भारत में हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में MBA करके शुरू करें अपना शानदार करियर

अगर स्टूडेंट्स हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में MBA की डिग्री हासिल कर लें तो वे भारत के किसी भी हॉस्पिटल में एक ट्रेंड हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर बन सकते हैं. इस आर्टिकल में आपको MBA - हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन के बारे में डिटेल में सारी जानकारी दी जा रही है.

 

Created On: Dec 17, 2020 18:50 IST
MBA in Hospital Administration
MBA in Hospital Administration

बेशक “मनुष्य का सबसे बड़ा धन उसका स्वस्थ शरीर होता है.” साधारण इंसान भी अक्सर यह कहते हैं कि स्वास्थ्य हजार नियामत है. भारत में पिछले कुछ वर्षों में हेल्थ केयर इंडस्ट्री में 25% की विकास दर देखी गई है. इस वजह से यकीनन भारत में हेल्थ केयर सेक्टर में जॉब्स की भरमार हो जायेगी. देश-दुनिया में अब हेल्थ केयर सेक्टर और हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में हाइली क्वालिफाइड प्रोफेशनल्स की मांग लगातार बढ़ती ही जा रही है. इसलिए अगर आप MBA की डिग्री हासिल करके अपना करियर शुरू करना चाहते हैं और आपको हेल्थ और हॉस्पिटल लाइन के कामकाज में भी गहरी दिलचस्पी है तो आप हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में MBA की डिग्री हासिल करके इस फील्ड में अपनी ड्रीम जॉब हासिल करने का प्रयास जरुर कर सकते हैं. आपकी सुविधा के लिए हम इस आर्टिकल में MBA - हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन के बारे में महत्त्वपूर्ण जानकारी पेश कर रहे हैं. आइये आगे पढ़ें यह आर्टिकल:

MBA – हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन का कोर्स

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन अर्थात MBA की डिग्री एक पोस्टग्रेजुएशन कोर्स है. यह प्रोग्राम फ्रेश मैनेजमेंट स्टूडेंट्स के साथ-साथ मेडिकल लाइन से संबद्ध विभिन्न प्रोफेशनल्स भी कर सकते हैं क्योंकि हमारे देश में विभिन्न हॉस्पिटल्स में एडमिनिस्ट्रेशन के लिए ट्रेंड प्रोफेशनल्स की काफी ज्यादा मांग है जो लगातार बढ़ रही है. असल में, हेल्थकेयर फील्ड में MBA की डिग्री से कैंडिडेट्स हेल्थकेयर इंडस्ट्री की सभी एक्टिविटीज को सपोर्ट करने के काबिल बन जाते हैं क्योंकि इस कोर्स के तहत स्टूडेंट्स को केस स्टडी और ग्रुप असाइनमेंट्स के मेथड से पढ़ाया जाता है. आमतौर पर हमारे देश में फुल टाइम MBA प्रोग्राम कोर्सेज की अवधि 2 वर्ष है लेकिन पार्ट टाइम प्रोग्राम्स में ये कोर्सेज 3 वर्ष की अवधि में भी पूरे किये जा सकते हैं क्योंकि इन कोर्सेज में अक्सर वर्किंग स्टूडेंट्स ही एडमिशन लेते हैं. इसी तरह INSEAD विभिन्न प्रोफेशनल्स के लिए 1 वर्ष की अवधि का MBA प्रोग्राम ऑफर करता है. 

हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में MBA करने के बाद स्टूडेंट्स को एथिकल इश्यूज, इकनोमिक एंड पॉलिसीज के साथ ही डिसिजन मेकिंग के बारे में जानकारी और समझ मिल जाती है. हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन में MBA करने के दौरान स्टूडेंट्स निम्नलिखित टॉपिक्स के बारे में अच्छी जानकारी और काबिलियत प्राप्त करते हैं:

  • हॉस्पिटल ऑर्गेनाइजेशन
  • मार्केटिंग
  • एकाउंटिंग
  • बजटिंग
  • हेल्थ इकोनॉमिक्स
  • हेल्थ इनफॉर्मेशन सिस्टम्स

भारत में हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर का जॉब प्रोफाइल

एक हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर का प्रमुख काम यह सुनिश्चित करना होता है कि जिस हॉस्पिटल में वह जॉब कर रहा है, उस हॉस्पिटल का सारा कामकाज सुचारू रूप से चलता रहे. हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर अपने हॉस्पिटल के फाइनेंशियल आस्पेक्ट्स की देख-रेख करता है. हम किसी हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर के रोजाना के काम को निम्नलिखित प्वाइंट्स में रेखांकित कर सकते हैं:

  • संबद्ध हॉस्पिटल के रोजमर्रा के कामकाज को मैनेज करना.
  • हॉस्पिटल स्टाफ को सुपरवाइज़ करना.
  • हॉस्पिटल के बजट लक्ष्य निर्धारित करना और विशेष मामलों में फंड रेजिंग तथा फीस के इश्यूज में महत्वपूर्ण फैसले लेना.
  • अपने हॉस्पिटल के कामकाज के सिलसिले में अन्य सभी इंस्टीट्यूट्स और दफ्तरों जैसेकि, रेगुलेटरी बॉडीज, प्रेस, सोशल इंस्टीट्यूट्स और साइंटिस्ट्स आदि से बातचीत करना.
  • अपने हॉस्पिटल के लक्ष्यों को पाने के लिए हॉस्पिटल के विभिन्न डिपार्टमेंट्स से कोआर्डिनेट करना और उन्हें जरुरी गाइडेंस देना.

भारत के प्रमुख MBA इंस्टीट्यूट्स

  • ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज (एम्स), नई दिल्ली
  • आर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज, पुणे
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, अहमदाबाद.
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, कोलकाता.
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, बैंगलोर.
  • इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस, हैदराबाद.
  • फैकल्टी ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज, नई दिल्ली.
  • सिम्बायोसिस सेंटर ऑफ़ हेल्थ केयर, पुणे
  • टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ़ सोशल साइंसेज, मुंबई
  • निज़ाम इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस, हैदराबाद.
  • जेवियर लेबर रिसर्च इंस्टीट्यूट, जमशेदपुर.
  • मैनेजमेंट डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट, गुड़गांव.
  • SPJIMR, मुंबई.
  • ग्रेट लेक इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, चेन्नई.
  • टीए पाई मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट, मणिपाल.
  • इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट टेक्नोलॉजी, गाजियाबाद.
  • इंटरनेशनल मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट, दिल्ली.
  • इंस्टीट्यूट ऑफ़ रूरल मैनेजमेंट, आनंद.

MBA – हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन: प्रमुख रिक्रूटिंग इंडस्ट्रीज

  • हेल्थ इंश्योरंस ऑर्गेनाइजेशन्स
  • मेडिकल टूरिज्म कंपनीज
  • डायग्नोस्टिक लेबोरेटरी चेन्स
  • प्राइमरी हेल्थकेयर चेन्स
  • हेल्थ सेक्टर के सोशल एंटरप्राइसेज
  • हेल्थकेयर आईटी
  • हेल्थ से संबद्ध मार्केट रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन
  • वेलनेस सेंटर्स

भारत में हेल्थकेयर सेक्टर के टॉप रिक्रूटर्स

  • फोर्टिस
  • मैक्स
  • वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन
  • भारत सरकार
  • आईएमएस हेल्थ
  • AMGEN
  • ओमेगा हेल्थकेयर मैनेजमेंट
  • हेल्थ ट्रेल पोर्टल

भारत में MBA – हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेशन की प्रमुख जॉब प्रोफाइल्स

  • हॉस्पिटल सीईओ
  • हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर
  • हॉस्पिटल सीएफओ
  • फार्मास्यूटिकल प्रोडक्ट मैनेजर
  • मेडिकल डिवाइस कंपनियों में प्रोडक्ट मैनेजर
  • मेडिकल प्रैक्टिस मैनेजर
  • हेल्थ सेक्टर में डाटा एनालिस्ट
  • हेल्थ इनफॉर्मेटिक्स मैनेजर
  • प्रोडक्ट मैनेजर – रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन्स, बायोटेक फर्म्स.

भारत में MBA हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर्स का सैलरी पैकेज

आमतौर पर हमारे देश में किसी हॉस्पिटल एडमिनिस्ट्रेटर की एवरेज सैलरी रु. 414,536/- सालाना होती है. शुरू में इस फील्ड में किसी फ्रेशर को एवरेज सैलरी पैकेज रु. 1.5 लाख से रु. 3.5 लाख तक सालाना मिल सकता है. हरेक अन्य पेशे और करियर फील्ड की तरह ही इस फील्ड में भी गुजरते हुए समय और बढ़ते हुए कार्य अनुभव के साथ सैलरी पैकेज में इजाफ़ा होता रहता है.

जॉब, इंटरव्यू, करियर, कॉलेज, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, एकेडेमिक और पेशेवर कोर्सेज के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने और लेटेस्ट आर्टिकल पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.jagranjosh.com पर विजिट कर सकते हैं.

अन्य महत्त्वपूर्ण लिंक

कॉमर्स स्ट्रीम के स्टूडेंट्स के लिए भारत में उपलब्ध हैं ये वोकेशनल कोर्सेज

भारत में फाइनेंस की फील्ड में आपके लिए उपलब्ध हैं ये नए करियर ऑप्शन्स

इन्वेस्टमेंट बैंकिंग: भारत में टॉप कोर्सेज और करियर स्कोप

 

Comment (0)

Post Comment

6 + 0 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.