Army Day 2021 Special: जानें बिना किसी परीक्षा में शामिल हुए कैसे भारतीय सेना में बन सकते हैं ऑफिसर्स

आज 15 जनवरी को भारत अपना 73 वां सेना दिवस मना रहा है. इस अवसर पर आज हम जानेंगे कैसे बिना प्रवेश परीक्षा में शामिल हुए देश के युवा वन सकते हैं सेना ऑफिसर्स.

Created On: Jan 15, 2021 16:10 IST
Army Day 2021 Special
Army Day 2021 Special

Indian Army Day 2021 Special:आज 15 जनवरी को भारत अपना 73 वां सेना दिवस मना रहा है. यह देश के सैनिक को सम्मान देने के लिए देश में हर साल मनाया जाता है जिन्होंने देश के लिए अपना जीवन समर्पित किया है. सेना दिवस हर साल सभी सेना कमान मुख्यालय में मनाया जाता है.

अपनी 73वीं वर्षगांठ पर, भारतीय सेना 1971 में पाकिस्तान पर भारत की शानदार जीत के स्वर्णिम विजय वर्ष समारोह के उपलक्ष्य में मैराथन 'विजय रन' का आयोजन कर रही है. राष्ट्र अपनी निस्वार्थ सेवा के लिए सैनिकों को श्रद्धांजलि देता है.

जैसा कि आप जानते हैं, भारतीय सेना भारतीय सशस्त्र बलों का सबसे बड़ा एवं महत्वपूर्ण भाग है. राष्ट्रीय सुरक्षा और एकता सुनिश्चित करने के लिए इसका प्राथमिक मिशन, बाहरी आक्रमण और आंतरिक खतरों से राष्ट्र की रक्षा करना होता है. यदि आप एक ऑफिसर के रूप में भारतीय सेना में शामिल होना चाहते हैं, तो यह लेख आपकी कई तरह से मदद कर सकता है.

हर साल, भारतीय सेना विभिन्न ब्रांचेज में उम्मीदवारों की भर्ती के लिए एनडीए, सीडीएस, आर्मी कॉलेज कैडेट सहित कई अन्य परीक्षा आयोजित करती है. इस लेख में, हम आपको बिना किसी लिखित परीक्षा में शामिल हुए भारतीय सेना में शामिल होने के लिए टॉप 5 तरीके बताने जा रहे हैं.

आइये जानें कौन से हैं वे 5 तरीके:

1. 10+2 एंट्रीज़ (टेक्निकल एंट्री स्कीम)
12वीं के बाद, आप टेक्निकल एंट्री स्कीम के माध्यम से सीधे भारतीय सेना में शामिल हो सकते हैं. 10+ 2 एंट्रीज़ हेतु आवेदन करने के लिए, आपको विज्ञान स्ट्रीम से 12वीं उत्तीर्ण होना चाहिए. टेक्निकल एंट्री स्कीम कोर्स पूरा करने के बाद आप सीधे लेफ्टिनेंट के पद पर नियुक्ति हो सकते हैं.
इस योजना के माध्यम से केवल पुरुष उम्मीदवार ही प्रवेश पा सकते हैं. इस कोर्स की अवधि पांच वर्ष की है. आमतौर पर, भारतीय सेना टेक्निकल एंट्री स्कीम नोटिफिकेशन वर्ष में दो बार (जनवरी और जुलाई) जारी करती है. अधिकतर, नोटिफिकेशन मई / जून और अक्टूबर / नवंबर में जारी की जाती है.
शैक्षिक योग्यता:
भारतीय सेना टेक्निकल एंट्री स्कीम हेतु करने के लिए, उम्मीदवार को मान्यता प्राप्त शिक्षा बोर्ड से फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स में न्यूनतम 70% अंकों के साथ 10 + 2 परीक्षा या इसके समकक्ष उत्तीर्ण होना चाहिए.
आयु सीमा - 16.5 से 19.5 वर्ष
चयन मानदंड - उम्मीदवार का चयन एसएसबी इंटरव्यू के आधार पर किया जाता है. जो लोग स्टेज I को क्लियर करते हैं, उन्हें स्टेज II के लिए बुलाया जाता है. जो लोग स्टेज I में असफल होते हैं, उन्हें उसी दिन लौटा दिया जाता है. एसएसबी इंटरव्यू की अवधि पांच दिनों की होती है.

 

2. विश्वविद्यालय प्रवेश योजना (UES)
इस योजना के माध्यम से, इंजीनियरिंग के अंतिम वर्ष के छात्र टेक्निकल ब्रांचेज में स्थायी कमीशन के लिए आवेदन कर सकते हैं. भारतीय सेना कैंपस प्लेसमेंट के माध्यम से इस कमीशन के उम्मीदवारों का चयन करती है. चयनित होने के लिए, उम्मीदवारों को पहले एसएसबी इंटरव्यू और फिर मेडिकल टेस्ट में उपस्थित होना होता है. जिसके बाद योग्य उम्मीदवारों को 1 वर्ष के प्रशिक्षण के लिए भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून भेजा जाता है.

3. JAG (न्यायाधीश एडवोकेट जनरल)
JAG का मतलब जज एडवोकेट जनरल हैं. भारतीय सेना शॉर्ट कमीशन के आधार पर कानूनी रूप से योग्य उम्मीदवारों को काम पर रखती है. भारतीय सेना JAG हेतु आवेदन करने के लिए, उम्मीदवार के पास किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कानून में स्नातक की डिग्री होनी चाहिए. भारतीय सेना आवेदन पत्र के आधार पर उम्मीदवारों का चयन करती है. अंतिम चयन के बाद, उम्मीदवारों को प्रशिक्षण के लिए चेन्नई स्थित ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडेमी (ओटीए) में भेजा जाता है. जिसकी अवधि 49 सप्ताह तक है.
शैक्षिक योग्यता:
उन सभी उम्मीदवारों को जिन्होंने 55% अंकों के साथ किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक होने के बाद एलएलबी पास किया है या किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से 12वीं करने के बाद कानून की डिग्री प्राप्त की है, आवेदन करने के लिए पात्र हैं.
वैध बार काउंसिल ऑफ इंडिया / राज्य प्रमाण पत्र होना चाहिए.
आयु सीमा - 21 से 27 वर्ष

4. शॉर्ट सर्विस कमीशन (टेक्निकल एंट्री)
शॉर्ट सर्विस कमीशन (टेक्निकल) टेक्निकल ग्रेजुएट्स / पोस्कोट ग्रेजुएट्स को भारतीय सेना में शामिल होने की अनुमति देता है. इसके लिए उम्मीदवारों का चयन एसएसबी और मेडिकल बोर्ड के माध्यम से किया जाता है. जिसके बाद उम्मीदवारों को प्रशिक्षण के लिए चेन्नई में ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी (OTA) भेजा जाता है. जिसकी अवधि 49 सप्ताह तक की होती है. शॉर्ट सर्विस कमीशन को प्रशिक्षण के बाद भारतीय सेना में ऑफिसर्स के रूप में शामिल किया जाता है.

5. टेक्निकल ग्रेजुएट कोर्स (TGC)
इंजीनियरिंग (बीई / बीटेक) या अंतिम वर्ष के उम्मीदवार टेक्निकल ग्रेजुएट कोर्स (टीजीसी 132) के माध्यम से भारतीय सेना में शामिल हो सकते हैं. यदि आप अंतिम वर्ष में हैं, तो आपको पाठ्यक्रम शुरू होने के 12 सप्ताह के भीतर डिग्री जमा करनी होगी.

तो, ये कुछ तरीके हैं जो किसी लिखित परीक्षा में शामिल हुए बिना भारतीय सेना में शामिल होने का अवसर देता हैं. भारतीय सेना इन पाठ्यक्रमों के लिए समय-समय पर अधिसूचना जारी करती है. उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से सभी नवीनतम अधिसूचना डाउनलोड और जांच सकते हैं. सभी उम्मीदवारों को नवीनतम अपडेट के लिए भारतीय सेना की आधिकारिक वेबसाइट और Jagranjosh.com पर विजिट करते रहने की सलाह दी जाती है.