Search

IIMs से MBA : प्लेसमेंट के लिए तैयारी

एमबीए प्लेसमेंट एमबीए उम्मीदवारों और छात्रों के बीच सबसे अधिक चर्चा वाले विषयों में से एक है. हालांकि, भारत के टॉप बी-स्कूलों में एमबीए प्लेसमेंट प्रक्रिया के दौरान एक अच्छी नौकरी की पेशकश प्राप्त करना बहुत आसान नहीं है

Feb 13, 2020 20:01 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
MBA at IIMs: Preparation for Placements
MBA at IIMs: Preparation for Placements

एमबीए प्लेसमेंट एमबीए उम्मीदवारों और छात्रों के बीच सबसे अधिक चर्चा वाले विषयों में से एक है. हालांकि, भारत के टॉप बी-स्कूलों में एमबीए प्लेसमेंट प्रक्रिया के दौरान एक अच्छी नौकरी की पेशकश प्राप्त करना बहुत आसान नहीं है.छात्रों की मदद के लिए Jagranjosh.com ने आईआईएम कलकत्ता के कैट टॉपर्स और छत्रों से एमबीए प्लेसमेंट प्रक्रिया से जुड़े अपने अनुभवों को शेयर करने के लिए कहा. उनके अनुभवों से आपको यह समझने में मदद मिलेगी कि एमबीए प्लेसमेंट प्रक्रिया के दौरान क्या होता है और भारत के टॉप आईआईएम  सहित एमबीए कॉलेजों के छात्र प्लेसमेंट की तैयारी कैसे करते हैं ?

समीक्षा श्रीवास्तव – प्रेसिडेंट इंटरप्रेन्योरशिप शेल,आईआईएम,कलकत्ता

आगामी प्लेसमेंट सीजन के लिए बहुत सारी बातों पर सोचना जरुरी है. एक बार आईआईएम कलकत्ता में एडमिशन ले लेने के बाद  आपको यह पता चलता है कि आप कितने इंटेलिजेंट अर्थात प्रतिभाशाली हैं और इस प्रतिभा को कैम्पस में स्टडी के दौरान बरकरार रखना होता है तथा इसे प्लेसमेंट सीजन के दौरान भी दिखाना होता है. यहाँ हमें सभी टेक्नोलॉजी तथा देश दुनिया में विशेष रूप से कार्पोरेट वर्ल्ड में हो रहे इन्वेंशन तथा डेवेलपमेंट से अपडेटेड रहना पड़ता है. आपको यह सुनिश्चित करना होता है कि आप अपने सेक्टर तथा इन्ट्रेस्ट के अनुरूप सही जानकारी हासिल कर रहे हैं. आपको यह भी जानना होगा कि लॉन्ग टर्म तथा शॉर्ट टर्म में आप जिस फील्ड में काम करना चाहते हैं उनकी संभावनाएं क्या हैं ? इसके लिए आपको कार्पोरेट दिग्गजों से इंटरैक्शन करने की कोशिश करनी चाहिए. वस्तुतः इन सारी चीजों की एक लम्बी प्रक्रिया है जो बहुत कम समय में नहीं हो सकती है.यह समझने में समय लगता है कि आप क्या करना चाहते हैं और इसे किस तरह प्राप्त किया जा सकता है ? इसलिए मुझे ऐसा लगता है कि प्लेसमेंट प्रक्रिया के माध्यम से छात्र क्या हासिल करना चाहते हैं, इसकी बेहतर समझ विकसित करने के लिए उन्हें नित्य प्रति छोटा ही सही परन्तु कोई न कोई कदम अवश्य उठाना चाहिए.

 

अभिलाष भाटिया –एल्युमिनि सेक्रेटरी –स्टूडेंट काउंसिल, आईआईएम,कलकत्ता

 

एमबीए प्लेसमेंट की तैयारी पूरे वर्ष चलती रहती है. यदि आप अपनी पढ़ाई पर अच्छी तरह से ध्यान केंद्रित करते हैं और अपने एकेडमिक्स को लेकर ईमानदार हैं, तो आपको एमबीए प्लेसमेंट के लिए अलग से तैयारी करने की आवश्यकता नहीं होगी. उदाहरण के लिए, यदि आप क्लास में उचित ध्यान दे रहे हैं और उन सभी बातों का पालन कर रहे हैं जो आपके प्रोफेसर आपसे कहते हैं तो आप अपनी ओर से एक ईमानदार प्रयास करें ताकि आप अच्छी तरह से अध्ययन कर सकें और इसके बाद प्लेसमेंट आपके लिए बहुत कठिन नहीं रह जायेगा. यदि आप अपने एकेडमिक्स की तैयारी ईमानदारीपूर्वक करते हैं तो आपके प्लेसमेंट की तैयारी स्वतः हो जाएगी.

परिता शाह -ओवर ऑल कोर्डिनेटर,इंटैग्लियो (एनुअल बिजनेस समिट) आईआईएम,कलकत्ता

यह जानना और समझना कि भारत में वर्तमान परिदृश्य में व्यावसायिक दुनिया के साथ-साथ वैश्विक स्तर पर क्या हो रहा है ? एमबीए प्लेसमेंट की तैयारी करने का सबसे अच्छा तरीका है. इसके अलावा, आपको फायनांस  पर भी बहुत ध्यान देना चाहिए और अच्छे एमबीए प्लेसमेंट के लिए फायनांस के फील्ड में क्या हो रहा है ? यह जानने की कोशिश करनी चाहिए

अनुषा-वाइस प्रेसिडेंट पब्लिक रिलेशंस, आईआईएम,कलकत्ता

 

मेरे आईआईएम कलकत्ता में आने के बाद से बहुत सारी चीजें बदल गयी हैं. देश में हो रही वर्तमान घटनाओं को समझने के लिए मैंने सही किताबों का अध्ययन किया. एमबीए में एडमिशन लेने के बाद छात्रों को बिजनेस के भिन्न भिन्न सिग्मेंट में बहुत ज्यादा एक्सपोजर मिलता है. इसलिए छात्रों को इन सभी क्षेत्रों की नवीनतम घटनाओं से अपडेटेड रहना चाहिए.

उदाहरण के लिए अगर मैं मार्केटिंग को टारगेट कर रहा हूँ तो मुझे मार्केटिंग के प्रोफेसर के साथ संपर्क में रहना चाहिए तथा उससे मार्केटिंग की बारीकियों को समझने की कोशिश करनी चाहिए.इसके अलावा, उम्मीदवारों को वर्तमान कॉर्पोरेट जगत में हो रहे परिवर्तनों को जानने, समझने और विश्लेषण करने की भी आवश्यकता होती हैं. इसके साथ ही उन्हें  नए और उभरते स्टार्ट-अप के बारे में भी तुलनात्मक रूप से जानना चाहिए.

टीएलएन गुप्थाजी –प्रेसिडेंट,स्टूडेंट काउंसिल, आईआईएम,कलकत्ता

 

आईआईएम  या किसी अन्य बी- स्कूल में अधिकांश छात्र यह समझते हैं कि उनका प्लेसमेंट तो निश्चित ही है.

बी-स्कूल में स्टडी के दौरान हम अपने प्रोफेसरों से सीखते हैं और प्रासंगिक विषयों की जानकारी प्राप्त करने का छात्रों के पास भरपूर अवसर होता है.इसके अलावा, हम केस स्टडी भी करते हैं और अपने अनुभव के साथ-साथ अपने साथियों से भी सीखते हैं. इस सीखने की प्रक्रिया में हम इतना कुछ सीख जाते हैं कि हमारा प्लेसमेंट आसानी से हो जाता है.

आईआईएम से एमबीए और प्लेसमेंट टिप्स के बारे में ऐसे ही कुछ रोचक जानकारी के लिए  www.jagranjosh.com/mba. पर विजिट करें.

एमबीए प्लेसमेंट एमबीए उम्मीदवारों और छात्रों के बीच सबसे अधिक चर्चा वाले विषयों में से एक है. हालांकि , भारत के टॉप बी-स्कूलों में एमबीए प्लेसमेंट प्रक्रिया के दौरान एक अच्छी नौकरी की पेशकश प्राप्त करना बहुत आसान नहीं है

Related Categories

Related Stories