भारत में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस में करियर शुरू करने के विशेष टिप्स पढ़ें यहां

अगर आप भारत में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस में अपना करियर शुरू करना चाहते हैं तो आपके पास कुछ बेसिक स्किल्स जरुर होने चाहिए, जिनके लिए हम इस आर्टिकल में कुछ विशेष टिप्स पेश कर रहे हैं.

Created On: Feb 19, 2021 17:43 IST
Careers in Artificial Intelligence
Careers in Artificial Intelligence

आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस दरअसल एक कंप्यूटर आधारित सिस्टम है और यह सिस्टम मतौर पर मनुष्य के स्किल्स के समान सभी जरुरी काम कर सकता है. आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस सिस्टम में स्पीच रिकग्निशन, विजूअल परसेप्शन, लैंग्वेज आइडेंटिफिकेशन और डिसीजन मेकिंग जैसे महत्त्वपूर्ण आस्पेक्ट्स शामिल हैं. हमारे आस-पास के कई सिस्टम्स वॉयस कमांड्स पर काम कर रहे हैं और ये आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस सिस्टम के बहुत अच्छे उदाहरण हैं. दुनिया में वर्ष, 1950 में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस की शुरुआत के बाद से सिरी, अलेक्सा, कॉर्टोना और ड्राईवरलेस कारें अब आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस का काफी अच्छा और सफल उदाहरण हैं. इन दिनों भारत में 40 हजार से अधिक आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस प्रोफेशनल्स काम कर रहे हैं और हमारी अर्थव्यवस्था में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस का वार्षिक योगदान 230 मिलियन अमेरिकी डॉलर से कुछ अधिक है. हमारे देश में बैंगलोर आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस का प्रमुख केंद्र है और एक हज़ार से अधिक कंपनियां अपने कामकाज में रोजाना आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल कर रही हैं.

भारत में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के लिए जरुरी एजुकेशनल क्वालिफिकेशन

इस फील्ड में करियर शुरू करने के लिए स्टूडेंट्स ने किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की हो. विभिन्न आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस प्रोग्राम्स के लिए स्टूडेंट्स के पास बेसिक कंप्यूटर टेक्नोलॉजी की जानकारी के साथ मैथ्स बैकग्राउंड हो. इस फील्ड में एंट्री लेवल जॉब्स के लिए कैंडिडेट के पास संबद्ध फील्ड में कम से कम बैचलर डिग्री होनी चाहिए और सुपरवाइज़री पोजीशन्स या एडमिनिस्ट्रेटिव पोजीशन्स के लिए मास्टर डिग्री या पीएचडी की डिग्री जरुरी है. इस फील्ड के लिए जरुरी कुछ जरुरी कोर्सेज हैं – कॉग्निटिव साइंस थ्योरी, कंप्यूटर साइंस, कंप्यूटर लैंग्वेजेज एंड कोडिंग, फिजिक्स, इंजीनियरिंग, रोबोटिक्स, ग्राफिकल मॉडलिंग, स्टैट्स, प्रोबैबिलिटी, अलजेब्रा, लॉजिक, अल्गोरिथ्म्स और बेसिक मैथ्स.

भारत में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के विभिन्न कोर्सेज करवाने वाले इंस्टीट्यूट्स/ यूनिवर्सिटीज 

हमारे देश में आप निम्नलिखित इंस्टीट्यूट्स/ यूनिवर्सिटीज से आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के प्रमुख कोर्सेज कर सकते हैं:

•    हैदराबाद यूनिवर्सिटी
•    आईआईटी, बॉम्बे
•    आईआईटी, मद्रास
•    आईआईएससी, बैंगलोर
•    आईएसआई, कोलकाता

आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस में करियर शुरु करने के लिए जरुरी स्किल सेट

  • कंप्यूटर लैंग्वेजेज इस फील्ड में करियर शुरू करने के लिए कैंडिडेट्स को विभिन्न कंप्यूटर लैंग्वेजेज जैसेकि, पाइथन, सी++, आर, जावा आदि की अच्छी जानकारी होनी चाहिए.
  • स्टैटिस्टिकल स्किल्स इस फील्ड के पेशेवरों को प्रोबैबिलिटी और स्टैट्स की काफी अच्छी समझ होनी चाहिए क्योंकि स्टैटिस्टिकल थ्योरीज से अल्गोरिथ्म्स को समझने में मदद मिलती है.
  • एप्लाइड मैथ्स और अल्गोरिथ्म्स अगर आपको अल्गोरिथम थ्योरीज की समझ और जानकारी है तो आप समझ सकते हैं कि अल्गोरिथम कैसे काम करता है? फिर आप एसवीएमस जैसे विभिन्न मॉडल्स में अंतर कर सकते हैं. आप समेशंस की भी परख कर सकते हैं.
  • डिस्ट्रिब्यूटेड कंप्यूटिंग आजकल मशीन लर्निंग जॉब्स में काफी ज्यादा डाटा पर काम करना होता है. आप एक सिस्टम पर इतने ज्यादा डाटा की प्रोसेसिंग नहीं कर सकते हैं. इस डाटा को आपको पूरे क्लस्टर में डिस्ट्रीब्यूट करना पड़ता है. क्लाउड, एप्चे हडूप और ईसी2 जैसे प्रोजेक्ट्स इस काम को आसान और किफायती बनाते हैं.
  • यूनिक्स टूल्स आपको इस पेशे के लिए सभी यूनिक्स टूल्स में भी महारत हासिल करनी चाहिए ताकि आप इनका अच्छी तरह इस्तेमाल कर सकें.
  • एडवांस्ड सिग्नल प्रोसेसिंग टेक्नीक्स आपको अपने पेशे में एडवांस्ड सिग्नल प्रोसेसिंग अल्गोरिथ्म्स जैसेकि, वेवलेट्स, कर्वलेट्स, शियरलेट्स और बैंडलेट्स का अच्छी तरह इस्तेमाल करना आना चाहिए.
  • लेटेस्ट अपडेट्स इस पेशे में अपना सफल करियर बनाने के लिए आपको इस फील्ड में सभी लेटेस्ट अपडेट्स की जानकारी रखनी चाहिए. इस संबंध में आप फ्री मशीन लर्निंग बुक्स ऑनलाइन पढ़ सकते हैं.

आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के प्रमुख करियर्स/ जॉब प्रोफाइल्स


•    कंप्यूटर साइंटिस्ट
•    कंप्यूटर इंजीनियर
•    सॉफ्टवेयर एनालिस्ट
•    सॉफ्टवेयर डेवलपर
•    मशीन लर्निंग इंजीनियर
•    आईओटी आर्किटेक्ट
•    कॉग्निटिव सॉफ्टवेयर इंजीनियर
•    रिसर्च साइंटिस्ट/ डाटा साइंटिस्ट 
•    इंजीनियरिंग कंसलटेंट
•    रोबोटिक टूल्स के साथ काम करने वाले सर्जिकल टेक्नीशियन्स
•    ग्राफ़िक आर्ट्स डिज़ाइनर
•    टेक्सटाइल मैन्युफैक्चरर एंड आर्किटेक्ट
•    डिजिटल म्यूजिशियन
•    मैकेनिकल इंजीनियर
•    इलेक्ट्रिकल इंजीनियर
•    मेंटेनेंस टेक्नीशियन 
•    मैन्युफैक्चरिंग इंजीनियर
•    मेडिकल हेल्थ प्रोफेशनल्स
•    मिलिट्री एंड एविएशन इलेक्ट्रीशियन
•    एंटरटेनमेंट प्रोडूसर 

 

आइये आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस की फील्ड के कुछ प्रमुख करियर ऑप्शन्स की अब चर्चा करें:

·         मशीन लर्निंग इंजीनियर

ये पेशेवर आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस में स्पेशलाइज्ड एक्सपर्ट्स होते हैं. ये ऐसी मशीन्स तैयार करते हैं जो मनुष्य के सुपरविजन के बिना बिहेवियर क्यूज और एक्सपीरियंस से सीख कर स्पेसिफिक टास्क्स पूरे करती हैं. हालांकि ये पेशेवर कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के एक्सपर्ट होते हैं, सॉलिड मैथमेटिकल बैकग्राउंड के साथ ये पेशेवर क्लाउड एप्लीकेशन्स में भी माहिर होते हैं. इन पेशवरों को कुछ वर्ष के अनुभव के बाद बड़े ब्रांड्स में 36 लाख रूपए सालाना का सैलरी पैकेज मिल सकता है.

·         आईओटी आर्किटेक्ट 

इंटरनेट ऑफ़ थिंग (आईओटी) आर्किटेक्ट्स वे अनुभवी पेशेवर होते हैं जो क्लाउड प्लेटफॉर्म्स, एसएएएस, आईओटी, एम2एम और सिक्यूरिटी से संबंधित मुश्किल प्रॉब्लम्स के उपयोगी सोल्यूशन्स पेश करने के साथ ही टेक्नोलॉजिकल मार्केटिंग और एनालिटिकल स्किल्स का इस्तेमाल सिस्टम्स को मैनेज करने के लिए करते हैं. ये पेशेवर अपनी कंपनी के आईओटी इंफ्रास्ट्रक्चर को सुपरवाइज करके अपनी कंपनी को अच्छे रिजल्ट हासिल करने में मदद करते हैं. बड़ी मल्टीनेशनल कंपनियों में इन पेशेवरों को लगभग 40 लाख रु. एवरेज सालाना सैलरी पैकेज मिल सकता है.

·         कॉग्निटिव सॉफ्टवेयर इंजीनियर

पूरी दुनिया में कारोबार में कॉग्निटिव सिस्टम्स का महत्व लगातार बढ़ रहा है. इस वजह से इस फील्ड के पेशेवरों की मांग भी लगातार बढ़ती जा रही है. कॉग्निटिव सॉफ्टवेयर इंजीनियर्स का मुख्य काम अनस्ट्रक्चर्ड डाटा को हैंडल करना होता है इसलिए उन्हें मशीन लर्निंग, कंप्यूटर लैंग्वेज प्रोसेसिंग और स्टैट्स की फ़ील्ड्स की काफी अछि जानकारी होनी चाहिए. बड़ी कंपनियों में इन पेशेवरों को लगभग 40 लाख रु. एवरेज सालाना तक का सैलरी पैकेज मिल सकता है.

·         डाटा साइंटिस्ट

डाटा साइंटिस्ट्स ऐसे एक्सपर्ट्स होते हैं जो अनेक डाटा प्वाइंट्स (स्ट्रक्चर्ड और अन-स्ट्रक्चर्ड) को मैनेज और ऑर्गनाइज करने के लिए मैथ्स, स्टेटिस्टिक्स और प्रोग्रामिंग के अपने विशेष स्किल्स का इस्तेमाल करते हैं. डाटा साइंटिस्ट्स का प्रमुख काम उपलब्ध डाटा से मीनिंग निकालना और उस डाटा को इन्टरप्रेट करना होता है. इस काम के लिए डाटा साइंटिस्ट्स स्टेटिस्टिक्स और मशीन लर्निंग के टूल्स और मेथड्स की मदद से अपने विभिन्न काम करते हैं. इस फील्ड में इन पेशेवरों को शायद सबसे बढ़िया सैलरी पैकेज मिलता है. हमारे देश में एक एक्सपर्ट डाटा साइंटिस्ट को कुछ वर्षों के अनुभव के बाद मल्टीनेशनल या बड़ी कंपनियों में एवरेज 90 लाख रु. या उससे अधिक का सालाना सैलरी पैकेज मिल सकता है.

·         आईटी एक्सपर्ट

आईटी सेक्टर में रोजाना बेशुमार डाटा जनरेट और ट्रांसफर होता है. इस काम में हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर और सर्वर एप्लीकेशन्स के साथ ऑपरेटिंग सिस्टम्स शामिल होते हैं. लेकिन क्योंकि, सारा डाटा तो सभी लोगों और इंडस्ट्रीज आदि के लिए उपयुक्त और उपयोगी नहीं होता है इसलिए मशीन लर्निंग टेक्नीक  क्लीन डाटा पर काम करते हुए आईटी सेक्टर के संचालन में निरंतर पॉजिटिव सुधार लाती है. इस कारण कोई भी आईटी एंटरप्राइज रिएक्टिव एप्रोच के बजाए प्रोएक्टिव एप्रोच अपना लेता है. आजकल हमारे देश में भी तकरीबन हरेक कंपनी में आईटी डिपार्टमेंट जरुर होता है. हमारे देश में आमतौर पर अच्छी फर्म्स आईटी एक्सपर्ट्स को रु. 8 लाख – 10 लाख सालाना के एवरेज सैलरी पैकेज पर जॉब उपलब्ध करवाती हैं.  

भारत में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस के टॉप जॉब प्रोवाइडर्स

भारत में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस की फील्ड में प्रमुख जॉब प्रोवाइडर कंपनियों की लिस्ट निम्नलिखित है:

•    आईबीएम कॉर्पोरेशन
•    माइक्रोसॉफ़्ट कॉर्पोरेशन
•    गूगल
•    कॉम, इंक.
•    कॉग्निजेंट
•    पियर्सन
•    ब्रिज-यू
•    ड्रीमबॉक्स लर्निंग
•    फिशट्री
•    जेलीनोट
•    जेंजबार, इंक.
•    न्यूटन, इंक.
•    मेटाकॉग, इंक.
•    क्वेरियम कॉर्पोरेशन
•    सेंचुरी-टेक लिमिटेड
•    ब्लैकबोर्ड, इंक.
•    थर्ड स्पेस लर्निंग
•    क्वांटम एडेप्टिव लर्निंग, एलएलसी

भारत में आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस में मिलने वाला सैलरी पैकेज

भारत में इस फील्ड में किसी एक्सपर्ट पेशेवर की एवरेज सैलरी रु. 8.7 लाख रुपये सालाना तक हो सकती है. भारत की कुछ बड़ी ब्रांड कंपनियां जैसेकि, अमेज़न इंडिया, गूगल, फ्लिपकार्ट आदि इन पेशेवरों  को आमतौर पर रु.12 लाख – 18 लाख प्रतिवर्ष का सैलरी पैकेज ऑफर करती हैं. हमारे देश में स्थित कई स्टार्टअप कंपनियां मशीन लर्निंग जॉब्स के लिए एक्सपर्ट पेशेवरों को रु. 8 लाख – 15 लाख प्रति वर्ष का सैलरी पैकेज ऑफर करती हैं. इस फील्ड में अनुभव बढ़ने के साथ आपका सैलरी पैकेज भी बढ़ता ही जाता है.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

जानिए ये हैं दुनिया में मशीन लर्निंग के लेटेस्ट ट्रेंड्स

जानिए ये हैं कंप्यूटर और आईटी प्रोफेशनल्स के लिए फ्री ऑनलाइन मशीन लर्निंग कोर्सेज

भारत में उपलब्ध हैं मशीन लर्निंग के ये प्रमुख कोर्सेज

Related Categories