Search

फुल-टाइम जॉब के साथ SSC CHSL परीक्षा की तैयारी कैसे करें?

इस अनुच्छेद में, हम फुल-टाइम जॉब के साथ SSC CHSL परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के टिप्स, विधियों, और रणनीतियों पर चर्चा करेंगे।

Nov 16, 2018 11:11 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
SSC CHSL preparation tips
SSC CHSL preparation tips

SSC CHSL, SSC CGL परीक्षा के बाद दूसरी सबसे अधिक लोकप्रिय और प्रतीक्षित परीक्षा है। हम में से कई लोग यह स्पष्ट रूप से जानते है कि यह एक फुल-टाइम जॉब के साथ SSC CHSL परीक्षा को निश्चित रूप से क्लियर किया जा सकता है क्योंकि SSC CHSL परीक्षा में पूछे गए सवाल 10 + 2 स्तर के होते है| इसलिए, आपको केवल 10 + 2 स्तर के क्वांटिटेटिव एपटीट्युड और रीजनिंग अनुभाग को तैयार करना चाहिए। जबकि, अंग्रेजी भाषा अनुभाग से पूछे गए सवाल सामान्यत:  10वीं कक्षा के स्तर के होते है। इसके अलावा, हम आपको हमारे अनुभव के आधार पर यह सुनिश्चित कर सकते है कि उम्मीदवार कुछ विशेष टिप्स और नीतियों जिनमे समय प्रबंधन और सम्बंधित विषयों की सिस्टेमेटिक स्टडी सम्मिलित है, निश्चित रूप से अपने प्रयासों के बल पर इस परीक्षा को क्रैक कर सकते है|

अब, कई उम्मीदवार यह सोच रहे होंगे कि इस उद्देश्य को कैसे प्राप्त किया जा सकता है? आप किसी भी अधिक महत्वता वाले विषय पर विशेष रूप से ध्यान केंद्रित करके दैनिक / साप्ताहिक योजना बनाने करके ऐसा कर सकते है। यह अभ्यास आपके ज्ञान, कौशल, और क्षमताओं के आत्म मूल्यांकन के लिए फायदेमंद है क्योंकि केवल आप ही है जो अपने समय की कीमत, अपनी प्राथमिकताएं, और महत्वाकांक्षा के बारे में जानता है|

इस लेख में, हम फुल-टाइम जॉब के साथ SSC CHSL परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के टिप्स, विधियों, और रणनीतियों पर चर्चा करेंगे। आइये इस पर एक नजर डालते हैं-

How to Crack SSC CHSL Exam?

 

SSC CHSL परीक्षा:  फुल-टाइम जॉब के साथ तैयारी

टिप्स और ट्रिक्स पर जाने से पहले, हम आपसे कुछ बिंदुओं को आपके मस्तिष्क में डालना चाहते हैं।

- SSC CHSL परीक्षा को क्लियर करने के लिए, एक उम्मीदवार को सभी अनुभागों और उनके संबंधित विषयों के अध्ययन के लिए प्रतिदिन न्यूनतम 4-5 घंटे समर्पित करने चाहिए।

- कड़ी मेहनत और आत्मविश्वास जीवन के किसी भी पहलू और इस परीक्षा में सफलता की एकमात्र कुंजी  है।

अब, हम इस उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए इस श्रृंखला में मुख्य बिंदुओं को देखते है-

SSC परीक्षा में सामान्य जागरूकता की तैयारी हेतु विश्वसनीय स्त्रोत

अपने ज्ञान का आकलन करें

शेष चरणों पर जाने से पहले, यह तैयारी का पहला कदम है कि आप क्वांटिटेटिव एपटीत्युड, रीजनिंग, इंग्लिश कॉम्प्रिहेंशन और सामान्य ज्ञान सहित इन विषयों में अपने कमजोर और मजबूत क्षेत्रों की पहचान करके अपने ज्ञान का मूल्यांकन करें| ऑनलाइन क्विज़ और मोक्क परीक्षण इसे प्राप्त करने के लिए सबसे अच्छे साधनों में से एक है क्योंकि यह आपको इन प्रश्नों के कठिनाई स्तर और पूछे गए सवालों की किसी विषय से गिनती  की सही समझ देगा।

समय सारणी

आपको अपना अध्ययन शुरू करने से पहले अध्ययन के लिए एक व्यावहारिक समय सारिणी तैयार कर लेनी आवश्यक है। अपने कार्यालय समय के अलावा, आपको प्रति दिन 4-5 घंटे का अध्ययन करना चाहिए। इसलिए, अपनी सुविधा के अनुसार प्रत्येक दिन प्रत्येक विषय के अध्ययन के लिए एक समय रेखा तैयार करें। किसी दिन आप इस कार्यक्रम को जारी रखने में सक्षम नहीं होते हैं, तो इस समय की भरपाई अन्य दिनों में विशेष रूप से छुट्टियों पर करें|

अध्ययन के साथ अपने दिन की शुरुआत करें

सुबह जल्दी उठने की आदत बनाये और इस अवधि में विषयों का अध्ययन करने की एक योजना बनायें। यह वो समय है जो पढने के लिए अधिक उपयुक्त है, क्योंकि आप जो कुछ भी पढ़ते और समझते है, यह एक लंबे समय के लिए आपके दिमाग में रहता है। यह वैज्ञानिक रूप से भी सिद्ध हो चुका है कि अगर आप  प्रात: 04:30-06:00 के बीच अध्ययन करते हैं तो यह आपकी  स्मृति प्रणाली के लिए अधिक फायदेमंद है क्योंकि यह सीखें गए तथ्यों को एक दूसरे से सम्बंधित करने में मस्तिष्क की क्षमता को सुधारता है।

हम आपको सुबह में कम से कम 2 घंटे अध्ययन करने का सुझाव देते है ताकि आप अवधारणाओं, टिप्पणियों, और कठिन सवालों सहित कठिन विषयों को कवर कर सकें। आम तौर पर, कोई भी नौकरी सुबह 10:00 बजे से शुरू होती है। इसलिए, 6:00 बजे से 8:00 बजे पूर्वाह्न के बीच अपने अध्ययन की योजना बनाये और शेष कार्यालय में जाने  के लिए सामान्य गतिविधियों को 08:00-9:00 बजे के बीच में करें। यह सलाह दी जाती है कि आप प्रति दिन सुबह में कम से कम 2 घंटे का अध्ययन अवश्य करें।

SSC उम्मीदवारों के लिए शीर्ष 10 प्रेरणादायक कथन

सप्ताह के अंत में कोचिंग कक्षाओं में भाग लें

SSC ने SSC CHSL सहित सभी परीक्षाओं से साक्षात्कार का चरण समाप्त कर दिया है, इसलिए इस परीक्षा में भविष्य में कठिन प्रतियोगिता होगी क्योंकि हर साल उम्मीदवारों द्वारा  CHSL परीक्षा के लिए पंजीकरण करने में तेज़ी से वृद्धि हुई है। इसलिए आपके लिए यह संभव नहीं होगा कि आप नौकरी के साथ-साथ नोट्स और अभ्यास सामग्री, शॉर्टकट ट्रिक्स, और समस्या के समाशोधन  के संग्रह सहित तैयारी से संबंधित अन्य गतिविधियों को अपनी दैनिक दिनचर्या में शामिल नहीं कर पायें। इसलिए, हम आपको सप्ताहांत पर कोचिंग कक्षाओं में शामिल होने की सलाह देते हैं। इससे आसानी से समस्या और जटिल अवधारणाओं को क्लियर करने में मदद मिलेगी। आम तौर पर अधिकांश उम्मीदवार  पूर्वधारणा बना लेते है कि एक नौकरी के साथ कोचिंग सेंटर में जाना समय लेने वाला, महंगा, और अव्यावहारिक है। यह धारणा पूरी तरह से है कोचिंग संस्थानों की प्रति आपके अतीत-अनुभवों और दृष्टिकोण पर निर्भर करता है।

सप्ताहांत का उपयोग

सप्ताहांत आपके लिए SSC CHSL की तैयारी करने के लिए एक महत्वपूर्ण इनाम की तरह है। आम तौर पर अधिकांश संगठनों में शनिवार और रविवार दोनो दिनों सप्ताहांत के रूप में कर्मचारी को दिए जाते हैं जबकि कुछ संगठन अपनी प्रक्रिया में आपको एक सप्ताह में केवल एक ही दिन प्रदान करते है। एक दिन में 24 घंटे होते हैं, इसलिए आपको सप्ताहांत पर कम से कम 8 घंटे एक दिन में समर्पित करने चाहिए। इस दृष्टिकोण के अनुसार, आप हर हफ्ते 16 घंटे और एक महीने में 64 घंटे के लिए अध्ययन करते है। अब, इस रणनीति के साथ सप्ताहांत में अध्ययन करते हुए हम आपको निश्चित रूप से इस तरह की परीक्षा में इच्छित परिणाम प्राप्त होने के लिए  आश्वस्त कर सकते हैं। 

पहले कमजोर क्षेत्रों को तैयार करें

हर विषय में हमेशा कुछ विषय होते है, जो बहुत विशिष्ट और जटिल होते हैं। उदाहरण के लिए, क्षेत्रमिति, बीजगणित, त्रिकोणमिति और ज्यामिति सबसे कठिन और ज्यादा समय लेने वाले लगते हैं और SSC CHSL परीक्षा में इस प्रकार के सवाल  बहुलता में पूछे जाते है। इसी तरह, पजल टेस्ट (Puzzle test), डेटा पर्याप्तता, कोडित असमानताओं और कोडिंग-डिकोडिंग रीजनिंग अनुभाग से इस तरह के विषय हैं। रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन और पैराग्राफ कम्पलीशन अंग्रेजी अनुभाग के लिए इस प्रकार के टॉपिक है।

SSC CHSL और बैंक क्लर्क परीक्षा की तैयारी साथ-साथ कैसे करें?

इसलिए, इस तरह के विषयों पर अधिक ध्यान केंद्रित करें और इन समस्याओं को दूर करने के लिए शॉर्टकट चालों को जानने की सलाह दी जाती है। एपटीट्युड अनुभाग की शॉर्टकट चालें परीक्षा में अन्य वर्गों के प्रश्नों को हल करने के लिए आपका बहुत समय बचाते हैं। इस तरह के शॉर्टकट चाल शेष विषयों के लिए नहीं हो सकती। इसलिए, इस तरह के विषयों के लिए और अधिक समय का आवंटन करें और उपलब्ध समय में अधिक से अधिक अभ्यास करें।

अंग्रेजी विषय आपका मित्र है

परीक्षा हॉल में, उम्मीदवारों में से अधिकांशत: इंग्लिश लैंग्वेज सेक्शन को सबसे कठिन मानते है क्योंकि इसमें शॉर्टकट चालें शामिल नहीं है। हालांकि, दूसरी ओर, यह जीके अनुभाग के बाद सबसे स्कोरिंग और कम समय लेने वाला खंड है। यदि आप अंग्रेजी भाषा और ग्रामर के विलोम शब्द, पर्यायवाची, शब्दावली, पार्ट्स ऑफ़ स्पीच, वाक्य शुद्धिकरण, और सेंटेंस कम्पलीशन जैसी मूल बातें जानते है, तो इस विषय को हैंडल करना आपके लिए एक बच्चों का खेल जैसा होगा।

इसलिए, इस स्तर को प्राप्त करने के लिए, हम आपको एक अंग्रेजी पत्रिका या एक मानक समाचार पत्र या साहित्य और व्याकरण पर आधारित किसी भी एक मानक अंग्रेजी पुस्तक के माध्यम से जाने की सलाह देते हैं। आप "हिन्दू" समाचार पत्र और अपनी दैनिक दिनचर्या में "Wren and Martin" पुस्तक को शामिल कर सकते हैं।

सकारात्मक रहें

सकारात्मक और अपनी तैयारी के बारे में आशावादी बनें। थकान और अनियमित अध्ययन से हतोत्साहित नहीं होना चाहिए। यदि आप सही तरीके से अपनी तैयारी कर रहे हैं, तो सफलता को निश्चित रूप से प्राप्त किया जा सकता है। इसलिए, तैयारी के दौरान आंतरिक और बाह्य कारकों के बीच संतुलन बनाये रखें।

15 वेबसाइट्स, जो एसएससी में आपका सिलेक्शन करवा सकती है

हम  www.jagranjosh.com पर आपको  SSC की तैयारी के बारे में सभी जानकारी प्रदान करने के लिए समर्पित हैं। अधिक अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारी वेबसाइट पर आते रहें।

शुभकामनाएं!

Related Stories