Search

कैसे अपनी प्रतिभा को पहचानें?

इस लेख में हम उन चरणों, टिप्स और प्रक्रियाओं पर चर्चा करने की कोशिश करेंगें जिनके माध्यम से आप न सिर्फ अपनी प्रतिभा को पहचान पाएंगे बल्कि उसे विकसित भी कर पाएंगे और अपने दैनिक जीवन में सफल होने के लिए उसका प्रयोग भी करेंगे.

Aug 21, 2017 19:22 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
अपनी प्रतिभा को पहचानें
अपनी प्रतिभा को पहचानें

मेरे स्कूल के दिनों से, मेरे माता-पिता, रिश्तेदारों और शिक्षकों ने मुझे बताया है कि मैं बेहद प्रतिभाशाली बच्ची थी। मुझे उस टिप्पणी पर गर्व था, लेकिन मुझे नहीं पता था कि यह सिर्फ एक धोखा है। किसी की प्रतिभा को पहचानना या उसकी पहचान करना वास्तव में कठिन काम है और सबसे महत्वपूर्ण भी। प्राकृतिक प्रतिभा व्यक्तित्व और पहचान का एक सहज हिस्सा है। दूसरे शब्दों में, यह वही है जो परिभाषित करता है कि आप कौन हैं और यह जीवन की सफलताओं में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं; चाहें यह शैक्षणिक, पेशेवर, सामाजिक या किसी अन्य क्षेत्र में हो।

यह जीवन में सबसे बड़ी सफलता मंत्रों में से एक होने के बावजूद भी कई लोग वास्तव में अपनी प्रतिभा से अवगत नहीं हैं। प्रतिभा के बारे में जागरूकता की कमी के पीछे मुख्य कारणों में से एक यह है कि काफ़ी लोग असलियत में प्रतिभा को पहचानने और निखारने की प्रक्रिया को नहीं जानते। वे अपनी प्रतिभाओं से पूरी तरह अनजान होते हैं।

जाने ये बातें यदि आप भी बनना चाहते है डॉक्टर

नीचे, हम उन महत्वपूर्ण चरणों, युक्तियों और प्रक्रियाओं पर चर्चा करने की कोशिश करेंगे, जिनके द्वारा आप केवल अपनी प्रतिभा की पहचान ही नहीं कर सकते हैं परन्तु उन्हें केसे निखारना है और केसे अपने दैनिक जीवन में उपयोग करना है यह भी जानेंगे।

(i) सही सवाल पूछें
अपने छिपे हुए प्रतिभा को पहचानने के लिए सबसे पहला कदम जो आपको लेना चाहिए वह ये है कि अपने आप से सवाल पूछना और सबसे महत्वपूर्ण सवाल यह है कि आपको अपने बचपन से सबसे अधिक यादगार दिन के बारे में सोचना चाहिए। दूसरे शब्दों में, यदि आप अपने बचपन से कुछ याद कर सकते हैं जिस चीज़ से आप सभी संभावनाओं में आनंद लेने के लिए उपयोग करते हैं तो वो आपकी प्रतिभा है।
दूसरा और इससे भी महत्वपूर्ण सवाल यह है कि आपको अपने आप से यह पूछना चाहिए कि ऐसी कौनसी चीज़ हैं जिनमें आप बचपन में आनंद उठाते थे और आज भी उठाते हैं। ऐसी कौनसी activity या skill है जिन्हें आप लक्ष्य प्राप्त करने या कुछ पाने
के लिए नहीं करते परन्तु आप उन्हें करने के बाद आनंदित रहते हैं।

Ask the right questions

Image Source: plus.google.com/116822446501279713317

यदि आप इन प्रश्नों को पूछ सकते हैं और उनके सही उत्तर प्राप्त कर सकते हैं, तो आपके पास अपनी छिपी हुई प्रतिभा को मिलने की संभावना है।

(ii) अपनी कौशल (skill) और प्रतिभा (talent) के बीच अंतर जाने
प्रतिभा हमारे व्यक्तित्व का एक अभिन्न अंग है और इसलिए कभी-कभी हमारी अपनी पहचान का हिस्सा बनने के बावजूद हम इसके लायक या महत्त्व को महसूस करते हैं। कभी-कभी, हम इन महत्वपूर्ण प्रतिभाओं को हमारे पास कई कौशलों में से एक मानते हैं जो हमारे पास हैं। हालांकि, हमारे जीवन में कौशल बहुत महत्वपूर्ण हैं, लेकिन समय की अवधि में उन्हें विकसित और हासिल किया जाता है। दूसरी ओर, प्रतिभाएं ऐसी होती हैं जिनके साथ हम पैदा होते हैं और वे हमारे व्यक्तित्व का एक स्वाभाविक हिस्सा बनाती हैं।

Differentiate between skill and talent

Image Source: angelabrook.com

बारहवीं के बाद क्या हो सकते हैं शानदार करियर ?

इसलिए, बाद में इसे और अधिक केंद्रित दृष्टिकोण की आवश्यकता होती है जब विकास की बात आती है। एक बार जब आप ट्रेनिंग द्वारा प्राप्त skills और आपकी प्राकृतिक पैदा की प्रतिभाओं के बीच भेद जान लेते हैं, तो आप दोनों को स्वतंत्र रूप से विकसित करने के लिए समर्पित युक्ति का उपयोग कर सकते हैं जिससे वे एक-दूसरे का समर्थन कर सकें।

(iii) तारीफ़ और फीडबैक पर ध्यान केंद्रित करें
हम में से ज़्यादातर लोग हमें प्राप्त होने वाली प्रशंसाओं पर ध्यान नहीं देते हैं लेकिन उनमें एक सन्देश छिपा रहता है। अपनी प्रतिभाओं को पहचानने के लिए सबसे सरल और सबसे प्रभावी तरीके से आपके द्वारा प्राप्त फीडबैक और प्रशंसा पर ध्यान केंद्रित करना है। अपने साथियों, दोस्तों, परिवार वालों, शिक्षकों और अजनबियों से प्राप्त फीडबैक आपके व्यक्तित्व में असली प्रतिभा या छिपी हुई प्रतिभा की पहचान करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

focus on the compliments and feedbacks

 Image Source: orgchart4u.com

प्रत्येक तारीफ और प्रतिक्रिया को आप गंभीरता से प्राप्त करें, उसकी प्रामाणिकता का मूल्यांकन करें और कोशिश करें और समझें कि क्या यह आप में एक असली छिपी प्रतिभा पर संकेत करता है।

(iv) ओवर-बोर्ड जाने से बचें - आसान और सरल प्रारंभ करें
उस प्रतिभा को पहचानने के लिए जो हमें सफलता की दिशा में आगे बढ़ाएगा, हम खुद पर बहुत अधिक दबाव डालते हैं। मैंने देखा है कि लोग कई चीजें उठाते हैं और उन गतिविधियों पर अत्यधिक प्रयास करते हैं जिन पर उन्होंने कभी अपने जीवन में कोशिश नहीं की और ना ही उनमें कभी अपना हित दिखाया। याद रखें, प्रतिभा आपकी पहचान और व्यक्तित्व का एक स्वाभाविक हिस्सा है, इसलिए इन्हें(प्रतिभा) को आवश्यकता नहीं है आप पर दबाव डाले, वास्तव में वे आप के पास स्वाभाविक रूप से आएंगी|

Avoid overboarding

Image Source: ndoherty.com

इसलिए, मैं पाठकों को कुछ साधारण और आसान कार्य शुरू करने के लिए सलाह देती हूँ और एक या अधिकतम दो चीज़ों पर ध्यान केंद्रित करिए।


(v) अपने आराम क्षेत्र में खुद को सीमित न करें
हालांकि, आपकी प्रतिभा की पहचान करने की कोशिश करते समय ओवर-बोर्ड जाने से बचना महत्वपूर्ण है, लेकिन आपके आराम क्षेत्र से बाहर जाना भी उतना ही महत्वपूर्ण है। सिर्फ इसलिए कि आपके पास प्रतिभा है, इसका मतलब यह नहीं है कि आप इसे अपनी क्षमता के अनुसार सबसे अच्छा उपयोग करने में सक्षम होंगे। जबकि प्रतिभा प्राकृतिक है, इसे श्रेष्ठता पूर्वक बाहर निकालने के लिए कड़ी मेहनत और समर्पण की आवश्यकता है।

Come out of your comfort zone

Image Source: thenextweb.com

इसलिए, लोगों के लिए अपनी सुविधा क्षेत्र से बाहर निकलना और सफलता हासिल करने के लिए अपनी प्रतिभा तैयार करना महत्वपूर्ण है।

(vi) सोचना बंद करें, करना शुरू करें
अब आप अपनी प्रतिभाओं के बारे में सोचना बंद करें और वो चीज़े करना शुरू करें जिनसे उन्हें पहचानने और निखारने में मदद मिलेगी। जब तक आप उस गिटार को नहीं उठाते हैं जिसे आप हमेशा प्यार करते हैं, वो आपके पास कभी नहीं आएगा और आपको बजाने के लिए बोलेगा। यदि आप अत्यधिक प्रतिस्पर्धी हैं और फुटबॉल को देखने के लिए अत्यधिक उत्सुक रहते हैं तो आप कभी भी यह नहीं महसूस करेंगे कि आप इस क्षेत्र में भी अच्छे हैं, जब तक कि आप मैदान में प्रवेश करने का निर्णय नहीं लेते हैं। दूसरे शब्दों में, आपको न केवल सही गतिविधि या प्रतिभा को चुनना है, बल्कि उन चीजों को भी करना है जो वास्तव में आपकी प्रतिभाओं का समर्थन करते हैं और उन्हें तैयार करते हैं।

Start doing

Image Source: pinterest.com

एक पुरानी कहावत है-
हम बाद में उन चीजों पर पछतावा करते हैं जो हमने नहीं किए।
आज हम क्या हैं यह इस बात पर निर्भर करता है कि कल क्या किया था। कल हम क्या होंगे इस बात पर निर्भर करेगा की आज हम क्या कर रहे हैं।

ये टिप्स आपके फिज़िक्स, केमिस्ट्री और मैथ को करेंगे और मज़बूत

Related Stories