1. Home
  2. |  
  3. ARTICLE
  4. |  
  5. एमबीए |  

कैट 2018 में हाई पर्सेंटाइल स्कोर करने के कुछ प्रभावी टिप्स

पिछले साल कैट एग्जाम में लागू किया गया मुख्य चुनौतीपूर्ण परिवर्तन है सेक्शनल टाइम लिमिट की शुरुआत. अब इस परीक्षा में सेक्शनल टाइम लिमिट को लागू कर दिया गया है. कुछ एमबीए उम्मीदवारों ने इस कदम का स्वागत किया है जबकि कुछ का कहना है कि इससे छात्रों को परेशानी होगी तथा  कैट एग्जाम के और अधिक कठिन होने की संभावना बढ़ेगी.

May 10, 2019 15:31 IST
Effective Time Management Tips for CAT 2019 Exam
Effective Time Management Tips for CAT 2019 Exam

पिछले साल कैट एग्जाम में लागू किया गया मुख्य चुनौतीपूर्ण परिवर्तन है सेक्शनल टाइम लिमिट की शुरुआत. अब इस परीक्षा में सेक्शनल टाइम लिमिट को लागू कर दिया गया है. कुछ एमबीए उम्मीदवारों ने इस कदम का स्वागत किया है जबकि कुछ का कहना है कि इससे छात्रों को परेशानी होगी तथा  कैट एग्जाम के और अधिक कठिन होने की संभावना बढ़ेगी.

कैट उमीदवारों को कैट एग्जाम 2018 में बैठने से पूर्व निम्नांकित बातों पर जरुर गौर कर लेना चाहिए -

1. कैट 2018 फॉर्मेट में तीन सेक्शन होंगे जिनमें प्रति सेक्शन 30 से 35 प्रश्न शामिल होंगे.

2. कैट 2018 में आने वाले प्रश्न पात्र में अभ्यर्थियों के पास अगले खंड में जाने से पहले किसी विशेष सेक्शन में लगभग 30 विषम प्रश्नों का उत्तर देने के लिए 60 मिनट मिलेंगे.

3. अगर हम इस परिदृश्य के बुनियादी गणित पर विचार करते हैं तो प्रत्येक उम्मीदवार को एक प्रश्न हल करने के लिए लगभग 2 मिनट का समय मिलेगा. वास्तव में यह छात्रों के लिए एक चुनौतीपूर्ण कार्य होगा तथा इससे कैट एग्जाम का कठिनाई का स्तर भी बढ़ सकता है.

4. आमतौर पर अनुभवी तथा पर्याप्त तैयारी करनेवाले छात्रों को भी प्रत्येक प्रश्न का उत्तर देने के लिए 3-4 मिनट की आवश्यकता होती है.

वस्तुतः सेक्शनल टाइम लिमिट एक लिमिटेशन की तरह लगता है लेकिन यह वास्तव में सभी एमबीए उम्मीदवारों के लिए एक छुपा हुआ वरदान है. कैट उम्मीदवारों द्वारा अपने आप को भविष्य के बिजनेस लीडर्स के रूप में दिखाने की दिशा में यह चुनौती मददगार साबित हो सकती है. इस लिए इस चुनौती का सामना सरलता पूर्वक करने के लिए निम्नांकित तथ्यों पर गौर करें -

प्रभावशाली टाइम मैनेजमेंट

टाइम लिमिट का फायदा उठाएं

यदि आप ऐसा सोच रहे हैं कि सेक्शनल टाइम लिमिट आप किस प्रश्न का उत्तर दे सकते हैं या उसका उत्तर कब दें आदि चुनने की आपकी स्वतंत्रता पर अनावश्यक प्रतिबन्ध लगा रहा है तो यह बिलकुल गलत है. पहले के फॉर्मेट में उम्मीदवार बिना किसी समय सीमा के एक सेक्शन से दूसरे सेक्शन में जाकर उसके प्रश्न को हल करने लगते थे. इस प्रोसेस में कई उम्मीदवार नये सेक्शन को समझने तथा उसके प्रश्नों को हल करने में ज्यादा समय लेकर अपना समय बरबाद कर देते थे. वास्तव में वे इतने समय में और अधिक प्रश्नों को हल कर सकते थे.

पिछले साल से कैट एग्जाम में सेक्शनल टाइम लिमिट को लागू करके एक तरह से अच्छा ही किया गया है तथा यह स्टूडेंट्स के हित में ही कार्य करेगा.

कैट 2018 का फॉर्मेट बहुत सिंपल और इजी है.

 

30+ प्रश्नों के जवाब देने के लिए एक घंटा. इसलिए इस पूरे एग्जाम को तीन घंटा में पूरा करना है यह सोचने की बजाय आप यह सोंचे कि हमें हर 3 सेक्शन को 1 घंटा में पूरा करना है.

 

कैट 2018 फॉर्मेट के संबंध में ध्यान रखने योग्य एक और महत्वपूर्ण बात है इसमें हल किये जाने वाले प्रश्नों की संख्या.

निगेटिव मार्किंग के कारण उम्मीदवारों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे सही उत्तरों पर अधिक ध्यान केंद्रित करें.

हल किए गए प्रश्नों की संख्या के बजाय यदि हम इसे इस तरह देखें तो आसानी होगी.

औसतन उम्मीदवार सिर्फ 20 प्रश्नों का सही उत्तर दे पाएंगे.इस बात को ध्यान में रखा जाय तो उम्मीदवार को प्रत्येक प्रश्न के लिए औसतन 3-4 मिनट का समय मिलेगा जो कि एक आदर्श समय है. यदि आप सेक्शनल टाइम लिमिट के अंतर्गत 1 घंटे में एक सेक्शन से 20 से 22 प्रश्नों का आसानी से जवाब देने में सक्षम हैं तो इस एग्जाम में आप 98 या 99 प्रतिशत स्कोर कर सकते हैं.

नन एमसीक्यू प्रश्न जिनके लिए निगेटिव मार्किंग नहीं होता, उन्हें हल करें

कैट 2018 के लिए अपना समय बेहतर तरीके से मैनेज करने का एक और तरीका है और यह है कि पहले उन प्रश्नों को हल करें जिनपर निगेटिव मार्किंग नहीं है.

कैट 2018 फॉर्मेट में प्रत्येक सेक्शन में एमसीक्यू और नन-एमसीक्यू दोनों तरह के प्रश्न पूछे जाते हैं.आम तौर पर नन-एमसीक्यू प्रश्न पर निगेटिव मार्किंग नहीं होता तथा कॉन्सेप्ट से परिचित होने के कारण उसका उत्तर देना अपेक्षाकृत आसान होता है. इसलिए इसे सुरक्षित माना जाता है.

उम्मीदवारों को सबसे पहले अपनी रुचि के विषयों या किसी अन्य आधार पर पूछे गए नन-एमसीक्यू प्रश्न को चुनना चाहिए जिन्हें आप पहले हल करने में सहज हैं. एक बार जब आप उसे पूरा कर लेते हैं तब एमसीक्यू प्रश्नों को हल करने की कोशिश कीजिये और उनमें से प्रत्येक के लिए एक समय सीमा निर्धारित करें. इसमें भी पहले आसान प्रश्नों को हल करें फिर मुश्किल प्रश्नों को

लम्बे समय तक बैठने का धैर्य

आम तौर पर, कैट उम्मीदवारों को शॉर्ट स्टडी सेशन में पढ़ने की आदत होती है.उनके कोचिंग प्रशिक्षकों समेत लगभग हर किसी के द्वारा इसकी सिफारिश की जाती है. यद्यपि यह अभ्यास तैयारी के शुरूआती चरण में तो लाभदायक है लेकिन कैट एग्जाम में इससे समस्या उत्पन्न होगी.

कैट उम्मीदवारों को लगातार तीन घंटे का प्रयोग कर अपना पूरा एग्जाम देना होगा. लेकिन अधिकांश कैट उम्मीदवार इसके अभ्यस्त नहीं होते हैं. वे अपने दिमाग पर कठिन से कठिन सवालों को हल करने के लिए जोर डालते हैं तथा उन्हें हल भी करते हैं. लेकिन ऐसे उम्मीदवारों के लिए कैट एग्जाम 2018 थोड़ा मुश्किल होगा और सफलता उतनी आसान नहीं होगी. इसका सबसे सरल समाधान है कि पिछले साल का क्वेश्चन पेपर लें तथा उसे सेक्शनल टाइम लिमिट के अन्दर 3 घंटे में पूरा करने की कोशिश करें.

Loading...

Register to get FREE updates

    All Fields Mandatory
  • (Ex:9123456789)
  • Please Select Your Interest
  • Please specify

  • ajax-loader
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

Loading...