]}
Search

ज्वैलरी डिजाइनिंग में भी उपलब्ध हैं आकर्षक करियर ऑप्शन्स

गहने और आभूषण शुरू से ही मनुष्य के आकर्षण का केंद्र रहे हैं. ऐसे में अगर आप ज्वैलरी डिजाइनिंग की फ़ील्ड में अपना करियर शुरू करना चाहते हैं तो इस आर्टिकल में आपके लिए पेश है महत्वपूर्ण जानकारी.

Feb 11, 2019 16:27 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Good Career Options are available in Jewellery Designing
Good Career Options are available in Jewellery Designing

हमारा देश भारत गोल्ड का सबसे बडा उपभोक्ता है इसलिए हमारे देश में जेम्स एंड ज्वैलरी के कारोबार के लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध हैं. राजस्थान राज्य का जयपुर शहर विश्व के सबसे बडे जेम्स कटिंग सेंटर के रूप में जाना जाता है. इसके अलावा, सूरत, मुंबई, दिल्ली, अहमदाबाद जैसे शहरों में जेम्स एंड ज्वैलरी के विशाल एक्सपोर्ट हाउसेज हैं.  इसी तरह, भारत एक ऐसा देश है जहां पूरी दुनिया के गोल्ड या स्वर्ण उपभोग की 20% खपत होती है और लगभग $ 13 बिलियन रेवेन्यु प्राप्त होता है. इस वजह से भारत में ज्वैलरी डिजाइनिंग की फील्ड का महत्व लगातार बढ़ता ही जा रहा है. तनिष्क, नक्षत्र, गिल्ली, आम्रपाली, कल्याण ज्वैलर्स और पीसी ज्वैलर्स हमारे देश के कुछ सुप्रसिद्ध ज्वैलरी ब्रांड्स हैं.  

भारत में प्रमुख ज्वैलरी डिजाइनिंग कोर्सेज

यदि आप जेम्स एंड ज्वैलरी डिजाइन की फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो इसके लिए किसी खास एजुकेशनल क्वालिफिकेशन की जरूरत नहीं है. अगर आप बारहवीं पास या ग्रेजुएट हैं तो आपके लिए इस फील्ड में ट्रेनिंग और डिप्लोमा आदि लेकर अपना करियर शुरू कर सकते हैं. अगर आपने  किसी मान्यताप्राप्त एजुकेशन बोर्ड से बारहवीं पास की है तो ज्वैलरी डिजाइनिंग से संबद्ध डिग्री कोर्स में और अगर आप ग्रेजुएट हैं तो ज्वैलरी डिजाइनिंग से संबद्ध डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स करने के बाद इस फील्ड में अपना करियर शुरू कर सकते हैं. इस फील्ड के लिए अगर आपकी अंग्रेजी और कम्युनिकेशन स्किल्स बहुत अच्छी हों तो आपको अपने करियर में काफी लाभ मिलेगा. हमारे देश में प्रमुख ज्वैलरी डिजाइनिंग कोर्सेज निम्नलिखित हैं:

  • बीएससी – ज्वैलरी डिजाइनिंग एंड मैनेजमेंट (बीएससी जेडी एंड एम)
  • ज्वैलरी डिजाइनिंग एंड मैन्युफैक्चरिंग में ग्रेजुएट डिप्लोमा - जीडीजेडीएम
  • सीएडी के साथ ज्वैलरी डिजाइनिंग में डिप्लोमा (डीजेडी- सीएडी)
  • ज्वैलरी डिजाइनिंग में डिप्लोमा
  • ज्वैलरी डिजाइन एंड टेक्नोलॉजी में सर्टिफिकेट प्रोग्राम
  • ज्वैलरी डिजाइन एंड टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा प्रोग्राम

भारत में प्रमुख ज्वैलरी डिजाइनिंग इंस्टीट्यूट्स

  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली
  • पर्ल एकेडमी ऑफ फैशन, नई दिल्ली
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, गांधीनगर
  • मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ ज्वैलरी मैनेजमेंट, मणिपाल, कर्नाटक
  • पॉलिटेक्निक फॉर विमेन, नई दिल्ली
  • सत्यम फैशन इंस्टीट्यूट, नोएडा, उत्तर प्रदेश
  • सूर्यदत्त इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी (एसआईएफटी), पुणे, महाराष्ट्र
  • प्रेमलीला विट्ठलदास पॉलिटेक्निक एसएनडीटी, मुंबई, महाराष्ट्र
  • पर्ल एकेडमी ऑफ फैशन, जयपुर, राजस्थान
  • जेडी इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली
  • रैफल्स मिलेनियम इंटरनेशनल, कोलकाता, पश्चिम बंगाल
  • रैफल्स मिलेनियम इंटरनेशनल, चेन्नई, तमिलनाडु
  • आईएमएस-डिज़ाइन एंड इनोवेशन अकादमी, नोएडा, उत्तर प्रदेश
  • भारती इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, उज्जैन, मध्य प्रदेश
  • इंडिया इंटरनेशनल ट्रेड सेंटर, मुंबई, महाराष्ट्र
  • एआरसीएच एकेडमी ऑफ डिजाइन, जयपुर, राजस्थान

भारत में ज्वैलरी डिजाइनिंग की फील्ड में उपलब्ध जॉब प्रोफाइल्स

हमारे देश में किसी ज्वैलरी डिजाइनर को कई अन्य नामों से भी जाना जाता है जैसेकि, ज्वैलरी डिजाइनर, गोल्डस्मिथ, फैशन ज्वैलर, ज्वैलरी मैन्युफैक्चरर, ज्वैलरी रिपेयरर, एन्ग्रेवर या नक्काश आदि. मुख्य रूप से ज्वैलरी डिजाइनर्स निम्नलिखित जॉब प्रोफाइल्स में अपना करियर बना सकते हैं.

  • ज्वैलरी डिजाइनर
  • ज्वैलरी ट्रेडर
  • एग्जीबिशन मैनेजर
  • प्रोडक्शन मैनेजर
  • लेक्चरर
  • कास्टिंग मैनेजर
  • असिस्टेंट मैनेजर - एक्सप्लोरेशन
  • राइटर एंड ड्राफ्टर
  • एम्ब्रायडरी मेकर
  • म्यूजियम एंड आर्ट गैलरी मैनेजर
  • सेल्स रिप्रेजेन्टेटिव
  • फैशन कंसलटेंट
  • इलस्ट्रेटर
  • एंटरप्रिन्योर
  • प्लानिंग एंड कॉन्सेप्ट मैनेजर
  • जेम ग्राइंडर
  • जेम पॉलिशर
  • जेमस्टोन अपरेजर
  • ज्वेलरी सेटर
  • जेम एसोर्टर
  • एन्ग्रेवर/ नक़्क़ाश
  • साइंटिस्ट
  • ज्वैलरी बिजनेस ओनर
  • सेल्स एसोसिएट
  • ज्वैलरी इतिहासकार
  • ग्रेडिंग कंसलटेंट 
  • ऑक्शन हाउस कैटेलॉगर

भारत में ज्वैलरी डिजाइर्स को जॉब्स ऑफर करने वाले प्रमुख इंस्टीट्यूट्स

ज्वैलरी डिजाइनिंग के लिए अपना कोर्स पूरा कर लेने के बाद आप प्राइवेट एंड पब्लिक सेक्टर्स में अपना करियर शुरू कर सकते हैं. सरकारी म्यूजियम्स, एंटीक हाउसेज, माइंस और कई अन्य संबद्ध सरकारी विभागों में भारत सरकार और राज्य सरकारें यूपीएससी, एसएससी, पीएससी आदि के माध्यम से टेस्ट लेकर काबिल और टेलेंटेड कैंडिडेट्स को जॉब्स उपलब्ध करवाती हैं. पब्लिक सेक्टर के अलावा ज्वैलरी डिजाइनर्स के लिए विभिन्न प्राइवेट सेक्टर्स में भी करियर की अपार संभावनाएं हैं. आपकी सुविधा के लिए प्रमुख जॉब प्रोवाइडर्स की एक लिस्ट निम्नलिखित है:

  • जेम रिटेलिंग
  • रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गेनाइजेशन
  • एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स
  • गारमेंट्स एंड डिजाइन फर्म्स
  • मटीरियल परचेज लॉजिस्टिक्स जॉब्स
  • मार्केटिंग इंडस्ट्री
  • मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री
  • हॉस्पिटैलिटी जॉब्स
  • जेम होलसेलिंग
  • माइंस
  • राइटिंग एंड पब्लिशिंग हाउसेज
  • कल्चरल एंड आर्ट जॉब्स
  • मॉडल मेकिंग जॉब्स
  • ज्वैलरी हाउसेज/ शॉप्स एंड शोरूम्स 
  • प्रेशियस स्टोन्स कंसल्टेंसीज
  • लैबोरेट्रीज
  • ज्वैलरी डिजाइनिंग कंपनियां
  • एंटीक हाउसेज
  • ऑक्शन हाउसेज
  • म्यूजियम्स

भारत में ज्वैलरी डिजाइनिंग की फील्ड में मिलने वाला सैलरी पैकेज

हमारे देश में एक फ्रेशर ज्वैलरी डिज़ाइनर के तौर पर कैंडिडेट्स को अपने करियर के शुरू के दिनों में एवरेज कम से कम रु. 10 हजार या उससे अधिक रूपये मिलते हैं. कैंडिडेट्स को इस फील्ड में 2 – 3 वर्ष का कार्य-अनुभव हो जाने के बाद एवरेज रु. 30 हजार मासिक या उससे कुछ अधिक मिलते हैं. विदेशों में ज्वैलरी डिज़ाइनर्स को काफी अच्छा सैलरी पैकेज मिलता है और एक फ्रेशर ज्वैलरी डिज़ाइनर विदेश में एवरेज कम से कम रु. 50 हजार मासिक तक कमाता है. अपने काम में एक्सपर्ट ज्वैलरी डिज़ाइनर्स रु. 1 लाख मासिक तक कमा लेते हैं.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

Related Stories