Air Force Day 2020: जानें महिलाएं इंडियन एयरफोर्स कैसे ज्वाइन कर सकती हैं?

8 अक्टूबर को भारतीय वायुसेना ने गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरफोर्स पर अपनी 88वीं वर्षगांठ बनाई. हर साल इंडियन एयर फोर्स हिंडन बेस पर अपनी वर्षगांठ का आयोजन करता है. हर बार की तरह, इंडियन एयर फोर्स ने इस बार भी हिंडन बेस पर अपनी ताकत का प्रदर्शन किया. 

Created On: Oct 8, 2020 21:19 IST
Women in Indian Armed Force 2020
Women in Indian Armed Force 2020

8 अक्टूबर को भारतीय वायुसेना ने गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरफोर्स पर अपनी 88वीं वर्षगांठ मनाई. हर साल इंडियन एयर फोर्स हिंडन बेस पर अपनी वर्षगांठ का आयोजन करता है. हर बार की तरह, इंडियन एयर फोर्स ने इस बार भी हिंडन बेस पर अपनी ताकत का प्रदर्शन किया. 

इंडियन एयर फोर्स मिनिस्ट्री ऑफ डिफेंस की बड़ी ताकतों में से एक है. इसका गठन 8 अक्टूबर 1932 को किया गया था.  बता दें कि इंडियन एयर्फोर्स के वायुयान ने अपनी पहली उड़ान  1 अप्रैल, 1933  को भरी थी.

जैसा कि आप जानते है किआज जबकि महिलायें जीवन के सभी क्षेत्रों में पुरुषों से बराबरी का स्पर्धा कर रही है और उन क्षेत्रों में भी अपनी उपस्थिति दर्ज करा रही हैं जहाँ कभी पुरुषों का वर्चस्व हुआ करता था तो फिर भारतीय रक्षा बल भला कैसे अपवाद हो सकता है. जैसा कि आप जानते हैं कि एक समय था जब भारतीय रक्षा बल में केवल पुरूष उम्मीदवार ही नौकरी के लिए आवेदन कर सकते थे. लेकिन अब ऐसा नहीं है. भारतीय सशस्त्र बलों के तीनों अंग अर्थात सेना,नौसेना और वायु सेना सहित  देश के अन्य रक्षा संगठनों ने महिलाओं के लिए अपने दरवाजे खोल दिए है.  अब इन क्षेत्रों में भी महिलाएं आवेदन कर सकती हैं. इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि महिलाएं इंडियन एयरफोर्स में किन पदों के लिए और कैसे आवेदन कर सकती हैं. आइए जानते हैं.

इंडियन एयरफोर्स जॉइन करने के लिए जरुरी है कि आप ग्रेजुएट हों और इसे जॉइन करने के लिए आपको सबसे पहले AFCAT यानी एयर फोर्स common admission test देना होगा.  इस परीक्षा में प्राप्त अंको के आधार पर ही आपको एयरफोर्स में एंट्री मिलेगी. इसके साथ ही आपको बता दें कि सीडीएस और एनडीए के जरिए सिर्फ पुरुष उम्मीदवारों की एंट्री की जाती है.

इंडियन एयर फोर्स में महिलाएं तीन तरीके से जॉइन कर सकती है:

  • एफसीएटी एंट्री
  • एनसीसी स्पेशल एंट्री
  • शॉर्ट सर्विस कमीशन स्पेशल एंट्री

एफसीएटी एंट्री

एयर फोर्स जॉइन करने के लिए जरूरी है कि आपने AFCAT क्लियर किया हो. इसे पास कर लेने के बाद कैंडिडेट्स की हायरिंग फ्लाइंग ब्रांच, ग्राउंड ड्यूटी (टेक्निकल) और ग्राउंड ड्यूटी (नॉन टेक्निकल) में की जाती है

फ्लाईंग ब्रांच

अगर आप चाहते हैं लडाकू पायलट बनना तो आप फ्लाइंग ब्रांच में आवेदन कर सकते हैं. बता दें कि इंडियन एयरफोर्स के सभी एयर वॉरियर, एएफसीएटी के द्वारा भर्ती होते है. इसके साथ ही जरुरी है कि आपकी आयु 20 से 24 साल के बीच हो. 

फ्लाईंग ब्रांच में तीन श्रेणियां होती है जिसमें फाइटर, ट्रांसपोर्ट और हेलीकोप्टर्स शामिल है 

इस ब्रांच में आवेदन करने के लिए न्यूनतम लम्बाई 162.5 सेमी है. जहां तक क्वालिफिकेशन का सवाल है तो महिला कैंडिडेट का 60 प्रतिशत अंकों के साथ किसी भी विषय में ग्रेजुएट होना जरूरी है और साथ ही जरूरी है कि कैंडिडेट ने 10+2 स्तर पर गणित एवं भौतिक शास्त्र पास किया है या फिर किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से न्यूनतम 60 प्रतिशत अंकों के साथ बी.ई./बी.टेक. की डिग्री प्राप्त की है.

टेक्निकल ब्रांच (तकनीकी शाखा)

भारतीय वायु सेना को तकनीकी सहायता प्रदान करने के लिए विशेषज्ञ और योग्य उम्मीदवारों को एएफसीएटी परीक्षा के माध्यम से टेक्निकल ब्रांच में लिया जाता है. जिसमें दो तरह की तकनीकी सेवा होती है - एरोनॉटिकल इंजीनियर और एरोनॉटिकल इंजीनियर मैकेनिकल. 

इन दोनों विंग्स में शामिल होने के लिए जरूरी है कि कैंडिडेट ने 10+ 2 pattern में  फिजिक्स और मैथेमैटिक्स पढ़ी हो जिसमें 50% मार्क्स स्कोर किए हो. इसके साथ ही 4 साल की संबंधित विषय में इंजीनियरिंग में डिग्री प्राप्त की हो.

ग्राउंड ड्यूटी नॉन टेक्निकल - इंडियन एयरफोर्स में ग्राउंड स्टाफ ब्रांच में महिलाओं की भर्ती की जाती है इसमें एयर फोर्स को अपनी डे-टू -डे एक्टिविटीज को मैनेज करने के लिए ग्राउंड स्टाफ की बहुत ज़रूरत पड़ती है जिसमें फीमेल कैंडिडेट्स को भी रिक्रूट किया जाता है। वर्तमान समय में फीमेल ग्राउंड स्टाफ इंडियन एयरफोर्स में 5 ब्रांचेज में ऑफिसर्स के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। जिसमें Administration, Accounts, Logistics, Education and Metrology शामिल हैं.

  • एनसीसी स्पेशल एंट्री

महिला इंडियन एयरफोर्स में पायलट (फ्लाइंग ब्रांच) में जा सकती है। इसके लिए उनको एएफ़सीएटी का एग्जाम क्लियर करना होता है। फीमेल ऑफिसर्स को एसएससी का कार्यकाल मिलता है. इसके साथ ही जरूरी है कि कैंडिडेट के पास वैध कमर्शिअल लाइसेंस होना जरुरी है. इस जॉब का कार्यकाल 10 साल तक का होता है. जो कि आवश्यक्तानुसार 14 साल तक बढ़ाया जा सकता है.

  • शॉर्ट सर्विस कमीशन स्पेशल एंट्री

अगर आपके पास राष्ट्रीय कैडेट कोर के एयर विंग सीनियर डिवीजन ‘सी’ का सर्टिफिकेट है तो आप फ्लाइंग ब्रांच में अप्लाई कर सकती है. इस सर्टिफिकेट के जरिए महिलाओं को  एयरक्राफ्ट और हेलिकोपटर्स उड़ाने का अवसर दिया जाता है लेकिन फाइटर एयरक्राफ्ट के लिए वह एलिजिबल नहीं होती. साथ ही जरुरी है कि आपके पास Commercial Pilot Licence issued by DGCA (India) का सर्टिफिकेट हो. इसके जरिए महिलाओ को शॉर्ट सर्विस कमीशन पर रखा जाता है. जिसकी अवधि 10 साल की होती है. जिसे बाद 4 साल बढ़ाकर आवश्यक्तानुसार 14 साल किया जा सकता है.

कैसे करे आवेदन?

इंडियन एयर फोर्स साल में दो बार इन पदों के लिए नोटिफिकेशन निकालती है. ज्यादातर इन पदों के लिए नोटिफिकेशन जून या दिसंबर के महीने में ही निकलता है. जिसकी जानकारी आप आधिकारिक वेबसाइट या जागरणजोश.कॉम और इसके सरकारी नौकरी ऐप से ले सकते हैं और समय रहते इन पदों पर ऑनलाइन माध्यम से आवेदन कर सकते हैं.