Search

सिविल सेवा परीक्षा में बेहतर Essay कैसे लिखें ?

IAS  परीक्षा में सफल होने के लिए तथा IAS बनने के लिए Essay पेपर में अच्छे नंबर लाना अनिवार्य है.

Aug 3, 2018 16:48 IST

IAS  परीक्षा में सफल होने के लिए तथा IAS बनने के लिए Essay पेपर में अच्छे नंबर लाना अनिवार्य है. देखा जाय तो ये उतना कठिन भी नहीं है क्यूंकि Essay paper में अभ्यर्थी अपनी तैयारी की पूरी झलक दिखा सकता है. Essay में अभ्यर्थी का संपूर्ण व्यक्तित्व सामने आ जाता है तथा उसके समाज तथा उससे जुडी समस्याओं के प्रति दृष्टिकोण भी दिखाई दे जाता है. सिविल सेवा परीक्षा में Essay Paper, एक खुले अवसर की तरह होता है जिसमे ज्यादा से ज्यादा नंबर लाये जा सकते हैं.

Essay Paper आपका रिजल्ट बदल सकता है. Essay पेपर आपका सिलेक्शन निर्धारित कर सकता है तथा कुछ लोगों को ये IAS Exam में टॉप भी करवा सकता है. यह इस बात पर निर्भर करता है की अभ्यर्थी किस तरह का Essay लिखता है. IAS Main Exam के Essay Paper में अधिकतम 250 नंबर लाये का सकते हैं और अगर अच्छा Essay लिखा जाए तो कम से कम 150 नंबर आसानी से मिल सकते है. 150 नंबर आपका रिजल्ट पूरी तरह से बदल सकते हैं. 150 नंबर से 180 नंबर तक लाने के लिए आपको बहुत ही अच्छा Essay लिखना होगा जो की Examiner के दिल को छू जाए.

IAS उम्मीदवारों के लिए शीर्ष 10 प्रेरणादायक Quotes

IAS Main Exam के Essay Paper में मूल रूप से दो Essay लिखने होते हैं. दोनों Essay तीन घंटे में लिखने होते हैं, अतः ये बहुत महत्त्वपूर्ण है की आप प्रत्येक Essay को 1.5 घंटे में प्लान करके लिख लिया जाए. तीन घंटे के समय में अभ्यर्थियों से यह आशा की जाती है की वह कम से कम 2500 -2800 words लिख ले. इसका तात्पर्य यह है की प्रत्येक Essay लगभग 1200-1500 words का होना चाहिए यानी 1.5 घंटे में आपको Essay प्लान भी करना है तथा 1200 – 1500 शब्द लिखना भी है.
हम यहाँ एक अच्छा Essay लिखने के लिए कुछ टिप्स पर बात करेंगे आशा है ये आपकी मदद करेंगे

Topic Selection : 5 मिनट

Topic Selection सबसे महत्वपूर्ण कदम है. आप उसी टॉपिक को चुने जिसमे Essay लिखने में सहज महसूस करें. टॉपिक सिलेक्शन के लिए एक समय सीमा निर्धारित करें क्यूंकि समय कम है. दिए गए टॉपिक के बारे में विस्तृत तरीके से सोचे और यह जानने को कोशिश करें की वास्तव में टॉपिक पूछना क्या चाहता है. IAS Toppers  ये सुझाते हैं की Topic सिलेक्शन मे 5 – 10 मिनट से ज्यादा नहीं लगाने चाहिये.

Topic Selection सबसे महत्त्वपूर्ण है क्योंकि कई बार ये देखा गया है कि अभ्यर्थी एक topic का चुनाव कर लेते हैं और उस topic पर 30 मिनट लिखने के बाद उन्हें यह लगने लगता है की अब आगे क्या लिखें. इसलिए Topic Selection सबसे महत्वपूर्ण कदम है क्योंकि सही Topic Selection आपको आत्मविश्वास से भर सकता है जिससे की आप एक अच्छा Essay लिख सकें.
कभी भी अलग Topic चुनने की गलती ना करें एक सामान्य टॉपिक ही चुने परन्तु ज्यादा म्हणत उसे लिखने में करें. कितने अच्छे उधाहरण देकर आप ओने Essay को सजा सकते हैं इस बात पर सबसे ज्यादा ध्यान देना चाहिए.

ये गलतियां आपको IAS बनने से रोक सकती हैं

Brain storming 10-15 मिनट

इसका अर्थ है की चुने गए टॉपिक के हर पहलु के बारे में गहराई से सोचना. चुने गए टॉपिक के राष्ट्रीय, अंतराष्ट्रीय, सामाजिक,आर्थिक,कानूनी, मानवीय, नैतिक द्रष्टिकोण के बारे में एक जगह (rough)लिख ले. टॉपिक में दिए गए मुद्दे के इतिहास, वर्तमान तथा भविष्य के बारे में भी सोचना चाहिए. चुने गए टॉपिक के बारे में प्रश्न करने से भी बहुत से Points  मिल सकते हैं जिनके बारे में Essay में लिखा जा सकता है. Essay Paper में चुने गए Topic से जुड़े हुए मुद्दों के बारे में भी सोचना चाहिए तथा यदि कोई सामाजिक समस्या उस topic से जुड़ी हुई हो तो उसके निवारण के मार्ग भी बताने चाहिए.

Brain storming करते समय यह भी सोचना चाहिए के चुना हुआ टॉपिक किस तरह से देश से तथा जनता से जुड़ा हुआ है और क्या सरकार इस पर कुछ कार्य कर रही है या इसके लिया कोई पालिसी बना रही है. साथ में यह भी सोचना चाहिए की भविष्य में इस विषय में क्या हो सकता है. Brain storming के लिए 15 से 20 मिनट का समय ही देना चाहिए.

“IAS Topper चन्द्र मोहन गर्ग Essay के लिए SPECLIH स्ट्रेटेजी सुझाते हैं. इसका अर्थ है Think from Social, Political, Economic, Cultural, Legal, International, Humanistic perspective. You can make your own acronym and add more dimensions to think from.”
Points को व्यवस्थित करना

Brainstorming किये हुए points को एक क्रमवार तरीके से सुसज्जित करें ताकि Essay की connectivity बनी रहे. जैसे की विषय के बारे में लिखते समय पहले उसके इतिहास के बारे में लिखना चाहिए तथा उसके बाद वर्तमान के बारे में तथा सबसे अंत में उसके भविष्य के बारे में. अगर विषय में कोई समस्या का विवरन हो तो अंत में उसके निवारण के बारे में उपाय बताने चाहिए. Points को व्यवस्थित करनें में 5 मिनट से ज्यादा समय नहीं देना चाहिए.

IAS टॉपर्स द्वारा सुझाई गई किताबें

Essay लेखन

Essay लिखने के लिए आपको सही शब्दों का चयन करना चाहिए. Essay की भाषा सरल, स्वाभाविक तथा संवैधानिक होनी चाहिए. Essay लिखते समय महापुरुषों द्वारा बोले गए उपयुक्त कथनों को भो लिख सकते हैं. जितना हो सके अपने Point को समझाने के लिए विभिन्न उदाहरण भी देने चाहिए. अगर  सरकारी Data अगर याद हो तो उसका विवरण भी अवश्य दें. अगर विषय से जुड़े हुए किसी सरकारी सर्वे या इंटरनेशनल सर्वे के बारे में पता हो तो उसकी विवरन भी आपको अधिक नंबर दिलवा सकता है. IAS Essay लिखते समय कोई भी बंधन नहीं रखना चहिये तथा वही लिखें जो आपको सही लगता हो चाहें उसके लिए आपको एक नए कानून बनाने के लिए सुझाव देंना पड़े.

Introduction  में Essay के बारे बताना चाहिए की आप क्या लिखने जा रहे हैं. आपके Essay की एक पूरी झलक, Introduction में दिख जानी चाहिए. Introduction, Essay का सबसे महत्त्वपूर्ण भाग है क्यूंकि अच्छा Introduction, आपका Essay पड़ने के लिए Examiner को प्रोत्साहित करेगा तथा अच्छे नंबर देने के लिए प्रष्टभूमि भी तैयार करेगा.
जितना हो सके अपने Point को समझाने के लिए विभिन्न उदाहरण देने चाहिए. अगर सरकारी Data याद हो तो उसका विवरण भी अवश्य दें. अगर विषय से जुड़े हुए किसी सरकारी सर्वे या इंटरनेशनल सर्वे के बारे में पता हो तो उसकी विवरण भी आपको अधिक नंबर दिलवा सकता है.

Introduction तथा  Conclusion में अभ्यर्थी विद्वानों द्वारा कहे गए वाक्य भी उपयोग कर सकता है. महात्मा गाँधी, स्वामी विवेकानंद, जवाहर लाल नेहरु, सुभाष चन्द्र बोसे, रविन्द्र नाथ टैगोर, अटल बिहारी वाजपेयी, इंदिरा गाँधी, भगत सिंह, भीम राव अम्बेडकर, चाणक्य आदि द्वारा दिए गए व्यक्तव्य Essay में उपयोग किये आ सकते हैं.

Essay Body में आप उन Points के बारे में लिखें जो कि Brainstorming से प्राप्त हुए हैं. अपने points के समर्थन में तथा विपक्ष में Facts तथा Analysis लिखनी चाहिए. दोनों में ही उदाहरण देने चाहिए तथा अंत में उस Point को ऐसे समाप्त करना चाहिए जो की सर्व सम्मत हो या सबसे नैतिक हो. Essay के विभिन्न points को ऐसे लिखना चाहिए जिससे की Essay का Flow ना टूटे. इसके लिए एक Point ख़त्म करने वाले पैराग्राफ में ही अगले Point को Introduce कर दें.

किसी भी टॉपिक के बारे में When Why how जरोर लिखना चाहिए. ये वो प्रश्न है जो इतिहास,वर्तमान तथा भविष्य का बोध करते हैं .

Conclusion लिखते समय ये ध्यान रखें की आपका Conclusion Future और Solution oriented हो. अपने Conclusion को हमेशा open ended रखना चाहिए तथा उसे वर्तमान में घट रहे घटनाक्रम के परिणाम से भी जोड़ना चाहिए. हो सके तो अपने Conclusion को एक मिशन Statement से खत्म करें जो की examiner के मन में अमिट चाप छोड़ सके.
Essay में किसी भी Point के समर्थन में तथा विपक्ष में लिखना चाहिए. दोनों में ही उदाहरण देने चाहिए तथा अंत में उस Point को ऐसे ख़तम करना चाहिए जो की सर्व सम्मत हो या सबसे नैतिक हो.

वेबसाइट जो आपके IAS बनने के सपने को कर सकती हैं साकार

प्रैक्टिस

सबसे जरूरी है की अभ्यर्थी Essay लिखने का अभ्यास करे. Exam के दो महीने पेहले से ही Essay लिखने का अभ्यास शुरू कर देना चाहिए तथा हर सप्ताह कम से कम दो सम्पूर्ण Essay लिखने चाहिए. हो सके तो ये दोनों Essay अपने अध्यापक, सीनियर्स या दोस्तों से अवश्य ही चेक करवाएं. चेक होने के बाद अपने Essay को बिंदुवार Discuss करें. Discuss करने से आपको आने

Essay की कमियाँ पता चलेंगी तथा यदि कुछ महत्वपूर्ण विषय छूट गया है तो उसके बारे में भी जानकारी मिलेगी.
अपने Essay को कुछ समय बाद पढने से भी अपने Essay की कमियाँ सामने आ जाती हैं. अपने Essay की कमियों को दूर करने के लिए आप प्रयास कर सकते हैं. essay लिखने का अभ्यास करने से आपकी भाषा तथा शैली दोनों में ही सुधार आएगा. धीरे धीरे Essay लिखने के गति में भी सुधार आएगा.

अगर अभ्यर्थी यहाँ दिए गए टिप्स को अपने essay में उपयोग करते हैं तो निश्चित ही उन्हें essay पेपर में बेहतर नंबर मिलेंगे.