Jagran Josh Logo

कैसे - SSC गौरवशाली करियर के लिए पहला कदम हो सकता है?

Sep 12, 2018 11:04 IST
  • Read in English
SSC as a glorified career
SSC as a glorified career

आज की प्रतिस्पर्धात्मक दुनिया में, हर किसी को एक सुरक्षित, अच्छी सैलरी वाली और एक प्रतिष्ठित नौकरी की आवश्यकता होती हैं. जैसा कि हम जानते हैं कि लाखों लोग सरकारी और निजी क्षेत्र की कंपनियों में कार्यरत हैं. यह सर्वविदित हैं कि सरकारी नौकरियां सभी सुविधाएँ जैसे कि अच्छी तनख्वाह, समय-समय पर प्रमोशन, जॉब-सिक्योरिटी और अन्य लाभ प्रदान करती हैं जिसकी अपेक्षा किसी अन्य जॉब में नहीं की जा सकती हैं. इसके अलावा, कई भारत सरकार के उपक्रम (पी०एस०यू०) है जो केवल उन्हीं उम्मीदवारों को नियुक्त कर करते हैं जिनके पास कोई विशिष्ट योग्यता यानि बी०टेक०, एम०बी०ए०, सी०ए०, पी०एच०डी० इत्यादि होती हैं. जबकि सरकारी प्रशासनिक विभागों में नियुक्ति के लिए, आपको सम्बंधित परीक्षाओं जैसे- यू०पी०एस०सी० सिविल सेवा परीक्षा, पी०सी०एस० इत्यादि में उत्तीर्ण होना होता हैं. इस परिदृश्य की ओर देखने पर, हम यह कह सकते हैं कि इन सेक्टर्स में नौकरियाँ आसानी से और ज़ल्दी से नहीं मिलती हैं क्योंकि इन परीक्षाओं के लिए लाखों उम्मीदवार तैयारी करते हैं और इनमें से बहुत से तो ऐसे हैं जो पिछले 2-10 सालों से इन परीक्षाओं के लिए तैयारी कर रहे होते हैं. इसके अतिरिक्त, इन नौकरियों में प्रतिस्पर्धा साल दर साल कठिन होती जा रहीं हैं.  

इसके विपरीत, निजी क्षेत्रों की नौकरियों में, आपको एक कड़े शिड्यूल, उट-पटांग समय सीमाओं (डेडलाइन्स) और अतर्कसंगत लक्ष्यों का सामना करना होता हैं. इन नौकरियों में कोई जॉब-सिक्योरिटी, बेहतर वेतन और संतोषजनक सुविधाएँ नहीं होती हैं. यह परिस्तिथियाँ समय के साथ-साथ और बदत्तर होती चली जाती हैं.

प्रत्येक वर्ष, हजारों निजी क्षेत्र के कर्मचारी या तो अपनी नौकरी छोड़ देते है या निकाल दिए जाते हैं. इस स्तिथि में, उस जॉब को छोड़ना काफी मुश्किल होता हैं जिसे आप पिछले 5-10 सालों से कर रहे होते हैं. इस परिस्तिथि में, हर कोई एक सही करियर और इससे जुड़े हुए अन्य पहलुओं जैसे वेतन वृद्धि, प्रमोशनस, जॉब सिक्योरिटी इत्यादि के बारें में सोचता हैं. अब शायद आपके दिमाग में एक प्रश्न उठ सकता हैं कि गौरवशाली करियर क्या होना चाहिए? और इस प्रश्न का सबसे उचित उत्तर है- SSC द्वारा प्रदत्त नौकरियां.

SSC CGL परीक्षा की टॉप 5 पोस्ट्स: वेतनमान और करियर ग्रोथ

UPSC के बाद, SSC (कर्मचारी चयन आयोग) एकमात्र भर्ती संस्था हैं जो आपको विभिन्न विभागों और मंत्रालयों में गौरवशाली करियर प्रदान करती हैं. SSC CGL परीक्षा में आवेदन के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता किसी भी विषय से स्नातक की डिग्री होनी चाहिए. अब यह आपमें से बहुतों को एक अच्छा विकल्प प्रतीत हो रहा होगा. SSC प्रतिवर्ष 11 परीक्षाओं का आयोजन करती हैं जिसमें SSC CGL, SSC CHSL, SSC CPO SI/ASI, SSC Stenographer, SSC JHT और SSC GD Constable परीक्षायें इत्यादि सम्मिलित हैं.

Strategy for SSC CGL exam

 

इस लेख में, हम SSC CGL परीक्षा के तहत अधिसूचित विभिन्न नौकरियों व उनसे सम्बंधित वेतनमानों, प्रमोशनस और अन्य लाभों के बारें में चर्चा करेंगे जिससे आपको SSC CGL परीक्षा की तैयारी करने में प्रेरणा मिलेगी. आइये- इसके बारें में अधिक जानकारी लें-

SSC CGL परीक्षा के तहत करियर

SSC CGL पोस्ट्स के लाभों और करियर ग्रोथ के पहलुओं की ओर जानें से पहले, आइये- SSC CGL परीक्षा द्वारा प्रदत्त विभिन्न पोस्ट्स के बारें में जानते हैं-

पोस्ट्स के नाम

विभाग/ मंत्रालय

ग्रेड-पे (रु० में)

असिस्टेंट ऑडिट ऑफिसर

नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक के अधीन भारतीय लेखापरीक्षा एवं लेखा विभाग

4800

असिस्टेंट एकाउंट्स ऑफिसर

नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक के अधीन भारतीय लेखापरीक्षा एवं लेखा विभाग

 4800

असिस्टेंट सेक्शन ऑफिसर

इंटेलिजेंस ब्यूरो

 4600

केन्द्रीय सचिवालय

4600

रेल मंत्रालय

 4600

विदेश मंत्रालय

 4600

सशस्त्र सेना मुख्यालय

 4600

इनकम टैक्स इंस्पेक्टर

केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड

 4600

इंस्पेक्टर (सेंट्रल एक्साइज)

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड

 4600

इंस्पेक्टर (प्रिवेंटिव ऑफिसर)

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड

 4600

इंस्पेक्टर (एग्जामिनर)

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड

 4600

असिस्टेंट एन्फोर्समेंट ऑफिसर

प्रवर्तन निदेशालय, राजस्व विभाग

 4600

सब-इंस्पेक्टर

केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो

 4600

इंस्पेक्टर पद

डाक विभाग

 4600

डिवीज़नल अकाउंटेंट

नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक के अंतर्गत कार्यालय

 4200

इंस्पेक्टर

केन्द्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो

 4600

असिस्टेंट

अन्य मंत्रालय/ विभाग/ संगठन

 4600

असिस्टेंट

अन्य मंत्रालय/ विभाग/ संगठन

 4200

सब-इंस्पेक्टर

राष्ट्रीय अन्वेषण एजेंसी (NIA)

 4200

जूनियर स्टैटिस्टिकल ऑफिसर

सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय

 4200

ऊपर उल्लेखित पोस्ट्स, SSC CGL परीक्षा द्वारा प्रदत्त सबसे अनुकरणीय पोस्ट्स में से हैं आइये- अब इस परीक्षा से मिलने वाली शीर्ष 5 पोस्ट्स का: उनमें भावी ग्रोथ, वेतन और अन्य लाभों के आधार पर विवरण देखते हैं-     

1.असिस्टेंट ऑडिट ऑफिसर

इस पोस्ट की कुछ मूल जानकारियां निम्नलिखित है-

ग्रेड- ‘बी’ (राजपत्रित, अलिपिकवर्गीय)

विभाग- नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक के अधीन भारतीय लेखापरीक्षा एवं लेखा विभाग

वेतनमान:- रु० 9300 – 34800

ग्रेड पे- रु० 4800

आयु सीमा: 30 साल से अधिक नहीं

SSC CGL परीक्षा द्वारा असिस्टेंट ऑडिट ऑफिसर के रूप में चयनित होने के बाद, आपकी पोस्टिंग भारतीय लेखापरीक्षा एवं लेखा विभाग में होगी. यहाँ आपकी प्रमुख जिम्मेदारियों में केन्द्रीय सरकार, राज्य सरकार और पी०एस०यू० के खातों का निरीक्षण करना होगा. इसके अतिरिक्त, इस विभाग में नियुक्ति के बाद, आपको प्रमोशन निम्नलिखित क्रम में मिलेगा-

असिस्टेंट ऑडिट ऑफिसर पोस्ट के बाद, आप उपरोक्त बताये गए क्रम में प्रमोशनस को अपनी सेवा की समयावधि या सक्षम प्राधिकरण द्वारा आयोजित परीक्षाओं में अपने प्रदर्शन के आधार पर प्राप्त कर सकते हैं. सामान्यत: किसी भी सरकारी विभाग/ मंत्रालय में, आपको पहला प्रमोशन नियुक्ति के 6 साल के बाद और इसके आगे के प्रमोशन प्रत्येक 4-4 साल के बाद पोस्ट्स की उपलब्धता के आधार पर प्राप्त होते हैं. तथापि पहला प्रमोशन यानि ऑडिट ऑफिसर (लेखापरीक्षक अधिकारी) प्राप्त करने में 6 साल का समय लगता हैं शेष प्रमोशनस संगठन की नीतियों और नियमों पर निर्भर करते हैं.  

भावी अवसर

इसके अलावा, यदि आपने अपने पूरे कार्यकाल के दौरान एक अच्छा सर्विस रिकॉर्ड कायम रखा हैं तब आपके पास उप-निदेशक या निदेशक तक के प्रमोशन पाने के पर्याप्त अवसर हैं, जोकि एक प्रथम श्रेणी की पोस्ट हैं. यह पोस्ट सामान्यत: उन उम्मीदवारों द्वारा भरी जाती हैं जिन्होंने UPSC सिविल सेवा की परीक्षा को उत्तीर्ण किया हों.

SSC कनिष्ठ हिंदी अनुवादक (JHT) परीक्षा की तैयारी हेतु सर्वश्रेष्ठ किताबें

अब, आप देख सकते हैं कि SSC की यह पोस्ट आपको ग्रेड-‘बी’ से शुरूआत करके एक प्रशासनिक अधिकारी (IAS) के स्तर की पोस्ट तक पहुँचने का एक अभूतपूर्व अवसर प्रदान करती हैं.

2.असिस्टेंट सेक्शन ऑफिसर

इस पोस्ट की कुछ मूल जानकारियां निम्नलिखित है-

ग्रेड- ‘बी’

विभाग- केन्द्रीय सचिवालय

वेतनमान:- रु० 9300 – 34800

ग्रेड पे- रु० 4800

आयु सीमा: 20- 30 साल

असिस्टेंट सेक्शन ऑफिसर के रूप में आपकी नियुक्ति केन्द्रीय सचिवालय में होगी. केन्द्रीय सचिवालय भारत में सभी प्रशासनिक कार्यों की रीढ़ की हड्डी हैं और यह सरकार के कार्यालयों में अधिकारियों और अन्य स्टाफ की नियुक्ति भी करता हैं. असिस्टेंट सेक्शन ऑफिसर के बाद, आपको इस विभाग में प्रमोशनस निम्नलिखित क्रम में प्राप्त होंगे-

उपरोक्त अनुक्रम में, अनुभाग अधिकारी का पहला प्रमोशन सामान्यत: नियुक्ति के 5-7 सालों के बाद प्रदान किया जाता हैं और अगला प्रमोशन लगभग 10-12 वर्षों के बाद दिया जाता हैं. उम्मीदवार और-ऊँची पोस्ट्स पर प्रमोशन सक्षम प्राधिकरण द्वारा समय-समय पर आयोजित विभागीय परीक्षाओं को उत्तीर्ण करके भी प्राप्त सकते हैं.

भावी अवसर

जैसा कि आप देख सकते हैं कि इस विभाग में प्रमोशन हेतु पोस्ट्स तुलनात्मक रूप से काफी कम हैं. अत: यदि आपके पास एक अच्छा सेवा रिकॉर्ड व उत्कृष्ट शैक्षिक योग्यताएं हैं तो आप अवर सचिव की पोस्ट तक भी प्रमोशन प्राप्त कर सकते हैं. अवर-सचिव की पोस्ट सामान्यत: IAS अधिकारियों द्वारा ही भरी जाती हैं. सकल वेतन, करियर ग्रोथ और अन्य लाभ इस रैंक के तहत काफी ज्यादा हैं. वे उम्मीदवार जो कई प्रयासों के बावजूद भी IAS परीक्षा को उत्तीर्ण करने में विफल हो जाते हैं उनके लिए SSC CGL, IAS अफसर के समान अधिकारी बनने के लिए सर्वश्रेष्ठ अवसरों में से एक हैं. आपको असिस्टेंट सेक्शन अधिकारी से इस पद तक प्रमोशन लेने में कई साल लग सकते हैं. अत: हम आपको IAS परीक्षा की तैयारी के साथ SSC CGL परीक्षा की तैयारी करने की सलाह दी जाती हैं. शेष आपके चुनाव पर निर्भर करता हैं.   

3.इनकम टैक्स इंस्पेक्टर

इस पोस्ट की कुछ मूल जानकारियां निम्नलिखित है-

ग्रेड- ‘सी’

विभाग- केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड

वेतनमान:- रु० 9300 – 34800

ग्रेड पे- रु० 4800

आयु सीमा: 30 साल से अधिक नहीं

एक इनकम टैक्स इंस्पेक्टर, केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड के अधीन कार्य करता हैं जोकि प्रत्यक्ष कर यानि आयकर, संपत्ति कर, कॉर्पोरेट टैक्स, इत्यादि वसूलने का कार्य करता हैं. केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड, वित्त मंत्रालय के राजस्व विभाग के अंतर्गत आता हैं. इस विभाग के अन्दर दो अनुभाग आते हैं-

कैसे - SSC गौरवशाली करियर के लिए पहला कदम हो सकता है?

  1. मूल्यांकन अनुभाग (Assessment Section)- यह अनुभाग टैक्स का मूल्यांकन करने के लिए उत्तरदायी हैं.
  2. गैर-मूल्यांकन (Non-Assessment Section)- यह अनुभाग छापे द्वारा टैक्स को वसूलने के लिए जिम्मेदार हैं.

इनकम टैक्स इंस्पेक्टर के रूप में, आपको प्रमोशनस निम्नलिखित रूप में प्राप्त होंगे-

 

पहला प्रमोशन नियुक्ति के 4-6 साल के बाद इनकम टैक्स ऑफिसर के रूप में होता हैं जो की ग्रेड-‘बी’ राजपत्रित पोस्ट हैं. शेष प्रमोशनस आपकी अन्तर्विभागीय परीक्षाओं में प्रदर्शन और सेवा रिकॉर्ड पर निर्भर करते हैं. इस प्रोफाइल के तहत प्रमोशन इतनी आसानी से नहीं होते हैं इसके लिए आपको बहुत श्रम करना होता हैं.

भावी अवसर

इस जॉब प्रोफाइल के अंतर्गत, उम्मीदवार आयकर विभाग में सहायक आयुक्त की पोस्ट तक जा सकते हैं जोकि एक ग्रेड-‘ए’ पोस्ट हैं. सामान्यत: यह पोस्ट उन उम्मीदवारों को प्रदान की जाती हैं जो कि UPSC सिविल सेवा की परीक्षा को उत्तीर्ण करते हैं. यदि आप सिविल सेवा की परीक्षा को उत्तीर्ण करने में नाकाम रहते हैं तो आप SSC CGL परीक्षा की तैयारी करके इसमें उपस्थित हो सकते हैं क्योंकि यह आपके लिए विभिन्न सरकारी विभागों और मंत्रालयों में ग्रेड-‘ए’ अधिकारी के रूप में कार्य करने हेतु एक नया पड़ाव हो सकता हैं.

4.इंस्पेक्टर (सेंट्रल एक्साइज, प्रिवेंटिव ओफ्फिसरौर एग्जामिनर)

इस पोस्ट की कुछ मूल जानकारियां निम्नलिखित है-

ग्रेड- ‘बी’

विभाग- केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड (CBEC)

वेतनमान:- रु० 9300 – 34800

ग्रेड पे- रु० 4600

आयु सीमा: 30 साल से अधिक नहीं

एक इंस्पेक्टर के रूप में, आपकी नियुक्ति केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सी०बी०ई०सी०) विभाग में होगी. केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सी०बी०ई०सी०) एक नोडल राष्ट्रीय एजेंसी हैं जोकि भारत में सीमा शुल्क, जीएसटी, केंद्रीय उत्पाद शुल्क, सेवा कर और नारकोटिक्स की निगरानी करती हैं. यह विभाग वित्त मंत्रालय के राजस्व विभाग के अंतर्गत आता हैं.  

सी०बी०ई०सी० विभिन्न करों जिसमें सीमा शुल्क, जीएसटी, केंद्रीय उत्पाद शुल्क, सेवा कर और नारकोटिक्स सम्मिलित है, को नियंत्रित करती हैं. यह विभाग कर वसूली से सम्बंधित विभिन्न गतिविधियों को निष्पादित करने के लिए इंस्पेक्टर्स की नियुक्ति करता हैं. सी०बी०ई०सी० इस विभाग में विभिन्न कार्यों के लिए इंस्पेक्टर्स (प्रिवेंटिव ऑफिसर, एग्जामिनर और सेंट्रल एक्साइज) की नियुक्ति करता हैं. इसके साथ, इन सभी उल्लेखित पोस्ट्स के लिए प्रमोशन पालिसी, भावी प्रमोशन की पोस्ट्स, वेतन और अन्य लाभ समान होते हैं.  

सी०बी०ई०सी० अपनी प्रमोशन पॉलिसी के साथ बहुत तर्कसंगत हैं. लेकिन प्रारंभिक स्तर पर आपको एक इंस्पेक्टर के रूप में शुरू करना होगा. कुछ वर्षों तक सेवा में रहने के बाद, आपको निम्नलिखित क्रम में प्रमोशन मिलेगा-

इंस्पेक्टर से अधीक्षक की पोस्ट तक पहुँचने के लिए करीब 5-7 सालों का समय लगता हैं. इस विभाग में प्रमोशन की संभावनायें बहुत ही कम हैं. यह पोस्ट की उपलब्धता, आपके कार्यकाल और अन्तर्विभागीय परीक्षाओं में आपकी मेरिट पर निर्भर करता हैं.

कैसे - SSC गौरवशाली करियर के लिए पहला कदम हो सकता है?

भावी अवसर

चूँकि इस विभाग में पोस्ट्स की संख्या बहुत कम हैं और अधीक्षक के बाद अगला पद सहायक आयुक्त का हैं. यह वो पोस्ट होती हैं जोकि युवा IRS ऑफिसर को पेश की जाती हैं. अत: यदि आपका एक अच्छा सेवा रिकॉर्ड और सभी टैक्सों की समुचित जानकारी हैं जो कि सी०बी०ई०सी० संभालती हैं, तो आपको सहायक आयुक्त तक प्रमोशन मिलने की संभावना काफी अधिक है. इसके बाद, आप IAS संवर्ग के अंतर्गत रखे जायेंगे. इसके आगे के प्रमोशनस, सरकार की नीतियों के तहत IAS अफसरों की भांति ही प्रदान किये जायेंगे. अब यह आपका चुनाव हैं कि क्या आप SSC CGL परीक्षा की तैयारी करेंगे या नहीं?

5.असिस्टेंट एन्फोर्समेंट ऑफिसर

इस पोस्ट की कुछ मूल जानकारियां निम्नलिखित है-

ग्रेड- ‘बी’

विभाग- प्रवर्तन निदेशालय, राजस्व विभाग

वेतनमान:- रु० 9300 – 34800

ग्रेड पे- रु० 4600

आयु सीमा: 30 साल से अधिक नहीं

प्रवर्तन निदेशालय एक अन्वेषण एजेंसी हैं जोकि प्राथमिक रूप से भारत में काले धन को वैध बनाने वालों और इससे सम्बंधित गतिविधियों की निगरानी का कार्य करती हैं. प्रवर्तन निदेशालय का मुख्य उद्देश्य दो अहम् कानूनों को लागू करना होता हैं- FEMA (Foreign Exchange Management Act) और PMLA (Prevention of Money Laundering Act).

एक असिस्टेंट एन्फोर्समेंट ऑफिसर के रूप में नियुक्त होने के बाद, आपका करियर निम्नलिखित क्रम में आगे बढ़ता हैं-

प्रवर्तन अधिकारी के रूप में पहला प्रमोशन लेने में करीब 4-7 साल का समय लगता हैं और आगे की पोस्ट्स पाने के लिए, आपको व्यवहारिक डोमेन का विस्तृत ज्ञान होना चाहिए जिसे हांसिल करने के लिए आपको कठिन परिश्रम करना होगा और साथ ही एक अच्छा सेवा रिकॉर्ड भी बनाकर रखना होता हैं. सहायक निदेशक पोस्ट पर प्रमोशनस आपके अन्तर्विभागीय परीक्षाओं में प्रदर्शन और सरकार के नियमों पर निर्भर करता हैं. अन्तर्विभागीय परीक्षाओं के माध्यम से, आपके विभाग से सम्बंधित व्यवहारिक ज्ञान का परीक्षण किया जाता हैं.

भावी अवसर

प्रवर्तन निदेशालय में सहायक निदेशक एक ऐसी पोस्ट हैं जोकि सामान्यत: युवा और ऊर्जावान IAS अफसरों को दी जाती हैं. इस प्रतिष्ठित रैंक और आपके आरंभिक औदे के बीच में केवल एक ही पोस्ट हैं. अत: प्रवर्तन निदेशालय में उम्मीदवारों को IAS अफसर (सहायक निदेशक) के बराबर बनने के कई लाभप्रद अवसर प्राप्त होते हैं. बाकी आपके चयन पर निर्भर हैं.

नोट: उपरोक्त लेख में, हमने आपको कुछ पदों और उनसे सम्बंधित तथ्यों की पुष्टि करके कुछ सुझाव प्रदान किये हैं. ये सभी पद आपको आपके करियर में आगे बढ़ने के वृहद अवसर प्रदान करते हैं. इसके अलावा, ऐसा कोई ज़रूरी नहीं हैं कि आप केवल इन्हीं पोस्ट्स को चुनें. आप अपनी पसंद और वरीयता के आधार पर कोई भी पोस्ट चुन सकते हैं.

SSC CGL 2018 को क्रैक करने के लिए 5 दैनिक रूटीन प्रैक्टिसेज

यदि आपको कैसे - SSC गौरवशाली करियर के लिए पहला कदम हो सकता है?” के बारे में दी गयी जानकारी उपयोगी लगी हो तो SSC परीक्षा 2018 के बारे में इस तरह की अधिक जानकारी के लिए www.jagranjosh.com/staff-selection-commission-ssc पर विजिट करें.

DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.

Commented

    Latest Videos

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Newsletter Signup
    Follow us on
    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK
    X

    Register to view Complete PDF