यहां पढ़ें भारत के My NEP 2020 पोर्टल के बारे में महत्त्वपूर्ण जानकारी

माई NEP 2020 पोर्टल भारत की राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (NCTE) द्वारा नवीन शिक्षक कार्यक्रमों के लिए लॉन्च किया गया है. इस पोर्टल के बारे में और अधिक जानकारी हासिल करने के लिए ध्यान से पढ़ें यह आर्टिकल. 

Created On: Apr 6, 2021 21:28 IST
Know all about My NEP 2020 Portal of India
Know all about My NEP 2020 Portal of India

My NEP 2020 का परिचय

नेशनल मिशन फॉर मेंटरिंग प्रोग्राम मेंबरशिप (NMM) और नेशनल प्रोफेशनल स्टैंडर्ड्स फॉर टीचर्स (NPST) के लिए एक मसौदा तैयार करने के लिए शिक्षकों, शिक्षा विदों, शिक्षा विशेषज्ञों और अन्य संबंधित पेशेवरों से सुझाव, इनपुट और प्रतिक्रिया एकत्र करने के लिए, भारत के इस नए ऑनलाइन वेब पोर्टल का शुभारंभ केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' द्वारा किया गया है. इस पहल के लिए  प्रमुख संस्था राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (NCTE) है. इस नए वेब पोर्टल को 'MyNEP2020' नाम दिया गया है. हमारे देश में शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े पेशेवर 15 मई तक अपने सुझाव प्रस्तुत कर सकते हैं.

My NEP 2020 की पृष्ठभूमि

भारत के केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 29 जुलाई 2020 को राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP), 2020 को अपनी मंजूरी दे दी थी. यह राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 इक्कीसवीं सदी की पहली शिक्षा नीति है जिसका उद्देश्य देश के विकास से जुड़े कई ऐसे अनिवार्य मुद्दों को शामिल करना है जो हमारे देश के सतत विकास के वर्ष, 2030 के एजेंडे के अनुरूप हों. भारत सरकार की यह राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 2020 समानता, गुणवत्ता, सामर्थ्य, सुलभता  और जवाबदेही के आदर्शों के आधार पर बनाई गई है.

My NEP 2020 में शिक्षकों का महत्त्व

NEP, 2020 भारत की शिक्षा व्यवस्था के सुचारु संचालन और देश में शिक्षा क्षेत्र के विभिन्न उद्देशों को हासिल करने के लिए शिक्षकों के महत्व और योगदान को स्वीकार करता है और यह भी मानती है कि शिक्षक ही हमारे बच्चों के भविष्य को वास्तव में आकार देते हैं और देश का भविष्य संवारते हैं. NEP, 2020 के सफल कार्यान्वयन के लिए सभी चरणों में भारतीय शिक्षकों की भागीदारी बेहद जरूरी है. इसलिए, भारतीय शिक्षण क्षेत्र में शिक्षकों की महत्वपूर्ण भूमिका को ध्यान में रखते हुए शिक्षा मंत्रालय ने NEP, 2020 की विभिन्न सिफारिशों को लागू करने के संबंध में देश के विभिन्न स्कूलों, कॉलेजों, विश्वविद्यालयों और अन्य शिक्षण संस्थानों के प्रधानाचार्यों/ प्रधान शिक्षकों और शिक्षकों के विचार/ सुझाव और टिप्पणियां आमंत्रित करने का निर्णय लिया है जोकि, NEP-2020 की कार्यान्वयन योजना का अभिन्न हिस्सा होंगी. यह नई शिक्षा नीति भारत की शिक्षा प्रणाली में शिक्षकों के महत्त्वपूर्ण योगदान को रेखांकित करती है और इस नीति के माध्यम से उनसे 21 वीं सदी के बच्चों को समग्र शिक्षा प्रदान करने की उम्मीद जताई गई है.

My NEP 2020 का उद्देश्य

NEP, 2020 में भारत की स्कूली शिक्षा में कई परिवर्तनकारी विचारों की सिफारिश की गई है. इस नई शिक्षा नीति में चरणबद्ध तरीके से देश भर में उच्च गुणवत्ता वाले ECCE तक सार्वभौमिक पहुंच सुनिश्चित करने के लिए जोर दिया गया है. NEP, 2020 में विशेष रूप से सामाजिक-आर्थिक रूप से वंचित जिलों और स्थानों पर विशेष ध्यान और प्राथमिकता दी जाएगी.

इसी तरह NEP, 2020 में मिशन मोड में मूलभूत साक्षरता और संख्या ज्ञान सुनिश्चित करने के साथ-साथ स्कूली शिक्षा पाठ्यक्रम में परिवर्तनों और कम पठन सामग्री भार सहित भारत के छात्रों के समग्र विकास के लिए मूल्यांकन में सुधारों को भी सुनिश्चित करने का प्रयास किया जाएगा. अब से शिक्षा के विभिन्न विषयों जैसेकि, कला और विज्ञान, पाठयक्रम और पाठ्येतर गतिविधियों के साथ ही व्यावसायिक और अकादमिक विषयों के बीच विशेष अंतर नहीं होगा.

My NEP 2020 की प्रमुख विशेषताएं

•    NEP, 2020 इक्कीसवीं सदी के कौशल, सभी चरणों में प्रायोगिक शिक्षा, कम हिस्सेदारी वाली बोर्ड परीक्षा, समग्र प्रगति कार्ड, छात्रों के बीच महत्वपूर्ण और उच्च स्तर की सोच को बढ़ावा देने के लिए मूल्यांकन प्रक्रिया में परिवर्तन, व्यावसायिक शिक्षा को मुख्यधारा में लाने के साथ ही भारत में शिक्षकों की शिक्षा में सुधार सहित जीवन कौशल के विकास को बढ़ावा देती है. 
•    NEP, 2020 शिक्षकों के सशक्तिकरण के साथ ही उनकी भर्ती, सेवा शर्तों, स्थानांतरण नीति और सभी स्तरों पर करियर में सतत प्रगति के अवसरों में सुधार पर भी ध्यान केंद्रित करती है. शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय व्यावसायिक मानक (NPST), शिक्षकों के विभिन्न स्तरों के लिए मानदंड और मानक निर्धारित करेगा. 
•    NEP, 2020 में सामाजिक सामंजस्य के लिए सामाजिक, बौद्धिक और स्वयंसेवी गतिविधियों को बढ़ावा देने और स्कूल अवसंरचना के समुचित इस्तेमाल के लिए गैर-शिक्षण/ स्कूली अवधि के दौरान स्कूलों का "सामाजिक चेतना केंद्र" के तौर पर इस्तेमाल करने की भी सिफारिश की गई है. 
•    NEP 2020, कम से कम ग्रेड 5 तक मातृभाषा/ गृह भाषा या स्थानीय भाषा में या फिर, जहां भी संभव हो, शिक्षण की सिफारिश करती है. नीतिगत हितों के टकराव को समाप्त करने के लिए NEP, 2020 में विनियामक, प्रशासनिक और नीति निर्माण कार्यों को अलग करने की सिफ़ारिश करने के साथ ही राज्य स्कूल मानक प्राधिकरण की स्थापना की भी सिफारिश की गई है. 
•    NEP, 2020 में शिक्षा, मूल्यांकन, योजना और प्रशासन सहित शिक्षा के विभिन्न पहलुओं में सुधार के लिए प्रौद्योगिकी पर भी अधिक जोर दिया गया है. 

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

स्वयं पोर्टल: भारत में फ्री ऑनलाइन कोर्सेज के लिए स्टूडेंट्स के लिए है बहुत खास

ऑनलाइन एजुकेशन के लिए बेस्ट ऑनलाइन साइट्स

स्वयं प्रभा डीटीएच चैनल्स के जरिये स्टूडेंट्स करें घर बैठे पढ़ाई

 

Comment ()

Post Comment

4 + 0 =
Post

Comments