Jagran Josh Logo

एयर फोर्स जॉब्स - सितंबर 2018: लोअर डिवीजन क्लर्क (एलडीसी) एवं अन्य पदों की वेकेंसी

Sep 3, 2018 11:16 IST
  • Read in English
Indian Air Force Jobs March - April 2018
Indian Air Force Jobs March - April 2018

इंडियन एयर फोर्स (IAF) को अपने करिअर के रूप में चयन करना हर युवा का सपना होता है...वह चाहे लीडरशिप और खुद को मोटिवेशन का सवाल हो या फिर बुलंदियों का हिस्सा बनकर  दूसरों को प्रेरित करने का मामला हो, इंडियन एयर फोर्स का हिस्सा बनने के साथ ही नेतृत्व, मैनेजमेंट स्किल और डायनामिक थिंकिंग का भाव आपके अन्दर विकसित हो जाता है जो आपके  वास्तविक जीवन के परिस्थितियों का सामना करने के लिए भी आपको तैयार करने का कार्य करती है. सच तो यह है कि वायु सेना युवा लड़कों और लड़कियों को  चुनकर उनमें एक ऑफिसर बननें की शक्ति और गुणों को भरकर उन्हें सक्षम बनाती है और जो उन्हें भीड़ का हिस्सा बनने से अलग कर जीवन में एक खास मुकाम प्रदान करती है.

एयर फोर्स भर्ती सितंबर 2018

एयर फोर्स भर्ती सितंबर 2018 - सारांश

वायुसेना बालनिकेतन मिडिल (एडिड) स्कूल, वायुसेनाबाद, नई दिल्ली ने असिस्टेंट टीचर, पीईटी, ड्राइंग और स्पेशल एजुकेशन टीचर के पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं. योग्य उम्मीदवार विज्ञापन प्रकाशन की तिथि से 21 दिनों के भीतर (06 सितंबर 2018) तक निर्धारित प्रारूप में पद के लिए आवेदन कर सकते हैं.

भारतीय वायुसेना
ने एयर फोर्स रिकॉर्ड ऑफिस, नई दिल्ली में लोअर डिवीजन क्लर्क पदों पर भर्ती हेतु आवेदन आमंत्रित किये हैं. योग्य उम्मीदवार निर्धारित प्रारूप के तहत रोजगार समाचार में विज्ञापन प्रकाशन की तिथि से 30 दिनों (01 अक्टूबर 2018) के भीतर आवेदन कर सकते हैं.

भारतीय वायु सेना भर्ती रैली में कौन-कौन शामिल हो सकते हैं? जानें पूरी चयन प्रक्रिया

एयर फोर्स भर्ती के बारे में

एयर फोर्स में सामान्यत: तीन प्रमुख ब्रांच है जिसमें एक अधिकारी के रूप में आप करिअर चुन सकते हैं-फ्लाइंग ब्रांच, टेक्नीकल ब्रांच और ग्राउंड ड्यूटी ब्रांच.

बहादुर और जांबाज युवा लड़के जो भारतीय वायु सेना का हिस्सा बनना चाहते हैं इसके लिए उन्हें एनडीए (राष्ट्रीय रक्षा अकादमी) के लिए आवेदन करना होता है.

चयन प्रक्रिया के अंतर्गत उम्मीदवारों को पहले शॉर्ट-लिस्टेड किया जाता है और और इसके बाद उम्मीदवारों को  खडकवासला स्थित राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में एक कठोर तीन वर्षीय प्रशिक्षण कार्यक्रम से गुजरना होता है. इसके बाद उन्हें प्रशिक्षण संस्थान में एक अन्य विशेष प्रशिक्षण दिया जाता है जिसके बाद  उन्हें परमानेंट कमीशन ऑफिसर के रूप में सेवा का मौका दिया जाता है. इसके अंतर्गत उम्मीदवार को एयर फोर्स स्टेशनों में से किसी में पायलट के रूप में तैनात किया जाता है.

एयर फोर्स में पायलट कैसे बने?

राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में शामिल होने के लिए

अगर आप राष्ट्रीय रक्षा अकादमी  का हिस्सा बनना चाहते हैं तो इसके लिए आप केंद्रीय लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा आयोजित एनडीए परीक्षा में शामिल हो सकते हैं. यह परीक्षा प्रत्येक वर्ष में दो बार देश के प्रमुख शहरों में स्थित परीक्षा केन्द्रों पर आयोजित की जाती है.

पात्रता मापदंड:

आयु - 16 ½ से 19½ वर्ष (पाठ्यक्रम के प्रारंभ के समय)

राष्ट्रीयता - भारतीय

लिंग - केवल पुरुष

शैक्षिक योग्यता - भौतिकी और गणित के साथ 10 + 2 पास होना चाहिए साथ ही अंतिम वर्ष के छात्र भी इसके लिए आवेदन करने के पात्र हो सकते हैं.

विज्ञापन अनुसूची - जून और दिसंबर में.(विज्ञापन UPSC द्वारा जारी किया जाता है जिसे आप Www.upsc.gov.in पर जाकर प्राप्त कर सकते हैं)

सीडीएसई एंट्री

यह अवसर विशेष रूप से पुरुषों के लिए है जिसे ग्रेजुएशन के बाद केवल फ्लाइंग शाखा के लिए आवेदन किया जा सकता है. सीडीएसई के लिए संघ लोक सेवा आयोग अर्थात यूपीएससी प्रत्येक साल में दो बार परीक्षा आयोजित करती है.

अभ्यर्थियों के लिए एफए द्वारा प्रशिक्षण आयोजित किया जाता है और इसमें सफल उम्मीदवारों के लिए विशेष उड़ान प्रशिक्षण प्रतिष्ठानों में भेजा जाता है. यह सेवा भी एनडीए की तरह सभी तीनों सेनाओं के लिए उपलब्ध है.

NCC स्पेशल एंट्री

फ्लाइंग ब्रांच को लक्ष्य बनाने वाले युवाओं के लिए यह स्पेशल एंट्री है जो सिर्फ पुरुषों के लिए है. इसके अंतर्गत प्रशिक्षण प्रक्रिया लगभग सीडीएसई के समान है. इसके लिए राष्ट्रीय कैडेट कोर अर्थात एनसीसी के एयर विंग सीनियर डिवीजन 'सी' प्रमाणपत्र धारक आवेदन कर सकते हैं. यदि आप एनसीसी के एयर विंग सीनियर डिवीजन 'सी' प्रमाणपत्र धारक हैं तो आपके लिए भारतीय वायु सेना के फ्लाइंग शाखा शामिल होने का सुनहरा मौका हो सकता है.

यूनिवर्सिटी एंट्री स्कीम अर्थात UES एंट्री: भारतीय वायु सेना अर्थात आईएएफ की तकनीकी शाखा के लिए यह भर्ती प्रक्रिया है जो इंजीनियरिंग के अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए है. यह सेवा भी पुरुषों के लिए है और इसके लिये शुरू में प्रशिक्षण AFA में और बाद में बैंगलोर स्थित वायु सेना टेक्निकल कॉलेज (AFCAT) में प्रशिक्षण दिया जाता है. बैंगलोर स्थित वायु सेना टेक्निकल कॉलेज AFCAT ही इसके लिए विज्ञापन जारी करती है.

AFCAT एंट्री: इंडियन एयर फोर्स में ऑफिसर बनने के लिए यह सबसे बड़ा भर्ती प्रक्रिया है. यह टेस्ट पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए है जिसके माध्यम से आईएएफ के तीनों शाखाओं अर्थात फ्लाइंग, टेक्निकल और ग्राउंड ड्यूटी के लिए कर्मचारियों का चयन किया जाता है. आईएएफ के लिए एएफटीटीए हर साल दो बार परीक्षा का करती है साथ ही टेक्नीकल ब्रांच के एस्पिरंट्स के लिए ईकेटी (इंजीनियरिंग नॉलेज टेस्ट) नामक एक अतिरिक्त परीक्षा का आयोजन किया जाता है. अलग-अलग ब्रांचों के लिए पात्रता और प्रशिक्षण प्रक्रिया अलग-अलग प्रकार के होते हैं. 

मेट्रोलोजिकल ब्रांच : यह ब्रांच केवल स्नातकोत्तर छात्रों के लिए है जिसके अंतर्गत पुरुष और महिला दोनों के लिए परमानेंट और शॉर्ट सर्विस कमीशन सेवा प्रदान किया जाता है.

Rojgar Samachar eBook

Commented

    Latest Videos

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Newsletter Signup
    Follow us on
    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK
    X

    Register to view Complete PDF