हिंदी भाषा के विशेषज्ञ इन करियर्स से कमा सकते हैं लाखों रुपये 

अगर आप हिंदी भाषा में विशेषज्ञता हासिल कर लें तो आपके लिए कुछ ऐसे करियर ऑप्शन्स हमारे भारत सहित विदेशों में भी उपलब्ध हो जायेंगे जिन्हें ज्वाइन करके आप लाखों रुपये कमा सकते हैं.

Created On: Sep 1, 2021 20:05 IST
Lucrative Career Options for Hindi Experts
Lucrative Career Options for Hindi Experts

हम भारतवासियों के लिए यह गर्व और प्रसन्नता की बात है कि पूरे विश्व में विश्व हिंदी दिवस भी हरेक वर्ष मनाया जाता है. हिंदी भाषियों की बढ़ती संख्या के साथ ही हिंदी भाषा के अति समृद्ध व्याकरण और साहित्य ने व्यावसायिक तथा सामाजिक उत्थान के सन्दर्भ में इन दिनों पूरे विश्व का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित किया है. आज के इस टेक्नीकल युग में हिंदी टेक्निकली भी आसान होती जा रही है. इस बात का स्पष्ट प्रमाण हम गूगल द्वारा हिंदी भाषा को वरीयता दिए जाने के तौर पर देख सकते हैं. गूगल हिदी ट्रांसलेट दिनोदिन अपने परिवर्धित रूप में अन्य भाषाओँ को अधिक से अधिक सही हिंदी ट्रांसलेट करने की दिशा में प्रयत्नशील है. भारत सरकार द्वारा भी हिंदी को वरीयता देने की वजह से अब हिंदी भाषा के विशेषज्ञों का भविष्य उज्ज्वल है और भारत सहित विदेशों में भी उनके लिए ऐसे आकर्षक करियर ऑप्शन्स उपलब्ध हैं जिन्हें ज्वाइन करके ये हिंदी विशेषज्ञ लाखों रुपये कमा सकते हैं.

विश्व हिंदी दिवस प्रति वर्ष 10 जनवरी को मनाया जाता है. इस दिवस को मनाये जाने का मुख्य उद्देश्य विश्व में हिंदी भाषा  के प्रचार-प्रसार को लेकर लोगों में जागरूकता पैदा करना तथा हिंदी को अन्तराष्ट्रीय भाषा के रूप में स्थापित करना है.विदेशों में भारत के दूतावास इस दिवस को बड़े उत्साह तथा सम्मान के साथ विशेष रूप से मनाते हैं. सभी सरकारी कार्यालयों में विभिन्न विषयों पर हिंदी में व्याख्यान आयोजित किये जाते हैं. विश्व में हिंदी का विकास करने और इसे प्रचारित-प्रसारित करने के उद्देश्य से विश्व हिंदी सम्मेलनो की शुरुआत की गई. प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन 10 जनवरी 1975 को नागपुर में आयोजित किया गया था.इसी लिए इस दिन को 'विश्व हिंदी दिवस' के रूप में मनाया जाता है.

आप सभी को यह जानकर हैरानी होगी कि पूरे विश्व में चीनी भाषा मंडारिन के बाद सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषाओँ में हिंदी का पहला स्थान है. यह बात मेंगलूर (कर्णाटक) के डॉक्टर जयंती प्रसाद नोटियाल की एक शोध रिपोर्ट में साबित की गयी है. लगभग 20 देशों में आम बोल चाल की भाषा में हिंदी भाषा का प्रयोग किया जाता है. विश्व आबादी में लगभग 50 करोड़ लोग हिंदी बोलते हैं. लेकिन आश्चर्य की बात तो यह है कि अब भी ज्यादातर लोग यही समझते हैं कि अगर आपको अंग्रेजी का पर्याप्त ज्ञान नहीं है तो आपको एक अच्छी नौकरी मिलना बहुत मुश्किल है. लेकिन अब ऐसी बात नहीं है. अगर आपको हिंदी भाषा की सही जानकारी है तो आप अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं. आप चाहें तो इसी क्षेत्र में अपना करियर भी बना सकते हैं. आप सभी जानते हैं कि भारतवर्ष में 14 सितम्बर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है. यहाँ हम आपको कुछ ऐसे जॉब्स के विषय में बताने जा रहे हैं जो हिंदी भाषा की समुचित जानकरी होने पर आसानी से प्राप्त की जा सकती है. 

हिंदी टीचरप्रोफेसर

अगर आप हिंदी से ग्रेजुएट हैं और आपको पढ़ना, पढ़ाना अच्छा लगता है तो आप टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट क्वालीफाई कर हिंदी भाषा में टीचिंग शुरू कर सकते है. अगर हिंदी भाषा का प्रोफ़ेसर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको नेट की परीक्षा पास कर शोध करना पड़ेगा.

आवश्यक योग्यता

टीचर के लिए हिंदी भाषा में ग्रेजुएशन के साथ साथ टीचर  एलिजिबिलिटी टेस्ट पास करना. महाविद्यालय या विश्वविद्यालय में प्रोफ़ेसर बनने के लिए हिंदी भाषा में नेट और पीएचडी करना होगा.

इससे आप स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी आदि में रोजगार पा सकते हैं. आप चाहें तो होम ट्यूटोरियल या  ऑनलाइन टीचिंग की शुरुआत भी कर सकते हैं. इस तरह के जॉब में आपको प्रायमरी टीचर को 15 से 20 हजार रुपए की सैलरी आसानी से मिल सकती है जबकि एक प्रोफ़ेसर के रूप में आप लाखो कमा सकते हैं.  

प्रूफ रीडर

प्रूफ रीडर बनने के लिए भाषा पर अच्छी पकड़ के साथ साथ व्याकरण का पर्याप्त नॉलेज तथा अच्छी टाइपिंग स्पीड होना अति आवश्यक है. अगर आपमें धैर्य के साथ कंटेंट को पढ़ने,उसकी समीक्षा करने तथा उसकी गलतियाँ निकालने में रूचि हो,तो आप प्रूफ रीडर का काम आसानी से कर सकते हैं.

आवश्यक योग्यता 

इसके लिए अभ्यर्थी को ग्रेजुएट होना चाहिए. व्याकरण का पर्याप्त नॉलेज और इसके अतिरिक्त टाइपिंग का ज्ञान भी आवश्यक है. टाइपिंग स्पीड 80 शब्द प्रति मिनट होना जरुरी है.

आमतौर पर राज्यसभा, पब्लिशिंग हाउस, न्यूजपेपर, मैग्जीन, एडवरटाइजिंग एजेंसी, पीआर एजेंसी के साथ कंटेंट में डील करने वाली प्राइवेट कंपनियों में प्रूफ रीडर नियुक्त किए जाते हैं. प्राइवेट संस्थानों में शुरुआती सैलरी 10 से 15 हजार रुपए होती है. वहीं गवर्नमेंट में 30 से 35 हजार रुपए माह सैलरी मिल सकती है. सीनियरटी के हिसाब से सैलरी बढ़ता जाता है.

स्क्रिप्ट राइटर

अगर आपका इन्ट्रेस्ट राइटिंग में हो और आप  क्रिएटिव राइटिंग में माहिर हैं तो आप स्क्रिप्ट राइटर के रूप में बढ़िया इनकम कर सकते हैं. इसके लिए आपको स्क्रिप्ट राइटिंग में डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स करना होगा. इसके अतिरिक्त मास कम्यूनिकेशन के कोर्सेस में भी स्क्रिप्ट राइटिंग सिखाई जाती है. राइटिंग में रूचि है तो आप इनमें से कोई भी एक कोर्स कर सकते हैं.

स्क्रिप्ट राइटर को पत्र-पत्रिकाओ में कंटेंट राइटिंग, घोस्ट राइटिंग, वेब सीरीज राइटिंग, यूट्यूब चैनल राइटिंग, इवेंट राइटिंग और ऑनलाइन राइटिंग का काम मिल सकता है. राइटर्स की आवश्यक्ता ऐड कंपनियों और कॉरपोरेट कंपनियों में भी होती है. एडवरटाइजिंग एजेंसी, कॉमिक्स, वीडियो गेम्स, थियेटर प्ले, फिल्म, टेलीविजन, रेडियो आदि से जुड़कर फ्रीलांसिंग करके भी अच्छी अर्निंग की जा सकती है.

आवश्यक योग्यता 

इसके लिए स्क्रिप्ट राइटिंग में डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स अथवा मास कम्यूनिकेशन की डिग्री आवश्यक है.

राजभाषा विभाग राजभाषा अधिकारी के पद के लिए आवेदन आमंत्रित करता है. केंद्र सरकार के विभिन्न विभागों में राजभाषा अधिकारी नियुक्त किए जाते हैं. मंत्रालयों में राजभाषा अधिकारी नियुक्त किए जाते हैं. इसके अलावा बैंकों में आईबीपीएस के जरिए राजभाषा अधिकारी की नियुक्ति की जाती है. राज्यों में भी अलग-अलग विभागों में राजभाषा अधिकारी की वैकेंसी समय-समय पर निकलती है. इनको सैलरी गवर्नमेंट के पे स्केल के हिसाब से मिलती है और सीनियरटी के हिसाब से बढ़ती जाती है.

स्टेनोग्राफर हिंदी

भरात में अधिकांश युवा सरकारी नौकरी के तरफ आकर्षित हैं. अगर आप उन युवाओं में से एक हैं तो आपके लिए स्टेनोग्राफी एक अच्छा करियर विकल्प हो सकता है. गौरतलब है कि  स्टेनोग्राफर की सैलरी अच्छी खासी होती है तथा इस कोर्स को करने की लागत भी बहुत कम है. इस कोर्स को करने के बाद आपको कोर्ट, सरकारी संस्थाओं, अखबारों आदि में काम मिल सकता है. साथ ही साथ कर्मचारी चयन आयोग के द्वारा भी विभिन्न सरकारी विभागों में स्टेनोग्राफर के पद पर नियुक्तियां निकाली जाती हैं. 

आवश्यक योग्यता

स्टेनोग्राफर बनने के लिए उम्मीदवार को किसी भी विषय से स्नातक होना चाहिए. वैसे स्टेनो सीखने के लिए उम्मीदवार को कम से कम 12 वीं पास होना जरुरी है. इसके लिए सबसे पहले आपको स्टेनो टाइपिंग सीखना पड़ता है. इसके लिए आप पॉलिटेक्निक कॉलेज या आईटीआई में प्रवेश ले सकते हैं. किसी निजी संस्थान से भी ट्रेनिंग लिया जा सकता है. स्टेनोग्राफर की सैलरी 5 हजार रुपए से लेकर 20 हजार रुपए तक होती है. सीनियरिटी के आधार पर यह  35 से 40 हजार तक पहुँच सकती है.

अतः अगर आपको अंग्रेजी का पर्याप्त ज्ञान नहीं है लेकिन हिंदी की अच्छी जानकारी है तो आपका भी उतना ही महत्व है. आपको हीन भावना से ग्रस्त होने की जरुरत नहीं है. आज के आधुनिक युग में भाषा के वनिस्पत जिस भाषा का आपको ज्ञान है उसके सम्पूर्ण ज्ञान के साथ साथ उसमें मास्टरी होना आज के समय की मांग है. अगर ऐसा है तो यकीन मानिए आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता है.

अतः आज के दिन अपने हिंदी भाषी होने पर गर्व महसूस कीजिये और साथ ही साथ हिंदी के सही विकास और प्रचार प्रसार के लिए प्रयत्नशील रहते हुए इसके उत्थान में अपना महत्वपूर्ण योगदान दीजिये. इस भाषा की सही जानकारी तथा वैश्विक स्तर पर इसका समुचित उपयोग कर हिंदी को निःसंदेह एक वैश्विक भाषा के रूप में विकसित किया जा सकता है.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

हिंदी भाषा में एक्सपर्ट्स को मिलते हैं देश-विदेश में ये खास करियर ऑप्शन्स

ये हैं कामकाजी हिंदी में एक्सपर्ट लोगों के लिए खास करियर्स

स्टूडेंट्स हिंदी में ज्वाइन कर सकते हैं ये फ्री स्किल डेवलपमेंट ऑनलाइन कोर्सेज

 

Comment (0)

Post Comment

3 + 5 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.