]}
Search

बैंक में स्पेशलिस्ट ऑफिसर की कौन-कौन सी हैं सरकारी नौकरियां और क्या होनी चाहिए योग्यता?

किसी भी बैंक के ऑपरेशन में स्पेशलिस्ट ऑफिसर की भूमिका काफी अहम होती है. ये स्पेशलिस्ट ही हैं जो कि बैंक की बेस्ट परफोर्मेंस को सुनिश्चित करते हैं. बैंक में स्पेशलिस्ट ऑफिसर अलग-अलग विभागों में होते हैं जो कि उनकी शैक्षणिक, तकनीकी एवं कार्यक्षमता के अनुसार निर्धारित होते हैं.

Oct 4, 2018 11:08 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

किसी भी बैंक के ऑपरेशन में स्पेशलिस्ट ऑफिसर की भूमिका काफी अहम होती है. ये स्पेशलिस्ट ही हैं जो कि बैंक की बेस्ट परफोर्मेंस को सुनिश्चित करते हैं. बैंक में स्पेशलिस्ट ऑफिसर अलग-अलग विभागों में होते हैं जो कि उनकी शैक्षणिक, तकनीकी एवं कार्यक्षमता के अनुसार निर्धारित होते हैं.

बैंकों में स्पेशलिस्ट ऑफिसर के पद

बैंकों में स्पेशलिस्ट ऑफिसर के विभागों के अनुसार निर्धारत होते हैं जो कि ज्यादातर राष्ट्रीयकृत बैंकों में समान ही होते हैं, ये निम्नलिखित हैं-

  • इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ऑफिसर
  • एग्रीकल्चरल फील्ड ऑफिसर
  • लॉ ऑफिसर
  • एचआर/पर्सोनल ऑफिसर
  • मार्केटिंग ऑफिसर
  • ऑफिशियल लैग्वेज ऑफिसर

इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ऑफिसर

किसी भी बैंक में इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी से जुड़े मामलों की देख-रेख एवं सुचारू प्रचालन के लिए इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ऑफिसर की भूमिका महत्वपूर्ण है. इस विभाग कई उप-विभाग भी होते हैं – डाटा सेंटर, एटीएम सेक्शन, प्रोजेक्ट ऑफिस, सिक्यूरिटी सेक्शन और एमआइएस व अप्लीकेशन सिस्टम.

यह भी पढ़ें : बैंकिंग सामान्य ज्ञान

लॉ ऑफिसर

बैंक के लीगल मामलों की देख-रेख के लिए लॉ ऑफिसर की नियुक्ति की जाती है. विभिन्न मुद्दों पर विधिक विचार देना, रिपोर्ट एवं पत्राचार, नोटिस, आदि से संबंधित कार्य लॉ ऑफिसर अलग-अलग विभागों के अनुसार सुनिश्चित करता है.

एचआर/पर्सोनल ऑफिसर

बैंक में कर्मचारियों की नियुक्ति, प्रशिक्षण एवं उनके वेतन और अन्य मामलों की देख-रेख के लिए एचआर/पर्सोनल ऑफिसर की नियुक्ति की जाती है. एचआर/पर्सोनल ऑफिसर की जिम्मेदारी है कि सभी कर्मचारी अधिक से अधिक कार्य समर्पण के साथ करें. बैंक में इम्पलॉईज से जुड़ी नीतियां बनाना भी एचआर/पर्सोनल ऑफिसर की ही जिम्मेदारी होती है.

मार्केटिंग ऑफिसर

बैंक के आगे बढ़ने में मार्केटिंग ऑफिसर की भूमिका अहम होती है. बैंक के प्रोडक्ट्स एवं सोल्यूशंस को अधिक से अधिक सेल करना और आगे बढ़ाने के लिए नीतियों का निर्माण करना, सभी मार्केटिंग ऑफिसर की जिम्मेदारी होती है. मार्केटिंग ऑफिसर बहुत मार्केटिंग टूल्स का इस्तेमाल करता है, जैसे – मार्केटिंग मैटेरियल, लीफलेट, पोस्टर्स, टेलीविजन, मैगजीन एवं न्यूजपेपर्स में विज्ञापन, आदि.

एग्रीकल्चरल ऑफिसर

एग्रीकल्चरल ऑफिसर की नियुक्ति ज्यादातर बैंक के ग्रामीण इलाकों में स्थित ब्रांचों में की जाती है. एग्रीकल्चरल ऑफिसर ग्रामीण उपभोक्तों के लिए प्रोडक्ट्स बनाना, स्कीम बनाना और नीतियों के लिए निर्माण के लिए उत्तरदायी होता है. एग्रीकल्चरल ऑफिसर कृषि एवं संबंधित सामान्य कार्यों के लिए ऋण संबंधित नीतियों का भी निर्माण करता है.

बैंक जॉब की तैयारी कैसे करें, जाने टिप्स

ऑफिशियल लैग्वेंज ऑफिसर

उपरोक्त सभी तरह के स्पेशलिस्ट ऑफिसर्स ज्यादातर सभी बैंकों में होते हैं. हालांकि, कई बैंकों में स्पेशलिस्ट ऑफिसर के पदों की लिस्ट में राजभाषा अधिकारी या ऑफिशियल लैग्वेंज ऑफिसर भी शामिल है. ऑफिशियल लैग्वेंज ऑफिसर का जिम्मेदारी होती है कि बैंक के दैनिक प्रचालन में राजभाषा अर्थात हिंदी के इस्तेमाल से संबंधित नीतियां बनाएं और उनके पालन के लिए कर्मचारियों एवं ग्राहकों के प्रोत्साहित करें.

बैंकों में स्पेशलिस्ट ऑफिसर की भर्ती प्रक्रिया

भारतीय बैंकिंग वैयक्तिक संस्थान (आइबीपीएस) देश के राष्ट्रीयकृत बैंकों में विभिन्न क्षेत्र में स्पेशलिस्ट ऑफिसर की भर्ती के लिए ऑल इंडिया भर्ती परीक्षा का आयोजन करता है. इस परीक्षा में शामिल होने के लिए आवश्यक है कि उम्मीदवार उस विधा, जिसमें में वे स्पेशलिस्ट ऑफिसर बनना चाहते हैं, के लिए निर्धारत शैक्षणिक/तकनीकी योग्यता रखते हैं. आइबीपीएस के अतिरिक्त भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) भी स्पेशलिस्ट ऑफिसर के पदों पर भर्ती के लिए ऑल इंडिया लेवल पर परीक्षा का आयोजन करता है.

Rojgar Samachar eBook

Related Stories