कॉलेज में लीडरशिप स्किल्स सीखने से मिलते हैं पर्सनल लाइफ और करियर में भावी फायदे

निस्संदेह! अधिकांश लीडरशिप स्किल्स केवल कॉलेज के दिनों में ही विकसित किये जा सकते हैं. इसलिये, इस आर्टिकल में हमने कुछ खास कारण बताये हैं जिन्हें जानकार आप अपने कॉलेज के दिनों में ही अपने लीडरशिप स्किल्स सीखने के लिए पूरा ध्यान दे सकते हैं.

Created On: Sep 30, 2020 18:00 IST
Leadership Skills: Why it's important to develop them in college
Leadership Skills: Why it's important to develop them in college

पूरी दुनिया में आजकल के बहुत ज्यादा कॉम्पीटिशन वाले ऑफिसेस और विभिन्न कंपनियों में कोई भी पेशेवर या कर्मचारी तभी सफल हो सकता है जब उसके पास बढ़िया लीडरशिप स्किल्स हों क्योंकि एक लीडर या टीम लीडर के तौर पर न सिर्फ आप अपने काम के लिए जिम्मेदार होते हैं बल्कि जूनियर कर्मचारियों के काम का जिम्मा भी आप पर होता है.

जैसेकि, अगर आपके अधीन कोई कर्मचारी अपनी ड्यूटी अच्छी तरह पूरी नहीं करता है तो आपसे भी पूछा जायेगा कि आप अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को हैंडल क्यों नहीं कर पा रहे हैं? बहुत से ऐसे लीडरशिप स्किल्स (विशिष्ट व्यवहार, नजरिया, मैनेजमेंट स्किल्स) होते हैं जो एक अच्छा लीडर अपने काम करने के स्टाइल से जाहिर करता है और उसके अधीनस्थ कर्मचारियों को अपने इस लीडर के काम करने तरीकों से प्रेरणा भी मिलती है.

इसलिए, इस आर्टिकल में हम आपके लिए अपने कॉलेज के दौरान ही विभिन्न लीडरशिप स्किल्स सीखने से पर्सनल लाइफ और करियर में मिलने वाले भावी फायदों के बारे में चर्चा कर रहे हैं. आइये आगे पढ़ें यह आर्टिकल:

लीडरशिप स्किल्स सिखाते हैं जिम्मेदारी लेना भी

कॉलेज में पढ़ते समय काफी असाइनमेंट्स, टास्क्स और ग्रुप प्रोजेक्ट्स ऐसे होते हैं जिन्हें छात्रों का ग्रुप मिलकर पूरा करता है. ऐसे मुद्दे व्यक्ति की समझ विकसित करने में मददगार होते हैं और लीडर यह फैक्ट भी स्वीकार करते हैं कि किसी भी काम के लिए वे जिम्मेदार हैं और अगर वे अपना काम ठीक से नहीं कर पाते हैं तो इसका असर बहुत लोगों पर या उनके पूरे ग्रुप पर पड़ेगा. लीडर अपने काम के साथ-साथ अपने अधीनस्थ कर्मचारियों के काम को लेकर भी जिम्मेदार और जवावदेह होता है. अगर उनके ग्रुप में कोई व्यक्ति अपना काम ठीक से नहीं कर पाता है तो उन्हें इसका कारण समझना होगा और जहां तक हो सके बिना किसी झगड़े या विवाद के इस समस्या का समाधान पेश करना होगा.

लीडरशिप की पहली शर्त - आत्मविश्वास

एक लीडर में आत्मविश्वास का गुण कूट-कूट कर भरा होना चाहिए क्योंकि अगर किसी लीडर में ही आत्मविश्वास की कमी होगी तो वह अपने आस-पास के लोगों को प्रेरित नहीं कर सकेगा. किसी भी छात्र के लिए अपना आत्मविश्वास बढ़ाने का सबसे बढ़िया स्थान उसका कॉलेज ही होता है. कॉलेज में अपना आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए आप कई एक्टिविटीज में भाग ले सकते हैं. उदाहरण के लिए, आप ‘स्टूडेंट एसोसिएशन’ में किसी पोस्ट का कार्य संभाल सकते हैं या आप किसी कैंपस संगठन के प्रमुख के तौर पर कार्य कर सकते हैं. अगर आपको खेलने का शौक है तो आप अपनी टीम के कैप्टन बन सकते हैं. ऐसे में आपको लोगों के साथ मिल-जुलकर काम करना आ जायेगा और अगर आप ग्रुप लीडर हैं तो आपमें लीडरशिप के गुण स्वाभाविक तौर पर विकसित होने लगेंगे.

नेटवर्किंग स्किल्स का होता है विकास

एक लीडर के तौर पर आपके पास लोगों के साथ जुड़ने और लोगों को अपने साथ जोड़ने की काबिलियत या नेटवर्किंग का कौशल अवश्य होना चाहिए. लोगों से अच्छे संबंध कायम रखना या नेटवर्किंग किसी भी लीडर के लिए सबसे महत्वपूर्ण स्किल्स में से एक है. असल में, नेटवर्किंग के लिए कॉलेज से अच्छी दूसरी जगह और कौन-सी हो सकती है? कॉलेज में रहकर आप अपने नेटवर्किंग कौशल को अधिकतम सीमा तक निखार सकते हैं. जब आप अपने पेशेवर जीवन की शुरुआत करते हैं तो कॉलेज के दिनों में जिन लोगों के साथ आपने अच्छे संबंध कायम किये थे, वे लोग आपके काफी काम आ सकते हैं. कॉलेज में कायम किया गया कोई भी नेटवर्क कभी बेकार नहीं जाता है. कभी भी, कहीं भी आपके भावी जीवन में आपके कॉलेज के मेंटर, बैच-मेट्स या फिर आपकी फील्ड के लोग आपके काम आ सकते हैं.

लीडरशिप की एक क्वालिटी प्रॉब्लम सॉल्विंग भी है

किसी भी नेता या लीडर की सबसे बड़ी खासियत होती है उसका समस्यायें निपटाने (प्रॉब्लम सॉल्विंग) का गुण. आखिरकार, चाहे हम किसी स्कूल या कॉलेज में पढ़ते हैं या फिर कोई पेशेवर हैं, हमारे जीवन में एक के बाद एक कई चुनौतियां आती रहती हैं. सिर्फ इतना ही फर्क होता है कि कोई समस्या या चैलेंज ज्यादा जटिल होती है और कोई कम. लेकिन, जब आप एक बार किसी समस्या को अच्छे तरीके से सुलझा लेते हैं तो फिर, अगली बार आप वैसी किसी चैलेंज का सामना करने से घबराते नहीं हैं. वास्तव में, कॉलेज लाइफ में तो समस्याओं और चुनौतियों की भरमार होती है और आपको तकरीबन रोजाना ही किसी न किसी समस्या से निपटना ही पड़ता है. कॉलेज में रहते हुए आप अपनी समस्याओं का समाधान करने से संबंधित कौशल को बखूबी निखार सकते हैं और फिर, आगे चलकर किसी ऑफिस के पेशेवर माहौल में भी आपको अपनी समस्यायें सुलझाने में काफी मदद मिलेगी. 

लीडरशिप स्किल्स से बनती है इंस्पायरिंग पर्सनैलिटी

एक लीडर के तौर पर आपमें अवश्य लोगों को प्रेरित करने की क्षमता होनी चाहिए. आप अपनी टीम के साथ ऐसे बातचीत करें कि उन्हें हमेशा कड़ी मेहनत करने और अपनी वास्तविक कार्य-क्षमता को प्राप्त करने की प्रेरणा मिलती रहे. यदि आप कॉलेज में अपने दोस्तों को मेहनत करने के लिए प्रेरित कर सकते हैं तो फिर, जब आप पेशेवर दुनिया में एंटर करेंगे तो आपको अपनी उक्त क्षमता से काफी लाभ मिलेगा. कॉलेज में किसी लीडर के तौर पर कोई कार्य करने पर आप अपने भावी जीवन में भी इस तरह की परिस्थितियों को हैंडल करने के अभ्यस्त हो जायेंगे क्योंकि कॉलेज में आपको कई ग्रुप प्रोजेक्ट्स और कार्यों को सफलतापूर्वक पूरा करने का काफी अनुभव मिल जाता है.

लीडरशिप में मैनेजमेंट स्किल्स भी होते हैं शामिल

एक कुशल नेता या लीडर होने के नाते आपमें प्रबंध कौशल (अर्थात मैनेजमेंट स्किल्स) भी होना चाहिए अर्थात अपने सभी कामों और प्रोजेक्ट्स को आप हर परिस्थिति में कुशलता से पूरा कर सकें. कॉलेज में रहकर जब आप अपनी पढ़ाई के साथ-साथ अपनी हॉस्टल लाइफ को भी बखूबी मैनेज करते हैं और अपने दोस्तों की हर संभव सहायता करते हैं तो आपमें हरेक परिस्थिति में अपनी जरूरतों के अनुसार ‘प्रबंध’ करने का कौशल विकसित हो जाता है जो भावी जीवन में आपके बहुत काम आता है.

इम्प्रेसिव रिज्यूम

जब आप कॉलेज में बहुत से प्रोजेक्ट्स, कार्य या ग्रुप्स का नेतृत्व करते हैं और अपने काम को सफलतापूर्वक पूरा करते हैं तो आप अपने भावी एम्पलॉयर्स को दिखाने के लिए इन कार्यों का विवरण अपने रिज्यूम में कर सकते हैं. ऐसे सफल प्रोजेक्ट्स और कार्यों का विवरण अपने रिज्यूम में देने से आपका रिज्यूम और जॉब प्रोफाइल काफी प्रभावी बन जाता है जिससे आपके भावी एम्पलॉयर पर आपका बहुत अच्छा प्रभाव पड़ता है.

लीडरशिप और लोकप्रियता का प्रेशर

अगर आप अपने पेशे में किसी बढ़िया लीडर के रूप में फेमस होना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले लीडरशिप क्वालिटी के साथ आने वाले प्रेशर के लिए तैयार रहना सीखना होगा. लोग आपके पास तरह-तरह की समस्यायें लेकर आयेंगे और उम्मीद करेंगे कि आप पलक झपकते ही उनकी समस्याओं का समाधान कर देंगे या फिर, आप उन्हें कोई कारगर सलाह देंगे ताकि वे अपनी समस्या से निपट सकें.

ये प्वाइंट्स आपको कॉलेज में लीडरशिप के गुण और कौशल विकसित करने का महत्व समझने में सहायता करेंगे क्योंकि जब कोई काम या चीज हम पहली बार सीखते हैं तो हम गलतियां करते हैं लेकिन कॉलेज हमें अपने लीडरशिप कौशल निखारने का सुनहरा मौका देता है, जहां हम अपनी गलतियों से समय रहते बहुत कुछ सीख सकते हैं.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

विभिन्न ऑनलाइन साइट्स पर ये हैं विशेष फ्री ऑनलाइन लीडरशिप कोर्सेज

अगर करनी है स्टार्टअप में जॉब तो अपनाएं ये लीडरशिप क्वालिटीज़

लीडरशिप के ये गुण हैं कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए एक वरदान

 

Related Categories