Search

Junaid Ahmad IAS Topper 2019 Rank 3 ने बताई अपनी IAS Strategy

Apr 6, 2019 19:58 IST
Junaid Ahmad IAS Topper 2019 Rank 3 shares his IAS Strategy

पिछले साल 352 वीं रैंक आने पर Junaid Ahmad को IRS(Indian Revenue सर्विस) मिली थी. इस समय वह फरीदाबाद में IRS की training ले रहे हैं.

Junaid Ahmad 2014  से इस परीक्षा की तैयारी में जुटे थे और शुरुआती असफलता से वे निराश भी हुए. Junaid Ahmad, NCERT बुक्स को IAS की तैयारी का आधार मानते हैं .

Watch Kanishak Katariya IAS Topper Rank 1

Junaid Ahmad ने IAS Mains Geography Subject  के साथ दिया था.  Junaid Ahmad का Optional Subject Geography होने के कारण उन्हें General Studies में भी इससे बहुत सहायता मिली.

Watch Akshat Jain IAS Topper Rank 2

Jagranjosh से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा वह UPSC Result में रैंक 3 आने से वह आश्चर्यचकित हुए थे । उन्होंने कहा कि IAS परीक्षा के लिए सफलता का मंत्र - AIM रखना है। उन्होंने कहा कि AIM के बिना जीवन दिशाहीनहो जाता है। दूसरी सबसे महत्वपूर्ण चीज है Hardwork.  उन्होंने बताया मेहनत का कोई विकल्प नहीं है। तीसरा और सबसे महत्वपूर्ण अपनी विफलताओं से सीखना तथा उनसे सबक लेना है।

Watch Srushti IAS Topper among Women

वह समाज में दूसरों की मदद करना चाहते हैं और साथ ही वह एक सार्थक काम करना चाहते थे। वह एक rewarding नौकरी का सपना देखते थे जो IAS के रूप में पूरा हुआ है ।

उन्होंने कहा की IAS candidates को यह पता होना चाहए कि क्या पढना है और क्या नहीं पढना है. इससे समय की बचत भी होती है तथा सही दिशा में तैयारी होती है. Focused Studies, IAS की तैयारी को वास्तव में आसान बना सकती है।

Junaid Ahmad IAS Topper 2019 Rank 3 shares his IAS Strategy

बेसिक NCERT पुस्तकें, IAS तैयारी का आधार बनती हैं। उन्होंने कहा कि IAS की तैयारी के लिए इंटरनेट बहुत उपयोगी संसाधन है। उन्होंने इंटरनेट के psotive उपयोग पर जोर दिया, चाहे वो उत्तर लेखन, opinion formation हो या पसंद हो, इंटरनेट बहुत उपयोगी है।

उन्होंने कहा कि IAS परीक्षा के लिए संतुलन बहुत महत्वपूर्ण है। दिनचर्या में एक संतुलन बहुत महत्वपूर्ण है ताकि एक IAS candidate समय-समय पर अपने दिमाग को ताज़ा कर सके।

उन्होंने कहा कि अपनी असफलताओं को अच्छे तरीके से संभालना बहुत जरूरी है। कैंडिडेट को अपनी विफलताओं से सीखना चाहिए और भविष्य में उनकी मदद कर सकती हैं ।

निष्कर्ष

Junaid Ahmad की कहानी, सभी छात्रों को अथक प्रयास करने के लिए प्रेरित कर सकती है। Junaid Ahmad की कहानी
" Do not stop till you achieve your goal " को चरित्रार्थ करती है