Search

फूड इन्स्पेक्टर कैसे बनते है? क्या होनी चाहिए योग्यता और कितनी मिलती है सैलरी ?

आइए दोस्तों आज हम जानते हैं एक ऐसे करियर के बारे में जिसे फ़ूड इन्स्पेक्टर कहते हैं. फ़ूड इन्स्पेक्टर का दायित्व हमारे भोजन के क्वालिटी स्टैण्डर्ड की जाँच करना है. इस आर्टिकल के  अंतर्गत हम फूड इन्स्पेक्टर की जॉब ड्यूटी, एवरेज सैलरी और करियर आउटलुक के बारे में जानेंगे

Mar 25, 2019 17:38 IST
Food Inspector

आइए दोस्तों आज हम जानते हैं एक ऐसे करियर के बारे में जिसे फ़ूड इन्स्पेक्टर कहते हैं. फ़ूड इन्स्पेक्टर का दायित्व हमारे भोजन के क्वालिटी स्टैण्डर्ड की जाँच करना है. इस आर्टिकल के  अंतर्गत हम फूड इन्स्पेक्टर की जॉब ड्यूटी, एवरेज सैलरी और करियर आउटलुक के बारे में जानेंगे -

तो सबसे पहले हम जानते हैं कि फ़ूड इन्स्पेक्टर का काम क्या है -

फूड इन्स्पेक्टर का काम खाने की क्वालिटी स्टैण्डर्ड की जाँच करना तथा यह सुनिश्चित करना है कि जो खाना हम लोग खाते हैं वह कीटाणु रहित हो और किसी भी प्रकार से प्रदूषित नहीं हो. खाने में जिन इन्ग्रेडिएन्ट्स का इस्तेमाल हो रहा है उनकी स्वच्छता, जिस बर्तन में कुकिंग की जा रही है उसकी हाईजीन आदि की जाँच करना भी फूड इन्स्पेक्टर की हीं जिम्मेदारी है.

फूड इन्स्पेक्टर की ड्यूटी फूड डिस्ट्रीब्यूटर, प्रोसेसर, और मैन्युफैक्चरर आदि की निगरानी कर वहाँ तैयार किए जा रहे खाद्य पदार्थों को तय मानक के हिसाब से निरंतर शुद्ध और बैक्टीरिया रहित बनाए रखने के लिए जाँच करते रहना है. आमतौर पर हेल्थ डिपार्टमेंट्स, फैक्ट्रीज और विशेष एजेंसियां अपने यहाँ फूड इन्स्पेक्टर की नियुक्ति करते हैं.

मार्केट में बेचे जाने से पहले या राज्य अथवा केंद्र सरकार द्वारा प्राप्त किये जाने से पहले अनाज़ की क्वालिटी की जाँच करना भी फूड इन्स्पेक्टर का हीं काम होता है. इम्पोर्ट की प्रक्रिया में फ़ूड सेफ्टी रिक्वायरमेंट्स के हिसाब से खाने और खाद्य सामग्री की जाँच करना भी फ़ूड इंस्पेक्टर के जिम्मे हीं आता है.

फूड इन्स्पेक्टर के लिए क्या होनी चाहिए शैक्षणिक योग्यता -

किसी भी स्ट्रीम में बैचलर डिग्री फूड इन्स्पेक्टर बनने के लिए न्यूनतम एजुकेशनल क्वालिफिकेशन है. तीन वर्षीय डिग्री कोर्स के बाद कैंडिडेट्स फ़ूड इंस्पेक्टर के एग्जाम के लिए ईलीजिबल हो जाता है यह एग्जाम सेन्ट्रल और विभिन्न स्टेट गवर्नमेंट द्वारा कंडक्ट की जाती है. इसके अलावा बायोलॉजी, मैथ्स, फिजिक्स तथा एग्रीकल्चरल साइंस में स्नातक की डिग्री कैंडिडेट्स के लिए एक्स्ट्रा एडवांटेज का काम करती है.

फूड इन्स्पेक्टर बनने के लिए कैंडिडेट्स में कुछ ख़ास कौशल होना आवश्यक है -

1) अभ्यर्थी शारीरिक रूप से मजबूत हो ताकि दिए गए फील्ड वर्क को करने में आसानी से सक्षम हो सके.

2)  वह नज़रों का तेज़ हो तथा देख और सूंघकर खाने की क्वालिटी तथा उसके रंग एवं गंध की पहचान करने में दक्ष हो.

3) अभ्यर्थी को शारीरिक तथा मानसिक रूप से अस्वास्थकर वातवरण में भी काम करने के लिए तैयार रहना होगा क्यूँकि मीट-पैकिंग प्लांट्स में भी इन्हें ड्यूटी करनी पड़ती है जहाँ की परिस्थिति कई मायनों में हज़ारड्स और अनसेनेटरी होती है.

फूड इन्स्पेक्टर बनने के इच्छुक अभ्यर्थी बैचलर डिग्री कम्पलीट करने के बाद अलग-अलग राज्यों तथा सेंट्रल गवर्नमेंट द्वारा आयोजित फूड इन्स्पेक्टर परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं.

गवर्नमेंट जॉब के लिए अन-इच्छुक अभ्यर्थी विभिन्न फूड प्रोसेसिंग यूनिट्स में जॉब के लिए ट्राई कर सकते हैं.

कितनी मिलती है सैलरी -

गवर्नमेंट सेक्टरों में फ़ूड इंस्पेक्टर की जॉब के लिए स्टार्टिंग सैलरी करीबन 35,000 से 40,000 दी जाती है प्लस पर्क्स. अलग-अलग राज्यों में इस जॉब के लिए अलग-अलग सैलरी दी जा सकती हैं. प्राइवेट सेक्टर में फ़ूड इंस्पेक्टर के लिए स्टार्टिंग सैलरी 20, 000 के लगभग होती है.

आयु सीमा -18 - 42 वर्ष

हालाँकि अलग-अलग राज्यों के पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा जारी किये जाने वाले फ़ूड इंस्पेक्टर के पदों के लिए उम्र सीमा में परिवर्तन हो सकता है. लेकिन सामान्यत: उम्र सीमा 18 - 42 वर्ष के बीच और शैक्षणिक योग्यता ग्रेजुएट होता है. इसके लिए आप वेकेंसी भरते समय योग्यता और पात्रता मानदंडों को एक बार अवश्य देख लें.

लेटेस्ट गवर्नमेंट जॉब्स ऑनलाइन

Rojgar Samachar eBook