Search

क्लाउड कंप्यूटिंग : करियर, सैलरी पैकेज और टॉप प्रोग्राम्स

आने वाले दिनों में क्लाउड कंप्यूटिंग के क्षेत्र में आइटी आर्किटेक्ट,क्लाउड सॉफ्टवेयर,सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट, टेक्निकल कंसल्टेंट जैसी नौकरियों की भरमार हो सकती है l

Jan 24, 2017 17:09 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

cloud computing आज हम जिस दौर में रह रहे हैं, वो पूरी तरह से कंप्यूटर और टेक्नोलॉजी का दौर है l हर दिन नए नए अविष्कार होते रहते है | ज़यादा अविष्कार विज्ञान और टेक्नोलॉजी में होते है , ये अलग बात है की इनको बहुत सारी कतेगोरिएस में बांटा गया है| कुश इसीतरह की टेक्नोलॉजी के बारे में हम यहाँ बात करने वाले है|

आइटी फील्ड से रिलेटेड क्लाउड कंप्यूटिंग क्षेत्र का भारत में तेजी से विस्तार हो रहा है l जिनोव के रिपोर्ट के मुताबिक, वर्ष 2020 तक भारत क्लाउड कंप्यूटिंग के क्षेत्र में 10 बिलियन डॉलर खर्च करेगा l रिपोर्ट के मुताबिक,अमेरिका से बाहर, भारत क्लाउड कंप्यूटिंग का एक बड़ा बाजार है l यहां बेंगलुरु क्लाउड कंप्यूटिंग से सम्बंधित जॉब के लिए हॉट डेस्टिनेशन है l दरअसल, टेक्नोलॉजी ने कंप्यूटर का ज्यादातर काम ऑनलाइन कर दिया हैl क्लाउड कंप्यूटिंग से बिना बड़ा सेटअप लगाए ही कंप्यूटर से सम्बंधित बड़े काम आसानी से किये जा सकते हैं l इसके आलावा, आजकल क्रॉस प्लेटफॉर्म भी चलन में है यानी एक ही काम मोबाइल,टैबलेट और कंप्यूटर तीनों पर किया जा सकता है l ये सब क्लाउड कंप्यूटिंग की वजह से ही संभव है l इसलिए इसे भविष्य की टेक्नोलॉजी भी कहा जाता है l आने वाले दिनों में क्लाउड कंप्यूटिंग के क्षेत्र में आइटी आर्किटेक्ट,क्लाउड सॉफ्टवेयर,सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट, टेक्निकल कंसल्टेंट जैसी नौकरियों की भरमार हो सकती है l

क्या है क्लाउड कंप्यूटिंग:

क्लाउड एक तरह का नेटवर्क है l कंपनियां अपना डाटा स्टोर करने के लिए क्लाउड रेंट पर लेती हैं l इन्हीं क्लाउड को मैनेज करना क्लाउड कंप्यूटिंग में आता है l क्लाउड कंप्यूटिंग अपनी जरुरत के अनुसार सर्विस देने वाली कंपनी के कंप्यूटिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर का उपयोग कर सकता है l एक तरह से कंप्यूटर में बिना कोई एक्स्ट्रा हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर डाले अपनी जरुरत के मुताबिक अच्छे और महंगें इन्फ्रास्ट्रक्चर का उपयोग किया जा सकता है l बस, इसके लिए महीने में एक बार आपसे चार्ज लिया जाता है l गूगल,आईबीएम, माइक्रोसॉफ्ट कुछ प्रमुख क्लाउड कंप्यूटिंग सर्विस से जुड़े बड़े प्रोवाइडर्स हैं l

किसकी होती है डिमांड

क्लाउड कंप्यूटिंग के क्षेत्र में बीटेक (कंप्यूटर साइंस या फिर आइटी) पेशेवर की ज्यादा डिमांड होती है l अगर आपके पास बीसीए की डिग्री है,तो इस फील्ड में करियर बनाने के लिए सर्टिफिकेशन कोर्स करना पड़ेगा l आमतौर पर अब देखा गया है कि आइटी फील्ड में एप्लिकेशन क्रिएट करने के लिए फ्रेमवर्क्स डॉट नेट और प्रोग्रामिंग लैंग्वेज,जैसे जावा का इस्तेमाल होता है,लेकिन क्लाउड एप्लिकेशन को लिखने के लिए नए फ्रेमवर्क्स, जैसे –स्प्रिन्गसोर्स,रूबी आदि की जरुरत होती है l जो लोग आइटी फील्ड में पहले से ही जॉब कर रहें हैं, तो इस फील्ड में सर्टिफिकेट कोर्स करके आगे बढ़ सकते हैं l आम तौर पर सर्टिफिकेशन कोर्स दो माह से एक साल तक का होता है l इस फील्ड में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज, जैसे जावा,सी,सी++, पायथन,जावा स्क्रिप्ट,पीएचपी तथा एचटीएमएल में ट्रेंड लोगों को जॉब मिलने में आसानी होती है l

जॉब प्रोफाइल

क्लाउड कंप्यूटिंग की शुरुआत तकरीबन वर्ष 2005 में हुई थी l इस फील्ड में आपका जॉब प्रोफाइल कुछ इस तरह का हो सकता है –

क्लाउड स्पेशलिस्ट

इस फील्ड में  क्लाउड स्पेशलिस्ट के तौर पर करियर बना सकते हैं l अगर आपके पास स्पेसिफिक क्लाउड कंप्यूटिंग (सर्टिफिकेशन) स्किल जैसे – आमेजन वेब सर्विसेज (एडब्ल्यूएस) या फिर गूगल ऐप इंजन डेवलपमेंट स्किल है,तो आप उन कंपनियों में जॉब पा सकते हैं, जो यह क्लाउड सर्विस प्रोवाइड करती हैं l यहां कॉन्फ़िगरेशन,डेवलपमेंट और ऑपरेशंस से जुड़े कार्य करने होते हैं l

क्लाउड आर्किटेक्चर

क्लाउड कंप्यूटिंग के क्षेत्र में क्लाउड आर्किटेक्चर से जुड़े पेशेवर के लिए खूब मौके सामने आने लगे हैं l ऑर्गेनाइजेशन में क्लाउड आर्किटेक्चर या नेटवर्क इंजीनियर के तौर पर कार्य कर सकते हैं l यहां आम तौर पर नेटवर्क डिजाइन और डेवलपमेंट से जुड़े कार्य करने होते हैं l साथ ही, क्लाउड सॉल्यूशन की सिक्योरिटी की जिम्मेदारी भी होती है l

इंटरप्राइज क्लाउड आर्किटेक्ट

अगर आप इंटरप्राइज क्लाउड आर्किटेक्ट के तौर पर करियर बनाना चाहते हैं,तो स्पेसिफिक क्लाउड स्किल के साथ क्लाउड आर्किटेक्ट की जानकारी जरुरी है l यहां डिजाइन और एप्लिकेशन फ्रेमवर्क्स को मैनेज करने के साथ साथ ऑपरेशंस से जुड़े कार्य भी करने होंगे l यहां डेवलपर्स और आर्किटेक्ट के रूप में न केवल आपको आइटी एसेट्स को डेवलप करना होता है, बल्कि आइटी एसेट्स के आर्किटेक्ट और मेंटिनेंस की जिम्मेदारी भी होती है l

इंटीग्रेशन स्पेशलिस्ट

क्लाउड कंप्यूटिंग के क्षेत्र में इंटीग्रेशन स्पेशलिस्ट का काम डेवलपमेंट और मेंटिनेंस से जुड़ा होता है l इसके अलावा ऑर्गेनाइजेशन की प्रोडक्टिविटी को आगे ले जाने की जिम्मेदारी होती है l

क्लाउड मार्केटिंग मैनेजर

जो मार्केटिंग और सेल्स में करियर बनाना चाहते हैं, वे क्लाउड कंप्यूटिंग हाउस में जॉब की तलाश कर सकते हैं, यहां उन लोगों के लिए अच्छा मौका है,जिनके पास एमबीए की डिग्री होती है l

टॉप 8 सूत्र जो चढ़ाएंगे आपको सफलता की सीढ़ी

जॉब संभावनाएं 

आइटी के क्षेत्र में भर्ती करने वाली फर्म मैनपावरग्रुप इंडिया के आउटलुक सर्वे के अनुसार,मार्च 2017 तक आइटी सेक्टर में नई भर्तियों की बेहतर संभावनाएं हैं l सबसे ज्यादा भर्तियां दक्षिणी क्षेत्र में होने की उम्मीद है l इस क्षेत्र में एम्प्लॉयमेंट  आउटलुक 34 फीसदी है,जबकि पश्चिमी क्षेत्र में यह संभावना 20 फीसदी है l मैनपावरग्रुप इंडिया के मुताबिक,आइटी सेक्टर में नए एम्प्लॉयमेंट की काफी संभावनाएं हैं l चूंकि डाटा स्टोर करने वाली कम्पनियों में बड़े पैमाने पर क्लाउड कंप्यूटिंग जानने वाले एक्सपर्ट्स की डिमांड है l

ऐप्पल,गूगल,माइक्रोसॉफ्ट और आमेजन जैसी कंपनियां एक्सपर्ट को रिक्रूट कर रही हैं l इस बढ़ते जॉब मार्केट में कंपनियों को फिलहाल पर्याप्त संख्या में स्किल्ड लोग नहीं मिल रहे हैं l अभी कंपनियों को क्लाउड से जुड़े स्पेशलिस्ट को आउटसोर्स करना पड़ रहा है या फिर उन्हें खुद ही ट्रेनिंग देनी पड़ रही है l एक स्टडी के मुताबिक,आइटी,आइटीईएस,टेलीकॉम,बैंकिंग व फाइनेंस इंस्टीट्यूटस आदि प्रमुख उपभोक्ता होंगे l 

सैलरी पैकेज - क्लाउड कंप्यूटिंग के क्षेत्र में सैलरी बहुत अच्छी है l यहां एंट्री लेवल पर ही आपकी सैलरी 3-4 लाख रुपये सालाना ह सकती है l अगर आपके पास 5-6 वर्ष का वर्क एक्सपीरियंस है,तो सैलरी 15-20 लाख रुपये सालाना हो सकती है l इस फील्ड में मिड-लेवल एग्जीक्यूटिव की सैलरी करीब 20 लाख रुपये सालाना होती है l

क्लाउड कंप्यूटिंग से जुड़े टॉप प्रोग्राम्स

  • आइबीएम सर्टिफाइड सॉल्यूशन एडवाइजर
  • क्लाउड कंप्यूटिंग आर्किटेक्चर
  • आइबीएम सर्टिफाइड सॉल्यूशन आर्किटेक्ट
  • क्लाउड कंप्यूटिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर
  • माइक्रोसॉफ्ट लर्निंग
  • गूगल ऐप्स सर्टिफाइड डिप्लॉयमेंट स्पेशलिस्ट
  • वीएमवेयर सर्टिफाइड प्रोफेशनल्स (वीसीपी)
  • सर्टिफाइड क्लाउड प्रोफेशनल्स (सीसीपी)

5 Qualities that every 20-year old looking for a job should have!

Top 5 reasons why companies are not hiring you

 

Related Stories