]}
Search

जानें ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए क्या है योग्यता, चयन प्रक्रिया, सैलरी और कहां मिलेगी नौकरी?

ड्रग इंस्पेक्टर का पद केंद्र और राज्य सरकार के स्वास्थ्य से जुड़े मंत्रालयों एवं विभागों, विभिन्न स्वास्थ्य परियोजनाओं (जैसे- राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, परिवार एवं बाल कल्याण कार्यक्रम, तंबाकू नियंत्रण), आदि के अंतर्गत होता है.

Apr 2, 2019 16:23 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

ड्रग इंस्पेक्टर का पद केंद्र और राज्य सरकार के स्वास्थ्य से जुड़े मंत्रालयों एवं विभागों, विभिन्न स्वास्थ्य परियोजनाओं (जैसे-राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, परिवार एवं बाल कल्याण कार्यक्रम, तंबाकू नियंत्रण), आदि के अंतर्गत होता है. ज्यादातर मामलों में ड्रग इंस्पेक्टर के पदों पर भर्ती संघ लोक सेवा आयोग या संबंधित राज्य के लोक सेवा आयोग द्वारा समय-समय पर की जाती है. ड्रग इंस्पेक्टर का कार्य होता है कि वह ऐसे सभी कारोबारी इकाईयों की जांच करें जहां खाद्य पदार्थ, दवायें, ड्रग्स, कॉस्मेटिक या अन्य संबंधित वस्तुओं का उत्पादन, रख-रखाव, भंडारण या बिक्री की जाती है. उपभोक्ता वस्तुओं की देख-रेख कर रही बिजनेस संस्थानों में साफ-सफाई की निगरानी एवं जांच की भी जिम्मेदारी ड्रग इंस्पेक्टर की होती है.

किसी भी प्रकार की अनियमितता की स्थिति में संस्थान का लाइसेंस रद्द करने का अधिकार भी ड्रग इंस्पेक्टर के पास होता है. बैक्टिरियल एवं अन्य केमिकल परीक्षणों के लिए सैंपल एकत्रित करना, अशुद्ध, नकली, नशीली, क्षतिग्रस्त, आदि वस्तुओं को जब्त करना और उन्हें नष्ट कराने की जिम्मेदारी ड्रग इंस्पेक्टर की होती है. दवाओं आदि की नियमों एवं शर्तों आदि के बारे में को लोगों को जागरूक करना भी ड्रग इंस्पेक्टर के कार्यों में शामिल है. अपनी जांचों में प्राप्त निष्कर्षों की रिपोर्ट बनाना, संबंधित अधिकारियों को प्रस्तुत करना और संबंधित नियमों को स्थानीय प्रशासन के माध्यम से लागू कराने का भी कार्य ड्रग इंस्पेक्टर द्वारा किया जाता है..

ड्रग इंस्पेक्टर की भूमिका उपभोक्ता वस्तुओं, विशेषरूप से दवाओं, के निर्माण से लेकर बिक्री तक की सभी चरणों में नियमों के पालन एवं किसी भी प्रकार की अनियमितता के रोकथाम के संदर्भ में बहुत महत्वपूर्ण होती है. इसलिए ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए आवश्यक स्किल्स में से जरूरी है कि इन वस्तुओं आदि से संबंधित नियमों, प्रावधानों और मानकों की पूरी जानकारी हो.

ड्रग इंस्पेक्टर के लिए कितनी होनी चाहिए योग्यता?

ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से किसी भी विषय में फार्मेसी या फार्मास्यूटिकल साइंस या क्लिनिकल फार्मेकोलॉजी या माइक्रोबॉयोलॉजी में स्पेशियलाजेशन के साथ मेडिसीन के क्षेत्र में स्नातक डिग्री उत्तीर्ण होना चाहिए. साथ ही, किसी दवा निर्माण कंपनी या संस्थान में कार्यानुभव रखने वाले उम्मीदवारों को वरीयता दी जाती है या कुछ भर्ती संस्थानों में पूर्व कार्य अनुभव आवश्यक होता है.

ड्रग इंस्पेक्टर के लिए कितनी है आयु सीमा?

ड्रग इंस्पेक्टर बनने के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार की आयु 21 वर्ष से 30 वर्ष के बीच हो. हालांकि, कुछ संस्थानों में अधिकतम आयु सीमा 35 वर्ष या अधिक भी हो सकती है. आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों को अधिकतम आयु सीमा सरकार के नियमानुसार छूट दी जाती है.

ड्रग इंस्पेक्टर के लिए चयन प्रक्रिया

ड्रग इंस्पेक्टर के पद पर उम्मीदवारों का चयन आमतौर पर शैक्षणिक रिकॉर्ड, लिखित परीक्षा और व्यक्तिगत साक्षात्कार के आधार पर किया जाता है. लिखित परीक्षा में फार्मेसी और सामान्य ज्ञान से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं.

कितनी मिलती है ड्रग इंस्पेक्टर को सैलरी?

ड्रग इंस्पेक्टर के पद पर सातवें वेतन आयोग के लेवल – 7 के अनुसार रु. 44,900 – 1,42,400/- के अनुरूप सैलरी दी जाती है इसके अतिरिक्त गृह किराया भत्ता (एच.आर.ए.), परिवहन भत्ता, आदि देय होता है. वहीं, राज्य सरकारों के विभागों एवं संस्थानों में वेतनमान संबंधित राज्य के समकक्ष स्तर पर निर्धारित वेतनमान के अनुसार दिया जाता है जो कि राज्य के अनुसार अलग-अलग होता है.

ड्रग इंस्पेक्टर की कहां मिलेगी सरकारी नौकरी?

ड्रग इंस्पेक्टर का पदों पर भर्ती संघ लोक सेवा आयोग या संबंधित राज्य के लोक सेवा आयोग द्वारा समय-समय पर की जाती है. इन सभी रिक्तियों के बारे में भारत सरकार के प्रकाशन विभाग से प्रकाशित होने वाले रोजगार समाचार, दैनिक समाचार पत्रों एवं सरकारी नौकरी की जानकारी देने वाले पोर्टल्स या मोबाइल अप्लीकेशन के माध्यम से अपडेट रहा जा सकता है.

Rojgar Samachar eBook

यह भी पढ़ें: सामान्य ज्ञान क्विज

इस नौकरी को पाने के लिए पढ़ें करेंट अफेयर्स

Related Stories