Search

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 के लिए करंट अफेयर्स: 3 जुलाई 2017

IAS की तैयारी के दौरान करंट अफेयर्स प्रश्नोत्तरी का अध्ययन करना के जरूरी हो गया है क्योंकि IAS परीक्षा के हर चरण में इसका महत्व बढ़ गया है। यहां हमने जून के आखिरी हफ्ते के दौरान हुई घटनाओं और जुलाई 2017 के महीने की शुरुआत के आधार पर करंट अफेयर्स की प्रश्नोत्तरी उपलब्ध कराई है जो कि IAS परीक्षा के लिए बहुत महत्वपुर्ण है।

 

Jul 3, 2017 18:03 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

Current Affairs Quiz 17 May

करंट अफेयर्स IAS परिक्षा का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुका है और इसे दैनिक आधार पर कवर किया जाना चाहिए। IAS प्रीलिम्स परीक्षा की तैयारी के लिए वर्तमान मामलों की क्विज़ का अभ्यास बहुत महत्वपूर्ण है और आईएएस उम्मीदवारों के लिए यह आत्मविश्वास बढ़ाने में मदद करता है। यहां, इस लेख में, हमने IAS प्रीलिम्स परीक्षा की तैयारी के लिए मौजूदा मामलों की एक सेट प्रदान की है जो काफी महत्वपूर्ण है।

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 के लिए करंट अफेयर्स: 30 जून 2017

1. कृषि यंत्रीकरण उपमिशन (एसएमएएम) हाल ही में सुर्खियों में था। कृषि यंत्रीकरण उपमिशन के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:
I. कृषि यंत्रीकरण उपमिशन (एसएमएएम) के उद्देश्यों में से एक उद्देश्य यह है कि छोटे और सीमांत किसानों और खेतों में जहां कृषि शक्ति की उपलब्धता कम है उन्हें कृषि यंत्रीकरण की माध्यम से उनकी पहुंच को बढ़ाना।
II. छोटे भूखंडों और व्यक्तिगत स्वामित्व की उच्च लागत के कारण उत्पन्न होने वाले पैमाने के प्रतिकूल अर्थव्यवस्थाओं को ऑफसेट करने के लिए 'कस्टम भर्ती केंद्रों' को बढ़ावा देना।
III. उच्च तकनीक और उच्च मूल्य वाले खेतों के उपकरण के लिए केंद्र बनाना।

निम्न में से कौन सा कथन सही है।
a. केवल I
b. I और II
c. II और III
d. उपरोक्त सभी

उत्तर : d

स्पष्टीकरण:

कृषि यंत्रीकरण उपमिशन (एसएमएएम) पर उप मिशन 2014-15 को कृषि विस्तार और प्रौद्योगिकी पर राष्ट्रीय मिशन के तहत लागू किया गया था।

मिशन के उद्देश्यों निम्नानुसार हैं:

(i) खेत मेकेनाइजेशन की पहुंच में छोटे और सीमांत किसानों और उन क्षेत्रों में जहां कृषि शक्ति की उपलब्धता कम है;

(ii) छोटे भूखंडों और व्यक्तिगत स्वामित्व की उच्च लागत के कारण उत्पन्न होने वाले पैमाने की प्रतिकूल अर्थव्यवस्थाओं को ऑफसेट करने के लिए 'कस्टम भर्ती केंद्रों' को बढ़ावा देना;

(iii) उच्च तकनीक और उच्च मूल्य वाली कृषि उपकरणों के लिए केंद्र बनाना;

(iv) हितधारकों के प्रदर्शन और क्षमता निर्माण गतिविधियों के माध्यम से जागरूकता पैदा करना;

(v) पूरे देश में स्थित निर्दिष्ट परीक्षण केंद्रों पर प्रदर्शन परीक्षण और प्रमाणीकरण सुनिश्चित करना।
IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 के लिए करंट अफेयर्स: 29 जून 2017

2. हाल ही में भारत ने नारकोटिक ड्रग्स, साइकोट्रोपिक पदार्थों, उनके प्रीकर्सर्स और केमिकल्स और नशीली दवाओं के दुरुपयोग को नियंत्रित करने में सहयोग पर समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर निम्नलिखित में से किस देश के साथ किए हैं?
a. अमेरीका
b. थाईलैंड
c. पोलैंड
d. म्यांमार

उत्तर : b

स्पष्टीकरण:

भारत और थाईलैंड के बीच समझौता ज्ञापन (एमओयू) राज्य राज्य मंत्री हंसराज गंगाराम अहिर और थाईलैंड के न्याय मंत्री सवोपनन तनुवर्धन की उपस्थिति में हस्ताक्षर गृह नारकोटिक ड्रग्स, साइकोट्रोपिक पदार्थों के नियंत्रण में सहयोग पर किए गए थे और आज यहां उनके प्रीकर्सर्स और केमिकल्स एंड ड्रग एब्यूज से संबंधित समझौता ज्ञापन एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए।

समझौता ज्ञापन भारत और थाईलैंड के बीच मादक दवाओं और मनोवैज्ञानिक पदार्थों के नियमन और नशीली दवाओं के तस्करी से जूझने के बीच आपसी सहयोग को बढ़ाएगा। यह नए रुझानों नशीली दवाओं के अपराध और मादक पदार्थों के तस्करों की कार्यप्रणाली के बारे में जानकारी के आदान-प्रदान की सुविधा प्रदान करेगा, तस्कर/संदिग्धों की सूची में आपरेशन में बांटने, आपूर्ति के क्षेत्र में सर्वोत्तम प्रथाओं को बांटने और जांच में कमी और सहायता में आपसी सहायता और सहयोग प्रदान करने में सहायता करेगा।

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 के लिए करंट अफेयर्स: 27 जून 2017

3. वस्तुस और सेवा कर (जीएसटी) एक ऐतिहासिक कर सुधार 1 जुलाई 2017 को लागू हुआ। जीएसटी के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:
I. जीएसटी देश में परोक्ष कराधान परिदृश्यक को पूरी तरह बदल देगा, जिसमें केन्द्र1 और राज्यी दोनों के कर शामिल है।
II. जीएसटी स्व तंत्रता के बाद सबसे बडा कर सुधार है और यह एक राष्ट्र  - एक कर – एक बाजार का लक्ष्य  हासिल करने का मार्ग प्रशस्तक करेगा।
III. जीएसटी व्य वस्थान के अंतर्गत, निर्यात पर कर की दर शून्य् हो जाएगी, जो वर्तमान प्रणाली से एक दम भिन्न  होगी, चूंकि वर्तमान में कुछ करों का रिफंड इसलिए नहीं हो पाता है क्यों कि परोक्ष करों का स्वूरूप केन्द्र  और राज्योंल के बीच विखंडित है।

निम्न में से कौन सा कथन सही है।
a. केवल I
b. I और II
c. II और III
d. उपरोक्त सभी

उत्तर : d

स्पष्टीकरण:

जीएसटी स्वरतंत्रता के बाद सबसे बडा कर सुधार है। यह एक राष्ट्रु - एक कर – एक बाजार का लक्ष्यव हासिल करने का मार्ग प्रशस्तु करेगा। जीएसटी से सभी पक्षों को लाभ पहुंचेगा, जैसे उधोग, सरकार और उपभोक्ताा।  इससे वस्तुरओं और सेवाओं की लागत में कमी आएगी, अर्थव्य्वस्थाऔ मजबूत होगी और उत्पावद एवं सेवाओं को वैश्विक रूप में प्रतिस्प र्धात्मवक बनाया जा सकेगा और ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम को मुख्यं रूप से बल मिलेगा। जीएसटी व्य वस्था् के अंतर्गत, निर्यात पर कर की दर शून्यक हो जाएगी, जो वर्तमान प्रणाली से एक दम भिन्न् होगी, चूंकि वर्तमान में कुछ करों का रिफंड इसलिए नहीं हो पाता है क्यों कि परोक्ष करों का स्वीरूप केन्द्र  और राज्यों  के बीच विखंडित है। जीएसटी भारत को एक साझा बाजार बनाएगा, जिसमें करों की दरें और प्रक्रियाएं एक समान होंगी तथा आर्थिक अडचनें समाप्तए हो जाएंगी। जीएसटी अधिकतर प्रौद्धोगिकी संचालित होगा और इससे मानव सम्पडर्क बहुत कम होगा। जीएसटी से भारत में व्या्पार करने की प्रक्रिया आसान होने की संभावनाएं है। वस्तुाओं की अधिसंख्ये आपूर्तियों  में जीएसटी परिषद द्वारा अनुमोदित कर की दर वर्तमान में केन्द्रट और राज्योंय द्वारा संयुक्तए रूप से लगाए जाने वाले करों (जैसे केन्द्री य उत्पााद शुल्क  दरें/सन्निहित केन्द्री य उत्पातद शुल्कस दरें/क्लीायरेंस-परवर्ती सन्निहित सेवा कर, वैट दरें या भारित औसत वैट दरें, उत्पापद शुल्क पर वैट का प्रपाती प्रभाव, केन्द्री य बिक्री कर, चुंगी कर, प्रवेश कर आदि के कारण लगने वाले टैक्सा) की दरों से काफी कम होगी।

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 के लिए करंट अफेयर्स: 23 जून 2017

4. हाल ही में, दीन दयाल अंत्योदय योजना- राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई-एनआरएलएम) का असर मूल्यांकन किया गया है। दीन दयाल अंत्योदय योजना- राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई-एनआरएलएम) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:
I. जून 2011 में शुरू की गई दीनदयाल अंत्योदय योजना- राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई-एनआरएलएम) का उद्देश्य देश में सभी ग्रामीण गरीब परिवारों को संगठित करना और अत्यधिक गरीबी की समस्या से बाहर आने तक लगातार उनका सहयोग करना है।
II. प्रत्येक ग्रामीण गरीब परिवार के कम से कम एक-एक महिला को स्व-सहायता समूह (एसएचजी) में कम से कम एक-एक सदस्य को संगठित करके और विभिन्न स्तरों पर एसएचजी को संघटन करके मिशन का उद्देश्य प्राप्त किया गया था।

निम्न से से कौन सा विकल्प सही है ?
a. केवल I
b. केवल II
c. I और II
d. न तो I और न ही II

उत्तर: c

स्पष्टीकरण:

जून 2011 में शुरू की गई दीनदयाल अंत्योदय योजना- राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई-एनआरएलएम) का उद्देश्य देश में सभी ग्रामीण गरीब परिवारों को संगठित करना और अत्यधिक गरीबी की समस्या से बाहर आने तक लगातार उनका सहयोग करना है। वर्तमान में सभी 29 राज्य और 5 केंद्र शासित प्रदेशों (नई दिल्ली और चंडीगढ़ को छोड़कर) ने अपने 556 जिलों के 3814 ब्लॉकों में इसे लागू किया हुआ है। उम्मीद है कि 2024-25 तक मिशन सभी ग्रामीण गरीब परिवारों (करीब 9 करोड़) को संगठित कर लेगा।

अब जब इस मिशन को लागू हुए पांच साल चुके हैं और इसे अच्छी सफलता और प्रगति भी हासिल की है तो इस बात को ध्यान में रखते हुए इसका मूल्यांकन किया गया है।

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 के लिए करंट अफेयर्स: 22 जून 2017

5. भारत के निम्न राष्ट्रीय उद्यानों में से कौन सा भारत के एस्ट्रुअन या नमक पानी मगरमच्छों की बड़ी संख्या के घर के रूप में माना जाता है?
a. भितरकनिका नेशनल पार्क
b. रणथंबोर नेशनल पार्क
c. अनमुड़ी शोला नेशनल पार्क
d. बाल्फाक्राम नेशनल पार्क

उत्तर: a

स्पष्टीकरण:

भितरकणिका को भारत के एस्ट्रूरेन या खारे पानी के मगरमच्छों का 70% हिस्सा माना जाता है जिसका संरक्षण चार दशक पहले 1975 में शुरू किया गया था। फिर जब भारत सरकार और संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम ने भितरकणिका में मगरमच्छ को बचाने पर ध्यान केंद्रित किया तब उस क्षेत्र में कम से कम तीन या चार घोंसले दिखाई दिए थे और खारे पानी के मगरमच्छों की आबादी का अनुमान 95 था, जिसमें 34 वयस्क शामिल थे और अब इनकी संख्या बढ़कर 1,682 हो गई है।

1977 से खारे पानी के मगरमच्छों के अंडे एकत्र किया गया है और युवा मगरमच्छ को खाड़ी और भितरकनिका के तटीय इलाकों में जारी किया गया है। एक दशक पहले, इस अभ्यास को बंद कर दिया गया था, जिससे मगरमच्छ उनके प्राकृतिक आवासों में बढ़ने की इजाजत दे सकते हैं।

भितरकणिका नेशनल पार्क एक ऐसी जगह है जहां ब्रह्मणी, बैतर्नी, धमरा और पथसाली नदियां बंगाल की खाड़ी से मिलती हैं। मैन्ग्रोव आर्टेलैंड और बड़ी संख्या में मैदा क्रीक घोंसले के लिए एस्ट्रुअन मगरमच्छ के लिए आदर्श परिस्थितियां प्रदान करते हैं। इसके अलावा, मगरमच्छ की घोंसले की जगहें उन जगहों पर स्थित हैं जहां ज्वार की लहरें अंडे को नहीं धो सकती हैं।

भीतरकनिका राष्ट्रीय उद्यान भारत में उड़ीसा के केंद्रपाड़ा जिले में स्थित एक राष्ट्रीय उद्यान है। इस उद्यान में भितरकनिका सदाबहार का 672 वर्ग किमी का क्षेत्र शामिल है, यह एक सदाबहार दलदल है जो कि ब्राह्मणी, बैतरनी और धामरा नदियों के मुहाने पर स्थित है। यह राष्ट्रीय पार्क, भितरकणिका वन्यजीव अभयारण्य से घिरा हुआ है। इसके पूर्व में गाहिरमथा बीच स्थित है और बंगाल की खाड़ी से वनस्पतियों को अलग करती है।

पार्क में खारे पानी के मगरमच्छों (क्रोकोडिलस पोरोसस), सफेद मगरमच्छ, भारतीय अजगर, एक प्रकार के कालेपक्षी और बानकरों की अधिकता है। गाहिरमथा और पास के अन्य समुद्र तटों के घोंसलो पर ओलिव रिडले समुद्री कछुए (लेपिडोचेलिस ओलिवासिया) हैं।

IAS Prelims 2017 Expected Cutoff and Paper Analysis in Hindi

Related Stories