Search

IIM टॉपर्स द्वारा बताये गए कुछ महत्वपूर्ण GD और इन्टरव्यू टिप्स

आईआईएम या टॉप एमबीए कॉलेज में एडमिशन के लिए जीडी और पर्सनल इन्टरव्यू के विषय में सही जानकारी रखना एवं इसमें किस तरह के सवाल पूछे जाते हैं तथा इसमें किस तरीके से बहुत अच्छा किया जा सकता है आदि तथ्यों की जानकारी होना बहुत जरुरी है.

Jan 8, 2020 15:38 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
IIM Toppers share GD – Interview Tips
IIM Toppers share GD – Interview Tips

भारत के टॉप एमबीए कॉलेजों तथा आईआईएम में एडमिशन लेने के लिए जीडी और पर्सनल इन्टरव्यू राउंड आगे के स्क्रीनिंग राउंड का हिस्सा होता है. टॉप एमबीए कॉलेजों तथा आईआईएम में एडमिशन के लिए कैट एग्जाम 2018 के जरिये अधिकतर उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट किया जाता है लेकिन जीडी और पर्सनल इन्टरव्यू राउंड उम्मीदवारों के एडमिशन हेतु चयन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. इसलिए आईआईएम या टॉप एमबीए कॉलेज में एडमिशन के लिए जीडी और पर्सनल इन्टरव्यू के विषय में सही जानकारी रखना एवं इसमें किस तरह के सवाल पूछे जाते हैं तथा इसमें किस तरीके से बहुत अच्छा किया जा सकता है आदि तथ्यों की जानकारी होना बहुत जरुरी है.

आइये कुछ कैट टॉपर्स से बात करके यह जानने का प्रयास करते हैं कि उन्होंने अपने जीडी और पर्सनल राउंड में अच्छा स्कोर करने के लिए किस तरह की प्रिपरेशन स्ट्रेटेजी अपनाई और भारत के टॉप एमबीए कॉलेज या आईआईएम में एडमिशन पाने में सफलता प्राप्त की.

अभिलाष भाटिया –एल्युमिनि सेक्रेटरी –स्टूडेंट काउंसिल, आईआईएम,कलकत्ता

आईआईएम कलकत्ता को उसके मेन्टरशिप प्रोग्राम के लिए बहुत बहुत धन्यवाद. इस प्रोग्राम के जरिये एक निजी मेंटर दिया गया था जो मेरे लिए बहुत उपयोगी रहीं. मैं उनसे किसी भी विषय पर बातचीत कर सकता था हालांकि वो अपने इंटर्नशिप प्रोग्राम में व्यस्त रहती थीं. उन्होंने मुझसे अपनी जीडी तथा पर्सनल इन्टरव्यू से जुड़े विभिन्न अनुभव शेयर किये तथा यह भी बताया कि इसकी तैयारी किस तरह की जानी चाहिए ? अपने मेंटर द्वारा बताये गए दिशानिर्देशों के आधार पर मुझे अपनी जीडी और पर्सनल इन्टरव्यू से  सम्बंधित स्ट्रेटेजी बनाने में बहुत मदद मिली. इसके अतिरिक्त अपने प्रेजेंटेशन स्किल्स को बढ़ाने के लिए कोचिंग सेंटर्स की भी मदद ली जा सकती है. मैंने अपनी तैयारी के लिए नियमित रूप से जीडी तथा पर्सनल इन्टरव्यू के कुछ मॉक इन्टरव्यू भी दिया.

                                                                        परिता शाह -ओवर ऑल कोर्डिनेटर,इंटैग्लियो (एनुअल बिजनेस समिट) आईआईएम,कलकत्ता

उम्मीदवारों को कैट की तैयारी के साथ-साथ ही जीडी और पर्सनल इन्टरव्यू के लिए तैयारी करना शुरू कर देना चाहिए. यह उन्हें अंतिम मिनट की तैयारी के टेंशन से दूर रखता है. जीडी और पर्सनल इन्टरव्यू की तैयारी के लिए मैं न्यूज पेपर्स विशेष रूप से उनके एडिटोरियल सेक्शन को पढ़ती थी.इससे मुझे भारत और दुनिया भर में होने वाली मौजूदा घटनाओं और परिदृश्यों को समझने में मदद मिली.

इसके अतिरिक्त  मैंने नियमित रूप से मॉक जीडी भी दिए और साथियों के साथ मौजूदा मामलों से संबंधित विभिन्न विषयों पर चर्चा की और इससे मुझे अपने पर्सनल इन्टरव्यू की तैयारी करने में भी मदद मिली.

प्रतीक बंसल- ओवरऑल कोर्डिनेटर कार्पे डेम (एनुअल कल्चरल फेस्ट) आईआईएम,कलकत्ता

मैंने अपनी जीडी और पर्सनल इन्टरव्यू की तैयारी न्यूज पेपर के अध्ययन से शुरू की. मैं न्यूज पेपर को पूरा विस्तारपूर्वक ध्यान से पढ़ता था. मेरा प्रयास रहता था कि कोई करेंट टॉपिक न छुटे. चर्चित विषयों को पेपर में पढ़ने के अतिरिक्त इंटरनेट पर भी सर्च करता था तथा लोगों की राय के आधार पर उसे व्यापक रूप से समझने की कोशिश करता था. मैं अपने परिवार और रिश्तेदार के ऐसे सदस्यों से जिन्हें राजनितिक एजेंडों और समाचार की सही जानकारी हो,से भी बातचीत करता था.मुझे उनसे बातचीत के दौरान ही गहन विषयों की जानकारी भी सहज रुप से हो जाती थी.इसके अलावा  मैंने अपने दोस्तों के साथ कुछ मॉक जीडी दिया और इससे मुझेमें जीडी और इन्टरव्यू देंने का कॉन्फिडेंस विकसित हुआ.


                                                                           अनुषा- वाइस प्रेसिडेंट-पब्लिक रिलेशंस, आईआईएम,कलकत्ता

टोस्टमास्टर के रूप में मेरी भूमिका ने वास्तव में जीडी और पर्सनल इन्टरव्यू देने में मेरी बहुत मदद की. क्योंकि इससे मुझे विभिन्न कार्यक्रमों में बोलने की आदत पड़ गयी थी. हालांकि, मैंने अपने करेंट अफेयर्स के ज्ञान में सुधार करने के लिए बहुत प्रयास किए और मैंने बिजनेस और फायनांस से जुड़े न्यूज से अपडेट रहने के लिए डेली बेसिस पर न्यूज पेपर पढ़ना शुरू कर दिया. न्यूज पेपर पढ़ना और दुनिया भर के हालिया डेवलपमेंट के साथ अपडेटेड रहने से वास्तव में मुझे जीडी और पर्सनल इन्टरव्यू राउंड को क्रैक करने में बहुत मदद मिली.

आदित्य रानाडे -स्पोर्ट्स सेक्रेटरी, स्टूडेंट काउंसिल आईआईएम,कलकत्ता

कैट एग्जाम क्वालीफाई कर लेने तथा इन्टरव्यू के लिए कॉल आ जाने मात्र से ही रिलेक्स नहीं हुआ जा सकता है. अगर आपका परफ़ॉर्मेंस जीडी तथा इन्टरव्यू में अच्छा नहीं रहता तो आपके कैट क्वालीफाई करने का कोई सेन्स नहीं बनता है. हाँ यह जरुर है कि कैट क्वालीफाई करके आपने एडमिशन लेने की अपनी आधी जर्नी आपने पूरी कर ली है लेकिन आधी जर्नी अभी भी अधूरी है. अगर आप बाकी के आधी जर्नी की तैयारी सही तरीके से नहीं करते हैं तो फिर पहले की आधी जर्नी का कोई मायने नहीं रह जाता है. पर्सनल इन्टरव्यू के विषय में मैं यह कहना चाहूँगा कि यह आत्मनिरीक्षण का समय होता है. इस समय आप यह जानने का प्रयास करते हैं कि कौन से फैक्टर्स हैं जो आपको बी-स्कूल में एडमिशन लेने के लिए प्रेरित करते हैं ? मुझे ऐसा लगता है कि कुछ बुनियादी टेक्नीकल नॉलेज तथा बिजनेस वर्ल्ड के नॉलेज के अतिरिक्त जीडी या पर्सनल इन्टरव्यू में यह जानने का प्रयास किया जाता है कि आप अपने भविष्य में क्या करना चाहते हैं उसके लिए आपकी योजनायें क्या हैं तथा आप उसे किस तरह क्रियान्वित करने की कोशिश करते हैं ? मुझे ऐसा लगता है कि आईआईएम कलकत्ता छात्रों के टेक्नीकल तथा बिजनेस स्किल्स की बजाय यह जानना चाहता है कि आप किस तरह के व्यक्ति हैं? आपके जीवन का उद्देश्य क्या है तथा आप यहाँ कैम्पस में आने के बाद आपने जीवन के लक्ष्यों को किस तरह हासिल कर पाएंगे ? इसलिए अपने लाइफ के लक्ष्य के प्रति स्पष्ट रहें और इस बात को लेकर स्पष्ट रहें कि आखिर आपको जीवन में करना क्या है ?

                                                                                                              समीक्षा श्रीवास्तव प्रेसिडेंट इंटरप्रेन्योरशिप शेल,आईआईएम,कलकत्ता

ग्रुप डिस्कशन और पर्सनल इन्टरव्यू के लिए हमें करेंट अफेयर्स के प्रति सीरियस होना चाहिए तथा अपने आप को हमेशा समकालीन घटनाओं से अपडेटेड रखना चाहिए. अभी हाल फ़िलहाल दुनिया में क्या चल रहा है ? इस पर मैंने बहुत ज्यादा फोकस किया. इसके अतिरिक्त जिस आईआईएम में मैं इन्टरव्यू के लिए जा रहा हूँ उसका इतिहास क्या हैं ? जिस दिन इन्टरव्यू है उस समय की सबसे ज्वलंत घटना क्या है? ऐसी कौन सी घटनाएँ हैं जो दिमांग में कनफ्लिक्ट उत्पन्न करती हैं आदि विषयों का सम्पूर्ण मंथन जीडी और इन्टरव्यू परीक्षा देने जाने से पहले अवश्य किया जाना चाहिए.

टीएलएन गुप्थाजी प्रेसिडेंट,स्टूडेंट काउंसिल, आईआईएम,कलकत्ता

आईआईएम-कलकत्ता का इन्टरव्यू अन्य बी-स्कूल्स की तुलना में बिलकुल अलग है. लोगो में भ्रम है कि आईआईएम कलकत्ता का इन्टरव्यू मूल रूप से क्वांट पर आधारित होता है. मुझे ऐसा लगता है कि आज भी यह भ्रम बरकरार है लेकिन यह सत्य नहीं है. यह पूरी तरह से आपकी क्लैरिटी को परखता है. इसके इन्टरव्यू में यह जानने का प्रयास किया जाता है कि आप अपने एमबीए की डिग्री को लेकर कितना स्पष्ट हैं ? यदि आपके पास इस बात का स्पष्ट और ठोस जवाब है कि आप एमबीए क्यों करना चाहते हैं तो आपको इन्टरव्यू को क्लियर करने में कोई कठिनाई नहीं होगी.

                                                गौतम मराडे पीजीपी रेप्रेजेनटेटिव,स्टूडेंट काउंसिल, आईआईएम,कलकत्ता

विशेष रूप से कैट रिजल्ट के बाद मैंने न्यूज पेपर्स पढ़ना शुरू कर दिया. जीडी और पर्सनल इन्टरव्यू की तैयारी के लिए मैंने करेंट अफेयर्स पर विशेष जोर दिया तथा सभी घटनाओं से अपडेट रहने की कोशिश की. मेरे हिसाब से आईआईएम कलकत्ता में प्रतिभागियों की सोचने की क्षमता का आकलन किया जाता है.इसलिए उम्मीदवारों को राष्ट्रीय समाचार पत्रों से कहानियों को पढ़कर और विश्लेषण करके महत्वपूर्ण सोच विकसित करने की कोशिश करनी चाहिए. इसके साथ ही न्यूज पेपर्स में दिए गए घटनाओं के पक्ष और विपक्ष दोनों के आधार पर विश्लेषण करना चाहिए. मैंने एस्से के लिए अपना समय निर्धारित करते हुए दिन में दो निबंध लिखना शुरू किया.इसके साथ ही मैंने कई मॉक इन्टरव्यू देकर अपने जीडी तथा पर्सनल इन्टरव्यू की तैयारी की.

एमबीए एडमिशन और जीडी तथा पर्सनल इन्टरव्यू राउंड को क्रैक करने के टिप्स के बारे में और अधिक जानकारी के लिए कृपया www.jagranjosh.com/mba पर विजिट करें.

Related Stories