]}
Search

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 के लिए करंट अफेयर्स: 5 जुलाई 2017

करंट अफेयर्स क्विज़ का अभ्यास करना IAS उम्मीदवारों के लिए एक अतिरिक्त ऊर्जा प्रदान करेगा। अभ्यास के लिए, यहां हमने IAS प्रीलिम्स परिक्षा 2018 के लिए करंट अफेयर्स क्विज़ उपलब्ध कर रहै हैं जो कि काफी उपयोगी होगी।

Jul 5, 2017 16:11 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

Current Affairs Quiz 17 May

करंट अफेयर्स IAS परिक्षा का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुका है और इसे दैनिक आधार पर कवर किया जाना चाहिए। IAS प्रीलिम्स परीक्षा की तैयारी के लिए वर्तमान मामलों की क्विज़ का अभ्यास बहुत महत्वपूर्ण है और IAS उम्मीदवारों के लिए यह आत्मविश्वास बढ़ाने में मदद करता है। यहां, इस लेख में, हमने IAS प्रीलिम्स परीक्षा 2018 की तैयारी के लिए मौजूदा मामलों की एक सेट प्रदान की है जो काफी महत्वपूर्ण है।

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 के लिए करंट अफेयर्स: 30 जून 2017

1. भारत सरकार ने राजस्थान के राजमार्गों पर सड़क सम्पर्क एवं परिवहन दक्षता बेहतर करने के लिए 220 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते निम्नलिखित में से किस अंतरराष्ट्रीय संगठनों के साथ हस्ताक्षर किए हैं?
a. विश्व बैंक
b. एशियाई विकास बैंक
c. ब्रिक्स बैंक
d. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष

उत्तर : b

स्पष्टीकरण:

एशियाई विकास बैंक (एडीबी) और भारत सरकार ने राजस्थान के राज्यस्तरीय राजमार्गों पर सड़क सम्पर्क (कनेक्टिविटी) और परिवहन दक्षता एवं सुरक्षा व्यवस्था बेहतर करने के लिए आज 220 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किए।
यह ऋण राशि इसी वर्ष मई महीने में एडीबी के बोर्ड द्वारा मंजूर किए गए 500 मिलियन डॉलर के राजस्थान राज्य राजमार्ग निवेश कार्यक्रम के तहत पहली किस्त है। इसके तहत करीब 2,000 किलोमीटर लंबे राज्य राजमार्गों एवं प्रमुख जिला सड़कों का उन्नयन दो लेन अथवा मध्यवर्ती-लेन मानकों के अनुरूप किया जाएगा, ताकि सड़क सुरक्षा की जरूरतें पूरी की जा सकें।

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 के लिए करंट अफेयर्स: 29 जून 2017

2. अभी हाल ही में भारत के किस संस्था ने हवा में अपनी रक्षा क्षमताओं में इजाफा करते हुए ओडिशा तट से दूर एक रक्षा प्रतिष्ठान से सतह से हवा में लंबी दूरी तक मार करने वाले मिसाइल (क्यूआरएसएएम) का सफल परीक्षण किया है?
a. डीआरडीओ (DRDO)
b. इसरो (ISRO)
c. भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र (BARC)
d. IGCAR

उत्तर : a

स्पष्टीकरण:

अभी हाल ही में चांदीपुर के एकीकृत परीक्षण केंद्र (आईटीआर) के प्रक्षेपण परिसर-3 से 3 जुलाई 2017 पूर्वाह्न 11.25 बजे के आसपास ट्रक में लगे कनस्तर लॉन्चर से सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल का परीक्षण किया गया। अत्याधुनिक मिसाइल की मारक क्षमता 20-30 किलोमीटर है और यह कई लक्ष्यों पर निशाना साधने में सक्षम है। इस मिसाइल को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) तथा अन्य प्रतिष्ठिानों ने मिलकर विकसित किया है।

मिसाइल के कनस्तर संस्करण के प्रदर्शन के आकलन के लिए इसका दूसरी बार परीक्षण किया गया। पहला परीक्षण चार जून को किया गया था।

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 के लिए करंट अफेयर्स: 27 जून 2017

3. जीएसएटी -7 (GSAT-7) रुक्मिणी के बारे में निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही है?
I. भारतीय रक्षा बलों के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा विकसित पहला सैन्य संचार उपग्रह रुक्मिणी था।
II. रुक्मिणी इसरो की सात चौथी पीढ़ी के उपग्रहों में से अंतिम है।
III. इस मल्टी-बैंड सैन्य संचार उपग्रह की सहायता से जो कि रुक्मिनी के नाम से भी जाना जाता है, भारतीय नौसेना लगभग नीले-पानी की क्षमताओं का विस्तार कर सकती है और अन्य विदेशी उपग्रहों पर निर्भरता को कम कर सकती है जो उसके जहाजों को इंटेल प्रदान करते हैं।

निम्न में से कौन सा कथन सही है।
a. केवल I
b. I और II
c. II और III
d. उपरोक्त सभी

उत्तर : d

स्पष्टीकरण:

जीसैट-7 (GSAT-7) या इनसैट-4एफ (INSAT-4F) भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन द्वारा विकसित एक बहु बैंड उपग्रह है। भारतीय नौसेना देश में निर्मित बहु बैंड संचार अंतरिक्ष यान की उपयोगकर्ता है। जो सितंबर 2013 से परिचालन में है। रक्षा विशेषज्ञों के अनुसार, उपग्रह भारतीय नौसेना को नयी क्षमताओं को हासिल करने के लिए सहायता करेगा। और विदेशी उपग्रह से जो संचार के लिए इस्तेमाल होते हैं उनसे मुक्ति दिलायेगा। इसका प्रक्षेपण 7 नवंबर 2013, 23:12:49 यु.टी.सी को गयाना अंतरिक्ष केंद्र, फ्रांस से हुआ था।

यह भारत का पहला सैन्य सेटेलाइट है। 2,625 किलोग्राम वजन का यह सैटेलाइट हिंद महासागर क्षेत्र में नजर रखने में नौसेना की मदद कर रहा है। यह एक मल्टी,-बैंड कम्युहनिकेशन-कम सर्विलान्स  सेटेलाइट है, जिसका 36,000 किमी की ऊंचाई से संचालन हो रहा है। इसके जरिए हिंद महासागर के विस्तृत जलक्षेत्र में 2000 किमी तक के दायरे में निगरानी करना भारतीय नौसेना के लिए काफी आसान हो गया है। रुक्मिणी सेटेलाइट जंगी बेड़ों, सबमरीन, समुद्री एयरक्राफ्ट की गतिविधियों का रियल टाइम अपडेट मुहैया कराता है। इस सेटेलाइट की जद में अरब सागर और बंगाल की खाड़ी दोनों ही हैं।

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 के लिए करंट अफेयर्स: 23 जून 2017

4. हाल ही में, आईसीएआर-मध्य समुद्री मत्स्य पालन अनुसंधान संस्थान के क्षेत्रीय केंद्र ने दुनिया में पहली बार भारतीय पोम्पानो के बड़े पैमाने पर बीज उत्पादन का उपक्रम किया है। भारतीय पोम्पानो के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:
I. भारतीय पोम्पांनो (ट्रेचिनोटस मुकाली) एक समुद्री मछली है, जो कि कारैंगिडे परिवार से संबंधित है जिसमें ओमेगा 3 और 6 फैटी एसिड होते हैं।
II. ऐसी प्रजातियों को भारत-पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र में वितरित किया जाता है और एशियाई महाद्वीप के 15 देशों में मौजूद है लेकिन भारत में यह पश्चिम और पूर्व दोनों तटों से रिपोर्ट किया गया है।
III. इसमें खण्ड और लैगूनों में छिटपुट घटनाएं सम्मलित हैं और वयस्क मछली चट्टानी क्षेत्रों के साथ उथले तटीय जलता पसंद करते हैं।

निम्न में से कौन सा कथन सही है।
a. केवल I
b. I और II
c. II और III
d. उपरोक्त सभी

उत्तर : d

स्पष्टीकरण:

आईसीएआर-केन्द्रीय समुद्री मत्स्य पालन अनुसंधान संस्थान के क्षेत्रीय केंद्र ने यहां दुनिया में पहली बार भारतीय पोम्पानो के बड़े पैमाने पर बीज उत्पादन का उपक्रम किया है।

भारतीय पोम्पानो (ट्रेचिनोटस मुकाली) एक समुद्री मछली है, जो कि कारैन्डीडे परिवार से संबंधित है। यह जंगली से लैंडिंग में कम है इसमें ओमेगा 3 और 6 फैटी एसिड शामिल हैं यह घरेलू बाजार में ₹ 200 से 300 रुपये प्रति किलोग्राम पर बेचा जाता है।
प्रजातियों को भारत-पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र में वितरित किया जाता है और एशियाई महाद्वीप के 15 देशों में मौजूद है। भारत में, यह पश्चिम और पूर्व दोनों तटों से रिपोर्ट किया गया है। इसमें खण्ड और लैगूनों में छिटपुट घटनाएं हैं और वयस्क मछली चट्टानी क्षेत्रों के साथ उथले तटीय जलता पसंद करते हैं।

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 के लिए करंट अफेयर्स: 22 जून 2017

5. हाल ही में, तिरुपति के एक मूल निवासी एंव 'लीड टेकनीशियन' ने कलाम उपग्रह को लॉन्च किया है। इस बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार करें:
I. तिरुपति के मूल निवासी यज्ञ साई चेन्नई स्थित 'अंतरिक्ष किडज इंडिया' से छह सदस्यीयटीम का हिस्सा था जिसने कलाम-सैट का डिजाइन किया है जो कि 22 जून 2017 को वालप्स, वर्जीनिया में नासा द्वारा लाँच किया गया है।
II. तिरुपति के मूल निवासी यज्ञ साई चेन्नई स्थित 'अंतरिक्ष किडज इंडिया' से छह सदस्यीय टीम का हिस्सा था जिसने कलाम-सैट का डिजाइन किया है 22 जून 2017 को श्रीहरिकोटा, बेंगलूर में इसरो द्वारा लाँच किया गया है।
III. बाहरी अंतरिक्ष में विकिरण को मापने के लिए उपग्रह में एक तापमान और आर्द्रता संवेदक, एक बैरोमेट्रिक प्रेशर सेंसर और 'नैनो गेगर-म्युलर काउंटर' होता है।

निम्न में से कौन सा कथन सही है।
a. केवल I
b. I और III
c. II और III
d. उपरोक्त सभी

उत्तर : b

स्पष्टीकरण:

के यज्ञ्न साईं की बचपन की महत्वाकांक्षा एक पायलट बनना था लेकिन उनके दृढ़ संकल्प ने उन्हें एक उपग्रह डिजाइन करने और बाहरी अंतरिक्ष में भेजने में काफी मदद की। तिरुपति मूल के यज्ञ्न साईं चेन्नई स्थित स्पेस किडज इंडिया की छह सदस्यीय टीम में से एक हैं जिन्होंने कलामसैट का डिजाइन किया है, 22 जून 2017 को वालप्स, वर्जीनिया में नासा द्वारा लॉन्च कर दिया गया है। हिंदुस्तान यूनिवर्सिटी में बी-टेक अंतिम वर्ष के छात्र, साई टीम में 'लीड टेक्नीशियन' थे और उन्होंने दुनिया का सबसे हल्का उपग्रह विकसित किया जो कि केवल 64 ग्राम वजन है और पहले 3 डी-मुद्रित उपग्रह भी कहा जाता है।

बाहरी अंतरिक्ष में विकिरण को मापने के लिए कलामसैट नामक उपग्रह में एक तापमान और आर्द्रता संवेदक, बैरोमेट्रिक प्रेशर सेंसर और 'नैनो गेगर-म्युलर काउंटर' जैसी तकनीक सामिल है। कालमसैट एक फेमटो श्रेणी के उपग्रह का नाम पूर्व राष्ट्रपति एपीजे के कलाम के नाम पर रखा गया है। अब्दुल कलाम दुनिया भर से प्राप्त 86,000 प्रविष्टियों में से एक थे और नासा के साथ साझेदारी में IDOODLE और Colorado Space Grand Consortium द्वारा आयोजित प्रतियोगिता के लिए भारत से एकमात्र प्रतियोगी थे। यह 3.8 सेमी घन उपग्रह है जो प्रबलित कार्बन फाइबर पॉलिमर से बना है। नासा रॉकेट द्वारा भेजे गए 70 क्यूब्स के बीच यह एकमात्र उपग्रह है जबकि अन्य प्रविष्टियां प्रायोगिक नमूनों का प्रयोग करती हैं।

IAS Prelims 2017 Expected Cutoff and Paper Analysis in Hindi

Related Stories