1. Home
  2. |  
  3. ARTICLE
  4. |  
  5. एमबीए |  

जानिये IIMS से MBA करने के बाद कैसे होगी आपकी लाइफ ?

मैनेजमेंट का क्षेत्र इतना लोकप्रिय करियर विकल्प बन गया है कि अधिकांश छात्र बिना यह सोचे कि भविष्य में उन्हें क्या करना है ? इस कोर्स में एडमिशन ले लेते हैं.

Apr 19, 2019 11:04 IST
MBA FAQs: Life after MBA
MBA FAQs: Life after MBA

मैनेजमेंट का क्षेत्र इतना लोकप्रिय करियर विकल्प बन गया है कि अधिकांश छात्र बिना यह सोचे कि भविष्य में उन्हें क्या करना है ? इस कोर्स में एडमिशन ले लेते हैं. एमबीए करना कोई कठिन कार्य नहीं है और ना ही यह आपकी जर्नी का अंत ही है. बल्कि यह उन चुनौतियों का जिन्हें आप अपने ग्रेजुएशन से ही सामना कर रहे हैं, की  पुनः शुरुआत का दौर है. एमबीए करने के बाद आपको सबसे पहले एक अच्छी नौकरी की तलाश करनी होगी अथवा हायर एजुकेशन के लिए एमफिल या पीएचडी कोर्सेज में एडमिशन लेना होगा. छत्रों को अपने आप को सिर्फ फ्यूचर मैनेजर के रूप में ही नहीं देखना चाहिए. उनके लिए मार्केट में बहुत सारे जॉब्स उपलब्ध हैं.
लेकिन, क्या सिर्फ एमबीए की डिग्री छात्रों को इन पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन करने के योग्य बनाती है ? इसमें थोड़ा संदेह है.यदि छात्रों को ऐसा लगता है कि एमबीए की डिग्री के माध्यम से अन्य फील्ड में भी जॉब्स नहीं पा सकते हैं,तो आप भूल कर रहें हैं.
एमबीए की डिग्री किसी भी क्षेत्र में प्रवेश करने के लिए पर्याप्त अवसर प्रदान करता है. आईएएस से लेकर बैंकिंग इंडस्ट्री तक,रिसर्च डोमेन तथा एक इंटरप्रेन्योर बनने के लिए हर जगह एमबीए की डिग्री सहायक है.
नीचे दी गयी सवालों की सूची छात्रों के उन सभी संदेहों को दूर कर देगी जो संदेह उनके मन में एमबीए की डिग्री को लेकर है.
जॉब से जुड़े कुछ सवाल

क्या एमबीए की डिग्री से जॉब मिलना निश्चित है ?
अधिकांश एमबीए उम्मीदवार एमबीए की डिग्री एक सफल और पुरस्कृत करियर के पासपोर्ट के रूप में इसे समझकर लेते हैं. लकिन हमें यह कहते हुए खेद है कि इसमें सच्चाई नहीं है.किसी अन्य शैक्षिक योग्यता की तरह एमबीए सिर्फ एक डिग्री है और नौकरी की गारंटी नहीं देता है. हालांकि, एक प्रोफेशनल डिग्री होने के नाते एमबीए के बाद नौकरी पाने की संभावना अपेक्षाकृत अधिक रहती है. ऐसे कई एमबीए कॉलेज और इंस्टीट्यूट हैं जो अपने छात्रों के लिए नौकरी की गारंटी देते हैं और नियुक्ति प्रदान करते हैं, लेकिन नौकरी पाने के बाद भी आपको प्रतिबद्ध समय सीमा के भीतर प्रोफेशनल्स टारगेट्स को पूरा करके अपना मूल्य साबित करना होगा.

अपने एमबीए डिग्री के लिए क्या करें और क्या न करें?
एमबीए उम्मीदवारों द्वारा अपने एकेडमिक और करियर की एक विस्तृत सूची के रूप में रिज्यूमे का उपयोग किया जाता है, लेकिन यह उससे कहीं अधिक है.एमबीए उम्मीदवारों को अपने रिज्यूमे में अपने जीवन की समग्र कहानी प्रस्तुत करनी चाहिए. एमबीए फिर से शुरू करते समय आपको निम्नलिखित चीजों को ध्यान में रखना चाहिए -

इसे छोटा रखें : एडमिशन कमिटी या एम्प्लॉयर अपने बीजी शेड्यूल में सरसरी निगाह से किसी भी रिज्यूमे को देखते हैं. इसलिए आपके लम्बे और कई पेज वाले रिज्यूमे को देखने का टाइम उनके पास नहीं होता. इसलिए आपको यह सलाह दी जाती है कि अपना रिज्यूमे छोटा और प्रभावशाली रखें.

फॉर्मेटिंग : एमबीए चयन समिति के समक्ष पेश किए गए अधिकांश रिज्यूमे के फॉर्मेट लगभग एक जैसे ही होते हैं. अपने रिज्यूमे को इस तरह से बनाये कि वो अन्य उम्मीदवार के रिज्यूमे से कुछ अलग दिखे तथा चयनकर्ताओं की उसपर नजर शीघ्रता से पड़े. अपने प्रोफेशनल और एकेडमिक करियर की उपलब्धियों को एक बेहतर फॉर्मेटिंग के जरिये आकर्षक और प्रभावशाली बनायें. यह आपके लिए मिल का पत्थर साबित हो सकता है. लेकिन हमेशा अपनी क्रिएटिविटी को इतना सहज और सरल रखें कि आपका रिज्यूमे प्रोफेशनली प्रभावी दिखे.

स्पेलिंग और ग्रामर की जांच करें : आपका रिज्यूमे एडमिशन कमिटी के समक्ष आपकी पहली छवि प्रस्तुत करता है. इसलिए उन्हें पहली नजर में ही प्रभावित करना महत्वपूर्ण है. कई छात्रों ने बिना किसी टाइपिंग गलती या व्याकरण संबंधी त्रुटि को ध्यान में रखते हुए बहुत अच्छे अच्छे रिज्यूमे बनायीं है. इसलिए छात्र अपना रिज्यूमे बनाते समय या फिर किसी जॉब के लिए देते समय स्पेलिंग और ग्रामर की जाँच कर लें. आप इसके लिए एमएस वर्ड्स या स्पेल चेक एप्स या प्रोग्राम्स की मदद ले सकते हैं, लेकिन पूरी तरह से उन पर भरोसा न करें, व्यक्तिगत रूप से उसकी पूरी जाँच करें ताकि किसी भी तरह की त्रुटि न रह जाए.
शब्दों के महाजाल से बचें : एमबीए उम्मीदवार होने के नाते और रिज्यूमे को प्रभावशाली बनाने के चक्कर में शब्दजाल और मुहाबरों तथा अतिशयोक्तियों का इस्तेमाल करना कभी कभी स्वाभाविक सा लगता लेकिन इससे रिज्यूमे को सेलेक्ट करने वालों को परेशानी का सामना करना पड़ता है. वे सरल और तथ्यात्मक जानकारी को जटिल करने वाले शब्दजाल के अत्यधिक उपयोग की सराहना नहीं करेंगे.इसलिए अपने रिज्यूमे की भाषा को सरल और स्पष्ट रखें.

प्रोफेशनल एचीवमेंट्स : जैसा कि पहले भी चर्चा किया गया है कि रिज्यूमे उम्मीदवार की प्रोफेशनल लाइफ हिस्ट्री का एक संक्षिप्त विवरण होता है. इसलिए अपने एकेडमिक,प्रोफेशनल और करियर से जुड़े मुख्य एचीवमेंट्स का वर्णन अवश्य करें.

सुपरलेटिव्स से बचें : अधिकांश एमबीए उम्मीदवार अपने रिज्यूमे में अपने आप को सर्वश्रेष्ठ बताने की कोशिश करते हैं. वैसे यह जरुरी है लेकिन इसके साथ ही साथ आपको यह भी दिखाने की कोशिश करनी चाहिए कि आखिर आप अपनी किस क्वालिटी की वजह से सबसे अलग और यूनिक हैं ? अपने रेज़्यूमे में सुपरलेटिव्स का उपयोग करने से बचने की कोशिश करें. अपनी प्रोफशनल उपलब्धि, प्रबंधकीय क्षमताओं, नेतृत्व क्षमता को इंगित करने का प्रयास करें.

 

एक इंटरप्रेन्योर होने के नाते

भविष्य में अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने के लिए कौन सा एमबीए पाठ्यक्रम उपयोगी होगा?

मैनेजमेंट में पोस्टग्रेजुएट डिप्लोमा - बिजनेस इंटरप्रेन्योरशिप और बिजनेस डेवलपमेंट डोमेन की पेशकश करने वाले कई एमबीए कॉलेज हैं, हालांकि, अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने में आपकी मदद करने के संबंध में उनकी प्रभावशीलता सीमित है. भारत भर के टॉप बी-स्कूलों में पेश किए गए एमबीए प्रोग्राम्स का मुख्य उद्देश्य छात्रों को सफल बिजनेस मैनेजर या उत्कृष्ट इंटरप्रेन्योर बनाना होता है. ये प्रोग्राम्स फायनेंसियल स्ट्रेटेजी,यूजर एक्विजीशन मॉडल और रेवेन्यू मैक्सीमाइजेशन जैसे मौलिक बिजनेस कॉन्सेप्ट की बुनियादी सैद्धांतिक समझ के संदर्भ में छात्रों को अच्छी तरह से तैयार करते हैं., यदि आप अपना खुद का बिजनेस शुरू करने के लिए वास्तव में गंभीर हैं, तो आपको पूर्णकालिक एमबीए प्रोग्राम में शामिल होने पर विचार करना चाहिए जो आपको प्रमुख व्यावसायिक समस्याओं से निपटने एवं इसके कॉन्सेप्ट को मार्केट तथा ऑफिस में किस तरह लागू किया जा सकता है ? आदि के विषय में पूर्ण अंतर्दृष्टि प्रदान करता है.

एकेडिमक डोमेन से जुड़े सवाल

पीजीडीएम के बाद यूजीसी नेट के लिए पात्रता क्या है?

हां, जिन छात्रों ने एआईसीटीई अनुमोदित संस्थान (एआईसीटीई अप्रूव्ड इंस्टीट्यूट) से पीजीडीएम प्रोग्राम पूरा किया है और उसे डिप्लोमा से सम्मानित किया गया है तो उन्हें भारतीय विश्वविद्यालय एसोसिएशन (एआईयू), नई दिल्ली द्वारा मान्यता प्राप्त भारतीय विश्वविद्यालयों की मास्टर डिग्री के बराबर माना जाता है. वे  यूजीसी नेट परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं.

क्या मैं एमबीए के बाद नेट की परीक्षा दे सकता हूँ ?

यूजीसी नेट का मतलब होता है नेशनल एलिजिबिलीटी टेस्ट. यह एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है जो असिस्टेंट प्रोफेसरों और रिसर्च असिस्टेंट के पद पर सरकारी कॉलेजों में भर्ती के लिए योग्यता प्रदान करती है. यूजीसी नेट परीक्षा के लिए न्यूनतम शैक्षिक पात्रता न्यूनतम 55% अंकों के साथ पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री है. एमबीए भी एक पोस्टग्रेजुएट डिग्री है. इस नाते, आप निश्चित रूप से यूजीसी नेट परीक्षा में उपस्थित होने के योग्य हैं.
हालांकि, पीजीडीएम प्रोग्राम्स के मामले में, यूजीसी नेट के लिए योग्यता मानदंड थोड़ा अलग हैं.ऐसी डिप्लोमा डिग्री जिन्हें एआईसीटीई अनुमोदित संस्थानों द्वारा सम्मानित किया जाता है और जिन्हें भारतीय विश्वविद्यालय एसोसिएशन (एआईयू), नई दिल्ली से मान्यता प्राप्त भारतीय विश्वविद्यालयों द्वारा प्रदान की जाने वाली मास्टर डिग्री के बराबर माना जाता है, यूजीसी नेट परीक्षा के लिए आवेदन करने के लिए केवल योग्य हैं. इसलिए, आवेदन करने से पहले आपकी पीजीडीएम डिग्री उपर्युक्त मानदंडों को पूरा करती है या नहीं, इस बात की पूरी तरह से जाँच कर लें

एमबीए के बाद क्या ?

एमबीए पूरा करने के बाद मैं कौन से पाठ्यक्रम चुन सकता हूं?


छात्र अपने एमबीए पूरा करने के बाद कई एकेडमिक अवसरों का लाभ उठा सकते हैं. वे डॉक्टरेट की डिग्री के लिए पीएचडी प्रोग्राम्स, मैनेजमेंट स्टडीज, बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन, बिजनेस मैनेजमेंट, ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट और अन्य जैसे विभिन्न स्पेशलाइजेशन डोमेन में एडमिशन ले सकते हैं. इसके अलावा, कई अन्य शॉर्ट टाइम / सर्टिफिकेशन कोर्स हैं जो आपको अपने कार्यक्षेत्र में कोर स्किल सेट प्रदान करके अपने प्रोफेशनल करियर को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं. उनमें से कुछ नीचे सूचीबद्ध हैं :
• एनसीएफएम - वित्तीय बाजारों के लिए एनएसई का सर्टिफिकेट कोर्स
• आईसीएआई द्वारा प्रदान किए जाने वाले शॉर्ट टर्म कोर्सेज (द इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया)
• सीए / चार्टर्ड एकाउंटेंसी या सीएफए / चार्टर्ड फायनेंसियल एनालिस्ट प्रोग्राम्स
• मैनेजमेंट में फेलोशिप प्रोग्राम - आईआईएमबी के डॉक्टरेट प्रोग्राम
• बैंकिंग टेक्नोलॉजी में पीएच.डी.
• सर्टिफाइड बैंक मैनेजर प्रोग्राम
• टैली, कंप्यूटर एप्लीकेशन या अन्य टेक्निकल प्रोग्राम्स

एमबीए की डिग्री आकर्षक करियर प्रदान करती है. हमें उम्मीद है कि एमबीए कोर्स के बारे में आपके प्रश्नों को हल करने में हमारे द्वारा दिए गए सुझाव आपके लिए उपयोगी साबित होंगे. यदि आपके पास कुछ और प्रश्न हैं, तो नीचे कमेन्ट सेक्शन में हमारे साथ शेयर करें.
एमबीए और करियर के बारे में और अधिक अपडेट्स  प्राप्त करने के लिए jagranjosh. com पर विजिट करते रहें.

Loading...

Register to get FREE updates

    All Fields Mandatory
  • (Ex:9123456789)
  • Please Select Your Interest
  • Please specify

  • ajax-loader
  • A verifcation code has been sent to
    your mobile number

    Please enter the verification code below

Loading...