भारत में पर्सनल लोन के बारे में महत्त्वपूर्ण विवरण के बारे में जानिये यहां

अगर आपको अपनी वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए भारत में पर्सनल लोन की आवश्यकता है, तो भारत में पर्सनल लोन के विवरण के बारे में जानने के लिए यह आर्टिकल आपके लिए बहुत उपयोगी साबित होगा.

Created On: Jul 8, 2021 21:38 IST
Know about Important Details of Personal Loan in India
Know about Important Details of Personal Loan in India

भारत में जनसंख्या का एक बहुत बड़ा वर्ग ऐसा है जो अपने मकान बनाने, बच्चों की हायर एजुकेशन या फिर, महंगे मेडिकल ईलाज के लिए अक्सर काफी आर्थिक तंगी महसूस करता है. इसलिए, अब हमारे देश में भी निजी संपत्ति (मकान, दुकान) खरीदने या फिर, धन से अतिरिक्त खर्चे से जुड़ी अपनी निजी आवश्यकतायें - मेडिकल ट्रीटमेंट, हायर एजुकेशन - पूरी करने के लिए इन दिनों पर्सनल लोन्स काफी प्रचलित हैं. आप भी अगर पर्सनल लोन के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो, पहले उन कारकों का पता लगाएं जिनकी सटीक जानकारी आपको जरुर होनी चाहिए.

हालांकि, पर्सनल लोन प्राप्त करना आपके लिए एक महत्त्वपूर्ण निर्णय है जिसके लिए हरेक व्यक्ति को अपनी आर्थिक जरुरतों के मुताबिक ही विभिन्न कारकों पर विचार करना चाहिए. पीएल के लिए आवेदन करने से पहले, एक उधारकर्ता के लिए ऋण राशि प्रदान करने वाले बैंकर के बारे समुचित जांच करना काफी महत्त्वपूर्ण है. ये कारक आपके क्रेडिट इतिहास के वित्तीय प्रभावों को समझने में आपकी सहायता करेंगे.

पर्सनल लोन (PL) क्या है?

पर्सनल लोन एक प्रकार का ऐसा असुरक्षित लोन होता है, जिसके लिए आपको उधार लेते समय किसी संपत्ति को गिरवी रखने या बैंक के पास संपार्श्विक के तौर पर कुछ भी रखने की आवश्यकता नहीं होती है. ब्याज दर और चुकौती/ भुगतान की अवधि प्रत्येक बैंक में भिन्न होती है. आमतौर पर, लोग पर्सनल लोन का उपयोग अपने घर की मरम्मत, शादी के लिए धन की व्यवस्था, विदेशी सैर-सपाटे, पिछले कुछ कर्ज चुकाने, कोई वस्तु (रेफ्रिजरेटर, एसी, वाशिंग मशीन, कार या दुपहिया वाहन इत्यादि) खरीदने जैसी निजी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए करते हैं.

इसलिए, किसी भी बैंकर से PL लेने से पहले, नीचे दिए गए नियमों और शर्तों की जांच करना आपके लिए सर्वथा उचित है.

पर्सनल लोन लेने के लिए व्यक्ति हेतु पात्रता शर्तें

भारत में पर्सनल लोन लेने के लिए मूल पात्रता मानदंड निम्नलिखित हैं:

  1. कोई भी वेतनभोगी और गैर-वेतनभोगी व्यक्ति पर्सनल लोन के लिए अप्लाई कर सकता है.
  2. आवेदक की आयु कम से कम 21 वर्ष और 60 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए (वेतनभोगी व्यक्तियों के लिए).
  3. अधिकांश बैंकों में स्व-व्यवसायी (सेल्फ-एम्पलॉयड) व्यक्तियों के लिए ऊपरी आयु सीमा 65 वर्ष है.
  4. मासिक आय को ध्यान में रखते हुए, पर्सनल लोन प्राप्त करने के लिए आवेदक की न्यूनतम मासिक आय 25,000 रुपये जरुर होनी चाहिए.

पर्सनल लोन के लिए इन पॉइंट्स का रखें पूरा ध्यान  

पर्सनल लोन (PL) के लिए आवेदन करने से पहले प्रत्येक व्यक्ति को जिन पॉइंट्स पर विचार करना चाहिए, वे पॉइंट्स निम्नलिखित हैं:

उधार ली जाने वाली अधिकतम राशि

किसी भी व्यक्ति की ऋण लेने की क्षमता उसकी मासिक आय पर निर्भर करती है. आमतौर पर, बैंक पर्सनल लोन चाहने वालों को 50,000 रुपये की न्यूनतम ऋण राशि प्रदान करते हैं.

प्रसंस्करण और संवितरण समय

पर्सनल लोन का प्रसंस्करण (प्रोसेसिंग) समय अन्य ऋणों की तुलना में बहुत तेज़ होता है जहां बहुत अधिक सत्यापन शामिल होता है. पर्सनल लोन के लिए एक बड़ी दस्तावेज प्रक्रिया की आवश्यकता नहीं होती है. पर्सनल लोन के लिए अप्लाई करने के लिए केवल कुछ दस्तावेज जैसेकि, आपके पते का प्रमाण, पहचान का प्रमाण और आय का प्रमाण ही काफी होता है.

पूर्व-स्वीकृत ऋण के बारे में करें समुचित जांच

कुछ मामलों में, अगर ग्राहक का क्रेडिट इतिहास अच्छा है, तो बैंक पूर्व-अनुमोदित पर्सनल लोन भी प्रदान करते हैं जिसके लिए ग्राहक को ऋण स्वीकृत होने की प्रक्रिया से नहीं गुजरना पड़ता है और बैंक ने पहले ही इस ऋण के लिए अपनी मंजूरी दे दी होती है और 48 घंटों के भीतर बिना दस्तावेज प्रक्रिया के एप्लिकेंट के खाते में पर्सनल लोन की समस्त राशि स्थानांतरित कर दी जाएगी.

पर्सनल लोन के भुगतान के नियम और शर्तें

प्रत्येक एप्लिकेंट के लिए मासिक EMI के तौर पर पर्सनल लोन्स की चुकौती/ भुगतान प्रक्रिया को समझना बहुत जरुरी है. मासिक EMI एक निर्धारित तिथि पर काट ली जाती है और ग्राहक ऋण अवधि के अंत से पहले उधार ली गई राशि को चुकाने का विकल्प भी चुन सकते हैं. पर्सनल लोन की ऋण राशि को EMI भुगतान योजना के कुल 12 महीनों में चुकाया जा सकता है, जिसके लिए बैंक आमतौर पर फौजदारी शुल्क के रूप में एक छोटा-सा शुल्क आपसे लेते हैं.

ब्याज दर के बारे में हासिल करें सटीक जानें

पर्सनल लोन के लिए ब्याज दर अन्य प्रकार के ऋणों की तुलना में थोड़ी अधिक होती है क्योंकि यह लोन असुरक्षित ऋण श्रेणी के अंतर्गत आता है. आमतौर पर पर्सनल लोन की ब्याज दर (ROI) 10.99% और 22% प्रति वर्ष के बीच होती है.

ऋण अवधि

पर्सनल लोन के मामले में, चुकौती अवधि 01 वर्ष से 05 वर्ष के बीच हो सकती है. कई बार ऋण अवधि को उधारकर्ता खुद भी अपनी सुविधा के मुताबिक चुन सकते हैं.

*अस्वीकरण - यह जानकारी केवल आपके वित्तीय ज्ञान और आर्थिक समझ बढ़ाने के लिए है. इसे किसी भी व्यक्ति के द्वारा वित्तीय सलाह के तौर पर नहीं लिया जाना चाहिए.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

इस वर्ष के लिए पर्सनल फाइनेंस गाइडेंस टिप्स

जानिये इंडियन स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट के लिए ये हैं कुछ कारगर टिप्स

हरेक इंडियन को जरुर पता होने चाहिए ये सेफ बैंकिंग टिप्स

Cat Percentile Predictor 2021

Related Categories

Related Stories

Comment (1)

Post Comment

7 + 3 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.
  • AbhishekJul 14, 2021
    Har har vyakti kuchh kam karta hai lekin yah pata kaise chalega ki samne Wale ki income kitni hai aur jinko yah baat maloom hai ki meri income kitni hai unhen loan ki jarurat Nahin rahti hai
    Reply