कुछ यूं बनाएं ऑफिस में अपने पहले दिन को एक यादगार दिन

जब आप कोई नौकरी ज्वाइन करते हैं तो ऑफिस के पहले दिन को लेकर आपके मन में कई सवाल आते हैं. अगर आप अपने ऑफिस के पहले दिन को यादगार बनाना चाहते हैं तो आपको कुछ विशेष बातों का ध्यान जरुर रखना होगा.

Created On: Feb 9, 2021 19:50 IST
ऑफिस में अपने पहले दिन को कैसे बनायें यादगार दिन ?
ऑफिस में अपने पहले दिन को कैसे बनायें यादगार दिन ?

हम सभी के जीवन में कुछ क्षण ऐसे होते हैं जो हमें आजीवन याद रहते हैं. जब आप पहली बार या फिर कोई नई जॉब ज्वाइन करते हैं तो ऑफिस के पहले दिन को लेकर आपके मन में थोड़ा भय और थोड़ा उत्साह होता है. बेशक आपके ऑफिस का पहला दिन गुजर ही जाता है और आप कठिन परिश्रम करते हुए निरंतर आगे बढ़ने की कोशिश करते रहते हैं. अनुशासनपूर्वक और तनावरहित होकर हमें अपनी प्रोफेशनल क्वालिटी को हरेक ऑफिस में प्रूव करना होता है और हम ऐसा करते भी हैं. लेकिन अगर आप अपने ऑफिस में पहले ही दिन, अपने सहकर्मियों के साथ पहली मुलाकात को यादगार बनाना चाहते हैं तो आपको कुछ विशेष बातों का ध्यान अवश्य रखना होगा. आइये हम आपको अपने ऑफिस के पहले दिन को एक यादगार दिन बनाने के कुछ महत्त्वपूर्ण टिप्स बताते हैं. इसलिए, आगे जरुर पढ़ें यह आर्टिकल:

टाइम मैनेजमेंट

हमेशा ऑफिस में अपने निर्धारित समय से थोड़ा पहले पहुँचना चाहिए.पहले जब आप किसी लेक्चर को अटेंड करते समय 15 मिनट लेट हो जाते थे तो कोई खास फर्क नहीं पड़ता था.लेकिन अगर अब आप ऐसा करेंगे तो इससे आपकी परफॉरमेंस खराब होगी. ऑफिस में तो आपकी परफॉरमेंस आपके डेली वर्क के आधार पर तय की जाती है. यहाँ अब आपको कोई परीक्षा नहीं पास करनी है लेकिन यह समझ लीजिये हर दिन आपको कोई न कोई एग्जाम देना ही है और उसके लिए एलर्ट रहने की आवश्यकता होती है. कभी ऑफिस समय से पहले नहीं छोड़ें.टाइम का सही मैनेजमेंट कर पाने की स्थिति में ऑफिस में आपकी छवि एक विश्वसनीय कर्मचारी की बनेगी और आप सभी का दिल जीत सकने में सक्षम होंगे. अपना सारा टास्क डेड लाइन से पहले पूरा करें. अगर उसमें कोई टेक्निकल प्रोब्लम आ रही हो तो उस सम्बन्ध में अपने सीनियर से बात करें.

ऑफिस कल्चर

हर जगह या ऑफिस विशेष का अपना अलग कल्चर होता है. इसलिए आपने जिस ऑफिस में ज्वाइन किया है वहां के कल्चर को समझने की कोशिश करें. यह जानने का प्रयत्न करें कि वहां के लोग कैजुअल ड्रेस में आते हैं या फिर फॉर्मल ड्रेस में. क्या फॉर्मली हर चीज के लिए एम्प्लॉयी मेल करते हैं या बातचीत करके काम करते हैं आदि. इससे आपको वहां के कल्चर के अनुरूप काम करने में मदद मिलेगी.

आपका जॉब प्रोफाइल

ऑफिस में जाने के बाद सबसे पहले अपने बॉस से बातचीत करके यह जानने की कोशिश करें कि वे आपसे किस तरह के काम की अपेक्षा रखते हैं? आपकी जॉब रिसपोन्सबिलिटी क्या है ? कंपनी के लक्ष्यों के अनुरूप कार्य करने की योजना बनायें.

आपकी अपीयरेंस भी हो इम्प्रेसिव  

यह कहना गलत नहीं होगा कि हर किसी को अच्छे पर्सनालिटी वाले लोग पसंद आते हैं. गंदे तरीके से रहने वाले लोग को कोई भी पसंद नहीं करता है. यदि आप अपने जॉब में प्रोमोशन तथा सैलरी में वृद्धि चाहते हैं तो स्मार्ट बनने तथा प्रोफेशनल ड्रेसेज पहनने की कोशिश करें. पहले कुछ दिनों तक कम्पनी के कल्चर को गौर से समझें फिर उसमें अपने आप को पूरी तरह से ढाल लें. अपने बॉस को फॉलो करने की कोशिश करें. हो सके तो उसके द्वारा बताये गए नए ड्रेसकोड के अनुरूप ही कपड़े पहने. सबसे बड़ी बात स्वच्छ रहें और आरामदायक कपड़े पहनें.

कीन ऑब्जर्वर बनें

अपने सहयोगियों पर अपने विचारों को थोपना सही नहीं होता है.शुरू के कुछ दिनों में हर किसी को ऑब्जर्व करें तथा सबकी सुने. किसी के द्वारा पूछे या मांगे जाने पर ही अपना सुझाव दें. अपनी राय व्यक्त करते समय विनम्र रहें. शुरू में जितना संभव हो उतना सीखने की कोशिश करें.संदेह होने पर प्रश्न पूछने में संकोच न करें. यह  बात ध्यान में रखें कि कंपनी को पता है कि आप फ्रेशर हैं तथा आप चीजों को जानने,समझने तथा सीखने में समय ले सकते हैं लेकिन आपसे यह हमेशा अपेक्षा की जाती है कि आप चीजों को सही तरीके से समझते हुए बदलावों के अनुकूल कार्य करें तथा हमेशा अपने काम को लेकर एलर्ट रहें.

अपनी कंपनी के बारे में हासिल करें पूरी जानकारी

अपनी कंपनी के विषय में पूर्ण जानकारी हासिल करें. कंपनी द्वारा आयोजित हर प्रोग्राम में भाग लें. ऐसे प्रोग्राम्स में आपको अपने ऑर्गनाइजेशन के अन्य सहयोगियों द्वारा बातचीत करने का मौका मिलेगा. आप दोपहर के लंच के दौरान भी अपने सहकर्मियों से बातचीत कर सकते हैं.अपने ऑर्गनाइजेशन की प्रकृति का आकलन करें, उनकी जरूरतों और लक्ष्यों को समझें और काम करते समय उन्हें ध्यान में रखें. कंपनी की पॉलिसी के बारे में भी जानें. इन सभी जानकारी के लिए कंपनी के एच आर विभाग से संपर्क करें.

अपने विवेक का इस्तेमाल अवश्य करें 

अपने ऑफिस का कैजुअल वातावरण होने के बावजूद भी कभी भी अपने सहकर्मियों की सैलरी के बारे में उनसे नहीं पूछे. साथ ही अगर अपनी टीम को आप सशक्त बनाना चाहते हैं तो कभी भी टीम मेंबर के कामों में दखलंदाजी न करें. हाँ जब जरुरत हो तो उन्हें सही दिशानिर्देश दें. टीम के कार्यों की सराहना करना भी सीखें.

ऑफिस पॉलिटिक्स से रहें दूर  

हर ऑफिस और हर जगह थोड़ी बहुत पॉलिटिक्स तो होती ही है. कभी भी ऑफिस पॉलिटिक्स के चक्कर में न पड़े. बेहतर होगा कि आप इससे दूर ही रहें. जो लोग वर्षों से वहां काम कर रहे हैं, वे आपको ऑफिस पॉलिटिक्स में खींचने की कोशिश करेंगे, जिनसे आपका कोई लेना-देना नहीं है. वे आपके बॉस की आलोचना भी कर सकते हैं.ऐसी स्थिति में सबकी सुने और किसी के बहकावे में नहीं आयें. हो सकता है कि आप अपनी नादानियों की वजह से अपनी नौकरी गवां बैठे. अपने बॉस से अपने काम के विषय में पूछे तथा यह जानने की कोशिश करें कि आपका काम संतोषजनक है या नहीं.

सही दृष्टिकोण का महत्त्व  

अपने सहकर्मियों के साथ अहमेशा च्छा व्यवहार करें, भले ही वे अच्छी प्रतिक्रिया न दें. पहले सप्ताह के अंत तक अपने टीम के सभी मेम्बर्स का नाम जान लेने की कोशिश करें.हमेशा काम पर प्रभावी रिश्ते बनाने की पहल करें. ऑफिस  के फोन या इंटरनेट का मिसयूज न करें. अपने महत्वपूर्ण कार्यों को सुबह आते ही नोट कर लें तथा शाम को ऑफिस छोड़ने से पहले यह चेक कर लें कि आपका कोई जरुरी काम छूट  तो नहीं गया है. अपने साथ एक नोट पैड तथा पेन अवश्य रखें. यदि आप कंप्यूटर पर काम कर रहे हैं, तो हमेशा अपने काम का बैकअप रखें. इसके अतिरिक्त टीम भावना के साथ काम करने का स्पिरिट अपने अन्दर रखें.

यदि आप इन सभी बातों का ख्याल रखेंगे तो अवश्य ही ऑफिस में आपका पहला दिन आपकी जिन्दगी का यादगार दिन बन जायेगा.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

कल्चरल कोशेंट: मनचाही जॉब पाने के लिए जरुरी और सहायक फ़ैक्टर

ये खास टिप्स फ़ॉलो करके पायें स्टार्टअप कारोबार में कामयाबी

प्रोफेशनल सक्सेस के लिए कैसे करें नेटवर्किंग का इस्तेमाल ?