]}
Search

नौकरी तलाश रहे हर एक 20 वर्षीय में ये 5 गुण जरूर होने चाहिए

इस लेख में हम उन खास पांच (5) गुणों के बारे में बात करेंगे जिनका हर उन 20 वर्षीय में होना ज़रूरी है जो अच्छी नौकरी की तलाश कर रहे है. यदि आप एक युवा कामकाजी पेशेवर भी हैं, तब भी, ये गुण आपको करिअर में आगे बढ़ने और प्रतिद्वंद्वियों को पीछे छोड़ने में मदद करेंगें.

Dec 27, 2016 12:42 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

बढ़ती बेरोजगारी दर और गलाकाट प्रतिस्पर्धा के साथ युवा छात्रों के लिए नौकरी हासिल करना बहुत मुश्किल काम होता जा रहा है. वास्तव में, सही अकादमिक डिग्रियों और वर्क प्रोफाइल होने के बावजूद कई छात्र इंटरव्यू प्रक्रिया के दौरान रिक्रूटर्स को प्रभावित नहीं कर पाते. यदि आप ऐसे ही दुर्भाग्यशालियों में से एक हैं, तो आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आप अकेले नहीं हैं. आजकल, नियोक्ता अकादमिक रिकॉर्ड और डिग्रियों के अलावा कई बातें हैं जो संभावित कर्मचारी में तलाशते हैं. कुछ ऐसे गुण होते हैं जो कुछ उम्मीदवारों को इंटरव्यू प्रक्रिया के दौरान दूसरों से अलग बनाते हैं. इस विषय पर कई सलाहकारों और उद्योग जगत के विशेषज्ञों से परामर्श करने के बाद हमने गुणों की सामान्य सूची तैयार की है जिसे नौकरी की तलाश कर रहे प्रत्येक 20 वर्षीय को अपने व्यक्तित्व के हिस्से के तौर पर विकसित करने की कोशिश करनी चाहिए. ये गुण आपको न सिर्फ इंटरव्यू पैनल को प्रभावित करने और नौकरी हासिल करने में मदद करेंगे बल्कि ये आपको आपके पेशेवर करिअर में आगे बढ़ने में भी मदद करेंगे.

1. नेतृत्व(Leadership):

leadership

हम बेहद प्रतिस्पर्धी दुनिया में रहते हैं जहां नेतृत्व करना कुछ ऐसा है जिसे अच्छे कर्मचारियों की प्राथमिक आवश्यक गुणवत्ता माना जाता है. आजकल नियोक्ता ऐसे लोगों की तलाश में होते हैं जो नेताओं जैसा काम कर सकें और संगठन के लक्ष्यों को पूरा करने वाली पेशेवरों की टीम का नेतृत्व कर सकें. बतौर कामकाजी पेशेवर आपमें नेतृत्व के गुण और अपने सहयोगियों को प्रेरित करने का गुण होना ही चाहिए. साथ ही आपकी टीम में बाधाओं को दूर करते हुए अच्छा प्रदर्शन करने की क्षमता भी होनी चाहिए.  लेकिन पेशेवर माहौल में, सिर्फ नेतृत्व करना ही काफी नहीं होगा क्योंकि आपको योजना भी बनानी होगी, उसकी कल्पना करनी होगी और अवधारणाओं को विकसित भी करना होगा. ऐसी परिस्थितियों में, अच्छा नेता बनने के लिए तुरंत फैसला करना और स्थिर मानसिक धैर्य की भी आवश्यकता होगी.

2. जिम्मेदारी(Responsibility):

जिम्मेदारी

Ira Singhal UPSC IAS Topper 2014 Rank 1

करिअर बनाने के क्रम में एक और बेहद महत्वपूर्ण गुणवत्ता जिसे आपको जरूर सीखना होगा, वह है गंभीरता से अपने काम की जिम्मेदारी लेना. एक नियोक्ता अपने उत्पाद या सेवा के लिए आपको काम पर रखता है और आप कितनी गंभीरता से अपनी जिम्मेदारियों को निभाते हैं और पूरा करते हैं, इस बात पर ही पूरी कंपनी की सफलता निर्भर करती है. आपको पेशेवर जिम्मेदारियों के तौर पर आपको सौंपी गई जिम्मेदारियों को पूरा करना होगा. वास्तव में, कई अध्ययनों से यह बात सामने आई है कि जिम्मेदारी लेने वाले कर्मचारियों और उनकी तरक्की की संभावनाओं के बीच सीधा संबंध है. इसलिए, यह गुण न सिर्फ एक नौकरी हासिल करने के लिए महत्वपूर्ण है बल्कि आगे चलकर शानदार करिअर बनाने के लिए भी जरूरी है.

 यूपी बोर्ड कक्षा 10 साल्व्ड पेपर्स

3.अनुशासन(Discipline):

 अनुशासन

सामान्यतया कहें तो, अनुशासन वह गुण है जिसका पालन करने के लिए हमें स्कूल के दिनों से ही कहा जाता रहा है. हालांकि यह चलन से बाहर हो चुके मुहावरे जैसा लग सकता है लेकिन यह सच है कि अनुशासन आपके पेशेवर सफलता को निर्धारित करने वाला अक्षम्य गुणवत्ता है. एक संगठन के कर्मचारी के तौर पर, यदि आप अपने पेशेवर महत्वाकांक्षाओं को पूरा करना चाहते हैं तो, देर से आने, बहाने बनाने और आम तौर पर आलसी बने रहने की आजादी नहीं होगी. आपके पेशेवर जीवन में, आपको न सिर्फ समय प्रबंधन एवं लक्ष्यों को पूरा करने बल्कि सामान्य आचरण में भी अनुशासन दिखाना होगा. समय पर ऑफिस पहुंचना हो या कार्यक्रमों की योजना बनाना या आपके प्रोजेक्ट्स की टाइमलाइन तय करना, अनुसासन आपके कामकाजी जीवन में आपको सही स्थान पर बनाए रखेगा.

4. संचार(Communication):

संचार

हम एक दूसरे से संबद्ध दुनिया में रहते हैं और यहां संचार सफलता की कुंजी है.अलग– अलग माध्यमों से तुरंत और स्पष्ट रूप से संवाद करने की क्षमता किसी भी उम्मीदवार के पेशेवर सफलता के लिए बेहद महत्वपूर्ण है. पेशेवर कामकाज हो या संगठन के तौर पर आपको मौखित और लिखित संचार कौशलों का प्रयोग करना होगा. यह ई–मेल, आधिकारिक चिट्ठियों, बैठकों, सम्मेलनों और कार्यशालाओं के रूप में हो सकता है. वास्तव में, जब आपके कामकाजी जीवन  बात आती है तो आपका संचार कौशल आपके कुल बॉडी लैंग्वेज के 80% हिस्से को प्रभावित करेगा. इसलिए, रोजगार के अवसरों की तलाश में जुटे प्रत्येक छात्र और युवा पेशेवरों को खुद में इन कौशलों को विकसित करने की जरूरत है.

How to identify your talent?

5. तकनीकी दक्षता(Technical Competency):

 तकनीकी दक्षता

हम जिस तकनीक की समझ रखने वाले विश्व में रहते हैं वहां अलग– अलग तकनीकों पर काम करने की जरूरत होती है. बीते दशक के प्रौद्योगिकी क्रांति का संगठनों के काम करने के तरीके पर बहुत प्रभाव पड़ा है. तकनीक और पेशेवर जीनव के इस एकीकरण के सीधे प्रभाव का अर्थ है कि बतौर कर्मचारी आपसे इस बात की उम्मीद की जाएगी कि अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करने के लिए आप इन तकनीकों का उपयोग करें और अपनाएं. इसलिए आपको नई तकनीकों को सीखना और अपनाना होगा. उदाहरण के लिए, MS Word सबसे आम टेक्स्ट एडिटर है जिसका उपयोग ज्यादातर संगठन डॉक्यूमेंट्स बनाने के लिए करते हैं. इसी तरह प्रेजेंटेशन बनाने के लिए PowerPoint और स्प्रेडशीट्स बनाने के लिए Excel का इस्तेमाल किया जाता है. ऐसी आम तकनीकों पर काम करना सीखना आपके रेज्यूमे में वैल्यू एड करेंगे और इंटरव्यू प्रक्रिया के दौरान आपको दूसरों से अलग बनाएंगे.
तो, यह अब आपके पास है. यदि आप एक फ्रेशर (नवसिखुआ) हैं जो नौकरी की तलाश कर रहा है या आने वाले समय में नौकरी की तलाश करेगा, तो, आपको अपने व्यक्तित्व में इन गुणों को विकसित करने की कोशिश जरूर करनी चाहिए. यदि आप एक युवा कामकाजी पेशेवर भी हैं, तब भी, ये गुण आपको करिअर में आगे बढ़ने और प्रतिद्वंद्वियों को पीछे छोड़ने में मदद करेंगें.

यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा उपर सूचिबद्ध किए गए गुणों के अलावा भी कुछ ऐसे गुण हैं जो छात्रों और फ्रेशर्स को नौकरी हासिल करने में मदद कर सकते हैं, तो नीचे दिए गए कमेंट्स सेक्शन में उसका उल्लेख करें. हम बेहद प्रतिस्पर्धी दुनिया में रहते हैं जहां नेतृत्व करना कुछ ऐसा है जिसे अच्छे कर्मचारियों की प्राथमिक आवश्यक गुणवत्ता माना जाता है. आजकल नियोक्ता ऐसे लोगों की तलाश में होते हैं जो नेताओं जैसा काम कर सकें और संगठन के लक्ष्यों को पूरा करने वाली पेशेवरों की टीम का नेतृत्व कर सकें. बतौर कामकाजी पेशेवर आपमें नेतृत्व के गुण और अपने सहयोगियों को प्रेरित करने का गुण होना ही चाहिए. साथ ही आपकी टीम में बाधाओं को दूर करते हुए अच्छा प्रदर्शन करने की क्षमता भी होनी चाहिए, लेकिन पेशेवर माहौल में, सिर्फ नेतृत्व करना ही काफी नहीं होगा क्योंकि आपको योजना भी बनानी होगी, उसकी कल्पना करनी होगी और अवधारणाओं को विकसित भी करना होगा. ऐसी परिस्थितियों में, अच्छा नेता बनने के लिए तुरंत फैसला करना और स्थिर मानसिक धैर्य की भी आवश्यकता होगी.

जानिये शिक्षा एवं नौकरी के लिए उपयुक्त टॉप 7 शहर

Read this article in ENGLISH

  1. जिम्मेदारी

करिअर बनाने के क्रम में एक और बेहद महत्वपूर्ण गुणवत्ता जिसे आपको जरूर सीखना होगा, वह है गंभीरता से अपने काम की जिम्मेदारी लेना. एक नियोक्ता अपने उत्पाद या सेवा के लिए आपको काम पर रखता है और आप कितनी गंभीरता से अपनी जिम्मेदारियों को निभाते हैं और पूरा करते हैं, इस बात पर ही पूरी कंपनी की सफलता निर्भर करती है. आपको पेशेवर जिम्मेदारियों के तौर पर आपको सौंपी गई जिम्मेदारियों को पूरा करना होगा. वास्तव में, कई अध्ययनों से यह बात सामने आई है कि जिम्मेदारी लेने वाले कर्मचारियों और उनकी तरक्की की संभावनाओं के बीच सीधा संबंध है. इसलिए, यह गुण न सिर्फ एक नौकरी हासिल करने के लिए महत्वपूर्ण है बल्कि आगे चलकर शानदार करिअर बनाने के लिए भी जरूरी है.

  1. अनुशासन

सामान्यतया कहें तो, अनुशासन वह गुण है जिसका पालन करने के लिए हमें स्कूल के दिनों से ही कहा जाता रहा है. हालांकि यह चलन से बाहर हो चुके मुहावरे जैसा लग सकता है लेकिन यह सच है कि अनुशासन आपके पेशेवर सफलता को निर्धारित करने वाला अक्षम्य गुणवत्ता है. एक संगठन के कर्मचारी के तौर पर, यदि आप अपने पेशेवर महत्वाकांक्षाओं को पूरा करना चाहते हैं तो, देर से आने, बहाने बनाने और आम तौर पर आलसी बने रहने की आजादी नहीं होगी. आपके पेशेवर जीवन में, आपको न सिर्फ समय प्रबंधन एवं लक्ष्यों को पूरा करने बल्कि सामान्य आचरण में भी अनुशासन दिखाना होगा. समय पर ऑफिस पहुंचना हो या कार्यक्रमों की योजना बनाना या आपके प्रोजेक्ट्स की टाइमलाइन तय करना, अनुसासन आपके कामकाजी जीवन में आपको सही स्थान पर बनाए रखेगा.

  1. संचार

हम एक दूसरे से संबद्ध दुनिया में रहते हैं और यहां संचार सफलता की कुंजी है.अलग– अलग माध्यमों से तुरंत और स्पष्ट रूप से संवाद करने की क्षमता किसी भी उम्मीदवार के पेशेवर सफलता के लिए बेहद महत्वपूर्ण है. पेशेवर कामकाज हो या संगठन के तौर पर आपको मौखित और लिखित संचार कौशलों का प्रयोग करना होगा. यह ई–मेल, आधिकारिक चिट्ठियों, बैठकों, सम्मेलनों और कार्यशालाओं के रूप में हो सकता है. वास्तव में, जब आपके कामकाजी जीवन  बात आती है तो आपका संचार कौशल आपके कुल बॉडी लैंग्वेज के 80% हिस्से को प्रभावित करेगा. इसलिए, रोजगार के अवसरों की तलाश में जुटे प्रत्येक छात्र और युवा पेशेवरों को खुद में इन कौशलों को विकसित करने की जरूरत है.

  1. तकनीकी दक्षता

हम जिस तकनीक की समझ रखने वाले विश्व में रहते हैं वहां अलग– अलग तकनीकों पर काम करने की जरूरत होती है. बीते दशक के प्रौद्योगिकी क्रांति का संगठनों के काम करने के तरीके पर बहुत प्रभाव पड़ा है. तकनीक और पेशेवर जीनव के इस एकीकरण के सीधे प्रभाव का अर्थ है कि बतौर कर्मचारी आपसे इस बात की उम्मीद की जाएगी कि अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करने के लिए आप इन तकनीकों का उपयोग करें और अपनाएं. इसलिए आपको नई तकनीकों को सीखना और अपनाना होगा. उदाहरण के लिए, MS Word सबसे आम टेक्स्ट एडिटर है जिसका उपयोग ज्यादातर संगठन डॉक्यूमेंट्स बनाने के लिए करते हैं. इसी तरह प्रेजेंटेशन बनाने के लिए PowerPoint और स्प्रेडशीट्स बनाने के लिए Excel का इस्तेमाल किया जाता है. ऐसी आम तकनीकों पर काम करना सीखना आपके रेज्यूमे में वैल्यू एड करेंगे और इंटरव्यू प्रक्रिया के दौरान आपको दूसरों से अलग बनाएंगे.

तो, यह अब आपके पास है. यदि आप एक फ्रेशर (नवसिखुआ) हैं जो नौकरी की तलाश कर रहा है या आने वाले समय में नौकरी की तलाश करेगा, तो, आपको अपने व्यक्तित्व में इन गुणों को विकसित करने की कोशिश जरूर करनी चाहिए. यदि आप एक युवा कामकाजी पेशेवर भी हैं, तब भी, ये गुण आपको करिअर में आगे बढ़ने और प्रतिद्वंद्वियों को पीछे छोड़ने में मदद करेंगें.

यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा उपर सूचिबद्ध किए गए गुणों के अलावा भी कुछ ऐसे गुण हैं जो छात्रों और फ्रेशर्स को नौकरी हासिल करने में मदद कर सकते हैं, तो नीचे दिए गए कमेंट्स सेक्शन में उसका उल्लेख करें.

बढ़ती बेरोजगारी दर और गलाकाट प्रतिस्पर्धा के साथ युवा छात्रों के लिए नौकरी हासिल करना बहुत मुश्किल काम होता जा रहा है. वास्तव में, सही अकादमिक डिग्रियों और वर्क प्रोफाइल होने के बावजूद कई छात्र इंटरव्यू प्रक्रिया के दौरान रिक्रूटर्स को प्रभावित नहीं कर पाते. यदि आप ऐसे ही दुर्भाग्यशालियों में से एक हैं, तो आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आप अकेले नहीं हैं. आजकल, नियोक्ता अकादमिक रिकॉर्ड और डिग्रियों के अलावा कई बातें हैं जो संभावित कर्मचारी में तलाशते हैं. कुछ ऐसे गुण होते हैं जो कुछ उम्मीदवारों को इंटरव्यू प्रक्रिया के दौरान दूसरों से अलग बनाते हैं. इस विषय पर कई सलाहकारों और उद्योग जगत के विशेषज्ञों से परामर्श करने के बाद हमने गुणों की सामान्य सूची तैयार की है जिसे नौकरी की तलाश कर रहे प्रत्येक 20 वर्षीय को अपने व्यक्तित्व के हिस्से के तौर पर विकसित करने की कोशिश करनी चाहिए. ये गुण आपको न सिर्फ इंटरव्यू पैनल को प्रभावित करने और नौकरी हासिल करने में मदद करेंगे बल्कि ये आपको आपके पेशेवर करिअर में आगे बढ़ने में भी मदद करेंगे.

  1. नेतृत्व

हम बेहद प्रतिस्पर्धी दुनिया में रहते हैं जहां नेतृत्व करना कुछ ऐसा है जिसे अच्छे कर्मचारियों की प्राथमिक आवश्यक गुणवत्ता माना जाता है. आजकल नियोक्ता ऐसे लोगों की तलाश में होते हैं जो नेताओं जैसा काम कर सकें और संगठन के लक्ष्यों को पूरा करने वाली पेशेवरों की टीम का नेतृत्व कर सकें. बतौर कामकाजी पेशेवर आपमें नेतृत्व के गुण और अपने सहयोगियों को प्रेरित करने का गुण होना ही चाहिए. साथ ही आपकी टीम में बाधाओं को दूर करते हुए अच्छा प्रदर्शन करने की क्षमता भी होनी चाहिए.  लेकिन पेशेवर माहौल में, सिर्फ नेतृत्व करना ही काफी नहीं होगा क्योंकि आपको योजना भी बनानी होगी, उसकी कल्पना करनी होगी और अवधारणाओं को विकसित भी करना होगा. ऐसी परिस्थितियों में, अच्छा नेता बनने के लिए तुरंत फैसला करना और स्थिर मानसिक धैर्य की भी आवश्यकता होगी.

  1. जिम्मेदारी

करिअर बनाने के क्रम में एक और बेहद महत्वपूर्ण गुणवत्ता जिसे आपको जरूर सीखना होगा, वह है गंभीरता से अपने काम की जिम्मेदारी लेना. एक नियोक्ता अपने उत्पाद या सेवा के लिए आपको काम पर रखता है और आप कितनी गंभीरता से अपनी जिम्मेदारियों को निभाते हैं और पूरा करते हैं, इस बात पर ही पूरी कंपनी की सफलता निर्भर करती है. आपको पेशेवर जिम्मेदारियों के तौर पर आपको सौंपी गई जिम्मेदारियों को पूरा करना होगा. वास्तव में, कई अध्ययनों से यह बात सामने आई है कि जिम्मेदारी लेने वाले कर्मचारियों और उनकी तरक्की की संभावनाओं के बीच सीधा संबंध है. इसलिए, यह गुण न सिर्फ एक नौकरी हासिल करने के लिए महत्वपूर्ण है बल्कि आगे चलकर शानदार करिअर बनाने के लिए भी जरूरी है.

  1. अनुशासन

सामान्यतया कहें तो, अनुशासन वह गुण है जिसका पालन करने के लिए हमें स्कूल के दिनों से ही कहा जाता रहा है. हालांकि यह चलन से बाहर हो चुके मुहावरे जैसा लग सकता है लेकिन यह सच है कि अनुशासन आपके पेशेवर सफलता को निर्धारित करने वाला अक्षम्य गुणवत्ता है. एक संगठन के कर्मचारी के तौर पर, यदि आप अपने पेशेवर महत्वाकांक्षाओं को पूरा करना चाहते हैं तो, देर से आने, बहाने बनाने और आम तौर पर आलसी बने रहने की आजादी नहीं होगी. आपके पेशेवर जीवन में, आपको न सिर्फ समय प्रबंधन एवं लक्ष्यों को पूरा करने बल्कि सामान्य आचरण में भी अनुशासन दिखाना होगा. समय पर ऑफिस पहुंचना हो या कार्यक्रमों की योजना बनाना या आपके प्रोजेक्ट्स की टाइमलाइन तय करना, अनुसासन आपके कामकाजी जीवन में आपको सही स्थान पर बनाए रखेगा.

  1. संचार

हम एक दूसरे से संबद्ध दुनिया में रहते हैं और यहां संचार सफलता की कुंजी है.अलग– अलग माध्यमों से तुरंत और स्पष्ट रूप से संवाद करने की क्षमता किसी भी उम्मीदवार के पेशेवर सफलता के लिए बेहद महत्वपूर्ण है. पेशेवर कामकाज हो या संगठन के तौर पर आपको मौखित और लिखित संचार कौशलों का प्रयोग करना होगा. यह ई–मेल, आधिकारिक चिट्ठियों, बैठकों, सम्मेलनों और कार्यशालाओं के रूप में हो सकता है. वास्तव में, जब आपके कामकाजी जीवन  बात आती है तो आपका संचार कौशल आपके कुल बॉडी लैंग्वेज के 80% हिस्से को प्रभावित करेगा. इसलिए, रोजगार के अवसरों की तलाश में जुटे प्रत्येक छात्र और युवा पेशेवरों को खुद में इन कौशलों को विकसित करने की जरूरत है.

  1. तकनीकी दक्षता

हम जिस तकनीक की समझ रखने वाले विश्व में रहते हैं वहां अलग– अलग तकनीकों पर काम करने की जरूरत होती है. बीते दशक के प्रौद्योगिकी क्रांति का संगठनों के काम करने के तरीके पर बहुत प्रभाव पड़ा है. तकनीक और पेशेवर जीनव के इस एकीकरण के सीधे प्रभाव का अर्थ है कि बतौर कर्मचारी आपसे इस बात की उम्मीद की जाएगी कि अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करने के लिए आप इन तकनीकों का उपयोग करें और अपनाएं. इसलिए आपको नई तकनीकों को सीखना और अपनाना होगा. उदाहरण के लिए, MS Word सबसे आम टेक्स्ट एडिटर है जिसका उपयोग ज्यादातर संगठन डॉक्यूमेंट्स बनाने के लिए करते हैं. इसी तरह प्रेजेंटेशन बनाने के लिए PowerPoint और स्प्रेडशीट्स बनाने के लिए Excel का इस्तेमाल किया जाता है. ऐसी आम तकनीकों पर काम करना सीखना आपके रेज्यूमे में वैल्यू एड करेंगे और इंटरव्यू प्रक्रिया के दौरान आपको दूसरों से अलग बनाएंगे.

तो, यह अब आपके पास है. यदि आप एक फ्रेशर (नवसिखुआ) हैं जो नौकरी की तलाश कर रहा है या आने वाले समय में नौकरी की तलाश करेगा, तो, आपको अपने व्यक्तित्व में इन गुणों को विकसित करने की कोशिश जरूर करनी चाहिए. यदि आप एक युवा कामकाजी पेशेवर भी हैं, तब भी, ये गुण आपको करिअर में आगे बढ़ने और प्रतिद्वंद्वियों को पीछे छोड़ने में मदद करेंगें.

यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा उपर सूचिबद्ध किए गए गुणों के अलावा भी कुछ ऐसे गुण हैं जो छात्रों और फ्रेशर्स को नौकरी हासिल करने में मदद कर सकते हैं, तो नीचे दिए गए कमेंट्स सेक्शन में उसका उल्लेख करें.

बढ़ती बेरोजगारी दर और गलाकाट प्रतिस्पर्धा के साथ युवा छात्रों के लिए नौकरी हासिल करना बहुत मुश्किल काम होता जा रहा है. वास्तव में, सही अकादमिक डिग्रियों और वर्क प्रोफाइल होने के बावजूद कई छात्र इंटरव्यू प्रक्रिया के दौरान रिक्रूटर्स को प्रभावित नहीं कर पाते. यदि आप ऐसे ही दुर्भाग्यशालियों में से एक हैं, तो आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आप अकेले नहीं हैं. आजकल, नियोक्ता अकादमिक रिकॉर्ड और डिग्रियों के अलावा कई बातें हैं जो संभावित कर्मचारी में तलाशते हैं. कुछ ऐसे गुण होते हैं जो कुछ उम्मीदवारों को इंटरव्यू प्रक्रिया के दौरान दूसरों से अलग बनाते हैं. इस विषय पर कई सलाहकारों और उद्योग जगत के विशेषज्ञों से परामर्श करने के बाद हमने गुणों की सामान्य सूची तैयार की है जिसे नौकरी की तलाश कर रहे प्रत्येक 20 वर्षीय को अपने व्यक्तित्व के हिस्से के तौर पर विकसित करने की कोशिश करनी चाहिए. ये गुण आपको न सिर्फ इंटरव्यू पैनल को प्रभावित करने और नौकरी हासिल करने में मदद करेंगे बल्कि ये आपको आपके पेशेवर करिअर में आगे बढ़ने में भी मदद करेंगे.

  1. नेतृत्व

हम बेहद प्रतिस्पर्धी दुनिया में रहते हैं जहां नेतृत्व करना कुछ ऐसा है जिसे अच्छे कर्मचारियों की प्राथमिक आवश्यक गुणवत्ता माना जाता है. आजकल नियोक्ता ऐसे लोगों की तलाश में होते हैं जो नेताओं जैसा काम कर सकें और संगठन के लक्ष्यों को पूरा करने वाली पेशेवरों की टीम का नेतृत्व कर सकें. बतौर कामकाजी पेशेवर आपमें नेतृत्व के गुण और अपने सहयोगियों को प्रेरित करने का गुण होना ही चाहिए. साथ ही आपकी टीम में बाधाओं को दूर करते हुए अच्छा प्रदर्शन करने की क्षमता भी होनी चाहिए.  लेकिन पेशेवर माहौल में, सिर्फ नेतृत्व करना ही काफी नहीं होगा क्योंकि आपको योजना भी बनानी होगी, उसकी कल्पना करनी होगी और अवधारणाओं को विकसित भी करना होगा. ऐसी परिस्थितियों में, अच्छा नेता बनने के लिए तुरंत फैसला करना और स्थिर मानसिक धैर्य की भी आवश्यकता होगी.

  1. जिम्मेदारी

करिअर बनाने के क्रम में एक और बेहद महत्वपूर्ण गुणवत्ता जिसे आपको जरूर सीखना होगा, वह है गंभीरता से अपने काम की जिम्मेदारी लेना. एक नियोक्ता अपने उत्पाद या सेवा के लिए आपको काम पर रखता है और आप कितनी गंभीरता से अपनी जिम्मेदारियों को निभाते हैं और पूरा करते हैं, इस बात पर ही पूरी कंपनी की सफलता निर्भर करती है. आपको पेशेवर जिम्मेदारियों के तौर पर आपको सौंपी गई जिम्मेदारियों को पूरा करना होगा. वास्तव में, कई अध्ययनों से यह बात सामने आई है कि जिम्मेदारी लेने वाले कर्मचारियों और उनकी तरक्की की संभावनाओं के बीच सीधा संबंध है. इसलिए, यह गुण न सिर्फ एक नौकरी हासिल करने के लिए महत्वपूर्ण है बल्कि आगे चलकर शानदार करिअर बनाने के लिए भी जरूरी है.

  1. अनुशासन

सामान्यतया कहें तो, अनुशासन वह गुण है जिसका पालन करने के लिए हमें स्कूल के दिनों से ही कहा जाता रहा है. हालांकि यह चलन से बाहर हो चुके मुहावरे जैसा लग सकता है लेकिन यह सच है कि अनुशासन आपके पेशेवर सफलता को निर्धारित करने वाला अक्षम्य गुणवत्ता है. एक संगठन के कर्मचारी के तौर पर, यदि आप अपने पेशेवर महत्वाकांक्षाओं को पूरा करना चाहते हैं तो, देर से आने, बहाने बनाने और आम तौर पर आलसी बने रहने की आजादी नहीं होगी. आपके पेशेवर जीवन में, आपको न सिर्फ समय प्रबंधन एवं लक्ष्यों को पूरा करने बल्कि सामान्य आचरण में भी अनुशासन दिखाना होगा. समय पर ऑफिस पहुंचना हो या कार्यक्रमों की योजना बनाना या आपके प्रोजेक्ट्स की टाइमलाइन तय करना, अनुसासन आपके कामकाजी जीवन में आपको सही स्थान पर बनाए रखेगा.

  1. संचार

हम एक दूसरे से संबद्ध दुनिया में रहते हैं और यहां संचार सफलता की कुंजी है.अलग– अलग माध्यमों से तुरंत और स्पष्ट रूप से संवाद करने की क्षमता किसी भी उम्मीदवार के पेशेवर सफलता के लिए बेहद महत्वपूर्ण है. पेशेवर कामकाज हो या संगठन के तौर पर आपको मौखित और लिखित संचार कौशलों का प्रयोग करना होगा. यह ई–मेल, आधिकारिक चिट्ठियों, बैठकों, सम्मेलनों और कार्यशालाओं के रूप में हो सकता है. वास्तव में, जब आपके कामकाजी जीवन  बात आती है तो आपका संचार कौशल आपके कुल बॉडी लैंग्वेज के 80% हिस्से को प्रभावित करेगा. इसलिए, रोजगार के अवसरों की तलाश में जुटे प्रत्येक छात्र और युवा पेशेवरों को खुद में इन कौशलों को विकसित करने की जरूरत है.

  1. तकनीकी दक्षता

हम जिस तकनीक की समझ रखने वाले विश्व में रहते हैं वहां अलग– अलग तकनीकों पर काम करने की जरूरत होती है. बीते दशक के प्रौद्योगिकी क्रांति का संगठनों के काम करने के तरीके पर बहुत प्रभाव पड़ा है. तकनीक और पेशेवर जीनव के इस एकीकरण के सीधे प्रभाव का अर्थ है कि बतौर कर्मचारी आपसे इस बात की उम्मीद की जाएगी कि अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करने के लिए आप इन तकनीकों का उपयोग करें और अपनाएं. इसलिए आपको नई तकनीकों को सीखना और अपनाना होगा. उदाहरण के लिए, MS Word सबसे आम टेक्स्ट एडिटर है जिसका उपयोग ज्यादातर संगठन डॉक्यूमेंट्स बनाने के लिए करते हैं. इसी तरह प्रेजेंटेशन बनाने के लिए PowerPoint और स्प्रेडशीट्स बनाने के लिए Excel का इस्तेमाल किया जाता है. ऐसी आम तकनीकों पर काम करना सीखना आपके रेज्यूमे में वैल्यू एड करेंगे और इंटरव्यू प्रक्रिया के दौरान आपको दूसरों से अलग बनाएंगे.

तो, यह अब आपके पास है. यदि आप एक फ्रेशर (नवसिखुआ) हैं जो नौकरी की तलाश कर रहा है या आने वाले समय में नौकरी की तलाश करेगा, तो, आपको अपने व्यक्तित्व में इन गुणों को विकसित करने की कोशिश जरूर करनी चाहिए. यदि आप एक युवा कामकाजी पेशेवर भी हैं, तब भी, ये गुण आपको करिअर में आगे बढ़ने और प्रतिद्वंद्वियों को पीछे छोड़ने में मदद करेंगें.

यदि आपको लगता है कि हमारे द्वारा उपर सूचिबद्ध किए गए गुणों के अलावा भी कुछ ऐसे गुण हैं जो छात्रों और फ्रेशर्स को नौकरी हासिल करने में मदद कर सकते हैं, तो नीचे दिए गए कमेंट्स सेक्शन में उसका उल्लेख करें.

Related Stories