जानिये JEE Main परीक्षा 2018 के प्रश्न पत्र को हल करने की बेस्ट टेक्निक

IIT JEE Main परीक्षा सिर्फ 5 दिन दूर है। इस परीक्षा में 90 प्रश्न होते हैं जो तीन खंडो में विभाजित रहते हैं – भौतिकविज्ञान (Physics), रसायन विज्ञान(Chemistry) और गणित(Mathematics)। प्रत्येक भाग में 30 प्रश्न होतेहैं। इस लेख में हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताएंगे जिसको प्रयोग करके IIT JEE Main में बेहतरीन स्कोर लासकते है|

Created On: Apr 2, 2018 10:22 IST
Modified On: Oct 16, 2018 10:20 IST
Know the best ways to attempt JEE Main Question Paper 2018
Know the best ways to attempt JEE Main Question Paper 2018

IIT JEE Main परीक्षा में अब 1 सप्ताह से भी कम समय बचा है। इस परीक्षा में 90 प्रश्न होते हैं जो तीन खंडो में विभाजित रहते हैं – भौतिक विज्ञान (Physics), रसायन विज्ञान(Chemistry) और गणित(Mathematics)। प्रत्येक भाग में 30 प्रश्न होतेहैं।

JEE Main परीक्षा न केवल लोगों की विश्लेषणात्मक और बौद्धिक क्षमताओं की जांच करने के लिए डिज़ाइन की गई है बल्कि प्रतिकूल परिस्थितियों  में परफॉर्म करने, चुनाव करने, दबाव झेलने आदि क्षमताओं की जांच करने के लिए भी डिज़ाइन की गई है ।हर उम्मीदवार अधिकतम स्कोर करना चाहता है। इसके अलावा, प्रत्येक सही प्रयास आपको 4 अंक देगा चाहे वह आसान हो या कठिन । इसलिए, प्रश्न पत्र को हल करते समय हमें इस महत्वपूर्ण बात का ध्यान रखना चाहिए कि किसी भी हाल  में आसान प्रश्न ना छूटें।

1. पेपर को ध्यानपूर्वक पढ़ें

JEE Main 2018 पेपर को हल करते समय पहली और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि पूरे पेपर को जल्दी से पढ़  लेना चाहिए और प्रश्नों की कठिनाई के स्तर का आकलन कर लेना चाहिए । पेपर से सबसे आसान सवाल चुनें और उन्हें पहले हल करें।यदि आप ऑफ़लाइन मोड में पेपर को हल कर रहे हैं तो आप आसान प्रश्नों के लिए प्रश्न संख्या पर एक छोटा सा चक्र बना सकते हैं। ऑनलाइन मोड में भी प्रश्न को मार्क करनेके लिए मार्क एवं रिभ्यु का एक विकल्प होता है ।

2. पहले आसान, फिर मध्यम और अंत में कठिन प्रश्न हल करें

आईआईटी JEE Main परीक्षा एक मध्यम स्तर की परीक्षा है। आपको इस पेपर में कई आसान प्रश्न मिल सकते हैं।इस दृष्टिकोण सेआप पूरे पेपर को तीन चक्रों में बाँट सकते हैं।पहले चक्र में आसान सवाल, दूसरे चक्र में मध्यम सवाल और अंतिम चक्र में कठिन प्रश्नों को हल करिये।

इसके अलावा अपनी घड़ी पर भी नज़र रखें।आसान प्रश्न को एक मिनट से अधिक समय  न दें। इसके अलावा, मध्यम प्रश्नों पर भी 3-4 मिनट से अधिक न खर्च करें।यदि आवश्यक समय से अधिक समय लगे तो इसे छोड़ना ही बेहतर विकल्प है ।

3. अपने पसंदीदा विषय को पहले चुनें

एक अन्य तरीका यह भी हो सकता है कि एक बार जब आप अपेक्षाकृत आसान और मध्यम प्रश्नों को हल कर लेते हैं, तो आपको बाकी प्रश्नपत्र को क्रमवार हल करना चाहिए। ऐसा सूझाव है कि क्रमवार हल करने के दौरान आप सबसे पहले अपना सबसे मजबूत विषय चुनें एवं आखिर में आप अपना सबसे कमजोर विषय चुनें।

इस विधि का परीक्षण किया गया है और इसके अपने फायदे हैं :

पहला फायदा यह है कि यदि आपने पहले आसान प्रश्न हल कर लिये हैं, तो बड़ी संख्या में प्रश्न हल हो गये हैं और आपने समय की थोड़ी सी अवधि में काफी अंक अर्जित कर लिये हैं। यह आपके आत्मविश्वास को बनाये रखने में भी मदद करता है।

दूसरा फायदा यह है कि यदि आपके पास समय की कमी है तो वह प्रश्न छूटेंगे जो आपको बहुत मुश्किल लगते हैं ।

4. पहले केमिस्ट्री का चयन करें और फिर पसंदीदा विषय को करें

JEE Main 2018 प्रश्न पत्र को हल करने का एक और तरीका यह है कि रसायन शास्त्र को पहले करें और फिर गणित या भौतिकी विज्ञान को हल करें। इस रणनीति के अनुसार पेपर को करने के कई फायदे हैं।

किसी भी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा में रसायन विज्ञान सबसे स्कोरिंग विषय होता है , भले ही यह आपकासबसे कमजोर विषय क्यों न हो। इस विषय में कुछ संख्यात्मक प्रश्न एवं बहुत सारी चीज़ें स्मृति आधारित होती हैं ।अधिकांश प्रश्न द्विआधारी प्रकृति के होते  हैं मतलब या तो आप उत्तर जानते हैं या आप उत्तर नहीं जानते हैं। इसलिए सवाल हल करने के लिए उचित तरीकों को  सोचने में समय का व्यय नहीं है।

यह तरीका गणित और भौतिकी भाग के लिए समय बचाता है, जिसमें बहुत सी गणनाओंकी आवश्यकता होती है। रसायन विज्ञान के भाग को खत्म करने के बाद पेपर के उस भाग को हल कीजिये  जिसमें आपको अधिक सुविधा महसूस होती हो।

जाने ऐसा मंत्रा जिससे आपको इंजीनियरिंग और UP बोर्ड दोनों परिक्षाओं में मिले सफलता

5. विषय के अनुसार रणनीति बनाएं

आप विषय के अनुसार भी रणनीति बना सकते हैं। यह भी एक बहुत अच्छा तरीका है। हर विषय में प्रत्येक छात्र का अपना पसंदीदा टॉपिक होता है।पहले उन टॉपिक्स  के प्रश्नों को हल करने का प्रयास करें, ताकि आप आत्मविश्वास पा सकें और अपने हल किये गए प्रश्नो की संख्या को बढ़ा सकें। जैसे- कुछ लोग कैलकुलस में बहुत अच्छे होते हैं, इसलिए वे पहले कैलकुलस से सवाल उठाते हैं। इसी प्रकार प्रत्येक विषय में आपके पसंदीदा टॉपिक होते हैं, जिनको आप  पहले हल कर सकते हैं।

6. रफ कार्य को स्वच्छ और सुरक्षित रखें

आप का रफ कार्य रिवीजन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। अक्सर हम पेपर हल करने में रफ कार्य की भूमिका की अनदेखी करते हैं।

आपका रफ कार्य स्पष्ट और पढ़ने  योग्य  होना चाहिए।साथ ही हल से संबंधित प्रश्न को चिह्नित करें । यह आपको रिवीजन के कार्य में मदद करेगा। रफ कार्य के लिए थोड़ी सी जगह का उपयोग करें।इसके अलावा,अपने पेपर में बैकअप के लिए रिक्त स्थान रखें क्योंकि ऑफ़लाइन परीक्षा में आपको रफ कार्य के लिए अतिरिक्त पेपर नहीं मिलता है ।

आईआईटी JEE Main परीक्षामें विकल्प दूसरे विकल्पों के बहुत करीब होते हैं। यदि आप अपनी गणना में छोटी सी भी गलती करते हैं तो आप गलत विकल्प पर पहुंच सकते हैं और इसके लिए 5 अंक खो सकते हैं। इसलिए रिवीजन का कार्य बहुत महत्वपूर्ण है और इससे आपको लगभग 20-30 अंकों की बचत करने में मदद मिलती है।

7. समय प्रबंधन (टाइम मैनेजमेंट )

आईआईटी JEE Main2018 परीक्षा में समय प्रबंधन बहुत महत्वपूर्ण है। ऑनलाइन परीक्षा में सर्वर पर घड़ी होती है लेकिन ऑफ़लाइन परीक्षा में आपको अपने साथ घड़ी रखनी चाहिए ताकि आप समय का ध्यान रख सकें। पेपरके बीच 3-4 बार समय देखें। प्रत्येक चक्र के बाद खर्च किए गए समय की जांच करें और उसे आवंटित समय के साथ मेल करें। याद रखें, आईआईटी जेईई मेन पेपर में उच्च प्रयास दर और सटीकता दोनों ही मायने रखती हैं ।

आईआईटी जेईई 2018 परीक्षा में सही विकल्प काअनुमान कैसे लगाया जाए, इसके लिए  इन 7 युक्तियों को अवश्य जनना चाहिए

आईआईटी जेईई : सेल्फ– स्टडी के 5 टिप्स

IITJEE की तैयारी : क्या करें और क्या न करें जानना बेहद है ज़रूरी

जानिये शिक्षा एवं नौकरी के लिए उपयुक्त टॉप 7 शहर


Comment ()

Related Categories

    Post Comment

    8 + 2 =
    Post

    Comments