Search

इ-कंटेंट कोर्सवेयर: स्टूडेंट्स के लिए हैं यूजी सब्जेक्ट्स के इ-कंटेंट मोड्यूल्स 

अंडरग्रेजुएट स्टूडेंट्स के लिए यह अच्छी खबर है कि MHRD NME - ICT प्रोजेक्ट के तहत कंसोर्टियम फॉर एजुकेशनल कम्युनिकेशन ने UGC के तहत भारतीय कॉलेजों के सभी स्टूडेंट्स के लाभ के लिए इ-कोर्सवेयर कंटेंट के रूप में 87 UG विषयों की पेशकश की है.

Apr 13, 2020 19:48 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
E-Content Modules of UG Subjects for Students
E-Content Modules of UG Subjects for Students

आजकल देश-दुनिया में जीवन के सभी क्षेत्रों में साइंस और टेक्नोलॉजी का उपयोग हो रहा है और देश का एजुकेशन सेक्टर भी इससे अछूता नहीं है. मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD), भारत सरकार ने देश में एजुकेशन के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए कई प्रोजेक्ट्स शुरू किये हैं. इसी तरह, देश में इ-लर्निंग या ऑनलाइन लर्निंग को बढ़ावा दिया जा रहा है और नोवल कोरोना वायरस के इस लॉकडाउन के दौरान तो जैसे यह इ-लर्निंग या ऑनलाइन लर्निंग देश के विभिन्न स्कूल, कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज़ के लिए ‘संजीवनी बूटी’ ही बन गई है जिसके माध्यम से भारत में प्राइमरी स्कूल से लेकर पोस्ट ग्रेजुएशन लेवल तक की एजुकेशनल क्लासेज और कोर्स कंटेंट सभी स्टूडेंट्स को उपलब्ध करवाये जा रहे हैं. हम इस आर्टिकल में आपके लिए MHRD NME - ICT प्रोजेक्ट के तहत कंसोर्टियम फॉर एजुकेशनल कम्युनिकेशन द्वारा UGC के तहत भारतीय कॉलेजों के सभी स्टूडेंट्स के लिए इ-कोर्सवेयर कंटेंट के रूप में 87 UG विषयों के संबंध में उपयोगी जानकारी पेश कर रहे हैं. 

आखिर यह कंसोर्टियम फॉर एजुकेशनल कम्युनिकेशन क्या है?

कंसोर्टियम फॉर एजुकेशनल कम्युनिकेशन को अक्सर इसके संक्षिप्त रूप CEC के नाम से जाना जाता है और भारत के यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन के तहत अपना काम करता है. देश में टीवी और इनफॉर्मेशन कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी के समुचित प्रयोग से ह्गिहेर एजुकेशन को देश के कोने-कोने में रहने वाले सभी स्टूडेंट्स तक पहुँचाना ही इसका प्रमुख उद्देश्य है. आजकल 22 मीडिया सेंटर्स CEC के तहत देश में हायर एजुकेशन के प्रचार-प्रसार का कार्य कर रहे हैं.

इ-कंटेंट कोर्सवेयर   

यहां हम आपको यह विशेष जानकारी देना चाहते हैं कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार की योजना के अंतर्गत CEC ने राष्ट्रीय शिक्षा मिशन के तहत NME - ICT प्रोजेक्ट के तहत इ-कंटेंट तैयार करने की शुरुआत की है. CEC भारत में अंडरग्रेजुएट स्टूडेंट्स के लिए UGC के करिकुलम मॉडल के मुताबिक विभिन्न विषयों में इ-कंटेंट कोर्सवेयर तैयार किया है जिसके लिए इसके 22 मीडिया सेंटर्स ने अपना महत्त्वपूर्ण योगदान दिया है. यह डिजिटल एजुकेशनल कंटेंट कंप्यूटर नेटवर्क पर पूरी दुनिया में प्रसारित किया जा सकता है और यह किसी भी समय, कहीं से भी इंटरनेट के माध्यम से देखा जा सकता है.  ये इ-कंटेंट मोड्यूल्स प्रत्येक विषय के संपूर्ण कोर्सवेयर हैं जिनके तहत वीडियो में टॉपिक, कंटेंट ऑब्जेक्ट, पूरे चैप्टर्स, टेक्स्ट और असाइनमेंट के साथ रिफरेन्स और अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न भी शामिल होते हैं. आप इन कोर्स कंटेंट्स को अपने पास डाउनलोड भी कर सकते हैं. अब तक CEC ने 87 UG सब्जेक्ट्स के लिए लगभग 24,110 इ-कंटेंट मोड्यूल्स के साथ अपना विशेष इ-कंटेंट कोर्सवेयर तैयार कर लिया है. आप इसे CEC की आधिकारिक वेबसाइट पर देख सकते हैं. आपके लिए प्रमुख विवरण की एक विशेष लिस्ट नीचे दी जा रही है ताकि आप अपने अंडरग्रेजुएट कोर्स के मुताबिक इस इ-कंटेंट कोर्सवेयर से पूरा लाभ उठा सकें.  

ई-शोध सिंधु: कंसोर्टियम फॉर हायर एजुकेशन ई-रिसोर्सेज से करें ई-लर्निंग

इ-कंटेंट कोर्सवेयर: प्रमुख विषयों की सूची

आपके लिए प्रस्तुत इस इ-कंटेंट कोर्सवेयर में सभी सब्जेक्ट्स के इ-कंटेंट में ऑडियो-वीडियो लेक्चर, इ-बुक्स, एकेडमिक स्क्रिप्ट्स और क्विजेज़ शामिल हैं. आइये नीचे प्रस्तुत लिस्ट पर एक नजर डालें:

नेचुरल एंड एप्लाइड साइंसेज/ इंजीनियरिंग/ मेडिकल साइंसेज

  • बीएससी बॉटनी
  • बी.ए. (ऑनर्स.) गणित
  • बी.एससी. एप्लाइड फिजिकल एससी (कंप्यूटर साइंस)
  • बी.एससी. कंप्यूटर साइंस
  • बी.एससी. जूलॉजी
  • बी.एससी. रसायन विज्ञान
  • बी.एससी. (जनरल) गणितीय विज्ञान
  • बी.एससी. (ऑनर्स.) भौतिकी
  • बी.एससी. (ऑनर्स.) बायो-मेडिकल साइंस
  • बी.एससी. (ऑनर्स.) माइक्रोबायोलॉजी
  • बी.एससी. एप्लाइड फिजिकल साइंस (इलेक्ट्रॉनिक्स)
  • बी.एससी. एप्लाइड लाइफ साइंस (सेरीकल्चर)
  • बी.एससी. भूविज्ञान
  • बी.एससी. बायो-इंफॉर्मेटिक्स - (कोर पेपर)
  • बी.एससी. (ऑनर्स) पॉलिमर साइंस
  • बी.ए. वोकेशनल स्टडीज (पॉलिमर साइंस)
  • बी.ए.वोकेशनल स्टडीज (कंप्यूटर और नेटवर्किंग पेपर्स)
  • बी.एससी. (ऑनर्स) फूड टेक्नोलॉजी 3 साल
  • बी.एससी. कृषि-रसायन और कीट नियंत्रण
  • साइबर सुरक्षा / सूचना सुरक्षा
  • बी.एससी. एप्लाइड फिजिकल साइंसेज (औद्योगिक रसायन विज्ञान)
  • बी. एससी. जीवन विज्ञान 3 वर्ष
  • बी. फार्मेसी - 4 वर्ष
  • बी.एससी. (ऑनर्स.) सांख्यिकी
  • बी.ए. वोकेशनल स्टडीज प्लांट प्रोपेगेशन
  • बी.ए. वोकेशनल स्टडीज इंडस्ट्रियल मैनेजमेंट
  • बी.ए. वोकेशनल स्टडीज मेडिकल लैब और मॉलिक्यूलर डायग्नोस्टिक टेक्नोलॉजी
  • बी.ए. वोकेशनल स्टडी पैरामेडिकल एंड हेल्थ मैनेजमेंट
  • बी.एससी. (ऑनर्स) इलेक्ट्रॉनिक्स
  • बी.एससी. कृषि (4 वर्ष)
  • बी.ए. क्रिमिनोलॉजी - 3 वर्ष
  • बी.एससी. अनुप्रयुक्त भौतिक विज्ञान (पर्यावरण विज्ञान)
  • बी एससी. फोरेंसिक विज्ञान - 3 वर्ष
  • बी.एससी. (ऑनर्स) बायो-केमिस्ट्री - 3 वर्ष

स्वयं पोर्टल: भारत में फ्री ऑनलाइन कोर्सेज के लिए स्टूडेंट्स के लिए है बहुत खास

सोशल साइंस के विषय

  • बी.ए. (ऑनर्स) इतिहास
  • बी.ए. नृविज्ञान
  • बी.ए. मनोविज्ञान
  • बी.ए. समाजशास्त्र
  • बी.ए. भूगोल
  • बी.ए. (ऑनर्स) दर्शन - 3 वर्ष
  • पांडुलिपि (कोर पेपर)
  • बी.ए. जनसंख्या अध्ययन
  • बी.ए. (ऑनर्स) बिजनेस इकोनॉमिक्स 3 साल का कोर्स (कोर पेपर)
  • बी.ए. अर्थशास्त्र
  • बी.ए. (ऑनर्स) सोशल वर्क
  • बी.ए. लोक प्रशासन
  • बी.ए. (ऑनर्स) राजनीति विज्ञान
  • बी.ए. समाज कल्याण प्रशासन - 3 वर्ष
  • बी.ए. मानवाधिकार

आर्ट, कल्चर, भाषा और साहित्य के विषय

  • बी.ए. हिंदी साहित्य
  • बी.ए./ बी.एससी. हिंदी
  • बी.ए. अंग्रेजी साहित्य
  • बी.ए./ बी.एससी. सामान्य अंग्रेजी
  • बी.ए. प्रदर्शन कला
  • बीएफए पेंटिंग एप्लाइड आर्ट स्कल्पचर (कोर पेपर)
  • बैचलर ऑफ थिएटर आर्ट्स (कोर पेपर)
  • बी.ए. (ऑनर्स) संस्कृत (4 वर्ष)
  • बी.आर्क. (5 वर्ष)
  • बी.ए. वोकेशनल स्टडीज (इंटीरियर डिजाइन)
  • बी.ए. ललित कला
  • एपिग्राफी
  • बी.ए. (ऑनर्स) संगीत (रवींद्र संगीत) (अंग्रेजी उपशीर्षक के साथ प्राथमिक भाषा बंगाली)
  • बी.ए. फिल्म अध्ययन
  • बी.ए. (ऑनर्स) संगीत (कर्नाटकी संगीत) 3 वर्ष
  • बी.ए. (ऑनर्स) संगीत (हिंदुस्तानी शास्त्रीय)
  • विदेशी भाषा पाठ्यक्रम - जर्मन, स्पेनिश, फ्रेंच और रूसी
  • बी.ए. (ऑनर्स) उर्दू (3 वर्ष)

मैनेजमेंट और अन्य प्रोफेशनल कोर्सेज

  • बी.ए./ बी.एससी. पर्यावरण विज्ञान
  • बी.ए. व्यावसायिक अध्ययन (फोटोग्राफी)
  • बी.एड.
  • बी.ए. संचार और पत्रकारिता
  • बी.कॉम.
  • बी.ए. व्यवसाय प्रबंधन
  • बैचलर पुस्तकालय और सूचना विज्ञान - 1 वर्ष
  • बी.ए. मल्टीमीडिया संचार 
  • बीएससी एप्लाइड फिजिकल साइंस (एनवायरमेंटल साइंस)
  • बी.ए. पर्यटन
  • बी.ए. वोकेशनल स्टडीज (न्यूट्रिशन एंड हेल्थकेयर साइंस)
  • बी.ए. वोकेशनल स्टडीज (होटल मैनेजमेंट)
  • बी.ए. वोकेशनल स्टडीज (विज्ञापन पत्र)
  • बी.ए. वोकेशनल स्टडीज (वित्तीय लेखा पत्र)
  • बी.ए.शिक्षा
  • बी.ए. (ऑनर्स) हिंदी पत्रकारिता
  • बी.ए. बिजनेस स्टडीज
  • बी.ए. मार्केटिंग प्रबंधन और खुदरा व्यापार
  • बी.ए. बीमा प्रबंधन और विपणन - 3 वर्ष
  • बी.पी.एड - 4 साल
  • बी.ए. कार्यालय प्रशासन और सचिवीय अभ्यास
  • बी.ए.वोकेशनल स्टडीज - मास कम्युनिकेशन वीडियो प्रोडक्शन
  • बी.एड. (दृष्टिबाधितों के लिए विशेष शिक्षा - 2 वर्ष का कोर्स
  • बी. एली. एड. (प्रारंभिक शिक्षा) - 4 वर्ष
  • बी.ए. एलएलबी (5 वर्ष)
  • बीएससी (ऑनर्स) गृह विज्ञान (4 वर्ष)
  • बी.एड. (अंग्रेजी) (1 वर्ष)
  • बी.ए. मानव संसाधन प्रबंधन (व्यावसायिक)

भारत की नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी की लॉकडाउन में आपके लिए उपयोगिता

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Related Categories

Related Stories