा, फ्रेंच फ्राइज़

भारत में शेफ का करियर, क्वालिफिकेशन और ग्रोथ प्रोस्पेक्टस

भारत में फ़ूड टेक्नोलॉजिस्ट के पेशे के लिए जरुरी एजुकेशनल क्वालिफिकेशन

हमारे देश में किसी मान्यताप्राप्त एजुकेशनल बोर्ड से साइंस विषय के साथ कम से कम 50% मार्क्स लेकर अपनी 12वीं क्लास पास करने के बाद स्टूडेंट्स निम्नलिखित डिप्लोमा और अंडरग्रेजुएट कोर्सेज कर सकते हैं:

डिप्लोमा लेवल

इन डिप्लोमा कोर्सेज की अवधि 3 वर्ष की होती है जैसेकि:

  • डिप्लोमा – फ़ूड साइंस, प्रिजर्वेशन एंड मैनेजमेंट
  • डिप्लोमा – फ़ूड एनालिसिस एंड क्वालिटी अश्योरेंस
  • डिप्लोमा – फ़ूड साइंस टेक्नोलॉजी

ये शॉर्ट-टर्म टेक्निकल कोर्सेज दिला सकते हैं आपको तुरंत जॉब

ग्रेजुएशन लेवल

इन कोर्सेज की अवधि 3 – 4 साल की होती है जैसेकि:

  • बीएससी – फ़ूड साइंस
  • बीएससी – फ़ूड एंड न्यूट्रीशन
  • बीएससी – फ़ूड टेक्नोलॉजी
  • बीएससी – फ़ूड प्रिजर्वेशन
  • बीटेक – फ़ूड इंजीनियरिंग

पोस्टग्रेजुएशन लेवल

UGC से किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से बीएससी या संबद्ध विषय में ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के बाद स्टूडेंट्स फ़ूड टेक्नोलॉजी में पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं. आमतौर पर ये कोर्सेज 2 वर्ष की अवधि होती है जैसेकि:

  • एमएससी – फ़ूड टेक्नोलॉजी
  • एमएससी – फ़ूड साइंस
  • एमएससी – फ़ूड एंड न्यूट्रीशन
  • एमएससी – फ़ूड एंड फर्मेंटेशन टेक्नोलॉजी एंड फ़ूड साइंस
  • एमटेक – फ़ूड टेक्नोलॉजी

पीएचडी लेवल

UGC से किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से पोस्टग्रेजुएशन की डिग्री लेने के बाद स्टूडेंट्स फ़ूड टेक्नोलॉजी में निम्नलिखित कोर्सेज कर सकते हैं. आमतौर पर इन कोर्सेज की अवधि 2 – 4 साल है जैसेकि:

  • एमफिल – फ़ूड टेक्नोलॉजी
  • एमफिल – फ़ूड साइंस
  • पीएचडी – फ़ूड साइंस/ फ़ूड टेक्नोलॉजी के विभिन्न विषय और टॉपिक्स

भारत में फ़ूड टेक्नोलॉजी की फील्ड में ये हैं कुछ स्पेशलाइजेशन्स

हमारे देश में फ़ूड टेक्नोलॉजी की फील्ड में स्टूडेंट्स विभिन्न यूनिवर्सिटीज़ और एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स से निम्नलिखित स्पेशलाइजेशन कोर्सेज कर सकते हैं:

  • डेरी प्रोडक्ट्स
  • शुगर
  • बेकरी एंड कन्फेक्शनरी आइटम्स
  • फ्रूट्स एंड वेजिटेबल्स
  • ऑयल एंड ऑयल सीड प्रोसेसिंग
  • सीरियल्स/ मीट/ फिश

भारत में फ़ूड टेक्नोलॉजी से संबंधित विभिन्न कोर्सेज करवाने वाले प्रमुख एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स:

हमारे देश में निम्नलिखित यूनिवर्सिटीज़ और एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स फ़ूड टेक्नोलॉजी से संबंधित विभिन्न कोर्सेज करवाते हैं:

  • गुरु नानकदेव यूनिवर्सिटी, अमृतसर, पंजाब
  • गुरु जम्बेश्वर यूनिवर्सिटी, हरियाणा
  • एमिटी इंस्टीट्यूट ऑफ़ फ़ूड टेक्नोलॉजी, नॉएडा, उत्तर प्रदेश
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी, दिल्ली
  • इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी, दिल्ली
  • कालीकट यूनिवर्सिटी, केरल
  • सेंट्रल फ़ूड टेक्नोलॉजी रिसर्च इंस्टीट्यूट, मैसूर
  • बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, रांची, बिहार
  • मुंबई यूनिवर्सिटी, मुंबई, महाराष्ट्र
  • कलकत्ता यूनिवर्सिटी, कलकत्ता, पश्चिम बंगाल

भारत में फ़ूड टेक्नोलॉजिस्ट्स के लिए टॉप रिक्रूटिंग यूनिट्स

हमारे देश में ये प्रोफेशनल्स निम्नलिखित एम्पलॉयमेंट यूनिट्स में जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं:

  • फ़ूड स्टोरेज यूनिट्स
  • क्वालिटी अश्योरेंस यूनिट्स
  • फ़ूड प्रोसेसिंग यूनिट्स
  • फ़ूड एंड बेवरेज यूनिट्स
  • फ़ूड मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स
  • रिसर्च यूनिट्स
  • फ़ूड बिजनेस मैनेजमेंट यूनिट्स
  • फ़ूड मार्केटिंग यूनिट्स
  • फार्मा – बायोटेक
  • एग्रो – बायोटेक
  • डेरी/ पोल्ट्री फर्म्स
  • बेकरीज़ एंड कन्फेक्शनरीज़
  • फ़ूड पैकेजिंग एंड लेबलिंग यूनिट्स
  • हेल्थकेयर – न्यूट्रीशन एंड रिसर्च

........और ये हैं हमारे देश की टॉप रिक्रूटिंग कंपनियां:

  • नेस्ले इंडिया
  • नेस्ले इंडिया प्राइवेट लिमिटेड
  • कैडबरी इनिदा
  • गोदरेज इंडस्ट्रियल लिमिटेड
  • अमूल डाबर इंडिया लिमिटेड
  • ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज लिमिटेड
  • पेप्सिको इंडिया होल्डिंग्स
  • ITC लिमिटेड
  • मिल्क फ़ूड
  • हिंदुस्तान लीवर लिमिटेड
  • पारले प्रोडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड
  • एग्रो टेक फूड्स

भारत में फ़ूड टेक्नोलॉजी की फील्ड से जुड़े हैं ये प्रमुख करियर ऑप्शन्स/ जॉब प्रोफाइल्स

हमारे देश में सदियों से खान-पान को लेकर काफी विविधता देखने को मिलती है. वैसे तो खाना बनाने का काम सदियों से रसोइये या मॉडर्न इंडिया में शेफ करते आये हैं लेकिन जब हमने फ़ूड और टेक्नोलॉजी को कंबाइन कर दिया तो फ़ूड टेक्नोलॉजी की फील्ड में फ़ूड टेक्नोलॉजिस्ट और सीनियर फ़ूड टेक्नोलॉजिस्ट के करियर ऑप्शन के अलावा भी इस फील्ड से जुड़े कुछ प्रमुख करियर ऑप्शन्स या जॉब प्रोफाइल्स को शामिल कर लिया गया है जैसेकि, बायोकेमिस्ट, ऑर्गेनिक केमिस्ट, एनालिटिकल केमिस्ट, फ़ूड केमिस्ट, क्वालिटी मेनेजर, न्यूट्रीशनल थेरेपिस्ट, शेफ, टेक्निकल ब्रेवर, रेगुलेटरी अफेयर्स ऑफिसर, प्रोडक्ट/ प्रोसेस डेवलपमेंट साइंटिस्ट, फ़ूड ब्लॉगर, फ़ूड प्रोसेसिंग स्पेशलिस्ट, डायटीशियन, डाइट एंड फिटनेस कंसलटेंट, एनिमल न्यूट्रीशनिस्ट और रिसर्च साइंटिस्ट.  

हॉस्पिटैलिटी की फील्ड में करियर: खास क्वालिटीज़ और विकास के अवसर     

भारत में फ़ूड टेक्नोलॉजिस्ट्स को मिलता है यह सैलरी पैकेज

हमारे देश में फ़ूड टेक्नोलॉजी की फील्ड में शुरू में इन पेशेवरों को एवरेज 03 लाख रुपये सालाना का सैलरी पैकेज मिलता है. सीनियर लेवल पर ये पेशेवर एवरेज 06-07 लाख रुपये सालाना का सैलरी पैकेज मिलता है.    

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

 

Related Stories