JEE (Advance) के लिए रणनीति

May 29, 2013 16:26 IST

    जेईई एडवांस में सफल होने के बाद स्टूडेंट्स को आईआईटी में एडमिशन मिल जाएगा, यह सोचकर ही स्टूडेंट्स इस परीक्षा की तैयारी में जी जान से जुट जाते हैं। इसमें थोडी सी लापरवाही महंगी पड सकती है। इसमें सफल तभी हो सकते हैं, जब आपको तीनों विषयों पर समान अधिकार होगा। बचे हुए अंतिम समय में फिजिक्स और केमिस्ट्री में बेहतर स्ट्रेटेजी आपको सफलता दिला सकती है।

    Plan your routine

    जेईई एडवांस में सफलता तभी मिल सकती है, जब आप एडवांस प्लानिंग करेंगे और रूटीन को फॉलो करेंगे। आप खुद प्लानिंग बनाएं, क्योंकि तैयारी के बारे में जो जानकारी आपको है, वह किसी और के पास नहीं है। आप फिजिक्स और केमिस्ट्री की तैयारी के लिए कुछ महत्वपूर्ण चैप्टर और महत्वपूर्ण सूत्र एक जगह एकत्रित कर लें। इससे फायदा यह होगा कि आप अंतिम समय में सिर्फ सेलेक्टिव स्टडी ही करेंगे और परीक्षा हॉल में बेहतर प्रदर्शन करने में कामयाब होंगे।

    रहें बदलाव से अवगत

    आईआईटी एडवांस परीक्षा पहली बार हो रही है। इस कारण स्टूडेंट्स काफी डरे हुए हैं। फिजिक्स और केमिस्ट्री में प्रश्नों का स्तर मेन की तरह नहीं होगा। इसके प्रश्न काफी हाई-स्टैंडर्ड के होंगे। अगर आप मेन में इन दो सब्जेक्ट्स में अच्छा प्रदर्शन करते हैं, तो इस भ्रम में न रहें कि इसमें भी आप बेहतर करेंगे। इस परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन तभी कर सकते हैं, जब आप आईआईटी के पिछले वर्ष के प्रश्नों के स्टैंडर्ड के अनुरूप तैयारी करेंगे। अगर आप पहले से इस तरह के बदलाव से अवगत रहेंगे, तो परीक्षा हॉल में बेहतर प्रदर्शन करने में अवश्य कामयाब होंगे।

    फॉर्मूला करें रिवाइज


    केमिस्ट्री में तीनों पार्ट से प्रश्न पूछे जाते हैं। इसलिए तीनों पा‌र्ट्स का रिवीजन करना आपके लिए श्रेष्ठकर होगा। फिजिकल के प्रॉब्लम ज्यादातर फॉर्मूला आधारित होते हैं। आपके लिए अच्छा होगा कि अंतिम समय तक इसे पढते रहें। फिजिक्स में कुछ ऐसे चैप्टर हैं, जिन्हे अंतिम समय तक पढना आपके लिए जरूरी है। आप इसे इग्नोर नहीं कर सकते। इलक्ट्रो केमिस्ट्री, थर्मो केमिस्ट्री, सरफेस केमिस्ट्री, आयोनिक इक्वालीब्रियम, सॉल्यूशन, काइनेटिक आदि ऐसे हैं, जिसमें कम मेहनत करके बेहतर अंक प्राप्त किए जा सकते हैं। ज्यादातर इनऑर्गेनिक के प्रश्न एनसीईआरटी से ही पूछे जाते हैं। इस कारण आप इसे ही आधार बनाकर रिवाइज करें। ज्यादातर फिजिक्स के प्रश्नपत्र में सभी टॉपिक्स से प्रश्न पूछे जाते हैं, लेकिन मेकेनिक्स की तुलना में मॉडर्न थर्मोडायनामिक्स, लाइट, इलेक्ट्रोस्टेट, इलेक्ट्रोमैगनिटिज्म के प्रश्न आसान होते हैं और कम समय में हल किए जा सकते हैं।

    आपके लिए अच्छा होगा कि आप संबंधित फॉर्मूला को बार-बार पढें। ऑर्गेनिक केमिस्ट्री एक स्कोरिंग पार्ट माना जाता है। इसलिए अंतिम समय में इसे जरूर पढें।

    One mock test daily

    केमिस्ट्री में विगत कुछ वर्षो से प्रश्न बहुत एडवांस नहीं पूछे जाते हैं। ज्यादातर कांसेप्ट बेस्ड प्रश्न ही होते हैं। इसी तरह फिजिक्स में भी अभ्यास जरूरी है। आप चाहें तो आईआईटी में पूछे गए पिछले वर्ष के प्रश्नों को भी हल कर सकते हैं। अंतिम समय में आप इसका जितना अधिक अभ्यास करेंगे, फायदे में रहेंगे। आप कम से कम एक-एक मॉक टेस्ट अवश्य हल करें।

    Don’t believe in Rumours


    अच्छी तैयारी के बावजूद कुछ स्टूडेंट्स असफल हो जाते हैं क्योंकि वे लोगों के दबाव में आ जाते हैं। खुद पर विश्वास रखें। अच्छी पढाई की है तो सफल होने से कोई नहीं रोक सकता है। साथ ही अफवाहों से दूर रहें।

     

    Commented

      Register to get FREE updates

        All Fields Mandatory
      • (Ex:9123456789)
      • Please Select Your Interest
      • Please specify

      • ajax-loader
      • A verifcation code has been sent to
        your mobile number

        Please enter the verification code below

      This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK
      X

      Register to view Complete PDF